बिहार : ईसाई समुदाय ने मृत विश्वासियों का पर्व मनाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 नवंबर 2021

बिहार : ईसाई समुदाय ने मृत विश्वासियों का पर्व मनाया

christian-death-festival
बेतिया.आज बेतिया कैथोलिक कब्रिस्तान में मृत विश्वासियों का पर्व मनाया गया.इस अवसर पर कब्रिस्तान में मिस्सा पूजा किया गया. बेतिया धर्मप्रांत के बिशप पीटर सेबास्टियन गोबियस के नेतृत्व में मिस्सा बलिदान अर्पित किया गया.इनके साथ बेतिया पल्ली पुरोहित फादर हेनरी फर्नाडो,फादर अमित,फादर तेलेस्फोर के साथ अन्य पुरोहित शामिल हुए. इस अवसर पर बेतिया धर्मप्रांत के बिशप पीटर सेबास्टियन गोबियस ने कहा कि मृत्यु जीवन का  विनाश नहीं वरन् जीवन का विकास है.उन्होंने कहा कि मृत्यु से सांसारिक जीवन का अन्त होता है.इसके साथ ही अनंत जीवन की शुरूआत भी होती है. बिशप पीटर सेबास्टियन गोबियस ने कहा कि आज हमसब इस सुअवसर का लाभ उठाते हुए प्रार्थना करें अपने मृत प्रियजनों के लिए कि ईश्वर उनको पापों को क्षमा कर स्वर्ग में संतों की संगति प्रदान करें. इस वर्ष अति वृष्टि के कारण कब्रिस्तान में जल जमाव की समस्या उत्पन्न हो गयी थी तथा जमीन दलदल बन गया था.कब्रिस्तान कमिटी के सदस्य सर्वश्री हेनरी लुकस, रिचर्ड फ्रांसिस,रेमंड रिचर्ड तथा फेलिक्स माइकल ने मिलकक पल्ली पुरोहित हेनरी फर्नाडो जी के मार्गदर्शन और पल्लीवासियों के सहयोग से बहुत हद तक जल निकासी तथा मिट्टी भराई का कार्य सफलतापूर्वक किया है.जिससे श्रद्धालू भक्तों को धार्मिक आयोजन में सम्मिलित होकर प्रार्थना करने में सहायता मिली. इस अवसर पर देश-विदेश-प्रदेश से बेतिया पल्लीवासियों का आगमन बेतिया में हुआ.दिल्ली,आसनसोल, कोलकाता,गौरखपुर, बैंगलोर,भोपाल तथा के अलावे दुबई से भी लोग प्रार्थना करने तथा अपने मृत परिजनों की आत्मशांति के लिये प्रार्थना की है. इस अवसर पर भोपाल से पधारे फ्रेंकी माइकल,बैंक प्रबंधक (अवकाश प्राप्त) बताते हैं कि इस अवसर पर वे 17 साल बाद आएं.राजेश पौल ,रंजीत केरोबिम,प्रकाश अगस्टीन के साथ जॉय माइकल की उपस्थिति उल्लेखनीय थी.मिस्सा के बाद क्रबों की आशीष दी गयी.

कोई टिप्पणी नहीं: