पकरी पाठ पल्ली के येसु समाजी पुरोहितों पर जानलेवा हमला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 6 नवंबर 2021

पकरी पाठ पल्ली के येसु समाजी पुरोहितों पर जानलेवा हमला

christian-prist-attacked
नेतरहाट. एक नवंबर को ईसाई समुदाय सब संतों का पर्व मना रहे थे.वहीं झारखंड के नेतरहाट स्थित पकरी पाठ पल्ली में अज्ञात लोग अत्याचार कर रहे थे.पकरी पाठ पल्ली के येसु समाजी पुरोहितों पर जानलेवा हमला बोलकर फादर सुनील बड़ा एस.जे. गंभीर रूप से घायल कर दिया. झारखंड के फादर एम. के. जोश एस.जे से मिली जानकारी के अनुसार, 1 नवम्बर को पकरी पाठ पल्ली के अलर्ट सेंटर (समाज सेवा केंद्र) में फादर अमित कुजूर एस.जे.,फादर सुनील बड़ा एस.जे., फादर इमिल एक्का एस. जे. और ब्रदर डेविड खलखो एस.जे. एक सामुदायिक सभा में भाग ले रहे थे.उसी दौरान शाम के 8 बजे करीब 10 अज्ञात लोगों ने पुरोहितों पर हमला कर दिया.


बताया जाता है कि येसु समाजी पुरोहितों पर सुनियोजित ढंग से अटैक किया गया.हमलावर ने शादी संबंधी बात करने का बहाना बनाकर येसु समाजी पुरोहितों से दरवाजा खुलवाये और अलर्ट सेंटर में घुस गये.वे सभी चेहरे पर मास्क लगाये हुए और हाथों में पिस्तौल एवं लाठी लिये हुए थे.अलर्ट सेंटर में घुसने के बाद हमलावरों ने पैसे देने की मांग करने लगे.इस दौरान हमलावर ने फादरों के हाथों को बांध दिया. उनके कहने पर बाध्य होकर फादर सुनील को उन्हें पूरे घर में घुमाना पड़ा.उन्होंने अपने साथ फादरों के कुछ पैसे और मोबाईल फोन ले लिये. मिल रही खबरों के अनुसार हमलावरों ने बैठक में भाग ले रहे चारों फादर लोगों को खूब पीटा और उनके साथ दुर्व्यवहार किया. सबसे अधिक चोट फादर सुनील को आई. उनके सिर पर पिस्तौल तानकर उन्हें बाहर निकाला एवं मेन रोड की ओर ले गया.उनको रास्ते पर भी पीटा गया. उसके बाद हमलावरों ने एक मजबूत पाईप से फादर सुनील के सिर पर प्रहार कर दिया.जिसके कारण फादर सड़क पर गिर पड़े.उन्हें गिरते देख सभी लुटेरे वहाँ से फरार हो गये.कुछ देर के बाद फादर को उठाकर घर वापस लाया गया. घटना के तुरन्त बाद दूसरे समुदाय के सहयोगी पुरोहितों ने आकर उनकी मदद की. पकरी पाठ की सिस्टर फिलो ने 4 सेंटीमीटर लम्बे और गहरे घाव पर टांका लगाया और प्राथमिक उपचार के बाद करीब आधी रात को उन्हें कार्मेल अस्पताल लाया गया. डॉ. जोसिया और सिस्टर दिव्य ने अस्पताल में उन्हें भर्ती किया और घाव पर पुनः टांका लगाया.डॉ. जोसिया ने बतलाया कि उनकी स्थिति ठीक है और वे वहीं पूरी तरह ठीक हो जायेंगे. रात को करीब 1 बजे (2 नवम्बर) नेतरहाट पुलिस फादर सुनील बड़ा से बयान लेने कार्मेल अस्पताल आयी थी. स्थानीय लोग इस घटना से दुःखी और हैरान हैं. उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटना काफी दिनों के बाद हुई है.

कोई टिप्पणी नहीं: