सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 नवंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 नवम्बर

  • आगामी 10 से खेला जाएगा प्रथम टी-20 लीग क्रिकेट टूर्नांमेंट


sehore news
सीहोर। खेल प्रतिभाओं को मंच देने के लिए आगामी 10 नवंबर से जिला क्रिकेट एसोसिएशन के तत्वाधान में प्रथम टी-20 लीग क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता के लिए मैदान में तैयारियां की जा रही है। सोमवार को मैदान पर कोच अतुल कुशवाहा और मदन कुशवाहा सहित अन्य खिलाडिय़ों के द्वारा विकेट आदि की तैयारियों को लेकर कार्य किया। डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि आगामी 10 नवंबर से होने वाली प्रतियोगिता का पहला मैच एसीई भोपाल और सन राइजिंग बैरागढ के मध्य सुबह साढ़े नौ बजे और दूसरा मैच सीहोर जूनियर और सेंट माइकल भोपाल के मध्य खेला जाएगा। प्रतियोगिता का शुभारंभ सीहोर विधानसभा के विधायक और एसोसिएशन के अध्यक्ष सुदेश राय के पुत्र राज राय के द्वारा किया जाएगा। शहर में पहली बार होने वाली इस प्रथम लीग क्रिकेट स्पर्धा में आठ टीमों को शामिल किया गया है। इसकी शुरूआत बुधवार से की जाएगी। 


भागवत कथा का शुभारंभ कलश यात्रा के साथ, उमड़ा आस्था का सैलबा, भागवत का अर्थ है भक्ति ज्ञान, वैराग्य- पंडित अजय पुरोहित


sehore news
सीहोर/अहमदपुर। जब सौभाग्य का उदय होता है तभी भागवत कथा सुनने मिलती है। भगवान सत्य स्वरूप हैं। चित्त स्वरूप हैं। आनंद स्वरूप हैं। दैहिक, देविक, भौतिक तापों का हरण करने वाले हैं। उक्त बात क्षेत्र के अहमदपुर देवीपुर स्थित मंडी परिसर में सोमवार से आरंभ हुई सात दिवसीय भागवत कथा के पहले दिन श्रीश्री 1008 महामंडलेश्वर याशोदा नंद पंडित श्री अजय पुरोहित ने कही। इस मौके पर सुबह दस बजे कलश यात्रा निकाली गई। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। सोमवार को कथा के आरंभ पर सीहोर विधानसभा के विधायक सुदेश राय, वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय सहित अन्य क्षेत्रवासी ने आरती की। पंडित श्री पुरोहित ने कहा कि सूतजी महाराज ने 88 हजार ऋ षियों को नैमीशारण्य में भागवत कथा सुनाई थी। वृंदावन में भक्ति का महत्व है। ज्ञान वैराग्य नहीं है, नारद जी का अवतारों में तीसरा अवतार है। भागवत का अर्थ है भक्ति, ज्ञान, वैराग्य और तारण। प्रेत योनि से मुक्त करने वाली भागवत कथा है।  धुंधकारी के प्रेत योनि में चले जाने पर गोकर्ण ने दोबारा श्रीमद्भागवत कथा सुनाकर धुंधकारी को प्रेत योनि से मुक्ति दिलाई थी। उपदेश दिया कि प्रभु को पाने के लिए देह आसक्ति और गेह आसक्ति छोडऩी होगी। शरीर और घर से मोह त्यागने वाला ही प्रभु को पा सकता है। भागवत कथा दोपहर बारह बजे से शाम चार बजे तक जारी रहेगी। 


आज से शुरू होगा भव्य नारायण एवं तुलसी विवाह श्रीमद् भागवत रस कथा का शुभारंभ कलश यात्रा के साथ


sehore news
सीहोर। लगातार पांच वर्ष से श्री शारदा वैदिक संस्थान के तत्वाधान में आयोजित शालीग्राम तुलसी विवाह और श्रीमद् भागवत रस कथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसका मंगलवार को सिद्धपुर माटी के सपूत ज्योतिष एवं आचार्य पंडित हर्ष शास्त्री के मुखारविंद से भागवत कथा का रस बरसेगा। कथा का शुभारंभ से पहले भव्य कलश यात्रा शहर के खजांची लाइन स्थित श्रीजी के मंदिर से सुबह नौ बजे आरंभ की जाएगी। इसके पश्चात कथा  दोपहर डेढ़ बजे से शाम पांच बजे तक शहर के मेन रोड लीसा टाकिज चौराहा के पास नारायण पैलेस परिसर में आयोजित की जाएगी। आगामी 14 नवंबर को भगवान नारायण की भव्य बारात शाम को पांच बजे आरंभ की जाएगी और आगामी 15 नवंबर को तुलसी विवाह का आयोजन दोपहर डेढ़ बजे से किया जाएगा। 


दीवान बाग के नागरिक गंदगी,कूड़े कचरे से हैरान परेशान, राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच ने नियमित सफाई कराने की मांग  


sehore news
सीहोर। नगर पालिका परिषद अंतर्गत वार्डं नंबर 31 दीवान बाग के नागरिक गंदगी कूड़े कचरे से हैरान परेशान है महीनों से क्षेत्र में कचरा संकलन गाड़ी भी नहीं पहुंची है। जिस कारण अंबार इफरा शादी हॉल के पास कूढे का ढेर लग गया है। यही पर प्राइवेट स्कूल भी है जहां छोटे-छोटे बच्चे पढ़ते हैं। कूढे पर आवारा पशु मंडरा रहे है। नागरिकों में गदंगी के चलते बीमारियों का खतर बना हुआ है। राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान ने बताया की कई बार शिकायत करने के बावजूद क्षेत्र में सफाई नहीं की जा रही है। जबकी दीवान बाग शहर की बड़ी कॉलोनी है। नागरिकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र के रहवासी राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष मौलाना खान, अकबर भाई,अनोखी लाल, अजहर बाबा, अनीशा बी, शकीला बाजी, भूरी बाजी, तंजीम अंसारी, शकील भाई आदि ने नगर पालिका परिषद से कचरा उठाने और नियमित साफ सफाई कराने की मांग की है।


राधा कृष्ण महिला मंडल के तत्वाधान में किया जाएगा दिव्य यज्ञ का आयोजन


sehore news
सीहोर। हर साल की तरह इस साल भी क्षेत्र की सुख समृद्धि की कामना को लेकर शहर के गाड़ी अड्डा स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में राधा कृष्ण महिला मंडल के तत्वाधान में आस्था और उत्साह के साथ श्री अष्ट लक्ष्मी अर्चना एवं दिव्य यज्ञ कार्तिक मास में किया जाएगा। इसका शुभारंभ आगामी 12 नवंबर को किया जाएगा और सात दिवसीय कार्यक्रम के पश्चात कलश यात्रा निकाली जाएगी। इस संबंध में जानकारी देते हुए पंडित मयंक शर्मा ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी राधा कृष्ण महिला मंडल के तत्वाधान में शहर के गाड़ी अड्डा स्थित मंदिर में आगामी 12 नवंबर से श्री अष्ट लक्ष्मी अर्चना एवं दिव्य यज्ञ कार्तिक मास का आयोजन किया जाएगा। इसका समापन त्रिपुरारी पूर्णिमा को 18 नवंबर को किया जाएगा। इस संबंध में सोमवार को महिला मंडल के द्वारा एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान पंडित श्री मनोहर शर्मा ने बताया कि शुक्रवार से आरंभ होने वाले दिव्य कार्यक्रम की शुरूआत में कुमकुम अर्चना की जाएगी, इसके पश्चात शनिवार को आवला नवमी को विल्प पत्र से अर्चना की जाएगी, रविवार को दशमी के पावन अवसर पर हल्दी गठान अर्चना, सोमवार देव उठनी ग्यारस के पावन अवसर पर तुलसी अर्चना, मंगलवार को द्रव्य अर्चना, बुधवार को प्रदेाष पर्व पर पुष्प अर्चना और गुरुवार को समापन अवसर पर कमल दल अर्चना के साथ भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी। उन्होंने बताया कि विगत वर्ष भी राधा कृष्ण महिला मंडल ने सादगी के साथ लगातार एक माह तक कार्तिक माह पर दिव्य यज्ञ का आयोजन किया था।


आठ देवियों को किया जाएगा मंदिर में विराजमान

उन्होंने बताया कि महाविद्याओं का सबसे ज्यादा प्रभाव है। इन्हीं महाविद्या से पूरे ब्रह्मांड को ऊर्जा मिलती है और देवी-देवताओं को शक्तियां भी इनसे ही निहित हैं। यहां तक कि भगवान शिव इनकी शक्ति के बिना शव के समान माने जाते हैं, शक्ति के बिना शिव शून्य हैं। महादेव और मूल शक्ति के दस प्रमुख स्वरूपों के बारे में शास्त्रों और पुराणों में वर्णन मिलता है। भगवान शिव के अवतार रूद्र भी इन महाविद्या से प्रेरित हैं, जो मनुष्य को सुख-समृद्धि, भोग और मोक्ष प्रदान करने वाले हैं और उनकी शक्ति से व्यक्ति की सभी दिशाओं से रक्षा करते हैं। सात दिवसीय दिव्य अनुष्ठान के दौरान आठ देवियों को विराजमान किया जाएगा। 


सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखेंगे और हिंसा से दूर रहेंगे, नि:शुल्क कोचिंग के छात्रों ने ली शपथ



sehore news
सीहोर में यूपीएससी और एमपी पीएससी की निशुल्क कोचिंग दी जा रही है। यह कोचिंग आदर्श परिवार द्वारा सीहोर के छात्र-छात्राओं के लिए नि:शुल्क उब्लपध कराई गई है। इस संस्था से नि:शुल्क कोचिंग ले रहे छात्र-छात्राओं ने  संविधान मैं प्रदत मौलिक कर्तव्यों की शपथ ली और कहा कि सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखेंगे और हिंसा से दूर रहेंगे और इसी तरह से सभी 11 मौलिक कर्तव्यों को दोहराया गया। सभी छात्र-छात्राओं कहा कि हमें हमारे अधिकारों के साथ-साथ कर्तव्य भी समझने चाहिए। हर नागरिक के अपने कुछ कर्तव्य होते है उनको अपने जीवन में अमल कर उस पर चलना चाहिए। इस दौरान भूगोल, नीतिशास्त्र, राजनीतिक विज्ञान, के शिक्षक एवं करंट अफेयर्स शिक्षक और छात्र-छात्राएं उपस्थित थे। आदर्श परिवार द्वारा नि:शफल्क कोचिंग कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की पहल पर उपलब्ध कराई जा रही है।



अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड, मुर्गीपालन 100 प्रतिशत अनुदान



पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने बताया कि अनुसूचित जाति उपयोजना के लिये विशेष केंद्रीय सहायता मद के अंतर्गत वर्ष 2021-22 के लिये आय सृजनात्मक योजना (बैकयार्ड मुर्गीपालन) के लिये अनुसूचित जाति विकास विभाग द्वारा प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना अंतर्गत चयनित ग्रामों के अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियों को बैकयार्ड मुर्गीपालन 100 प्रतिशत अनुदान से लाभांवित कर पोषण आहार तथा अतिरिक्त आय उपलब्ध कराई जानी है।  योजना के अंतर्गत प्रत्येक हितग्राही को लो इनपुट टेक्नोलॉजी वाले 28 दिवसीय 90 चूजे 2 किश्तों में 6 माह के अंतराल में प्रदाय किए जाने है। चूजों के साथ 40.5 किलोग्राम कुक्कुट आहार तथा दडवा बनाने के लिये 2 हजार 200 रूपये राशि का प्रावधान है।  प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चयनित ग्रामो में प्राथमिकता के अनुसार कार्य किया जाना है। चयनित ग्रामों में हितग्राही नहीं मिलने पर अन्य ग्राम के हितग्राहियों का चयन किया जा सकता है। उन्होंने अनुसूचित जाति वर्ग के बीपीएल हितग्राहियो से निकट की पशु चिकित्सा संस्था से संपर्क कर योजना का लाभ ले सकते हैं। 


नेशनल स्कॉलरशिप - आवेदन आमंत्रित 30 नवम्बर तक



जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा कमजोर अल्पसंख्यक वर्ग के विद्यार्थियों के लिये नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन-पत्र की अन्तिम तिथि 30 नवम्बर 2021 है। प्री-मैट्रिक कक्षा एक से 10वीं एवं पोस्ट मैट्रिक कक्षा 11वीं एवं 12वीं के लिये स्कूल शिक्षा विभाग के शासकीय अथवा अशासकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थी www.scholarships.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।



एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी


खाद्य सुरक्षा योजना से लाभान्वित परिवारों का सत्यापन कार्य के लिए कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर एम-राशन मित्र एप के माध्यम से सत्यापन किया जा रहा है । प्रत्येक उपभोक्ता गूगल प्ले स्टोर से इस एप को स्टाल कर सकते हैं। इसके माध्यम से उपभोक्ता अपनी पात्रता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । एप में परिवार की समग्र आईडी से लागिन करने पर खाद्यान्न की पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार के सदस्यों की जानकारी तथा परिवार प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त की जा सकती है । इसके माध्यम से आसपास की उचित मूल्य दुकान पीओएस मशीन की स्थिति, दुकान को खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण की भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण के संबंध में दी जाने वाली सूचनाओं और सुविधाओं के लिए भी एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी है।



स्कूलों का आवंटन 10 नवंबर को



शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अन्तर्गत गैर अनुदान मान्यता प्राप्त अशासकीय स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 में रिक्त सीटों पर ऑनलाइन निःशुल्क प्रवेश के लिए दूसरे चरण की काउंसलिंग प्रक्रिया 29 अक्टूबर से शुरू होगी।  संचालक राज्य शिक्षा केंद्र  ने बताया कि आर.टी.ई. के तहत पहले चरण में लॉटरी द्वारा सीटे भरने के बाद शेष रिक्त सीटों पर दूसरे चरण की काउंसलिंग के माध्यम से स्कूल आवंटन किया जाना है। इसके लिए समय-सारणी जारी की गयी है। रेण्डम पद्धति से ऑनलाईन लॉटरी द्वारा 10 नवंबर को स्कूल का आवंटन किया जायेगा।  संचालक ने बताया कि पंजीकृत आवेदक 29 अक्टूबर से 7 नवम्बर 2021 तक लाटरी पद्धति से दूसरे चरण में स्कूल की च्वाइस अपडेट कर सकेंगे। स्कूल के आवंटन के बाद 10 नवम्बर से 15 नवम्बर 2021 तक आवंटन पत्र डाउनलोड कर आवंटित स्कूल में प्रवेश ले सकेंगे। प्रवेश लेते समय ही संबंधित अशासकीय स्कूल द्वारा मोबाइल एप के माध्यम से एडमीशन रिपोर्टिंग दर्ज की जायेगी। दूसरे चरण की काउंसलिंग में नया आवेदन करने का विकल्प नहीं होगा। जिन आवेदकों ने सत्र 2020-21 के लिए पूर्व में ऑनलाइन आवेदन किया है और सत्यापन में पात्र पाये गये है एवं इस सत्र में एडमीशन नहीं लिया है, केवल वही आवेदक स्कूल की चॉइस परिवर्तित करते हुये आवेदन लॉक कर सकेंगे। कोविड-19 के कारण अथवा किसी अन्य परिस्थितियों के कारण यदि कोई स्कूल बंद हो गया है और उसमें प्रथम चरण में किसी का आवंटन हुआ है तो वह आवेदक भी अन्य स्कूल में दूसरे चरण के लिए चुनकर आवेदन लॉक कर सकेंगे। इस संबंध में सभी जिलों के कलेक्टर्स को दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।


ई-ऑफिस एप्लिकेशन की सुरक्षा


ई-ऑफिस एप्लिकेशन की सुरक्षा को दृष्टिगत शासन स्तर से जारी किये जाने वाले निर्देशों का प्रारूप (ड्राफ्ट) के लिये बिन्दु निर्धारित किये गये है। जारी बिन्दु अनुसार इलेक्ट्रॉनिक फाइलों पर डिजिटल सिग्नेचर टोकन (DSC) या e-Sign का उपयोग किया जाये, गोपनीय एवं अति गोपनीय दस्तावेजों को केवल भौतिक रूप से ही प्रस्तुत किया जाना चाहिये, SSO(Single Sign On) आधारित प्रमाणीकरण का उपयोग किया जाये, केवल सुरक्षित नेटवर्क जैसे एनआईसी नेट, स्वान, एनकेएन के माध्यम से ही ई-ऑफिस वेब एप्लिकेशन का उपयोग किया जाना चाहिये। प्राईवेट नेटवर्क पर ई-आफिस वेब एप्लिकेशन तक पहुंचने हेतु व्हीपीएन, वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क का उपयोग किया जाये।



गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने का सलाह


कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने नागरिकों से असामान्य रूप से रिटर्न या सस्ते लोन देने वाली गैर-वित्तीय संस्थाओं के प्रति सावधान और सचेत रहने का आग्रह किया  है। आम नागरिकों से ऐसी संस्थाओं के पंजीयन के प्रति जागरूक रहने एवं उनकी प्रामाणिकता के संबंध में पहले जाँच पड़ताल करने की अपील की गयी है। ऐसी संस्थाओं के जमाकर्ताओं के लिये जागरूकता अभियान  भी चलाया जायेगा। गैर-वित्तीय संस्थाओं, कंपनियों के जमाकर्ताओं को संभावित आर्थिक धोखाधड़ी से बचाने के लिये जागरूकता अभियान शुरू किया जायेगा। सभी अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि वे समय-समय पर ऐसी संस्थाओं में  जमाकर्ताओं के हितों का संरक्षण अधिनियम और अनियमित जमा प्रतिबंध अधिनियम के प्रावधानों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करें। जमाकर्ताओं और आम जनता और सरकार के बीच परस्पर विश्वास बनाने रखने के लिये दोषी संस्थाओं पर सख्ती बरतते हुए कार्रवाई जारी रखने के निर्देश दिये गये हैं।


विद्युत संबंधी आवश्यक सावधानियां बरतने की सलाह


विद्युत लाइनों, उपकरणों एवं खंभों से छेड़खानी करना विद्युत अधिनियम 2003 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध है। जरा-सी असावधानी या छेड़खानी से बड़े-बड़े खतरे पैदा कर सकते हैं। म.प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने सभी बिजली उपभोक्ताओं तथा आम नागरिकों से अपील की है कि सभी को एक जिम्मेदार नागरिक बनकर विद्युत संबंधी आवश्यक सावधानियां बरतनी चाहिए । ऐसी लाइनें जिनमें विद्युत शक्ति प्रवाहित होती है यदि आंधी तूफान या अन्य किसी कारण से अकस्मात उन्हें छूकर खतरा मोल न लें। आवश्यक बात यह है कि लाइन टूटने की सूचना शीघ्र ही निकटस्थ बिजली कंपनी के अधिकारी को अथवा विद्युत कर्मचारी को दें। संभव हो तो किसी आदमी को उस जगह, अन्य यात्रियों को चेतावनी देने के लिये रखें। नये घर बनाते समय विद्युत पारेषण अथवा वितरण लाइन से समुचित दूरी रखें। यह कानून की दृष्टि से भी आवश्यक है। उचित फासले के विषय में स्थानीय बिजली कंपनी के अधिकारी से सलाह लें। आपके बच्चों एवं कुटुम्बीजनों की सुरक्षा के लिए यह अति आवश्यक है।  खेतों खलिहानों में ऊंची-ऊंची घास की गंजी, कटी फसल की ढेरियॉं, झोपड़ी, मकान अथवा तंबू आदि विद्युत लाइनों के नीचे अथवा अत्यंत समीप न बनायें।विद्युत लाइनों के नीचे से अनाज, भूसे आदि की ऊंची भरी हुई गाड़ियॉं न निकालें, इससे आग लगने एवं प्राण जाने का खतरा है।बहुत से स्थानों पर बच्चे पतंग अथवा लंगर का खेल खेलते तरह-तरह के धागे और डोर विद्युत लाइनों में फंसा देते हैं। ऐसा करने से उन्हें रोकें। लाइनों में फंसी पतंग निकालने के लिए बच्चों को कभी भी खंभे पर चढ़ने न दें। लाइन पर तार या झाड़ियां न फेकें। यदि कोई ऐसा करता है तो इसकी सूचना पास के पुलिस थाने या विद्युत कंपनी के वितरण केन्द्र में दें। विद्युत लाइनों के पास लगे वृक्ष या उनकी शाखा न काटें। यदि कटी डाल लाइन पर गिरे तो आपके लिए घातक सिद्ध हो सकती है। बिजली के तारों पर कपड़े आदि डालना दुर्घटना को निमंत्रण देना है। अपने खेत खलिहान पर या संपत्ति की सुरक्षा हेतु अवरोधक तारों (फेन्सिंग वायर्स) में विद्युत प्रवाहित न करें। यह कानूनी अपराध भी है। इस प्रकार विद्युत का उपयोग करने वालों पर कानूनी कार्यवाही की जा सकती है। बिजली के खंभों पर कदापि न चढ़ें एवं स्टे-वायर आदि विद्युत उपकरणों से छेड़खानी न करें। ऐसा करने से आपका जीवन संकट में पड़ सकता है।  बिजली के खंभों या स्टे-वायर से जानवर आदि न बांधे और न ही इससे जानवरों को रगड़ने दें। इससे जनधन की हानि हो सकती है। यदि कोई व्यक्ति सजीव (चालू लाइन के) तारों के संपर्क में आ जाता है तो निम्न सावधानी बरतनी चाहिए। स्विच से विद्युत प्रवाह तुरंत बंद कर दें। यदि स्विच बंद न कर सकें तो दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी रस्सी, सूखा कपड़ा या सूखी लकड़ी की सहायता से सजीव तारों से अलग करें। ऐसा न करने से सहायता करने वाले को भी झटका (शॉक) लग सकता है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सजीव तारों से शीघ्र ही अलग करें क्योंकि एक सेकेण्ड की भी देरी घातक हो सकती है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी जमीन या सूखे फर्श पर लिटायें एवं कृत्रिम सांस देकर उसका प्रथमोपचार करें। डॉक्टर को तत्काल बुला कर कृत्रिम श्वॉंस देवें अथवा उसे शीघ्र अस्पताल पहुंचायें। घरों में बिजली के तार सुव्यवस्थित ढंग से लगावें। अव्यवस्थित एवं ढीले-ढाले या झूलते तार खतरे से खाली नहीं है। सभी विद्युत यंत्रों के उपयोग में सावधानी बरतें। विद्युत तारों अथवा उपकरणों की खराबी दूर करने के लिए तथा बिजली का फ्यूज सुधारने के लिये किसी जानकार की ही सहायता लें। इससे एक ओर जहॉं दुर्घटना को टाला जा सकेगा वहीं दूसरी ओर आप आर्थिक हानि से भी बच सकेंगे। घरेलू उपकरणों एवं विद्युत फिटिंग का अर्थिंग करना अति आवश्यक है। सही अर्थिंग न होने से विद्युत दुर्घटना हो सकती है। प्रकाश/थ्रेशर चलाने के लिये लम्बे एवं जोड़ वाले तारों का उपयोग न करें । थ्रेशर के तारों को बिजली कंपनी की लाइनों से अनधिकृत रूप से न जोड़ें। ऐसा करने से दुर्घटना हो सकती है एवं आपके विरूद्ध विद्युत चोरी का इल्जाम लगाया जा सकता है और कानूनी कार्यवाही की जा सकती है ।



मध्यप्रदेश दिसम्बर में प्राप्त कर लेगा सम्पूर्ण वैक्सीनेशन का लक्ष्य

  • कोविड से पूर्ण सुरक्षा के लिए जरूरी हैं वैक्सीन के दोनों डोज:- मुख्यमंत्री श्री चौहान

देश के नागरिकों को स्वदेशी वैक्सीन के माध्यम से कोविड से बचाव का सुरक्षा चक्र प्रदान किया है। मध्यप्रदेश ने वैक्सीनेशन में देश के अग्रणी रहकर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने के संकल्प को पूरा करने का प्रयास किया है। आगामी दिसम्बर माह तक प्रदेश के सभी पात्र लोगों को कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन का द्वितीय डोज लगाने का लक्ष्य है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपील में कहा है कि प्रदेश के सभी नागरिकों को इस कार्य में अपना सहयोग प्रदान करना है। मध्यप्रदेश दिसम्बर माह के अंत तक सभी नागरिकों को कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगाने का लक्ष्य प्राप्त कर लेगा।  


इन तारीखों को रखें याद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि वैक्सीन का दूसरा डोज लगाने का 100 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रदेश में नवम्बर माह की 10, 17 और 24 तारीख के अलावा 4 दिसम्बर को टीकाकरण महाअभियान चलाया जाएगा। वैक्सीनेशन की बात हमारी मेल-मुलाकातों, बातचीत आदि में शामिल रहे। इससे सभी व्यक्तियों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के लिए अनुकूल वातावरण बन जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस महाअभियान को सफल बनाने में सभी वर्गों को भागीदारी करनी है।


अन्य प्रांतों के लिए अनुकरणीय बना है मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड-19 से पूर्ण सुरक्षा के लिए वैक्सीन के दोनों डोज लगवाना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों से अपील की है कि जिस तरह आपने पहला डोज लगवाने में जागरूकता का परिचय दिया, उसी तरह दूसरे डोज के लिए भी आगे आएँ और प्रदेश में 100 प्रतिशत टीकाकरण और कोरोना मुक्त बनाने में अपना योगदान दें। अभी तक हुए टीकाकरण महाअभियानों में प्रदेश के नागरिकों की जागरूकता सराहनीय और अन्य प्रांतों के लिए अनुकरणीय है।


विद्यार्थियों का सहयोग रखा जाएगा याद

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में इस वर्ष संचालित कोरोना टीकाकरण के विशेष अभियानों की वजह से 7 करोड़ से अधिक नागरिक वैक्सीन लगवा चुके हैं। वैक्सीनेशन के कार्य को पूर्णता तभी मिलेगी जब हर व्यक्ति स्वयं दोनों डोज लगवाने के साथ ही अपने मित्रों, परिचितों और रिश्तेदारों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। मध्यप्रदेश वैक्सीनेशन में प्रथम बना रहे, इसके लिए हमारे विद्यार्थी बंधु भी आगे आये हैं। वे घर-घर जाकर वैक्सीन के दोनों डोज लगवाने का आग्रह आम जनता से कर रहे हैं। विद्यार्थी वर्ग द्वारा दिए जाने वाले इस सहयोग को याद रखा जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आशा व्यक्त की है कि 10, 17 और 24 नवम्बर और 4 दिसम्बर को टीकाकरण महाअभियान में पूर्व के अभियानों की तरह उत्साह का वातावरण तैयार होगा और हम निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे।  


खिलौनाकारी महोत्सव के आठवें दिन बच्चों के डांस और नुक्कड़ नाटक की मनमोहक प्रस्तुतियाँ

 

sehore news
बुधनी में 1 नवंबर से चल रहे खिलौनाकारी महोत्सव के तहत आठवें दिन बच्चों ने डांस और नुक्कड़ नाटक की मनमोहक प्रस्तुतियाँ दी। कार्यक्रमों के आयोजन की कडी में 9 नवंबर कठपुतली कार्यक्रम अयोजित किया किया जाएगा l स्वच्छ भारत अभियान मिशन तथा पानी बचाओं संदेश कठपुतली के माध्यम से जनमानस तक पहुंचाया जाएगा l  टॉय फेस्टिवल में 10 नवंबर को चित्रकला तथा फैंसी ड्रेस, मिट्टी तथा लकड़ी के खिलौने एवं हस्तशिल्प कार्यक्रम का आयो‍जन किया जाएगा l


कोविड के दोनो टीके लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं, कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के नागरिकों से की अपील


sehore news
कोरोना महामारी के खिलाफ टीका ही हमारा सुरक्षा कवच है, टीका अवश्य लगवाएं और कोरोना से पूर्णतः सुरक्षा पाएं। यह अपील कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के उन सभी नागरिकों से की हैं जिनको कोविड को द्वितीय डोज लगना बाकी रह गया है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले के नागरिकों का शतप्रतिशत टीकाकरण के लिए 10 नवम्बर को कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जाएगा। सभी नागरिकों से आग्रह है कि जिन्होंने अभी तक कोविड वैक्सीन का पहला डोज नहीं लगवाया है तथा वें नागरिक जिनका दूसरा डोज लगवाने का समय पूरा हो चुका है, वे 10 नवम्बर को अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर कोविड का टीका जरूर लगवाएं। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि जिले में सभी टीकाकरण केंद्रों पर नागरिकों की सुविधाओं के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। नागरिक आगे आएं और महाअभियान में भागीदार बन अपना टीकाकरण कराएं। 


10 नवम्बर को कोविड टीकाकरण महा-अभियान

  • जनप्रतिनिधियों, धर्म गुरुओं और प्रशासनिक अधिकारियों ने कोविड का द्वितीय डोज लगाने की नागरिकों से की अपील


कोरोना टीकाकरण महाअभियान 10 नवम्बर को वैक्सीन का द्वितीय डोज निर्धारित केन्द्रों पर लगाया जाएगा। कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर ने सभी कोरोना वॉलेंटिंयर्स,  जन-प्रतिनिधि, स्वयंसेवी संस्थाओं, धर्मगुरुओं, समाज सेवियों, विभिन्न संगठनों से कोरोना टीकाकरण महाअभियान में सहयोग देकर इसे पूर्ण रूप से सफल बनाने की अपील की है। कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि जिले में 10 नवम्बर को कोविड वैक्‍सीनेशन महाअभियान चलाया जा रहा है। एक दिवसीय अभियान में मेरी सभी से अपील है कि जिन्‍होंने दूसरा डोज नही लगवाया है। वे लोग वैक्‍सीनेशन सेंटर पहुंचकर वैक्‍सीनेशन अवश्‍य कराकर अपने को कोरोना से सुरक्षित कर लें। सीहोर विधायक श्री सुदेश राय, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय, इछावर विधायक श्री करण सिंह वर्मा ने जिले के सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए जिले में 10 नवम्बर को वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जा रहा है। ज्यादा से ज्यादा लोग इस अभियान से जुड़ें और अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र में पहुंचकर वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाएं। कोरोना को हराना है, वैक्सीन लगवाना है। धर्म गुरू श्री पृथ्वीवल्लभ दुबे तथा फादर रोहित चौहान ने जिले के सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि 10 नवम्बर को प्रदेश के साथ ही वैक्सीनेशन महाअभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में सभी से अपील है कि अपने निकटतम टीकाकरण केंद्र जाकर कोविड वैक्सीन को दूसरा डोज अवश्य लगवाएं। सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर सहित अनेक वरिष्ठ अधिकारियों से जिले के सभी नागरिकों से कोरोना से कोविड वैक्सीनेशन की अपील की है।



जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य



पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10143है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 257 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 103, श्यामपुर से 75, नसरूल्लागंज से 11, आष्टा से 59, बुदनी से 08 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 291294 हैं। जिनमें से 279822 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज455 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1258 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।



मुख्यमंत्री के निर्देशों-घोषणाओं पर तुरंत कार्यवाही करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

  • माइक्रो प्लान बनाकर कोविड टीकाकरण के कलेक्टर ने दिए निर्देश-कलेक्टर

sehore news
कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने मुख्यमंत्री के गत् कार्यक्रमों के दौरान दिए गए निर्देशों और घोषणाओं पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश टीएल बैठक में सभी सम्बन्धित अधिकारियों को दिए। इसके साथ ही मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त होने वाली शिकायतों का समय सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए। श्री ठाकुर ने आगामी 15 नवम्बर को बिरसा मुण्डा जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अन्य जिलों के अनुसूचित जनजाति समुदाय के नागरिकों के सीहोर पहुँचने पर जलपान एवं ठहरने की व्यवस्था के अधिकारियों को निर्देश दिए। श्री ठाकुर ने बैठक में जिले में खाद बीज की समीक्षा करते हुए आवश्यकतानुसार उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने "प्रज्जवल बुधनी" प्रॉजेक्ट की प्रगति की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को शीघ्र कार्यवाही सुनिश्चित करने को कहा। कलेक्टर श्री ठाकुर ने विभागीय गतिविधियों तथा समय सीमा वाले प्रकरणों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को लंबित विभागीय प्रकरणों में शीघ्र आवश्यक कार्यवाही करते हुए निराकरण के निर्देश दिए। उन्होने सीएम हेल्पलाईन में लंबित शिकायतों की विभागवार समीक्षा करते हुए अधिकारियों को प्रमुखता से निराकरण कराने के निर्देश देते हुए कहा कि शिकायतों का संतोषजनक निराकरण सुनिश्चित कराने के लिए शिकायतकर्ता से संवाद करें और वस्तुस्थिति जाने। बैठक में कृषि, उद्यानिकी, शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, पीएचई, लोक निर्माण विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास,  आदिम जाति कल्याण विभाग, सहित अनेक विभागों की समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर, एसडीएम श्री बृजेश सक्सेना सहित सभी जिलाधिकारी उपस्थित थे तथा सभी अनुभागों के एसडीएम, एसडीओपी सहित संबंधित अधिकारी वीसी के माध्यम शामिल हुए।


राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे 12 नवम्बर को



भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के निर्देशानुसार 12 नवम्बर 2021 को पूरे देश में एक साथ राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे किया जा रहा हैl यह उपलब्धि सर्वे कक्षा 3,5,8 एवं 10 में प्रत्येक जिले की चयनित सेम्पल शालाओं में आयोजित किया जाएगा। सर्वे कार्य के लिए फील्ड इनवेस्टीगेटर, आब्जर्वर नियुक्त किये गये है। कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर ने संबंधित फील्ड इनवेस्टीगेटर, आब्जर्वर 12 नवम्बर को निर्धारित समय पर आवंटित शाला में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करेंगे और मूल्यांकन तथा सर्वेक्षण कार्य संपन्न कराने के निर्देश दिए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: