बिहार : साक्षात्कार में सफलता के लिए व्यक्तित्व पर ध्यान दें : एडीजी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2021

बिहार : साक्षात्कार में सफलता के लिए व्यक्तित्व पर ध्यान दें : एडीजी

focus-on-intervew-adg
पटना. आधुनिकीकरण विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक डॉ कमल किशोर सिंह ने मंगलवार 12 अक्टूबर को कहा कि साक्षात्कार का सामना करते समय बहुत कुछ ध्यान में रखना होता है. उन्होंने सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी (एसएक्ससीएमटी), पटना के छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि साक्षात्कार की सफलता के लिए "4 पी" का पालन करना जरूरी है.वह  4 पी है प्लान  (योजना), प्रीपेर (तैयारी), प्रैक्टिस (अभ्यास) एवं परफॉर्म (प्रदर्शन). 'साक्षात्कार का सामना कैसे करें' विषय पर बोलते हुए डॉ सिंह ने कहा कि अधिकांश विशेषज्ञ उम्मीदवार के ज्ञान से अवगत रहते हैं. " इस लिए अपने व्यक्तित्व और क्षमता पर ध्यान दें.साक्षात्कार उम्मीदवारों के व्यक्तित्व की परीक्षा है न कि ज्ञान की." उन्होंने कहा कि सफलता और असफलता सापेक्ष अवधारणाएं हैं. "सफल होने के लिए, किसी को एक लक्ष्य निर्धारित करने और उसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है. सफलता का विलोम शब्द असफलता नहीं बल्कि सीखना है. असफलता एक वैकल्पिक परिणाम है जो जीवन में एक नया अध्याय खोलता है जिससे हम और अधिक उत्साह के साथ सीखते रहते हैं." उन्होंने छात्रों से किसी भी साक्षात्कार का सामना करने से पहले वह कैसे दीखते हैं इस विषय पर काम करने के लिए भी कहा. "आपका पहला प्रभाव बहुत महत्वपूर्ण है."उन्होंने कहा कि एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश करनी चाहिए और सफलता मिलेगी.उन्होंने कहा कि साक्षात्कार में सफल होने के लिए कुछ अन्य मानदंड हैं जैसे की इंटेलिजेंस, जिम्मेदारी, अखंडता, आत्मविश्वास, संचार कौशल और नेतृत्व क्षमता. डॉ सिंह ने कॉलेज में आयोजित विभिन्न गतिविधियों के विजेताओं को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए.कॉलेज की एनएसएस इकाई द्वारा आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता निष्ठा और रितिका ने की, जबकि कृतांज्जलि ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा.इस अवसर पर एसएक्ससीएमटी के प्राचार्य फादर टी निशांत एसजे और कई संकाय सदस्य उपस्थित थे.

कोई टिप्पणी नहीं: