विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 12 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 12 नवंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 12 नवम्बर

सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का निराकरण  


सीएम हेल्पलाइन 181 पर दर्ज शिकायतों के त्वरित निराकरण हेतु जिले में विशेष प्रयास विभागों के अधिकारियों द्वारा किए जा रहे है। प्रत्येक विभाग के द्वारा हर रोज शिकायतो के निराकरण की अपडेट जानकारी अधिकारियों के वाट्स-एप ग्रुप में शेयर की जा रही है। जिसकी मॉनिटरिंग स्वंय कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा की जा रही है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में अनेक विभागो के द्वारा सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज शिकायतो का शत प्रतिशत निराकरण किया गया हैं। आबकारी विभाग में दर्ज शिकायतो के निराकरण हेतु किए गए नवाचार के साक्षेप परिणाम परलिक्षित हो रहे है। जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि अक्टूबर माह में कुल 28 शिकायते प्राप्त हुई थी जिनका निराकरण उसी माह में किया गया है। इस माह अर्थात 12 नवम्बर तक कुल 11 शिकायते प्राप्त हुई है जो शत प्रतिशत निराकृत की गई है। इस प्रकार सीएम हेल्पलाइन के तहत विभागीय लंबित शिकायते निरंक है। इसी प्रकार पंजीयन एवं मुद्रण (वाणिज्यिकर विभाग) के द्वारा भी शत प्रतिशत शिकायतो का निराकरण किया गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की एक अक्टूबर से आज तक कुल 856 शिकायते प्राप्त हुई है जिनमें से 570 का निराकरण किया जा चुका है शेष मांग संबंधी आवेदन है। शासकीय कन्या (अग्रणी) स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा को उच्च शिक्षा से संबंधित कुल 32 शिकायते प्राप्त हुई जिनमें से 25 शिकायतो का निराकरण संतुष्टि पूर्ण किया गया है। खाद्य विभाग को भी एक अक्टूबर से आज तक कुल 358 शिकायते सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज की गई है जिनमें से अब तक 318 का निराकरण विभाग के माध्यम से किया जा चुका है।


सफलता की कहानी : जनजाति-गौरव-दिवस, उद्यानिकी फसलो ने आर्थिक प्रगति की ओर अग्रसर किया


vidisha news
परम्परागत खेती करने वाले राम सिंह आदिवासी ने जब उद्यानिकी फसलों की खेती करना शुरू किया तो हितग्राही की आर्थिक स्थिति में सुधार आने लगा। सिरोंज विकासखण्ड के ग्राम बगरोदा निवासी राम सिंह आदिवासी को उद्यानिकी विभाग के माध्यम से अमरूद एल-49 किस्म के पौधरोपण की सलाह दी गई और अमरूद से होने वाली आमदनी से अवगत कराया गया। उद्यानिकी विभाग के द्वारा पौधरोपण से लेकर फसल उत्पादन तक हर समय हितग्राही राम सिंह आदिवासी को सलाह ही नही दी जा रही थी बल्कि आवश्यकता पड़ने पर उन्हें दवाईयां भी मुहैया कराई जा रही थी। जहां पहले गेंहू चना की खेती करने वाले राम सिंह को एक वर्ष में बमुश्किल से एक से डेढ लाख रूपए की आमदनी होती थी। कृषक रामसिंह आदिवासी को वर्ष 2015-16 में उन्नत प्रजाति के अमरूद पौधे 0.5 हेक्टेयर में रोपण हेतु प्रदाय किए गए। उद्यानिकी विभाग के मार्गदर्शन में रोपित पौधे की देखभाल हितग्राही स्वंय ही कर रहे थी। डेढ से दो साल बाद भी रोपित अमरूद के पौधो में फल आने लगे। जिससे हितग्राही की आमदनी के अतिरिक्त स्त्रोत उन्नत हुए है। हितग्राही राम सिंह का कहना है कि उद्यानिकी विभाग के द्वारा दी गई मदद से हर वर्ष एक से सवा लाख रूपए की अतिरिक्त आमदनी हो रही है जिससे घरेलू अन्य कार्यो के सम्पादन में मदद मिल रही है इनका कहना है कि अब मैं अदरक, लहसुन, हल्दी की भी खेती करूंगा।

पीड़िता के लिए 25 हजार रूपए की मदद की समाजसेवी ने


त्योंदा तहसील के ग्राम खैरोदा में कुंआ धंसने से मृतक राजाराम कुर्मी की पत्नि श्रीमती हीराबाई को कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा दस हजार रूपए की आर्थिक सहायता रेड क्रास सोसायटी के माध्यम से तत्काल दिलाई गई है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि मुख्यमंत्री कृषक जीवन कल्याण योजना के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया गया है शीघ्र ही चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता पीड़िता को प्रदाय कराई जाएगी। विदिशा शहर के समाजसेवी एवं समाधान चिकित्सा के संचालक श्री रमेश महेश्वरी के द्वारा प्र्रदाय 25 हजार रूपए का चेक श्री अरूण त्रिवेदी ने कलेक्टर को सौंपा ताकि पीड़िता हीराबाई एवं उनके बच्चों की मदद हो सकें। 


किसानों भाईयों को सलाह  - खाद का संतुलित उपयोग करें


संयुक्त संचालक कृषि के द्वारा विदिशा जिले के किसानों को सलाह दी गई है कि आवश्यकता से अधिक रासायनिक उर्वरकों का उपयोग न करें। फसल के लिये अन्य पोषक तत्वों की भी आवश्यकता होती है। कृषि विभाग ने किसानों से कहा है कि किसान मिटटी परीक्षण कराए और उसी के हिसाब से रासायनिक उर्वरकों का उपयोग करने की सलाह दी गई है। किसानों से आग्रह किया गया है कि वे कृषि वैज्ञानिकों से सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर उर्वरकों का उपयोग करें ताकि फसल का अच्छा उत्पादन प्राप्त  हो। वर्तमान मे रबी की फसलों के लिये जिले में पर्याप्त खाद की उपलब्धता है। गेंहू के लिये यूरिया 213 कि.ग्रा. एन.पी.के. 186 कि.ग्रा., म्यूरेट ऑफ पोटास 17 कि.ग्रा. प्रति हेक्टर, चना के लिये यूरिया 44 तथा सुपर फास्फेट 375 कि .ग्रा. प्रति हेक्टर, सरसों के लिये यूरिया 130 कि.ग्रा. सुपर फास्फेट 188 कि.ग्रा. तथा म्यूरेट ऑफ पोटास 33 किग्रा. प्रति हेक्टर, मसूर के लिये यूरिया 54 कि.ग्रा. तथा सुपर फास्फेट 313 कि.ग्रा. प्रति हेक्टर देकर अनुशंसित उर्वरक मात्रा की पूर्ति की जा सकती है। किसान भाईयों से अपील की गई है कि गेंहू, सरसों, चना एवं मसूर फसल में रासायनिक खाद की अनुशंसित मात्रा का ही उपयोग करें । डीएपी के विकल्प के रुप में एन.पी.के. व एस.एस.पी. यूरिया एव म्यूरेट ऑफ पोटास उर्वरकों का उपयोग कर अच्छा उत्पादन प्राप्त कर सकते है । साथ ही सिंगल सुपर फास्फेट का उपयोग करने से सल्फर 11 प्रतिशत एवं केल्सियम 21 प्रतिशत भी प्राप्त होंगें, जो फसल का उत्पादन बढाने में सहायक होंगें । 


फोटो निर्वाचक नामावली विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण -2022, 30 नवम्बर, 2021 तक दावे और आपत्ति आमंत्रित


भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 01 जनवरी 2022 के मान से फोटो निर्वाचनक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2022 का प्रारूप प्रकाशन 01 नवम्बर, 2021 को किया जा चुका है। आयोग के द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 01 नवम्बर, 2021 से 30 नवम्बर, 2021 तक दावे और आपत्ति दर्ज करने की तिथि निर्धारित है। इस अवधि में ऐसे मतदाता जिनकी आयु 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है। अपना नाम क्षेत्र बी.एल.ओ. से फार्म प्राप्त कर अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकते है। उन्होंने बताया कि 18 वर्ष पूर्ण करने वाले मतदाता अपना नाम जुड़वाने के लिए प्राप्त सुविधा का लाभ उठाये। इसके लिए बी.एल.ओ. के माध्यम से फॉर्म 6 भर सकते है। जिले के प्रत्येक मतदान केन्द्रों पर 01 नवम्बर, 2021 से 30 नवम्बर, 2021 तक फोटो मतदाता सूची प्रदर्शित की जाएगी। इसे देखकर मतदाता यह सुनिश्चित कर सकते है की मतदाता का नाम मतदाता सूची में है या नही। यदि है तो उसमें कोई गलती तो नही है। यदि कोई गलती है तो फॉर्म 8 भरकर गलती को सुधरवा सकते हैं। इसके अतिरिक्त नए वोटर कार्ड के लिए फार्म 6 भरकर उसके अपने पता आयु संबंधी दस्तावेज संलग्न कर वे बी.एल.ओ. को जमा करें। इसी प्रकार बी.एल.ओ. मतदाता को नवीन परिचय पत्र तैयार कराकर देगे। साथ ही ऐसे मतदाता जो नाम संबंधी का नाम आयु एवं पता में संशोधन कराना चाहता है, वह फार्म-8 भरकर सुधार संबंधी आवश्यक दस्तावेज लगाकर संशोधन कराये जाने हेतु फॉर्म-8 बी.एल.ओ. को जमा कर सकता है।जो मतदाता अन्य जगह चले गये है वह मतदाता सूची से नाम हटवाने हेतु फार्म-7 भरकर दे सकते है। और ऐसे मतदाता जिनकी मृत्यु हो चुकी है उनके परिवार से बी.एल.ओ. नोटिस देकर हटाने की कार्यवाही कर सकता है। जिले के ऐसे मतदाता जिनका नाम मतदाता सूची में नही है और वे पात्र है, से आग्रह किया है कि वे अपना नाम जुडवाने अथवा किसी प्रकार का संशोधन कराने अथवा हटाने संबंधी आवेदन बी.एल.ओ. को जमा कराएं।


राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण 12 को’


एनसीईआरटी द्वारा सरकारी और निजी स्कूलों में बच्चों की सीखने की उपलब्धियों का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस) 12 नवंबर को होगा। संचालक राज्य शिक्षा केंद्र ने बताया कि विगत ढाई-तीन माह से जिस दिन के इंतजार में पूर्ण लगन और ईमानदारी के साथ तैयारी कर रहे थे, वह दिन अब केवल दो दिन दूर है। पूरा विश्वास है कि यह राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे 2021, भारत सरकार द्वारा निर्धारित प्रक्रिया अनुरूप संपन्न होगा और सभी शिक्षकों की निष्ठा और विद्यार्थियों की मेहनत से हमारा मध्यप्रदेश बेहतर प्रदर्शन करेगा। राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे 2021 के लिए सारी औपचारिकताएँ पूर्ण कर ली गयी है। सी.बी.एस.ई. द्वारा नामांकित प्रेक्षक की उपस्थिति में यह सर्वे संपन्न होगा। जिलों में कलेक्टर द्वारा नियुक्त स्वतंत्र प्रेक्षक भी यह सुनिश्चित करेंगे कि सर्वे कार्य तय प्रक्रिया अनुरूप आयोजित हो। 


मुख्यमंत्री जी ने व्हीसी के माध्यम से तैयारियों का जायजा लिया एवं दिशा निर्देश दिए  


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में शामिल होने वाले सहभागियों के लिए जिला स्तर पर किए जाने वाले प्रबंधो की जानकारियां जिलेवार प्राप्त की वहीं उनके द्वारा ततसंबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है। विदिशा के एनआईसी कक्ष में इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, पूर्व विधायक श्री रूद्रप्रताप सिंह, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा जिला क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य डॉ राकेश जादौन भी मौजूद रहें। मुख्यमंत्री जी को कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में किए गए प्रबंधों की विस्तारपूर्वक जानकारी से अवगत कराया। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि भगवान बिरसा मुण्डा जयंती पर भोपाल में 15 नवम्बर को आयोजित जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले अन्य जिलों के ऐसे सहभागी जो 14 नवम्बर की रात्रि विदिशा में विश्राम करेंगे उनमें दमोह, छतरपुर, पन्ना, टीकमगढ़, निवाडी, रीवा, सतना जिले सहित सभी सातो जिलों के लगभग 7 हजार सहभागी विदिशा जिले की सीमा में रात्रि विश्राम करेंगे। सभी अतिथि सहभागियों के लिए आवश्यक तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। इन जिलो के अलावा विदिशा जिले के पांच हजार सहभागी 15 नवम्बर की प्रातः प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए रवाना होंगे।


मुख्यमंत्री जी ने व्हीसी के माध्यम से तैयारियों का जायजा लिया एवं दिशा निर्देश दिए  


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में शामिल होने वाले सहभागियों के लिए जिला स्तर पर किए जाने वाले प्रबंधो की जानकारियां जिलेवार प्राप्त की वहीं उनके द्वारा ततसंबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है। विदिशा के एनआईसी कक्ष में इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, पूर्व विधायक श्री रूद्रप्रताप सिंह, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा जिला क्राइसेस मैनेजमेंट समिति के सदस्य डॉ राकेश जादौन भी मौजूद रहें। मुख्यमंत्री जी को कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में किए गए प्रबंधों की विस्तारपूर्वक जानकारी से अवगत कराया। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि बिरसा मुण्डा जयंती पर भोपाल में 15 नवम्बर को आयोजित जनजातीय गौरव दिवस कार्यक्रम में सम्मिलित होने वाले अन्य जिलों के ऐसे सहभागी जो 14 नवम्बर की रात्रि विदिशा में विश्राम करेंगे उनमें दमोह, छतरपुर, पन्ना, टीकमगढ़, निवाडी, रीवा, सतना जिले सहित सभी सातो जिलों के लगभग 7 हजार सहभागी विदिशा जिले की सीमा में रात्रि विश्राम करेंगे। सभी अतिथि सहभागियों के लिए आवश्यक तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। इन जिलो के अलावा विदिशा जिले के पांच हजार सहभागी 15 नवम्बर की प्रातः प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम में सम्मिलित होने के लिए रवाना होंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं: