झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 09 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 9 नवंबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 09 नवम्बर

राजनेताओं को राजनीति और सामाजिक परिवेष में अंतर को समझकर उसे दूर करना होगा -ः पद्मश्री महेष शर्मा, क्षेत्रीय सांसद जीएस डामोर एवं उनकी धर्मपत्नि श्रीमती सूरज डामोर का शहर की समस्त सामाजिक, धार्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक और राजनैतिक संस्थाओं ने किया भावभरा अभिनंदन


jhabua news
झाबुआ। 7 नवंबर, रविवार रात 8 बजे से क्षेत्रीय सांसद जीएस डामोर के निवास पर आयोजित दीपावली मिलन समारोह में शहर की ख्यातनाम हस्तीयांे, जिसमें विषेषकर सामाजिक-धार्मिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक, साहित्यिक संस्थाओं के पदाधिकारियों और समाज प्रमुखांे ने शामिल होकर सांसद श्री डामोर के साथ उनकी धर्मपत्नि पूर्व आईएएस अधिकारी श्रीमती सूरज डामोर का भव्य स्वागत एवं अभिनंदन किया। इससे पूर्व आयोजित समारोह में वरिष्ठ वक्ताओं ने उनके अब तक के राजनैतिक कैरियर पर प्रकाष डालते हुए जल्द ही उन्हे केंद्र में केबिनेट मंत्री का दर्जा दिए जाने हेतु भी सभी ने आषा व्यक्ति करते हुए डामोर दंपति के उज्जवल भविष्य की कामना की। प्रारंभ मंे अतिथियों में पद्मश्री षिवगंगा प्रमुख महेष शर्मा, सेवानिवृत्त प्राचार्य एवं वरिष्ठ इतिहासकार डॉ. केके त्रिवेदी, वरिष्ठ अभिभाषक दिनेष सक्सेना, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. एलएस राठौर एवं बोहरा समाज के वरिष्ठ नुरूद्दीनभाई बोहरा ने दीप प्रज्जवलन कर समारोह का शुभारंभ किया। समारोह में झाबुआ जिले सहित आलीराजपुर और रतलाम जिले से भी विभिन्न सामाजिक, धार्मिक, राजनैतिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक संस्थाओं के पदाधिकारी और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


राजनैतिक क्षेत्र काफी विस्तृत होता है

समारोह में मुख्य रूप से पद्मश्री शर्मा ने कहा कि राजनेताओं को राजनीति में माहिर होने के साथ सामाजिक परिवेष और उनके दृष्य को समझकर आज तालमेल बनाने की आवष्यकता है। सामान्यतः राजनीतिक परिदृष्य और सामाजिक परिदृष्य में काफी अंतर होता है। राजनैतिक क्षेत्र काफी विस्तृत विस्तृत होता है। उन्होंने कहा कि जो दीपावली मिलन समारोह का आयोजन सासंद श्री डामोर की ओर से रखा गया है, इसके उन्हंे एवं व्यवस्थाओं में लगी पूरी टीम को शुभकामनाएं प्रेषित की। इस अवसर पर विषेष रूप से जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नूबेन डोडियार, वरिष्ठ मनोहरलाल भंडारी, प्रकाष जैन आदि भी उपस्थित थे।


इन्होने भी रखे अपने-अपने विचार

इस दौरान अन्य वक्ताओं में सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष संजय कांठी, रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा, सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, बोहरा समाज के वरिष्ठ नुरूद्दीनभाई बोहरा, महिला पतंजलि योग समिति की जिला प्रभारी सुश्री रूक्मणी वर्मा सहित अन्य वक्ताओं ने संबोधित करते हुए सांसद श्री डामोर के राजनैतिक कार्यकाल की सराहना करते हुए उनके उज्जवल भविष्य हेतु मंगल कामना प्रेषित की। साथ ही दीपावली एवं नववर्ष की भी शुभकामनाएं प्रेषित की। इस दौरान वरिष्ठ षिक्षाविद् ओमप्रकाष शर्मा ने सांसद श्री डामोर से झाबुआ जिले में सर्व-सुविधायुक्त मेडिकल कॉलेज खुलवाने की मांग रखी, ताकि मेडिकल से संबंधित छात्र-छात्राआंे को अध्ययन के लिए बाहर नहंी जाना पड़े अंत में सांसद श्री डामोर ने संबोधित करते हुए संसदीय क्षेत्र में उनके द्वारा भविष्य में मुख्य रूप से किए जाने वाले विकास कार्यों, प्रोजेक्ट आदि की जानकारी दी।


इन्होंने विषेष सहयोग प्रदान किया

समारोह का सफल संचालन युवा भाजपा भाजपा नेता भूपेष सिंगोड़ ने किया एवं आभार भाजपा के प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य एवं वरिष्ठ भाजपा नेता ओमप्रकाष शर्मा ने किया। समारोह को सफल बनाने में विषेष सहयोग भील जनजाति सेवा संघ के अध्यक्ष अजय डामोर, सांसद प्रतिनिधि मनोज अरोरा, भाजपा मंडल झाबुआ के महामंत्री एवं युवा पार्षद पपीष पानेरी, भाजपा आईटी सेल संयोजक अर्पित कटकानी, सांसद के पीए श्री रावत, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी आदि ने प्रदान किया गया।ं


इन संस्थाओं और समाजों ने किया अभिनंदन

समारोह में सांसद डामोर दंपति का सामाजिक महासंघ जिला झाबुआ, सकल व्यापारी संघ, रोटरी क्लब ‘मेन’, रोटरेक्ट क्लब, रोटरी क्लब ‘आजाद’, दषा नीमा समाज, श्री कल्ला धाम मंदिर समिति, श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति, युवा आजाद ग्रुप, गायत्री शक्तिपीठ कॉलेज एवं गायत्री परिवार बसंत कॉलोनी, जिला आजाद साहित्य परिषद्, वनांचल साहित्य परिषद्, ब्राम्हाण युवा संगठन, संस्कार, भारती, संकल्प ग्रुप, सांत्वना ग्रुप, जिला महिला पतंजलि योग समिति, इन्हरव्हील क्लब ‘मेन’ और झाबुआ शक्ति, जिला पेंषनर्स एसोसिएषन, वरिष्ठ नागरिक फोरम एवं परिसंघ, श्री स्वाध्याय चातुर्मास, समिति सहित आलीराजपुर और रतलाम जिले से आए समस्त सामाजिक, राजनैतिक संगठनों ने पुष्पमालाओं और पुष्प गुच्छ तथा अभिनंदन-पत्र भंेटकर भावभरा सम्मान किया।


jhabua news
घरेलुु कामकाजी महिलाआंे की सर्वेक्षण पुस्तिका मप्र के मुख्यमंत्री श्री चौहान को मातृ शक्तियों ने की भेंट, भारतीय स्त्री संगठन की प्रदेष अध्यक्ष श्रीमती किरण शर्मा भी रहीं मौजूद



झाबुआ। मप्र में घरेलू कामकाजी महिलाओं की सद्य स्थिति की सर्वेक्षण पुस्तिका भोपाल जाकर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भाजपा की वरिष्ठ नेत्री मीनाक्षी नटराजन, सुश्री शोभा पेठनकर, ममता सिंह, डॉ शशि ठाकुर के साथ भारतीय स्त्री संगठन की प्रदेष अध्यक्ष श्रीमती किरण शर्मा ने भेंट कर मुख्यमंत्री से इस संबंध मंे चर्चा भी की।


एनएसयूआई ने कॉलेज मैदान का मुख्य गेट चोरी होने पर जताया विरोध, महाविद्यालय प्राचार्य को ज्ञापन सौंपकर तत्काल कार्रवाई की मांग की


jhabua news
झाबुआ। शासकीय शहीद चन्द्रषेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय झाबुआ के मैदान के मुख्य प्रवेष द्वार (मुख्य गेट) चोरी होने की जानकारी भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) ने संस्था प्राचार्य डॉ. जेसी सिन्हा को इस संबंध मंे ज्ञापन सौंपकर की है। साथ ही गेट चोरी होने की पुलिस थाना पर रिपोर्ट दर्ज करवाकर आरोपियों पर तत्काल कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष विनय भाबोर के नेतृत्व में सौंपा गया। जिसमंे उल्लेख किया गया कि कॉलेज ग्राउंड पर लोहे के गेट लगे हुए थे। जिससे बाहरी व्यक्ति मैदान के अंदर दो या चार पहिया वाहन नहीं ला सके। साथ ही मैदान भी खिलाड़ियों के लिए पूरी तरह से सुरक्षित रह सके, परंतु कुछ दिन पहले असामाजिक तत्वांे द्रारा कॉलेज ग्राउंड का मेन गेट तोड़कर चोरी कर लिया गया। गेट पूरा लोहे का बना होकर काफी किमती था।


तत्काल कार्रवाई करवाई जाए

ज्ञापन मंे संगठन ने इस मामले में चोरी की रिपोर्ट पुलिस थाने पर दर्ज करवाने करवाने की मांग कॉलेज प्रबंधक से की, ताकि पुलिस द्वारा आरोपियांे की तलाष कर उन्हंे दंडित किया जा सके। जिससे भविष्य में मेंी ऐसी घटना दोबारा ना हो। गेट चोरी हुए 20 दिन हो चुके है, परंतु कॉलेज प्रशासन की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। एनएसयूआइ्र ने दो दिन के भीतर कोई कार्रवाई नहीं होने पर कॉलेज बंद कर हड़ताल करने की भी चेतावनी दी है।


यातायात पुलिस ने गति सीमा से अधिक वाहन चलाने वाले चालकांे पर की कार्रवाई, नई पद्धति इंटरसेप्टर से 18 चालान बनाकर 18 हजार रू. समन शुल्क वसूला


jhabua news
झाबुआ। यातायात पुलिस झाबुआ द्वारा गति सीमा से अधिक वाहन चलाने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई की गई। जिसकी कार्रवाई पुलिस मुख्यालय भोपाल द्वारा जिले को दिए गए इंटरसेप्टर वाहन के माध्यम से पूर्ण की गई। जिसमें तेज गति से वाहन चलाने वालों के विरुद्ध मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई कर 18 चालान बनाकर समन शुल्क 18 हजार रू. वसूल किया गया। उक्त कार्रवाई में विषेष सहयोग यातायाता पुलिस के सूबेदार विजेंद्रसिंह मुजाल्दा, एसआई रामसिंह मालवीय, लोकेन्द्र खेड़े, रामलाल सिंगार, प्रधान आरक्षक ईष्वर दिनेश एवं चालक मुकेश आदि ने प्रदान किया।


समयावधि पत्रों की बैठक सम्पन्न, टीकाकरण अभियान चलाकर शतप्रतिशत टीकाकरण करवाए - कलेक्टर

 

jhabua news
झाबुआ,। कलेक्टर कार्यालय सभा कक्ष में समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा की अध्यक्षता में की गई। जिसमें मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जेे.एस.बघेल, एवं जिला अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में श्री मिश्रा के द्वारा निर्देश दिए की जिले के सभी ग्रामों एव शहर के सभी वार्डो में शत प्रतिशत टीकाकरण अनिवार्य रूप से करवा कर लक्ष्य लेकर काम सभी जिला अधिकारी करेंगे। आप अपने सहयोग के लिए स्थानीय रूप से एवं नियमित रूप से ग्रामों का भ्रमण कर शत प्रतिशत टीकाकरण करवाएंगे। दीपावली त्योहार के अवसर पर जो श्रमिक पलायन पर गए थे । वे भी गांव में आ चुके होंगे प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को टीकाकरण का कैंप लगाए एवं यदि सम्भव हो तो प्रतिदिन टीकाकरण के लिए अपनी टीम को भेजे। शासन की मंशा है कि कोरोना-19 के संक्रमण को रोकने का सुरक्षा कवच टीकाकरण के दोनो डोज अनिवार्य है। इसे फोकस करें। मध्यप्रदेश शासन द्वारा वृहद स्तर पर सेकण्ड डोज कवरेज हेतु माननीय मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन के नेतृत्व में टीकाकरण महाअभियान पूनः प्रारम्भ किया जा रहा है। जिले में दिनांक 10, 17, 24 नवंबर और 1 दिसंबर को महाअभियान चलाया जाएगा। जिसमें लगभग 52 हजार टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। इस हेतु 260 सेंटर स्थापित किए है एवं जिला स्तर के अधिकारियों को निरंतर फिल्ड में रहकर शतप्रतिशत टीकाकरण करवाए जाने के निर्देश कलेक्टर महोदय के द्वारा दिए गए हैं। टीकाकरण के लिए 10 नवंबर को जो 52 हजार टीकाकरण करने का लक्ष्य दिया गया है उसमें झाबुआ शहर हेतु 1000, कल्याणपुरा-9800, मेघनगर- 6600, थांदला- 6800, पेटलावद-12,400 , रामा- 8000, राणापुर - 7400 टीकाकरण कर लोगों को सुरक्षित किया जाना है। श्री मिश्रा ने निर्देश दिए कि प्रशासन आपके द्वार योजना के अंतर्गत जो आवेदन प्राप्त हुए है उनका निराकरण निर्धारित समयावधि पूर्ण करें। यदि आवेदन पत्र में विलंब होता है उसका उत्तरदायित्व का निर्धारण कर सख्त कार्यवाही की जाएगी। श्री मिश्रा ने नरसिंग रूण्डा ग्राम में शतप्रतिशत दोनों डोज पूर्ण करने पर जिन अधिकारियों, कर्मचारियों का सहयोग रहा है उन्हे बधाई दी है चूकि भारत शासन के द्वारा माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा इस फिल्म को रिलीज किया जाएगा। जिले के लिए यह एक बहुत बडी उपलब्धी के रूप में है। जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि बुधवार को टीकाकरण का लक्ष्य पूर्ण करें। 17 नवंबर तक लगभग 70 हजार टीके लग जाना चाहिए। अभियान में जिला अधिकारी प्रातः 9 बजे से फिल्ड में निकलेंगे। आंगनवाडी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, एएनएम, ग्राम पंचातय सचिव, जीआरएस एवं उस गंाव से जुडे अधिकारी को लक्ष्य पूर्ण करने का उत्तरदायित्तव दिया गया है। इस अभियान में टोका टोकी अभियान चलाया जाएगा। ग्रामांे के वार्ड एवं शहरों के वार्ड में यह सुनिश्चित किया जाएगा की किन लोगों के द्वारा टीका लगवाया गया है या नहीं लगवाया गया है जो लोग टीका नहीं लगवा रहे हैं उन्हे सूचीबध कर कार्यवाही की जाएगी। इन लोगों में जिनके द्वारा एक भी टीका नहीं लगवाया गया है या एक टीके के बाद दूसरा टीका नहीं लगवाया गया है या वह पलायन पर चले गए है इन्हे सूचीबद्ध कर कार्यवाही की जाएगी।


आयुष विभाग जिला झाबुआ द्वारा धन्वंतरी जयंती एवं राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया गया’, कार्यक्रम का शुभारंभ कलेक्टर श्री मिश्रा ने कन्या पूजन के साथ किया


sehore news
झाबुआ। धन्वंतरी जयंती के उपलक्ष्य पर आयुष विभाग जिला झाबुआ द्वारा 6 वाँ राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस मनाया गया, जिसके अंतर्गत ’पोषण हेतु आयुर्वेद’ के थीम पर फ़ूड फेस्टिवल एवं संगोष्ठी का आयोजन जिला आयुष कार्यालय झाबुआ में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा जी के द्वारा आयुर्वेद के प्रवर्तक भगवान धन्वंतरी जी के चित्र पर माल्यार्पण, दीप प्रज्वलन व कन्या पूजन कर किया गया। जिला आयुष अधिकारी डॉ प्रमिला चौहान ने पधारे अतिथियों का पुष्प गुच्छ के द्वारा स्वागत किया एवं स्वागत उद्बोधन के साथ आयुष विभाग के द्वारा की जा रही गतिविधियों के बारे में संक्षिप्त परिचय दिया। कलेक्टर श्री मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि, आयुर्वेद चिकित्सा विज्ञान के साथ साथ सम्पूर्ण जीवन विज्ञान है, साथ ही सभागार में उपस्थित समस्त आयुष चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ़ को संबोधित करते हुए कहा कि समाज मे आपकी सहभागिता ऐसी हो कि आयुर्वेद व योग के माध्यम से जनसमुदाय को होने वाली बीमारियों से पूर्व में ही सुरक्षित किया जाए एवं सुपोषण हेतु आयुर्वेद को अपनाने के लिए अधिक से अधिक लोगों को संगोष्ठियों के माध्यम से प्रेरित किया जाना चाहिए। आयुष विंग झाबुआ में पदस्थ वरिष्ठ आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. मीना भायल द्वारा कोरोना काल मे आयुष विभाग के द्वारा किये गए कार्यो की जानकारी दी गई एवं जिला आयुर्वेद चिकित्सालय के डॉ. कलम सिंह बारिया ने महिला एवं बाल विकास से आये कर्मचारियों व कार्यकर्ताओं को सुपोषण हेतु अभ्यंग व अश्वगंधा, बला ,शतावरी, जैसी बल्य औषधियों के प्रयोग पर परिचय दिया। जिला कलेक्टर महोदय व पधारे अतिथियों ने पोषण आहार से संबंधित प्रदर्शनी का अवलोकन किया जिसका पूरा विवरण डॉ. कैलाश पाटीदार डॉ. नीलिमा चौहान, डॉ. रागिनी शिवहरे, डॉ. गुफरान बैग द्वारा बताया गया। कार्यक्रम का संचालन कर रहे डॉ प्रवेश उपाध्याय ने धन्वंतरि वंदना प्रस्तुत करी व साथ ही आयुर्वेद के मूल सिद्धान्तों पर प्रकाश डाला। अतिथियों में डॉ सी एल वर्मा, डॉ. ए. के. पाठक, डॉ. वी. डी. शर्मा, डॉ. देराश्री आदि वरिष्ठ चिकित्सक उपस्थित रहे। आयुष विभाग द्वारा पधारे मुख्य अतिथि कलेक्टर महोदय व अन्य अतिथियों को भगवान धन्वंतरि का चित्र स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट किया गया। पधारे सभी अतिथियों का आभार डॉ. दीपेश कठौता द्वारा ज्ञापित किया गया।


महिला बाल विकास विभाग झाबुआ के समन्वय से शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय बाड़कुआ में महिला सशक्तिकरण हेतु विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया।


jhabua news
झाबुआ। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत पूरे देश में अखिल भारतीय जागरूकता एवं आउटरीच अभियान दिनांक 2 अक्टूबर से 14 नवम्बर-2021 तक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में दिनांक 08.11.2021 को महिला बाल विकास विभाग झाबुआ के समन्वय से शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय बाड़कुआ में महिला सशक्तिकरण हेतु विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। दिनांक 08 नवंबर 2021 को महिला बाल विकास विभाग झाबुआ के समन्वय से शासकीय नर्सिंग महाविद्यालय बाड़कुआ झाबुआ में महिला सशक्तिकरण हेतु विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सेय्यदुल अबरार जी के मार्गदर्शन एवं अपर जिला न्यायाधीश/सचिव श्री लीलाधर सोलंकी जी के निर्देशन में संपन्न किया गया। शिविर को संबोधित करते हुये श्री सोलंकी जी ने उपस्थित महिलाओं को कानूनी जागरूकता के लिए संवैधानिक एवं विभिन्न उपयोगी कानूनों की विस्तार से जानकारी दी गई तथा शासन की जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जैसे- लाडली लक्ष्मी, स्किल इंडिया, वन स्टॉप सेंटर पर महिलाओं को मिलने वाली काउंसलिंग एवं सुविधाओं के बारे में जानकारी दी गई। शिविर में श्री सोलंकी द्वारा कानूनी जागरूकता से महिलाओं के सशक्तिकरण और उनकी आर्थिक सुरक्षा के आधार पर पर दिया एवं महिलाओं को छोटे लघु उद्योग एवं कुटीर उद्योग से अपनी आर्थिक स्थित को सबल बनाने के बारे में विस्तार से समझाया। महिलाओं को संवैधानिक उपचार एवं महिला का पीछा करने जैसे अपराधों के बारे में कानूनी जानकारी देकर जागरूक किया गया। शिविर को संबोधित करते हुये प्रधान न्यायाधीश किशोर न्याय बोर्ड श्रीमती तनवी माहेश्वरी ठाकुर ने महिलाओं को घरेलू हिंसा से संरक्षण एवं निःशुल्क विधिक सहायता की जानकारी देते हुये बताया कि महिलाओं के लिए प्राधिकरण के दरवाजे सदैव खुले है। महिलाओं को दैनिक जीवन में आने वाली आर्थिक और सामाजिक कठिनाईयों के निराकरण हेतु कौशल विकास छोटे घरेलू कुटीर उद्योगों के माध्यम से आर्थिक समानता के लिए प्रेरित किया गया। महिलाओं का संरक्षण, दहेज प्रतिषेध अधिनियम, बाल विवाह निषेध अधिनियम, मौलिक अधिकार, निःशुल्क विधिक सहायता एवं विधिक सेवा संबंधी योजनाओं, कू्ररता, कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न से रोकथाम अधिनियम-2013, महिलाओं के लिए भरण-पोषण संबंधी विधिक प्रावधान, संपत्ति में महिलाओं को बराबरी का अधिकार, भारतीय दण्ड संहिता में महिलाओं के विरूद्ध अपराधों से संबंधित प्रावधानों आदि की विस्तार से जानकारी दी गई। शिविर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी झाबुआ श्री जयपाल सिंह ठाकुर उपस्थित रहें। कार्यक्रम का संचालन  श्री जिमी निर्मल द्वारा किया गया


नवीन कृषि तकनीक विस्तारण और कृषि विकास में कृषि आदान विक्रेताआंे की महती भूमिका

  • कृषि और किसानों के विकास में आदान व्यावसायीयांे की महती भूमिका
  • टीकाऊ कृषिगत विकास के लिए आदान विक्रेताओं का तकनीकी सम्पन्न होना आवष्यक

झाबुआ,। खेती किसानी देष की अर्थव्यवस्था का मूलभुत आधार हैं। विकसीत सम्पन्न और समृद्ध समाज के लिए खेती किसानी का सुदृढ होना अपरिहार्य रूप से आवष्यक हैं। देष की आधे से ज्यादा आबादी की आजिवीका कृषिगत उद्यमों पर ही निर्भर है। देष के आम जन की सामाजीक और आर्थीक उन्नती के लिए खेती किसानी के क्षेत्र में लगातार विकास और वृद्धि होना आज के समय की महत्ती आवष्यकता हैं नागरीकों की आजिवीका को उत्तरोत्तर बेहतर बनाए रखने के लिए कृषिगत क्षेत्र ने लगातार उत्पादन वृद्धि के सतत् प्रयास किये जाना आवष्यक है। खेती किसानी के क्षेत्र में नित नई चुनौतियों के मद्देनजर उन्नत कृषिगत तकनीक के प्रयोग के साथ-साथ आधुनिक संसाधनो और आदानो की निरंतर आपूर्ती और उनके समुचित उपयोग पर बल दिया जा रहा है। देष के आम किसानो तक नवीन कृषिगत तकनीक और आदानो की सुलभता सुनिष्चित करने में कृषि आदान विक्रतोओं की जीवंत भूमिका है। विगत दषको के दौरान देष के कृषि क्षेत्र में हुए विकास में कृषि आदान व्यावसायों का भरपूर योगदान रहा है। बदलते हुए परिवेष और नित् नये वैज्ञानीक अनुसंधानो के मद्देनजर कृषि व्ययसाय से जुडे व्यक्तियों का तकनीकी ज्ञान के साथ-साथ शासन के नियमो अधिनियमो की व्यावहारीक समग्र समझ नितांत आवष्यक है। उक्त उद्गार व्यक्त करते हुए राज्य स्तरीय कृषि विस्तार एवं प्रषिक्षण संस्थान के संचालक के. पी. अहरवाल नें कृषि आदान विक्रेताओ के डिप्लोमा पाठ्यक्रम के अभ्यर्थीयों को सम्बोधित किया।  जिले में कृषि आदान विक्रेताआंे के लिये कृषि विभाग द्वारा भारत सरकार के राष्ट्रीय कृषि विस्तार एवं प्रषिक्षण संस्थान हैदराबाद के माध्यम से संचालित श्क्पचसवउं पद ।हतपबनसजनतम म्गजमदेपवद ैमतअपबमे वित प्दचनज क्मंसमतश् एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स की कृषि विज्ञान केन्द्र के सभागार मंे विगत दिवस आयोजित दो बेचेस के संचालित पाठ्यक्रम के मुल्याकंन और अनुश्रवण के लिए राज्य स्तरीय संस्थान के संचालक अपने आकस्मीक भ्रमण पर झाबुआ उपस्थित हुए। संचालक के. पी. अहरवाल द्वारा देसी डिप्लोमा कोर्स के जिले के विभिन्न विकासखण्डो के कृषि व्यवसायीयों से पाठ्यक्रम सम्बधित विस्तृत चर्चा की। अहरवाल द्वारा जिले के कृषि व्यावसायीयांे को उर्वरक, कीटनाषक औषधी और बीज गुण नियंत्रण के लिए प्रावधानीत नियमों, अधिनियामों और आदेषो के अनुपालन के लिए प्रेरित करते हुए व्यावहारीक पहलुआंे की विस्तृत व्याख्या करते हुए कृषि सम्बधी विभिन्न तकनीकी विषयों के वैज्ञानीक आयामांे पर व्याख्यान दिया। अहरवाल द्वारा कृषि आदान विक्रेताओं से आव्हान किया कि उनके प्रतिष्ठान पर आने वाले किसान बन्धुओ को कृषि आदान विक्रय के साथ-साथ उनके उपयोग की विधि और कृषि की नवीन तकनीक की समझाईष दी जानी चाहीए। कृषि आदानो के उपयोग के सन्दर्भ मंे पर्यावरण संरक्षण का विषेष ध्यान रखने की भी अपील की गई। डिप्लोमा पाठ्यक्रम में जिले के सत्तर वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ व्यावसायी छगनलाल प्रजापती, राजेन्द्र व्होरा के साथ-साथ युवा प्रतिभागी भी नियमीत रूप से कक्षा मंे उपस्थित होकर वैज्ञानीक कृषि सम्बधी ज्ञानार्जन कर रहे है। वर्तमान में संचालीत दो बेचेस में सत्तर से अधिक प्रतिभागी पाठ्यक्रम से संयोजीत है। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानीक डॉ. आर.के. त्रिपाठी तथा रिसोर्स पर्सन गोपाल मुलेवा द्वारा भी पाठ्यक्रम सम्बधी तकनीकी सत्रों के दौरान अपने व्याख्यानों से अभ्यर्थियों को लाभान्वित किया। कृषि विज्ञान केन्द्र के सभागार मंे आयोजित कार्यक्रम में जिले के उप संचालक कृषि एन.एस. रावत, परियोजना संचालक आत्मा जी.एस. त्रिवेदी, एम.एस. धार्वे, मेनुएल भाबोर, समय यादव, प्रषांत बुन्देला, राकेष हटिला, संजय मण्डोड उपस्थित रहे। संचालक भोपाल का स्वागत डिप्लोमा कोर्स के अभ्यर्थीयों के प्रतिनिधि के रूप में संदीप मेरतवाल, हौजेफा बुरहान अली, अंषुल भण्डारी, अनुपम भण्डारी तथा मंयक जैन द्वारा किया गया। कार्यक्रम की सूत्र धारिता उप परियोजना संचालक आत्मा एवं कोर्स कोर्डिनेटर एम.एस.धार्वे द्वारा की गई।


महिलाओं हेतु हल्के वाहन चालक प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ  कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी  जिला पंचायत सिद्धार्थ जैन के द्वारा किया गया --


jhabua news
झाबुआ। महिलाओं को हल्के वाहन चलाने का प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन के द्वारा किया गया। जिसमें प्रशिक्षण हेतु उपस्थित  प्रशिक्षणार्थी महिलाओं को ‘’आत्मनिर्भर महिला, आत्मनिर्भर प्रदेश’’ की अवधारणा को साकार करने के उद्देश्य से  मध्यप्रदेश शासन,परिवहन विभाग की योजना के अंतर्गत महिला सशक्तिकरण हेतु महिलाओं के लिए  निःशुल्क हल्के वाहन चालक प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ आज दिनांक 8 नवंबर, 2021 को किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के द्वारा प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण सामग्री प्रदान की गई। इस अवसर पर कलेक्टर श्री मिश्रा ने कहा कि यह ड्राइविंग एक महत्वपूर्ण प्रशिक्षण है ओर  आज के युग में इसका प्रशिक्षण बहुत ही आवश्यक है और जो भी इच्छुक हैं उनसे भी संपर्क स्थापित किया जाए आजकल महिलाएं बड़े बड़े वाहन चला रही हैं रेलवे में भी लोको पायलट का काम कर रही हैं। आप  यह प्रशिक्षण को लेकर स्वयं का वाहन तो चला ही सकते हैं। इसके अतिरिक्त  सोलर वाहन भी प्रदान करने की योजना  है। जिससे  आपकी आजीविका सुचारू रूप से चल सके और परिवार  को आय का एक साधन स्थाई रूप से निर्मित हो  सके। आर्थिक स्थिति को मजबूत हो सके। इस दौरान  श्री मोहनसिंह गरवाल,प्राचार्य आईटीआई,श्री सुधीर कुशवाह, प्रभारी पी आर ओ तथा आईटीआई स्टॉफ उपस्थित था। यह आयोजन शासकीय आईटीआई झाबुआ में किया गया। प्राचार्य,आईटीआई झाबुआ ने बताया कि महिलाओं के लिये निःशुल्क  हल्के वाहन चालक प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि 30 दिवस होगी जिसमें अनुभवी वाहन चालक प्रशिक्षको द्वारा प्रति दिवस 2 घण्टे थ्योरी एवं 5 घंटे प्रेक्टिकल प्रशिक्षण दिया जावेगा। योजनान्तर्गत सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने के उपरान्त परिवहन विभाग द्वारा निःशुल्क ड्राईविंग लाईसेंस प्रदाय किया जावेगा तथा प्रशिक्षित महिला अभ्यर्थी स्वरोजगार हेतु शासन की योजनाओं के अंतर्गत पात्रतानुसार लाभ ले सकते हैं।


जनसुनवाई में 21 आवेदन प्राप्त हुए

        

jhabua news
झाबुआ।  डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अंकिता प्रजापति द्वारा जनसुनवाई में 21 आवेदन प्राप्त किए। कलेक्टर कार्यालय सभा कक्ष में अधिकारी आवेदकों का इंतजार करते रहे, किन्तु 21 आवेदकों द्वारा ही अपने आवेदन प्रस्तुत किए गए। जिसमें श्री मथियास भूरिया द्वारा प्रकरण क्रमांक 113 के सीमांकन की सम्पूर्ण प्रकरण की प्रमाणित प्रतिलिपि दिलवाने बाबत प्रस्तुत किया गया, श्री तेजिया पिता भूरा डामोर ग्राम मकनपुरा रामा द्वारा वन अधिकार को मान्यता अंतर्गत काबिज भूमि पर पट्टा अधिकार प्रदान करने बाबत प्रस्तुत किया गया, श्री कमल एवं अन्य के द्वारा दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों से स्थाई कर्मी के आदेश प्रदान करने बाबत प्रस्तुत किया गया, ग्राम रातीमाली के ग्रामीणजनों द्वारा शासकीय रोड पर अतिक्रमण करते हुए नाली निर्माण किया जा रहा है तत्काल निर्माण कार्य रोके जाने बाबत प्रस्तुत किया गया के संबंध में आवेदन प्रस्तुत किए। आज जनसुनवाई में श्रीमती प्रजापति द्वारा निर्देश दिए गए कि सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर 7 दिवस के अन्दर प्राप्त प्रकरणों का निराकरण करे एवं इन आवेदन पत्रों की समीक्षा टीएल की बैठक में होगी। जनसुनवाई में अति. मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एवं उप संचालक सामाजिक न्याय श्री दिनेश वर्मा, उप वनमण्डलाधिकारी श्री प्रदीप कछावा एवं जिला अधिकारी उपस्थित थे। शेष एस.डी.एम. राजस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, समस्त तहसीलदार, वीडियो कांफ्रेनिं्सग के माध्यम से जुडे़ थे। 


पीएमकेवीवाय 3.0 के अन्‍तर्गत निःशुल्‍क प्रशिक्षण हेतु पंजीयन


झाबुआ। कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा नेशनल स्‍कील डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के माध्‍यम से अल्‍पावधि कौशल प्रशिक्षण पाठ्यक्रम उपलब्‍ध कराकर “प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की शुरूआत की है जिसका क्रियान्‍वयन  एवं मॉनिटरिंग जिला कौशल समिति द्वारा किया जाता है । भारत सरकार के स्‍ट्राईव प्रोजेक्‍ट के अन्‍तर्गत चयनित शासकीय आईटीआई झाबुआ पीएमकेवीवाय 3.0 के तहत शॉर्ट टर्म ट्रेनिंग कोर्स के संचालन हेतु नेशनल इंस्‍ट्रक्‍शन मीडिया इंस्‍टीट्यूट चेन्‍नई से एफिलियेटेड जिले की एक मात्र शासकीय संस्‍था है, जहाँ पर प्रशिक्षण संचालित किया जावेगा।   शासकीय आईटीआई झाबुआ में निःशुल्‍क कौशल प्रशिक्षण हेतु उपलब्‍ध जॉबरोल्‍स- डोमेस्टिक डाटा एंट्री ऑपरेटर, सीसीटीवी इंस्टॉलेशन टेक्‍नीशियन, सेल्‍फ एम्‍प्‍लॉयड टेलर, मेशन जनरल इत्‍यादि में पंजीयन प्रक्रिया प्रचलित है। निःशुल्‍क प्रशिक्षण लेने के इच्‍छुक ऐसे आवेदक जो कक्षा 5वीं, 8वीं,10वीं उत्‍तीर्ण एवं जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है वे कार्यालयीन समय में अपने पंजीयन हेतु संस्‍था में उपस्थित होकर श्री नेवसिंह डोडवा प्रशिक्षण अधिकारी से अधिक जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं अथवा मोबाइल नंबर-9575135880 पर संपर्क कर सकते हैं ।

 

आपके बीच में एक किसान बात कर रहा है, आप भरोसा करना -श्री अभिषेक सिंह

  • देवारण्य योजना अंतर्गत  औषधीय कृषि हेतु बैठक सम्पन्न

jhabua news
झाबुआ,। देवारण्य योजना अंतर्गत  औषधीय कृषि हेतु बैठक श्री अभिषेक सिंह आईएएस उप सचिव योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग मध्यप्रदेश, प्रमुख सलाहकार, राज्य नीति एवं योजना आयोग मध्यप्रदेश एवं नोडल अधिकारी देवारण्य योजना मध्यप्रदेश व आयुक्त आर्थिक एवं सांख्यिकी संचनालय मध्यप्रदेश की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, सलाहकार राज्य नीति एवं योजना आयोग मध्यप्रदेश श्री भानु मित्रा एवं शिवगंगा से श्री राजाराम कटारा एवं श्री नीतिन जी, श्री संजय निज सहायक राज्यनीति एवं योजना आयोग मध्यप्रदेश एवं जिला अधिकारी, कृषक सलाहकार, विपणन सलाहकार उपस्थित थे। बैठक में आयुक्त महोदय श्री सिंह द्वारा बताया गया कि मैं भी एक किसान हॅू एवं आपके बीच में एक किसान बात कर रहा है, आप भरोसा करना। आज की बैठक का मेरा मुख्य उद्देश्य देवारण्य योजना अंतर्गत औषधीय कृषि हेतु कृषकों को प्रोत्साहित करना है। जिससे उनकी आर्थिक स्थिति एवं औषधीय पौधों के लिए उनकी सहायता की जाना है। इस हेतु जिले के कृषक एवं स्वयं सहायता समूह के माध्यम से इसे आगे बढ़ाया जा सकता है। औषधी पौधों में आवला, हरड, बहेडा एक साथ उत्पादन के लिए कृषकों को प्रदान किया जाना है। जिसके विपणन का भी स्थाई निराकरण किया जाएगा। मनरेगा योजना के अंतर्गत इसमें कार्य होगा। प्रथम चरण में लगभग 5 लाख पौधे लगाए जाएगें। मुख्य रूप से इस योजना में महिलाओं को जोडना है। वन क्षेत्र को बढ़ावा भी देना है। कम्यूनिटी फारेस्ट बनाकर कम्यूनिटी कमेटि इस संबंध में कार्य करेगी। इस योजना में तुलसी, अश्वगंधा की खेती को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा ने बताया कि इसे झाबुआ मॉडल के रूप में विकसित किया जाएगा एवं मार्केटिंग के लिए पर्याप्त मंच दिया जाएगा। इसे पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में विकसित किया जाएगा। जिले में पर्याप्त फारेस्ट भूमि उपलब्ध है। ऐसे स्थान लिए जाएगें जहां वन क्षेत्र नहीं है। वहां पर सघन वन के लिए स्थानीय कम्यूनिटी को जिम्मेदारी सौपकर औषधी पौधों को लगाया जाएगा। बैठक में शिवगंगा से श्री राजाराम जी कटारा द्वारा बताया कि यहां के किसान जल, जंगल, जमीन से जुडे हैं एवं औषधीय पौधों के लिए व्यापक रूप से प्रशिक्षण एवं वितरण हेतु मार्केट की उपलब्धता सुनिश्चित होती है। तो किसान इस योजना से लाभ प्राप्त कर आगे आ सकता है। यहां पर नीम एवं सीताफल के लिए भूमि अच्छी है। इसे भी बढ़ावा दिया जा सकता है। बैठक में उप संचालक कृषि, उपायुक्त सहकारिता, जिला आयुष अधिकारी, परियोजना अधिकारी मनरेगा, सहायक संचालक उद्यानिकी विभाग, परियोजना अधिकारी आत्मा परियोजना, अनुविभागीय अधिकारी वनमण्डल, अनुविभागीय अधिकारी नर्सरी उद्यानिकी विभाग उपस्थित थे।

नालसा एवं सालसा द्वारा चयनित स्थान ग्राम पिपलिया जिला झाबुआ मे आज दिनांक 09.11.2021 विधिक सेवा दिवस के अवसर पर वृहद विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन


झाबुआ,। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत पूरे देश में अखिल भारतीय जागरूकता एवं आउटरीच अभियान दिनांक 2 अक्टूबर से 14 नवम्बर-2021 तक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार महोदय जी के मार्गदर्शन में नालसा एवं सालसा द्वारा चयनित स्थान ग्राम पिपलिया जिला झाबुआ मे आज दिनांक 09.11.2021 विधिक सेवा दिवस के अवसर पर वृहद विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया दिनांक 09.11.2021 विधिक सेवा दिवस के अवसर पर वृहद विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का शुभारंभ महात्मा गांधी के चित्र पर दीप प्रज्जवलित एवं माल्यार्पण कर माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार महोदय, अपर जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण झाबुआ श्री लीलाधर सोलंकी, सहायक संचालक महिला बाल विकास विभाग झाबुआ श्री आर.एस. बघेल, एसडीओपी झाबुआ सुश्री सोनु डाबर एवं सरपंच श्रीमति हुक्का बाबु मेडा एवं ग्राम के वृद्धजनों द्वारा किया जाकर शिविर का शुभारंभ किया गया। माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश ने अपने संबोधन में विधिक सेवा दिवस के महत्व पर प्रकाश डालते हुये कहा कि यह अधिनियम दिनांक 09.11.1995 से प्रभावशील हुआ। उसी उपलक्ष्य में विधिक सेवा दिवस 9 नवम्बर के दिन मनाया जाता है। कार्यक्रम में विधिक सेवा संबंधी जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। न्यायालयों में पैरवी हेतु अनुसूचित जनजाति, महिला, बालक, जेल बंदी आदि को निःशुल्क विधिक सहायता, लोक अदालत, मध्यस्थता, विवाद विहीन ग्राम योजना-2000 एवं वरिष्ठ नागरिकों, बच्चों, नशा पीड़ितों, आदिवासियों के संरक्षण, गरीबी उन्मूलन, बच्चों को मैत्रीपूर्ण विधिक सेवाऐं आदि महत्वपूर्ण कल्याणकारी जन योजनाओं के बारे में विस्तार से समझाया गया। विधिक सेवा दिवस के अवसर पर माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार जी द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना के प्रमाण-पत्र शिविर में ही वितरित किये गये। शिविर में 06 लाडली लक्ष्मी कु. आरोही, कु. पूर्वाशी, कु. अश्वीना, कु. सिमरन, कु. अनिशा एवं कु. काव्या को वितरित किये गये। शिविर में नाटक समूह द्वारा स्थानीय भीली भाषा में  बाल-विवाह रोकने के लिये नुक्कड़ नाटक के माध्यम से उपस्थित ग्रामीणजनों को प्रस्तुति दी गई। शिविर को संबोधित करते हुये माननीय प्रधान जिला न्यायाधीश श्रीमान मोहम्मद सैय्यदुल अबरार महोदय जी ने बड़ी संख्या में उपस्थित ग्रामीणजनों को नशे का उपयोग करने से शरीर में अनेक बीमारियां उत्पन्न होती है साथ ही नशे में व्यक्ति अपना होशो हवास खोकर अपराध घटित कर लेते है जिससे व्यक्ति की कमाई से पैसों का नुकसान, समय की बर्बादी होती है इस कारण किसी भी व्यक्ति को नशे का उपयोग नहीं करना चाहिए। बाल विवाह निषेध अधिनियम-2006, दहेज निषेध अधिनियम-1961, कानूनी सेवा प्राधिकरण पर जागरूकता अधिनियम-1987, गोद लेने और रखरखाव अधिनियम, उत्तराधिकारी अधिनियम, लोक अदालत योजना, कानूनी सहायता क्लीनिक योजना, बच्चों को मुक्त और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार, सूचना का अधिकार आदि विषयों पर जानकारी दी। अपर जिला न्यायाधीश/सचिव श्री लीलाधर सोलंकी जी ने कहा कि समाज की उन्नति के लिए महिलाओं का शिक्षित होना जरूरी है इसलिए अपनी बेटियों को शिक्षा अवश्य दिलाये। 18 वर्ष की आयु के पश्चात् या बालिकाऐं अपने पैरों पर खड़े होने पर ही विवाह करें। अगर किसी महिला के साथ यौन उत्पीड़न हुआ है तो वह इसकी शिकायत संबंधित पुलिस थानों में अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है। साथ ही नालसा ऐप के माध्यम से आप अपनी शिकायत तथा विधिक सहायता हेतु ऑनलाईन आवेदन या 15100 टोल फ्री पर भी सम्पर्क कर सकते है, शिविर में मोटरयान, नेशनल लोक अदालत, मध्यस्थता, निःशुल्क विधिक सहायता एवं सलाह योजना आदि विषयों पर विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम में एसडीओपी झाबुआ सुश्री सोनु डाबर ने भी घरेलू हिंसा विषय पर विस्तार से जानकारी प्रदान की। शिविर में सहायक संचालक महिला बाल विकास विभाग झाबुआ श्री आर.एस. बघेल ने लाडली लक्ष्मी योजना की जानकारी देते हुए बताया कि अगर बच्ची के जन्म होने के बाद सबसे पहले आंगनवाडी में संपर्क कर इस योजना के लिए आवेदन पत्र के साथ आवेदक को बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र देना होता है करना पडता इसके बाद इस योजना से जुड़ जाने के बाद बच्ची के जन्म के 5 साल तक सरकार राष्ट्रीय बचत पत्र के रूप में 6000 रूपए एवं पहली किश्त बच्ची को पहली किश्त 2000/- तब मिलेगी जब बच्ची 6वीं कक्षा में पहुँच जाएगी दूसरी किश्त 4000/- बच्ची 9वीं कक्षा में पहुँच जाएगी, तीसरी किश्त 7500/- 11 वीं कक्षा में पहुँच जाने के बाद मिलेगी, बालिका को चौथी किश्त 12 कक्षा में प्रवेश से लेकर परीक्षा में सम्मिलित होने तक हर महीने लड़की के बैंक खाते में सरकार की और से 200 रूपए जमा किये जायेगे यह राशी कुल 6000 रूपए की होगी एवं पांचवी किश्त 18 वर्ष से कम उम्र में शादी नहीं करने और 21 वर्ष की आयु पूर्ण कर लेने के बाद लड़की को 1 लाख रूपए की सहायता की जाएगी. यह रुपये का इस्तेमाल लड़की अपनी उच्च शिक्षा के लिए भी कर सकती हैं। शिविर का संचालन जिला समन्वयक ममता यूनिसेफ झाबुआ श्री जिमी निर्मल द्वारा किया गया एवं आभार शासकीय हाई स्कूल ग्राम पिपलिया के शिक्षक श्री ललित नायक ने माना।


15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भोपाल कार्यक्रम में तीनों विधानसभा से 5-5 हजार कार्यकर्ता होंगे सम्मिलित -ः पूर्व विधायक एवं कार्यक्रम प्रभारी शांतिलाल बिलवाल

  • 15 नवंबर को जनजाति महाकुंभ को लेकर जिला भाजपा एवं भाजपा मंडल झाबुआ की अंबा पैलेस पर विषेष बैठक संपन्न

jhabua news
झाबुआ। 15 नवंबर को भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर मप्र की राजधानी भोपाल में जनजाति समाज का महाकुंभ हो रहा है। जिसमंे देष के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मप्र के मुख्यमंत्री षिवराजसिंह चौहान सहित कई ख्यातनाम राजनेता षिरकत करेंगे। जिसमें झाबुआ जिले से भी हजारांे की संख्या में भाजपा एवं अजजा मोर्चा के पदाधिकारी-कार्यकर्ताओं के साथ जनजाति समाज के लोगांे के सम्मिलित होने हेतु लगातार बैठकों का आयोजन जिला स्तर पर किया जा रहा है। जानकारी देते हुए भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने बताया कि इसी क्रम में जिला भाजपा एवं भाजपा मंडल झाबुआ द्वारा महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन 9 नवंबर, मंगलवार को दोपहर 12 बजे से किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप मंे पूर्व राज्यमंत्री एवं पूर्व विधायक पेटलावद सुश्री निर्मला भूरिया, भाजपा के प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य ओमप्रकाष शर्मा एवं पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष दौलत भावसार और कार्यक्रम प्रभारी तथा पूर्व विधायक झाबुआ शांतिलाल बिलवाल उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक ने की। प्रारंभ में सभी अतिथियों ने भारत माता, पं दिनदयाल उपाध्याय एवं श्यामप्रसाद मुखर्जी की तस्वीर पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलन किया। बाद अतिथियांे का भाजपा जिला उपाध्यक्ष भानू भूरिया, हरूसिंह भूरिया, बहादुरसिंह हटिला, बलवंत मेड़ा, गोविन्द अजनार, दिलीप नलवाया, पूर्व नपा अध्यक्ष धनसिंह बारिया, सुरसिंह हटिला, अमित वसुनिया, देवझिरी मंडल अध्यक्ष सुरभानसिंह गुंडिया, भारत मेड़ा, किर्तीष राठौर, ज्ञानसिंह मोरी, सुमेरसिंह डावर, धुमसिंह निनामा आदि ने किया। स्वागत उद्बोधन भाजपा अजजा मोर्चा जिलाध्यक्ष अजमेरसिंह भूरिया ने दिया। इस अवसर पर विषेष रूप से महिलाओं में सुनिता अजनार एवं सुनिता मसानिया भी उपस्थित रहीं।

भोपाल में जमेगा महाकुंभ

भाजपा मंडल मीडिया प्रभारी प्रियंक तिवारी ने जानकारी दी कि इस अवसर पर अपने उद्बोधन में कार्यक्रम प्रभारी एवं पूर्व विधायक झाबुआ श्री बिलवाल ने कहा कि 15 नवंबर को जनजाति गौरव दिवस पर भोपाल में होने वाले महा-समारोह में झाबुआ जिले से भी शत-प्रतिषत जनजाति समाज के लोगांे को सहभागिता करना है। प्रत्येक विधानसभा से 5-5 हजार कार्यकर्ता एवं समाजजन सम्मिलित होंगे। जिनके लिए वाहन, ठहरने एवं भोपाल आदि की व्यवस्था पार्टी की ओर से की जाएगी। साथ ही सभी ग्रामीणजनों को अपनी परंपरागत वेषभूषा और ढोल-मांदल के साथ सम्मिलित होना है। पूर्व राज्यमंत्री एवं विधायक सुश्री भूरिया ने कहा कि भोपाल जाकर हमे पूरे प्रदेष में झाबुआ जिले की शक्ति और समाज की एकता का प्रदर्षन महाकंुभ में संस्कृति और परपंरा के साथ शामिल होकर करना है। यह महाकंुभ पूरे देष में इतिहास रहेगा, ऐसी उन्होंने आषा व्यक्त की।


कंेद्र एवं मप्र सरकार की योजनाआंे की जानकारी दी

भाजपा जिलाध्यक्ष श्री नायक ने इस दौरान मप्र और कंेद्र सरकार की जनजाति समाज सहित सर्वहारा वर्ग के लिए चलाई जा रहीं महत्वाकांक्षी योजनाआंे की जानकारी दी तथा इस महाकुंभ के बारे मंे संक्षिप्त जानकारी प्रस्तुत की। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य श्री शर्मा एवं वरिष्ठ भाजपा नेता श्री भावसार ने भी अपने-अपने विचार रखे। यह बैठक करीब 2 घंटे तक चली। संचालन भाजपा जिला महामंत्री सोमसिंह सोलंकी ने किया एवं आभार भाजपा मंडल झाबुआ अध्यक्ष अंकुर पाठक ने माना।

कोई टिप्पणी नहीं: