बिहार : कलीसिया का हो नवीकरण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अक्तूबर 2021

बिहार : कलीसिया का हो नवीकरण

clicia-renual
बेतिया. विश्व विख्यात है बेतिया क्रिश्चियन कॉलोनी. अभी हाल में बेतिया के लोगों ने मिलकर धर्मसभा समारोह को बेहतर ढंग से संपन्न करवाने का श्रेय प्राप्त किये हैं.अगर हम चाहे तो सामने आने वाली समस्या को चुटकी बजाते समाप्त कर सकते हैं.अभी आलोक रंजन जी लिखे हैं कि बेतिया कब्रिस्तान की समस्या का स्थायी समाधान निकले.बेशक आलोक जी स्थायी समाधान निकलना ही चाहिए.जैसे गोडेन अंतोनी ठाकुर नामक नेताजी का कहना था कि कब्रिस्तान से सटे ही नाला है.दीवार में छेदकर पानी निकाला जा सकता है.इस पर कार्य करने के पूर्व जमीन का स्तर देखना होगा ताकि बाहरी पानी का प्रवेश न हो सके. संत पापा ने धर्मसभा के माध्यम से दो वर्ष दिये हैं.कलीसिया का नवीकरण कर बेहतर कलीसिया का पुर्ननिर्माण हो.इसके लिए जरूरी है कि हमलोगों के बीच में लचीलापन हो.छोटी-बड़ी समस्याओं का समाधान मिलजुल करें.हमलोगों के बीच में बिशप स्वामी हैं.उनके नेतृत्व में उत्पन्न समस्याओं का समाधान हो.समस्याओं को लेकर शिष्टमंडल पल्ली पुरोहित से मिले.अगर पल्ली पुरोहित से संबंधित समस्या हो तो बिशप साहब से मिलकर समाधान कराये.यह केवल पल्ली पुरोहित ही नहीं बल्कि शिक्षा,चिकित्सा,समाजसेवी आदि कार्यरत क्रिश्चियन एनजीओ भी शामिल हैं.जो अयाजक (अल्पसंख्यक ईसाई) के नाम पर एनजीओ चला रहे हैं.   हां लचीलापन जरूरी है.तब जाकर याजक और अयाजक के बीच उत्पन्न खाई और समस्याओं का समाधान होगा.तब जाकर पोप साहब कहना नहीं पड़े कि आप राज करने नहीं आए हैं बल्कि सेवा करने आए है.उसी तरह अयाजक न कह पाये कि यह आपका जागीर नहीं है. मुकेश राज का कहना है कि इस ओर पल्ली के युवाओं और पल्ली पुरोहित के सार्थक प्रयास करने में लग गये है.यह प्रयास सार्थक और स्थायी हो..आमेन.

कोई टिप्पणी नहीं: