मधुबनी : सुगम यातायात जिला प्रशासन की प्राथमिकता : डीएम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 2 दिसंबर 2021

मधुबनी : सुगम यातायात जिला प्रशासन की प्राथमिकता : डीएम

road-safty-meeting-madhubani
मधुबनी, आज दिनांक 02 दिसंबर 2021 को श्री अमित कुमार, भा. प्र. से. जिला पदाधिकारी सह अध्यक्ष, जिला सड़क सुरक्षा समिति, मधुबनी कि अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति, मधुबनी की बैठक समाहरणालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बताते चलें कि इस बैठक में जिले में सड़क सुरक्षा एवं सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल अथवा मृत व्यक्तियों को ससमय मुआवजा दिए जाने की प्रक्रिया पर आए नए विभागीय आदेश पर भी व्यापक चर्चा की गई। इस दौरान तेज गति एवं लापरवाही से वाहन चलाने के संबंध में सघन जांच अभियान और सड़क दुर्घटना के उपरांत त्वरित सहायता उपलब्ध कराने जैसे मुद्दे अहम थे। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिया कि फोर लेन सड़क पर सड़क दुर्घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए झंझारपुर ट्रॉमा सेंटर को यथाशीघ्र कार्यान्वित किया जाय। उन्होंने नेशनल हाईवे पर डिवाइडर कट के दोनो तरफ लगे पेड़ पौधे को छांटने और जिले के सड़कों के बीच चिन्हित ब्लैक स्पॉट क्षेत्र को जल्द से जल्द दुरुस्त करने के भी निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि सड़क दुर्घटना के उपरांत मृत्यु की स्थिति में संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी सह दुर्घटना जांच पदाधिकारी की अनुशंसा के आलोक में मृतक के आश्रित को सरकार द्वारा पांच लाख रुपए एवं गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को पचास हजार रुपए का तात्कालिक अंतरिम मुआवजा भुगतान करने का प्रावधान है। संबंधित प्रक्रिया को पूर्ण पाते हुए इस प्रकार के भुगतान को सुनिश्चित करने की जिम्मेवारी जिला परिवहन पदाधिकारी को दी गई है। जिलाधिकारी ने बैठक में उपस्थित अधिकारियों सहित सभी लोगों से सड़क सुरक्षा के संबंध में रखे गए सभी  सुझावों को गंभीरता से सुना। उन्होंने दुर्घटना के उपरांत फौरी सहायता उपलब्ध कराने वाले लोगों के महत्व को भी रेखांकित किया। बैठक में श्री विशाल राज, उप विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री सुशील कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी, मधुबनी, श्री शैलेन्द्र कुमार, जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, मधुबनी, श्री अश्वनी कुमार अनुमंडल पदाधिकारी, सदर मधुबनी, श्री अशोक कुमार मंडल, अनुमंडल पदाधिकारी, बेनीपट्टी, श्री अभिषेक कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, फुलपरास, श्री शैलेश कुमार चौधरी, अनुमंडल पदाधिकारी, झंझारपुर, श्रीमती बेबी कुमारी, अनुमंडल पदाधिकारी, जयनगर के साथ साथ जिले के शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क निर्माण, यातायात से जुड़े अधिकारी एवं अन्य प्रबुद्ध नागरिक शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: