बिहार : पूर्ववर्ती छात्र, छात्राओं ने संस्थान में बिताय गए दिनों के पलों को ताज़ा किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 अक्तूबर 2021

बिहार : पूर्ववर्ती छात्र, छात्राओं ने संस्थान में बिताय गए दिनों के पलों को ताज़ा किया

sxcmt-old-aluminy-meet-patna
पटना, 4 अक्टूबर. सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी (एससीएमटी), पटना के लगभग 100 पूर्ववर्ती छात्र, छात्राओं  ने रविवार को व्याख्यान कक्षों और परिसर के चारों ओर घूमते हुए संस्थान में बिताय गए दिनों के पलों को ताज़ा किया. पूर्ववर्ती छात्र एवं छात्राओं  की मीटिंग, 'मीट एंड ग्रीट', कॉलेज परिसर में आयोजित की गई थी. जिसमें 2009 से 2021 तक के छात्रों ने भाग लिया. पूर्ववर्ती छात्र एवं छात्राओं ने कहा "हमने यहां बिताए अच्छे पुराने दिनों को बड़े चाव से याद किया और कुछ नई यादें बनाईं जिन्हें हम लंबे समय तक संजो कर रखेंगे ”. समारोह की शुरुआत एसएक्ससीएमटी के कार्यवाहक रेक्टर फादर मार्टिन पोरस एसजे, प्रिंसिपल फादर टी निशांत एसजे, फादर अल्फोज क्रास्टा एसजे, फादर शेरी जॉर्ज एसजे और एलुमनी एसोसिएशन की अध्यक्ष आकांक्षा द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर की गई. एलुमनी एसोसिएशन से छात्र एवं छात्राओं का स्वागत करते हुए, फादर निशांत एसजे ने आयोजन में उपस्थित होने के लिए सभी पूर्ववर्ती छात्रों को धन्यवाद दिया और "पुराने चेहरों को एक बार फिर देखकर” प्रसन्नता व्यक्त की. उन्होंने छात्रों से संस्थान के साथ "भावनात्मक जुड़ाव" बनाए रखने की अपील की. फादर मार्टिन पोरस एसजे ने प्रबंधन के सदस्यों को छात्रों से मिलवाया.संकाय सदस्यों और छात्र एवं छात्राओं ने एक साथ लुभावना समय बिताया, पूल के किनारे पुराने दिनों को याद किया, गेम्स खेला, गाने गाये और जम  के ठुमके लगाए.बैठक का उद्देश्य पूर्ववर्ती छात्र एवं छात्राओं को अपने नेटवर्क के निर्माण के लिए एक मंच प्रदान करना और पाठ्यक्रम के लिए उनकी प्रतिक्रिया प्राप्त करना था.

कोई टिप्पणी नहीं: