अब पूर्वांचल बनेगा मेडिकल का हब : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 अक्तूबर 2021

अब पूर्वांचल बनेगा मेडिकल का हब : मोदी

purwanchal-will-be-medical-hub-modi
सिद्धार्थनगर 25 अक्टूबर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आने वाले दिनों में पूर्वांचल, उत्कृष्ट चिकित्सा सेवाओं के मुख्य केन्द्र के रूप में मेडिकल हब बनेगा, जो स्वस्थ और निरोग भारत का सपना पूरा करने में एक बड़ा कदम साबित होगा। श्री मोदी सोमवार को उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर सहित नौ जिलों में ‘एक जिला एक मेडिकल कॉलेज’ की संकल्पना के आधार पर नवनिर्मित मेडिकल कॉलेजों का यहां वर्चुअल उद्घाटन करने के बाद आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुये यह बात कही। उन्होंने कहा कि आजादी के पहले और बाद में भी देश के नागरिकों को मूलभूत चिकित्सा सुविधायें उपलब्ध नहीं थी। उन्होंने कहा कि 2014 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की केंद्र में सरकार बनने के बाद हमने राजनीतिक इच्छाशक्ति के बलबूते प्राथमिकता के आधार पर गरीबों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए देश के हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने की व्यवस्था की है। प्रधानमंत्री ने कहा कि लचर स्वास्थ्य सुविधाओं के लिये बदनाम रहा, राज्य का पूर्वांचल क्षेत्र अब देश को डॉक्टरों की आपूर्ति करने वाले इलाके के रूप में जाना जायेगा। श्री मोदी ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया की मौजूदगी में सिद्धार्थनगर सहित नौ जिलों में एक-एक नये मेडिकल कालेज का रिमोट कंट्रोल द्वारा उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन पूर्वांचल सहित पूरे उत्तर प्रदेश के लिये “आरोग्य की डबल डोज” लेकर आया है। उन्होंने जनता से कहा कि यह अवसर आपके लिये एक उपहार लेकर आया है। क्योंकि पूर्वांचल से ही पूरे देश में चिकित्सा सुविधाओं का आधारभूत ढांचा खड़ा करने की योजना शुरु होने जा रही है। श्री मोदी ने कहा, “मैं यहां की धरती का आशीर्वाद लेकर वाराणसी में इस योजना का आगाज करूंगा”।


उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी उत्तर प्रदेश की एक दिवसीय यात्रा के दौरान सिद्धार्थनगर के बाद वाराणसी में 64 हजार करोड़ रुपये लागत वाली ऐतिहासिक ‘प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना’ का भी शुभारंभ करेंगे। इससे पहले उन्होंने सिद्धार्थनगर में 2329 करोड़ रुपये की लागत से सिद्धार्थनगर, एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, देवरिया, गाजीपुर, मिर्जापुर, फतेहपुर एवं जौनपुर जिले में नवनिर्मित मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण किया। उन्होंने जनसभा में योगी सरकार के कामों की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि आज केन्द्र और उत्तर प्रदेश में जो सरकार काम कर रही है वह दशकों की कर्मयोगियों की तपस्या का परिणाम है। उन्होंने सिद्धार्थनगर के दिवंगत वरिष्ठ नेता माधव प्रसाद मिश्र के नाम पर स्थानीय मेडिकल कॉलेज का नाम रखने के लिये योगी सरकार की सराहना की। उन्होंने कहा कि माधव बाबू ने राजनीति में कर्मयोग की स्थापना के लिये अपना पूरा जीवन खपा दिया था। मोदी ने कहा, “उन्हीं माधव प्रसाद मिश्र के नाम पर सिद्धार्थनगर मेडिकल काॅलेज का नाम रखा गया। मैं इसके लिये योगी सरकार को बधाई देता हूं।” श्री मोदी ने कहा कि रायबरेली और गोरखपुर में बन रहे मेडिकल कॉलेज, पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए बोनस है। इनके बन जाने से यहां के लोगों के लिए बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने देश में कोरोना की 100 करोड़ वैक्सीन लगाए जाने पर देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि इसमें उत्तर प्रदेश का अहम योगदान है , मैं इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, स्वास्थ्य कर्मियों , कोरोना योद्धाओं के साथ ही सभी प्रशासनिक अधिकारियों को बधाई देता हूं। 

कोई टिप्पणी नहीं: