बिहार : हमले के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई जारी रखेगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 27 अक्तूबर 2021

बिहार : हमले के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई जारी रखेगी

protest-will-continue-cpi-ml
सिवान। सिवान जिले के गुठनी प्रखण्ड के झझौर के निवासी हैं दिनेश मांझी।वह भाकपा माले के कार्यकर्ता भी हैं।माले के कार्यकर्ता दिनेश मांझी और राजपूत जाति से आने वाले सामंती राजू सिंह के साथ  2 साल पूर्व पुराने विवाद में गोली मारकर राजू सिंह फरार हो गया। बताया जाता है कि गुठनी थाना इलाके के झझौर गांव में मंगलवार की देर शाम शौच करने गए एक अधेड़ को सामंती राजू सिंह ने गोलियों से भून दिया। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन-फानन में सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसकी नाजुक स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने PMCH रेफर कर दिया है। इधर घटना के बाद से इलाके में दहशत का माहौल कायम है। वहीं पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि सिवान के गुठनी थाना इलाके के झझौर गांव के रहने वाले बद्री मांझी के पुत्र दिनेश मांझी मंगलवार की देर शाम गांव के बाहर शौच के लिए गए थे। जहां पहले से घात लगाए बाइक सवार दबंग राजू सिंह ने मौका देखकर तबातोड़ गोलियां चलाना शुरू कर दिया। 1 गोली उनके सर में और दूसरी गोली बांह में लगी। वह गंभीर रूप से घायल हो गया। गोली मारने के बाद अपराधी मौके से फरार हो गए। वही गोलियों की तड़तड़ाहट की आवाज सुनकर इलाके में दहशत का माहौल कायम हो गया। घटना के थोड़ी देर बाद जब लोग घटनास्थल पर पहुंचे तो आनन-फानन में दिनेश मांझी को सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की जानकारी होते ही सिवान सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी जितेंद्र पांडे सिवान सदर अस्पताल पहुंचकर मामले की जानकारी प्राप्त की। घायल दिनेश मांझी की पत्नी फुल माया देवी ने बताया कि 2 साल पहले 25 अगस्त 2019 को उनके बेटे रवि कुमार का अपहरण कर लिया गया था। जिसका मुख्य आरोपी गांव के ही अशोक सिंह के पुत्र राजू सिंह है। इस मामले में फरार चल रहा है। पुलिस उसके घर की कुर्की जब्ती भी कर चुकी हैं। इसी मामले में वह पिछले कई दिनों से लगातार केस उठाने का दबाव बना रहा था। केस नहीं उठाने पर जान से मारने की धमकी भी दे रहा था। भाकपा माले ने प्रेस बयान में कहा है कि साथी दिनेश मांझी को माथे में 7गोलियां और बाए हाथ में एक गोली लगी है। सिवान में प्राथमिक उपचार के बाद इन्हें पीएमसीएच रेफर किया गया है। भाकपा माले से दरौली विधायक सत्यदेव राम ने फोन कर साथी की मदद के लिए पीएमसीएच भेजा, वहा जाकर साथी को सबसे पहले आईसीयू में भर्ती करवाया। साथी दिनेश मांझी की स्थिति माथे में गोली फसे रहने के कारण नाजुक बनी हुई है। नीतीश भाजपा सरकार में प्रशासनिक शह पर सामंती ताकतों का मनोबल बढ़ गया है। हमारी पार्टी भाकपा माले अपने कार्यकताओं पर हो रहे हमले के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई जारी रखेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: