बिहार : शराब के नशे में पटना के डिप्‍टी मेयर का बेटा गिरफ्तार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 अक्तूबर 2021

बिहार : शराब के नशे में पटना के डिप्‍टी मेयर का बेटा गिरफ्तार

  • *  उप महापौर रजनी देवी के बेटे आशीष कुमार उर्फ गोलू माताजी का उप महापौर बनने की खुशी में शराब सेवन कर सलाखों के पीछे चला गया
  • * दीघा थानाध्‍यक्ष राजेश कुमार  पैरवी के आगे झुके नहीं और कानून सम्‍मत कार्रवाई करते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर लिये
  • * गोपनीय सूचना देने वाले बाहरी नहीं पड़ोसी ही है.यह कयास लगाया जा रहा है 

patna-dipty-meyor-son-arrest-drunked
पटना। राजधानी पटना के दीघा थाने की पुलिस ने पटना नगर निगम की उप महापौर रजनी देवी के बेटे आशीष कुमार उर्फ गोलू को शराब के नशे की हालत में गिरफ्तार किया है। आशीष के साथ उसके तीन दोस्‍त भी पकड़े गए हैं। थानाध्‍यक्ष राजेश कुमार के मुताबिक, गुप्‍त सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई की। सभी गिरफ्तार आरोपितों के नाम व पते का सत्‍यापन कराया जा रहा है। शराब की तीन खाली बोतलें, गिलास और खाने का सामान बरामद हुआ है। ब्रेथ एनालाइजर जांच से शराब का सेवन किए जाने की पुष्टि हुई। दीघा थाना पुलिस को गुप्‍त सूचना मिली कि कुर्जी मोड़ के समीप बांध के पीछे स्थित एक मकान में कुछ युवक शराब पार्टी कर रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने मकान की घेराबंदी कर आरोपितों को दबोच लिया। पुलिस को देखते ही एक युवक शराब के नशे में धुत होकर पहुंचा और गाली-गलौज करने लगा। पूछने पर उसने बताया कि वह डिप्‍टी मेयर रजनी देवी और गोरख राय का बेटा आशीष है। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। मकान की तलाशी के दौरान शराब की तीन बोतल के साथ तीन और युवकों को पकड़ा गया। इसके बाद सभी को थाने पर लाकर ब्रेथ एनलाइजर से जांच की गई। आशीष और उसके साथ पकड़े गए सभी लड़के रसूखदार हैं। जब उनके घरों में गिरफ्तारी की बात पता चली तो सबने पैरवी लगाना शुरु कर दिया। थानेदार से लेकर दीघा थाने के पुलिसकर्मियों को फोन आने लगे। तरह-तरह के प्रलोभन भी मिले। लेकिन, थानाध्‍यक्ष राजेश कुमार ने किसी की पैरवी नहीं सुनी और कानून सम्‍मत कार्रवाई करते हुए आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवकों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि इन लड़कों ने शराब कहां से खरीदी। पुलिस विक्रेता को भी दबोचने की फिराक में है।

कोई टिप्पणी नहीं: