सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 अक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 31 अक्तूबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 31 अक्टूबर

श्रद्धालुओं ने अष्ट गंध से किया श्रीयंत्र का अभिषेक एक हजार लाल गुंजा से किया ब्राहम्णों के साथ सहस्त्रार्चन

  • विश्वशांति और समृद्धी के लिए यज्ञ में दी गई 21 सौ आहुतियां

sehore news
सीहोर। रविवार को श्रीं शक्ति सेवा संस्थान के द्वारा सौभाग्य पैलेश में आयोजित स्फटिक श्रीयंत्र प्राण प्रतिष्ठा महालक्ष्मी अनुष्ठान में अष्ट गंध से से श्रीयंत्र का अभिषेक किया गया। जिस के बाद श्रद्धालुओं ने किया एक हजार लाल गुंजा से सहस्त्रार्चन किया। यजमानों श्रद्धालुओं के मध्य ज्योतिषाचार्य अनिल सोनी ने कहा की अनुष्ठान में अभिमंत्रित की गई इलाईची, मूंगा, लोंग, गोमतीचक्र, कमल गटटे, हल्दी गांठ, स्फेटिक की माला श्रीयंत्र पीलीकोड़ी, मोती, रोली, लालगुंजा, अक्षत, हल्दी को घर और दुकानों के मंदिरों कार्यालयों सहित अन्य कार्य स्थल पर पवित्र स्थानों पर रखने सहित गले में धारण करने से श्रद्धालुओं को धार्मिक लाभ प्राप्त होता है। श्रद्धालुओं ने विधिविधान से गौमाता,लक्ष्मीरूपा कन्या और देवरूप ब्राहम्णों का पूजन अर्चन किया। कार्यक्रम में ऑनलाईन सम्मिलित होकर विभिन्न राज्य के और स्थानीय श्रद्धालु यजमानों ने स्फटिक श्रीयंत्र प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान किया। विश्वशांति और श्रद्धालुओं की सुख शांति समृद्धी के लिए यज्ञ में यजमानों के साथ 21 सौ आहुतियां दी गई। ज्योतिष आचार्य श्री सोनी ने कहा की अभिमंत्रित की गई सामग्री को अपने दैनिक जीवन में शामिल करने भर से सभी संसारिक कष्ट नष्ट हो जाते है। श्री यंत्र के स्थापन मात्र से भगवती लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। कार्य स्थल पर श्रीयंत्र की नित्य पूजन करने से व्यापार में वृद्धि और विकास होता है। घर पर नित्य पूजन करने से संपूर्ण दांपत्य सुख प्राप्त होता है। यह सभी प्रकार के वास्तु दोष भी दूर करता है। नवग्रह की शान्ति, में भी लाभ देता है, श्रीयंत्र का नित्य ध्यान लगाने से मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है, तेज आकर्षण प्रदान करता है, सभी प्रकार के सुखो में वृद्धि श्रीयंत्र करता है। यज्ञाचार्य सौरभ शास्त्री के अनुसार सोमवार को अनार के रस से महालक्ष्मी श्रीयंत्र का अभिषेक किया जाएगा और एक हजार तुलसी पत्र से सहस्त्रार्चन किया जाएगा। 


रंगोली प्रतियोगिता में उकेरा मध्यप्रदेश के लोक नृत्य


sehore news
सीहोर। शहर के बस स्टैंड स्थित टाउन हाल में छात्राओं ने डॉटेड और फ्री हेंड रंगोली बनाकर अपनी कला का प्रदर्शन किया। इस मौके पर रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था, इस मौके पर बड़ी संख्या में प्रतिभागियों ने मध्यप्रदेश के लोक नृत्य सहित अन्य की रंगोली उकेरा। इस मौके पर निर्णायक मंडल ने सभी को प्रमाण-पत्र आदि का वितरण किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए रंगोली कला केन्द्र की प्रशिक्षक जया राठौर ने बताया कि रविवार को परम्पराओं को आगे बढ़ाने के साथ प्रतिभाओं को मंच देने के लिए जय शिवाय आर्ट एंड क्रापट स्कूल के तत्वाधान में शहर के बस स्टैंड पर रंगोली बनाओ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें प्रतिभागी मुस्कान ने रंगोली से मध्यप्रदेश की प्राचीन सभ्यता गौड़ आर्ट, टीना ने महारानी लक्ष्मी बाई, धु्रव ने लोक नृत्य, दिव्यांश राठौर ने भगवान गणेश, दिशा राठौर ने प्राचीन पोशक और वांशिका राठौर ने नृत्य आदि की आकृति उकेरी। कार्यक्रम के दौरान समाजसेवी राकेश शर्मा यहां पर स्पर्धा में शामिल कलाकारों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि रंगोली शब्द सुनते ही दिलों-दिमाग में रंगों की उमंगें हिलौरें लेने लगती है। शुभ मौके पर घर के द्वार में रंगोली सजाना हमारी भारतीय संस्कृति का एक अहम हिस्सा है और हमें हमारे वास्तविक रीति रिवानों से बांधे रखती है। आदि काल से चली आ रही इस परंपरा का वजूद कायम है। पहले विभिन्न रंगों से घर-आंगन में रंगोली सजाई जाती थी, लेकिन वर्तमान में आधुनिक चकाचौंध में परम्परागत रंगोली की कद्र घटती जा रही है। लोग आजकल रेडिमेड रंगोली लाकर घरों को सजा रहे है। रंगोली के बिना दीपावली अधूरी है। ग्रामीण क्षेत्र के कई घरों में आज भी यह परंपरा कायम है। तथा कई इलाकों में दिवाली के पांचों दिन घरों में अलग-अलग प्रकार की रंगोली बनाकर पूजा की जाती है। हमारी परम्परा को आगे बढ़ाने के लिए रंगोली प्रशिक्षक जया राठौर, शुभम राठौर आदि ने रंगोली प्रतियोगिता कराई है। इस मौके पर सभी को प्रमाण पत्र का वितरण भी किया गया।


आस्था के साथ किया गया श्री कार्तिक शिव महापुराण कथा का समापन, पार्वती ने कठिन तपस्या से भगवान शिव को प्राप्त किया-भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा


sehore news
सीहोर। मां पार्वती ने भगवान शंकर को पति रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या की। भगवान शंकर ने पार्वती की परीक्षा के लिए सप्तर्षियों को भेजा। सप्तर्षियों ने पार्वती से शंकर के अनेक अवगुणों का वर्णन किया जिससे पार्वती, महादेव से विवाह न करें, लेकिन देवी नहीं मानीं। अब भगवान शंकर ने प्रकट हुए और पार्वती को वरदान दिया। उक्त विचार जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी श्री कार्तिक शिव महापुराण कथा के अंतिम दिन भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहे। उन्होंने कहा कि जब भगवान शंकर माता सती को राम कथा सुना रहे थे, तभी आकाश मार्ग से कई देवता जा रहे थे। सती के पूछने पर भगवान शंकर ने बताया कि दक्ष प्रजापति ने घमंडवश ब्रह्मा, विष्णु व महेश का अपमान करने के लिए अपने घर महायज्ञ का आयोजन किया था। इसमें तीनों देवताओं को नहीं बुलाया गया। सती ने जब वहां जाने की इच्छा जताई तो भगवान शंकर ने बिना बुलाए जाने पर कष्ट का भागी बनने की बात कही। इसके बाद भी सती नहीं मानी और पिता के घर चली गई। यज्ञ में भगवान शंकर, विष्णु व ब्रह्मा का अपमान देखकर हवन कुंड में कूदकर खुद को अग्नि के समर्पित कर दिया। इसके बाद भगवान शंकर के दूतों ने यज्ञ स्थल को तहस-नहस कर दिया। भगवान शंकर भी शोकाकुल होकर समाधि में लीन हो गए। कालांतर में माता सती देवराज हिमालय के घर में पार्वती के रूप में पैदा हुईं। वहां पहुंचे देवर्षि नारद ने हिमालय राज और माता मैनावती के सम्मुख बेटी का भाग्य बताते हुए कहा कि इसे जो वर मिलेगा वह शिव जैसा होगा। माता पार्वती ने भगवान शिव को ही पति के रूप में प्राप्त करने के लिए कठिन तपस्या शुरू कर दी। दूसरी ओर भगवान शंकर समाधि में लीन थे। देवी पार्वती का शिव से विवाह कराने के लिए समाधि भंग करना जरूरी था। ऐसे में देवताओं ने कामदेव को भेजा। कामदेव ने ध्यान भंग करने का प्रयास किया तो नाराज भगवान शंकर ने तीसरा नेत्र खोल दिया। जिससे कामदेव वहीं भस्म हो गए। कामदेव की पत्नी रति विलाप करते हुए भगवान शंकर के पास पहुंची। क्षमा याचना के बाद शिव ने कामदेव को द्वापर युग में श्रीकृष्ण के पुत्र के रूप में जन्म लेने का आशीर्वाद दिया था। समाधि टूटने के बाद भगवान विष्णु ने भगवान शंकर से पार्वती को पुन: अंगीकार करने की प्रार्थना की। भगवान शंकर ने सप्तऋषियों को पार्वती की परीक्षा लेने के लिए भेजा। पार्वती ने केवल शिव को ही अपना वर चुनने की बात कही। इसके बाद शिव पार्वती को पुन: अपनाने के लिए राजी हो गए।


मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग फुटबाल प्रतियोगिता का फाइनल दो नवंबर को, सीहोर और नीमच के मध्य होगा खिताबी मुकाबला


sehore news
सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर खेली जा रही मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग फुटबाल प्रतियोगिता में रविवार को सुपर लीग मुकाबलों के अंतिम दिन सीहोर टीम के हिमांशु शर्मा के शानदार गोल और अर्जुन गौतम-सुमित कनौजिया के एक-एक गोल की बदौलत रतलाम को शिकस्त देते हुए सीहोर ने प्रतियोगिता के फाइनल में अपना स्थान पक्का किया है, वहीं एक अन्य मैच में बालाघाट से कांटे की टक्कर में 1-0 से हराने के बाद पाइंट और गोल संख्या के आधार पर नीमच ने भी फाइनल में पहुंच गया है। आगामी दो नंवबर मंगलवार को सीहोर और नीमच के मध्य खिताबी मुकाबला खेला जाएगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला फुटबाल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सुदीप व्यास ने बताया कि रविवार को सुपर लीग के अंतिम दिन सीहोर टीम और रतलाम के मध्य खेला गया। इस मुकाबले में दोनो टीमों ने मैच में गोल करने के कई मौके भुनाए, लेकिन सफल नहीं हो सके। इसके बाद हाफ के बाद सीहोर टीम के अर्जुन गौतम ने 75 वें मिनट पर गोल कर अपनी टीम को बढ़ता दिलाई। इसके उपरांत टीम के डिपेंडर हिमांशु शर्मा ने 76 और 78 वें मिनट पर दो गोल किए, इधर मैच के अंतिम समय पर सुमित कनौजिया ने भी एक गोल किया। जिसके कारण सीहोर ने रतलाम को 4-0 के विशाल अंतर से हराया। दूसरा मैच बालाघाट विरुद्ध नीमच के बीच खेला  गया जिसमें बालाघाट जर्सी नंबर 9 रूपेश साहू ने एक गोल कर बालाघाट की टीम को 1-0 से विजय बनाया। सीहोर की टीम सर्वश्रेष्ठ 9 अंक लेकर फाइनल में, पहले मैच के मैन ऑफ द मैच सीहोर टीम के हिमांशु शर्मा दूसरे मैच के मैन ऑफ द मैच बालाघाट के गोलकीपर सुमित हलदर को एआईएफएफ इंडिया फेडरेशन गौतमकार के द्वारा दिया गया.


मैच पाइंट

सीहोर - 9

बालाघाट-3

रतलाम -3

नीमच -3


भिक्षावृति छोड़ कर स्वरोजगार के लिए कृष्नेसी, सेवा संस्थान ने किया अनेक भिक्षुकों को प्रेरित गणेश मंदिर के बाहर भंींक मांग कर जीवन यापन करने वालों को बेचने ने के लिए नि:शुल्क बांटे तकियें और फुटबाल 


sehore news
सीहेार। भिक्षुकों को भिक्षावृति छोड़ कर स्वरोजगार के लिए कृष्नेसी सेवा संस्थान के कार्यकर्ताओं के द्वारा प्रेरित किया गया। कृष्नेसी सेवा संस्थान के संस्थापक भूपेंद्र विश्वकर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने गणेश मंदिर के बाहर भिक्षावृति करने वाले महिला पुरूष और बच्चों से संपर्क किया। कार्यकर्ताओं ने भिक्षावृति करने वालों के बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने सरकारी स्कूल में पढऩे जाने भींक मांगने जैसा बुरा कार्य नहीं करने नशे से दूर रहने और सम्मानजनक जीवन व्यातीत करने के लिए भी प्रोतसाहित किया। कार्यकर्ताओं ने समझाईश के बाद दीपावली के बाजार में बेचने और मेहनत से रूपये कमाने स्वयं का रोजगार स्थापित कराने के उद्देश्य से भिक्षुकों को नि: शुल्क रेडिमेड तकियें लोड एवं फुटबाल का वितरण किया। अशासकीय नागरिकों के सहयोग से संचालित कृष्नेसी सेवा संस्थान के द्वारा लगातार मंदिरों के बाहर भींक मांगकर जीवन यापन करने वाले लोगों और गरीब बच्चों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कार्य किया जा रहा है। ग्रामीण बस्ती से दूर वनवासी क्षेत्र में निवास करने वााले परिवारों के बच्चों को नि: शुल्क पढाई लिखाई की सामग्री और भोजन सहित जरूरतमंदों को कपड़े जूते चप्पल आदि का वितरण भी सेवा संस्थान के द्वारा किया जाता रहा है। संस्था की तरफ से शिक्षा की जानकारी और महत्व भी गरीब तबके के बच्चों को बताया जा रहा है। कृष्नेसी सेवा संस्थान के संस्थापक संचालक भूपेंद्र विश्वकर्मा ने बताया की पशुपालन विभाग मध्य प्रदेश शासन के मुख्य अपर सचिव जे.एन कंसोटिया और जांगड़ा महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजेश बांधेवाल से प्रेरणा लेकर कृष्नेसी सेवा का शुभारंभ किया गया है। लक्ष्य यह है की गरीबजन मंदिर परिसर मेें आने वाले श्रद्धालुओूं सहित आसपास के नगरों गांवों मेें संस्था के द्वारा उपलब्ध कराई गई सामग्री को बेच कर स्वरोजगार स्थापित करे बिक ने के बाद कहीं से भी उक्त सामग्री थोक में खरीदे और बेचे जिस से की भिक्षा मांगने की आदत छोट जाए और सामान्य लोगों की तरह हीं भिक्षा मांगने वाले अपना जीवन यापन करें। कृष्नेसी सेवा संस्थान के द्वारा की गई इस अनुठी पहल का कलेक्टर डॉ चंद्रमोहन ठाकुर, जिला पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी, कोतवाली थाना प्रभारी नलिन बुधोलिया, जिला शिक्षा अधिकारी उदय उपेंद्र भिड़े एवं एसडीओपी नसरूल्लांगज प्रकाश मिश्रा के द्वारा सराहना व्यक्त की जा चुकी है। सामग्री वितरण के दौरान कृष्नेसी सेवा संस्थान से जुडे वरिष्ठ समाजसेवी अनोखीलाल विश्वकर्मा, रामचंद्र सगबालिया, हितेश मुडे, संजय जोशी, संतोष वर्मा, अजय जाट, ब्रज महेश्वरी, राकेश, पवन राठौर बलवीर सिंह,मोहन विश्वकर्मा नरेंद्र विश्वकर्मा सौहन वर्मा आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 


हुतात्मा दिवस पर विहिप कार्यकर्ताओं ने शिविर में किया रक्तदान, व्यर्थ नही गया रामभक्त शहीद कारसेवकों का बलिदान-  प्रांत मंत्री  शर्मा  


sehore news
सीहोर। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण सनातन धर्मियों की शान है। रामभक्त शहीद कारसेवकों का बलिदान व्यर्थ नही गया है। हुतात्मा दिवस पर हम बलिदानी राष्ट्रभक्त कारसेवकों को नमन करते रहेंगे उक्त बात रविवार को हुतात्मा दिवस के उपलक्ष्य मेें आयोजित रक्तदान शिविर का शुभारंभ करते हुए विश्वहिंदू परिषद बजरंग दल के मध्यभारत प्रांत सह मंत्री सुनील कुमार शर्मा कहीं। उन्होने कहा की विश्वहिंदू परिषद बजरंग दल के कार्यकर्ता सनातन धर्म और राष्ट्ररक्षा के लिए समर्पित है हम किसी भी हालत में देश के दुश्मनों को बर्दाश्त नही करेंगे। हमारी संस्कृति और धरती की सुरक्षा हमारा धर्म ही नही कत्र्तव्य भी है। कार्यकर्ताओं का रक्तदान के लिए विहिप जिलाध्यक्ष जगदीश कुशवाह ने भी प्रेरित किया। रक्तदान शिविर में सैकड़ों की संख्या में जरूरतमंदों के लिए रक्तदान किया एवं परीक्षण भी कराया गया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से गौरक्षा विभाग प्रांत मंत्री अजीत शुक्ला, जिला उपाध्यक्ष पं मोहितराम पाठक जिला मंत्री राकेश कुमार विश्वकर्मा जिला कोषाध्यक्ष महेश मेवाड़ा, जिला गोरक्षा प्रमुख जितेंद्र नारोलिया नीरज चौरसिया, महादेव प्रसाद गुरु  विवेक राठौर,आशीष कुशवाह नगर सह संयोजक परमवीर जाट सीहोर ग्रामीण प्रखंड मंत्री सुनील परमार शुभम मालवीय शुभम राय सुजान  राठौर धीरज शमाज़्  विशाल बृजेश राठौर देवेंद्र सेन सुनील राठौर  महेश  परमार  नन्नू राठौर शिवेंद्र राठौर  हरीश खूबचंदानी नगर अध्यक्ष आलेख राज राठौर नगर मंत्री यज्ञश,मनोज यादव एवं सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता सम्मिलित रहे।



राष्ट्रीय एकता दिवस पर एकता की दिलाई शपथ
 

जिले में राष्ट्रीय एकता दिवस पर एकता की शपथ दिलाई शासकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज सीहोर, अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय नसरूल्लागंज, उपसंचालक पशुपालन एवं डेयरी विभाग कार्यालय सहित अन्य कार्यालयों में सरदार वल्लभभाई पटेल की जन्म जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता की शपथ दिलाई गई।


स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 शुरू होगा 10 नवम्बर से
 

स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2021 जो कि 10 नवम्बर 2021 से शुरु होगा, जिसमें मुख्य रूप से प्रत्येक घर में शौचालय उपयोग  हो रहा हो यदि किन्हीं कारणों से अनुपयोगी है तो उसकी साफ-सफाई एवं मरम्मत का कार्य  कराना होगा। गांव में सुखे गीले कचरे के प्रबंधन हेतु सामुदायिक नाडेप एवं घरेलू नाडेप  का निर्माण उपयुक्त स्थान पर अनिवार्य रूप से कराना होगा। गांव में घरों व सामुदायिक जल स्त्रोंतो  के उपयोग पश्चात निकलने वाले गंदे पानी का प्रबंधन हेतु सामुदायिक एवं घरेलू सोख्ते गढढों का निर्माण कराना होगा।  स्थानीय ग्रामीणों में घरेलू एवं सार्वजानिक स्तर पर साफ-सफाई के प्रति जागरूकता हो एवं सभी ग्रामीणों को होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण की जानकारी होना आवश्यक है।



बुदनी में टॉय फेस्टिवल आयोजित, मुख्यमंत्री श्री चौहान करेंगे टॉय फेस्टिवल का वर्चुअल शुभारंभ

  • एक नवंबर से 14 नवंबर तक चलेगा टॉय फेस्टिवल, फेस्टिवल के दौरान अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रतियोगिता का होगा आयोजन


sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान तथा सांसद श्री रमाकांत भार्गव की पहल पर बुधनी के दशहरा मैदान में मध्यप्रदेश स्थापना दिवस से 14 नवम्बर तक खिलौना महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान शाम 4 बजे वर्चुअल शुभारंभ करेंगे। बुदनी में आयोजित कार्यक्रम में जिले के प्रभारी एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल होंगे। सासंद श्री रमांकांत भार्गव वर्चुअल कार्यक्रम से जुडेंगे। बुदनी में आयोजित खिलौना महोत्सव में 1 नवम्बर को स्थापना दिवस, आर्केस्ट्रा, रंगोली रंगोली प्रतियोगिता में विषय ये दिवाली खिलाने वाली के अंतर्गत बच्चे अपनी रंगोली में खिलौनों की आकृतियों को उकेरेगे।, 2 नवंबर भजन मंडली, कन्या पूजन धार्मिक गातिविधियों तथा आदिवासी समुदाय को बड़ावा देने के लिए भजन संध्या का आयोजन किया जायेगा, तीन नवंबर को बच्चों के लिये हनुमान मूवी का प्रदर्शन बच्चों को प्रेरित करने के लिए हनुमान मूवी का शॉ हॉट स्टॉर पर एलईडी स्क्रीन के माध्यम से प्रथम शॉ के 13 एपीसोड दिखायें जायेगे। चार नवंबर को दीपोत्सव कार्यक्रम दीवाली के पर्व में आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा दीपों को जलाकर तथा आतिशबाजी का कार्यक्रम किया जायेगा, 5 नवंबर को पशु श्रृंगार कार्यक्रम गोवर्धन पूजा के अवसर पर पशुओं का श्रृंगार तथा पूजन की जावेगी, 6 नवंबर लोककला कार्यक्रम में स्थानीय लोक कला का मंचन बच्चों द्वारा किया जायेगा, इसमें प्रमुख रूप से लोक गायन व लोक नृत्य प्रस्तुति दी जायेगी, 6 नवंबर स्थानीय व्यंजन प्रदर्शनी नृत्य कार्यक्रम में प्रदर्शनी खाना बनाने के शौकीन बच्चों और उनके अभिभावकों के लिए आयोजित होगी, वे स्थानीय व्यंजनों और पकवानों को प्रस्तुत विक्रय करना होगा, 8 नवंबर नुक्कड़ नाटक, साईकिल रैली, गायन कार्यक्रम स्वच्छता को दृष्टिगत रखते नुक्कड़ नाटक तथा स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के प्रति जागरूकता का संदेश के उद्देश्य से साईकिल रैली का आयोजन किया जायेगा। नौ नवंबर कटपुतली कार्यक्रम में स्वच्छ भारत मिशन को तथा पानी बचाओं अभियान को प्रेरित करते हुये कटपुतली कार्यक्रम किया जायेगा, 10 नवंबर को चित्रकला तथा फेंसी ड्रेस मिट्टी तथा लकड़ी के खिलौने हस्तशिल्पी कार्यक्रम चित्रकला प्रतियोगिता के विषय मेरा मध्यप्रदेश के अंतर्गत बच्चों को अपनी चित्रकला का प्रदर्शन करना है, जिसमें वे अपने नजरिये से प्रदेश को अपनी चित्रकला में दिखा सकते हैं, 11 नवंबर को मैजिक शो कार्यक्रम कार्यक्रम बाहर के स्थानीय तथा आस पास के कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जावेगी, 12 नवंबर भजन मण्डली सूरज मछवाई मण्डल, धार्मिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए आयोजन किया जा रहा है,  13 नवंबर कवि सम्मेलन स्थानीय तथा आसपास के कवियों को बड़ावा देने के लिए उक्त आयोजन किया जा रहा हैं, 14 समापन समारोह आयोजित किया जाएगा।

 

जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य



पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142  है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020  हैं। आज 535 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 166, श्यामपुर से 140, नसरूल्लागंज 39, आष्टा से 110,  बुधनी से 45 तथा इछावर से 35 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 288179 हैं। जिनमें से 276293 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 528 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1673 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।



आबकारी विभाग ने छापामार कार्रवाई कर अवैध मदिरा जप्त की


sehore news

जिले में अवैध मदिरा के विरुद्ध कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देशन पर आबकारी विभाग द्वारा निरंतर कार्रवाई की जा रही है। आबकारी अमले ने सीहोर, दोराहा, आष्टा, बुदनी तथा नसरूल्लागंज में 04 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए ड्रम, कुप्पों,व भट्टी से कुल 16 लीटर हाथ भट्टी कच्ची मदिरा और 385 किलोग्राम महुआ लाहन जप्त किया है। आबकारी अधिकारी कीर्ति दुबे ने बताया कि इन पांच प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए मप्र आबकारी अधिनियम 1915 की विभिन्न धाराओं में 04 प्रकरण दर्ज कर 16 लीटर हाथ भट्टी कच्ची मदिरा तथा 385 किग्रा महुआ लाहन जप्त किया है जिसकी अनुमानित कीमत 20 हजार 850 रुपये है। इस कार्यवाही में आबकारी  टीम शामिल थी।


राष्ट्रीय एकता दिवस पर निकाली रैलियां राष्ट्रीय एकता की दिलाई शपथ


 
sehore news
सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस को "राष्ट्रीय एकता दिवस" के रूप में मनाया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम कलेक्ट्रेड परिसर में आयोजित किया गया। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने सरदार वल्लभ भाई के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल का व्यक्तित्व हमें राष्ट्रीय एकता सिखाता है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने उपस्थित अधिकारियों और बच्चों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना, डिप्टी कलेक्टर श्री आदित्य जैन, श्रीमती प्रगती वर्मा सहित अधिकारी -कर्मचारी उपस्थित थे।


आयोजित की गई रैलियां
सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस पर जिलेभर में रैलियां निकालकर राष्ट्रीय एकता का संदेश दिया। कलेक्ट्रेड परिसर से पुलिस विभाग के द्वारा बाइक रैली को कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।  आवासीय स्कूल से प्रारंभ हुई रैली को जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह एवं अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर ने हरी दिखाकर रवाना किया। इसी प्रकार कोतवाली चौराहे से प्रारंभ हुई रैली को श्री एसपी मयंक अवस्थी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली पूरे नगर से भ्रमण करते हुए कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंची। राष्ट्रीय एकता दिवस पर जिलेभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

कोई टिप्पणी नहीं: