इतिहास में याद रखा जाएगा किसान आंदोलन : गहलोत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 11 दिसंबर 2021

इतिहास में याद रखा जाएगा किसान आंदोलन : गहलोत

history-always-remember-farmer-protest-gahlot
जयपुर, 11 दिसंबर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के सफल समापन पर किसानों को बधाई देते हुए शनिवार को कहा कि यह आंदोलन इतिहास में याद रखा जाएगा। गहलोत ने कहा, ‘‘एक वर्ष से भी अधिक समय तक चला किसान आंदोलन आज किसानों की जीत के साथ समाप्त हुआ है। किसानों ने गांधीवादी तरीके से अहिंसक आंदोलन में संयम का अभूतपूर्व प्रदर्शन किया है। मैं सभी किसानों को बधाई देता हूं।’’ गहलोत के अनुसार कांग्रेस पार्टी हमेशा किसानों के साथ खड़ी रही। उन्होंने लिखा, ‘‘हमारे नेता राहुल गांधी ने किसानों के समर्थन में ट्रैक्टर रैली, किसान सभा, संसद मार्च किए एवं संसद में किसानों की आवाज बुलंद की। विपक्ष के दबाव एवं किसानों के संयम के आगे मोदी सरकार झुकी। यह आंदोलन इतिहास में याद रखा जाएगा।’’ उल्लेखनीय है कि संसद में 29 नवम्बर को कृषि कानूनों को निरस्त करने तथा बाद में न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर कानूनी गारंटी के लिए एक समिति गठित करने सहित विभिन्न मांगों को सरकार द्वारा मान लिये जाने के बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने बृहस्पतिवार को विरोध प्रदर्शन स्थगित करने की घोषणा की थी। किसानों को आंदोलन एक साल से भी अधिक समय तक चला।

कोई टिप्पणी नहीं: