विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 07 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 7 दिसंबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 07 दिसंबर

मुख्यमंत्री जी का दौरा कार्यक्रम


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार आठ दिसम्बर को विदिशा जिले के गंजबासौदा में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री जी का जारी दौरा कार्यक्रम अनुसार आठ दिसम्बर की दोपहर दो बजे भोपाल से हेलीकाप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 2.25 बजे गंजबासौदा आगमन और स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होने के उपरांत सायं 5.15 बजे हेलीकाप्टर से भोपाल के लिए रवाना होंगे। 


त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन, आरो, एआरओ सहित अन्य प्रशिक्षित हुए


vidisha news
त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 से संबंधित सभी निर्वाचन कार्यो का सुव्यवस्थित रूप से निर्विध्न सम्पन्न हो इसके लिए मंगलवार को विदिशा जिले के विकासखण्डों में नियुक्त आरो, एआरओ के अलावा समस्त नोडल अधिकारी तथा एसडीएम के लिए संयुक्त प्रशिक्षण एसएटीआई के स्मार्ट क्लास रूम में आयोजित किया गया था। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि वे पंचायत निर्वाचन कार्यो को अतिगंभीरता से लें। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जो दिशा निर्देश जारी किए जा रहे है कि प्राप्ति सभी निर्वाचन कराने वाले नियुक्त अधिकारियों को त्वरित प्राप्ति हो इसके लिए जिला स्तर पर पृथक से वाट्सएप गु्रप गठित किया गया है जिसमें अपडेट जानकारियां प्रसारित की जा रही है। कलेक्टर श्री भार्गव ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि वे निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान स्वंय पूर्ण पारदर्शी व निष्पक्ष होकर निर्वाचन कार्यो को संपादित करें। उन्होंने अवधि के दौरान तमाम जानकारियों आत्मसात करते हुए मधुर व्यवहार अपनाने की सीख दी है। उन्होंने राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम की निहित बिन्दुओं पर गहन प्रकाश डाला है। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थियों के द्वारा दाखिल किए जाने वाले नाम निर्देशन पत्रों में दाखिल किए जाने वाली बिन्दुओं की जानकारी अंकित की गई है कि नहीं। नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के दौरान अवलोकन करें। यदि कही कोई कमीवेश हो तो उनके संज्ञान में लाकर कागजों की पूर्ति सुनिश्चित कराएं। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने निर्वाचन प्रक्रिया के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरण में नाम निर्देशन पत्र दाखिल कराने से पहले आरो, एआरओ किन-किन बातो से भलीभांति हो जाए साथ ही अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन पत्रों का परीक्षण करने के लिए निर्धारित बिन्दुओं की भी जानकारी अनिवार्य रूप से प्राप्त कर लें। उन्होंने त्रि-स्तरीय पंचायत राज्य संस्थाओं के निर्वाचन हेतु आरक्षित पद से निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी से नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के दौरान सक्षम प्राधिकारी के द्वारा प्रदाय जानकारी, जाति संबंधी प्रमाण पत्र के अभाव में शपथ व घोषणा पत्र मान्य किया जाएगा। जाति प्रमाण पत्र के आधार पर कोई भी नाम निर्देशन पत्र निरस्त नहीं किया जाएगा। अभ्यर्थी के द्वारा शपथ व घोषणा पत्र दाखिल किया गया है वह मान्य होगा। उन्होंने आवेदनो के दस्तावेंजो के मिलान हेतु चेकलिस्ट, परिशिष्ट-एक और मिलान सूची का उपयोग के संबंध में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी है। इस दौरान प्रारूप चार के तहत दाखिल किए जाने वाले नाम निर्देशन पत्रों जिसमें जिला पंचायत सदस्य, जनपद सदस्य, सरपंच और पंच पद हेतु अभ्यर्थी द्वारा दाखिल किए जाएंगे। इस संबंध में भी जानकारी दी है। प्रशिक्षण के दौरान अभ्यर्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया है। जिसमें वार्डो के रिजर्वेशन के संबंध में निर्धारित पैरामीटर शामिल है।


आटो रिक्शो की सघन जांच पड़ताल


vidisha news
बिना परमिट एवं नियमों के विरूद्व चल रहें यात्री आटो रिक्शों पर तत्काल वैधानिक कार्यवाही नियमानुसार संपादित हो इसके लिए जिले में सघन जांच पड़ताल कार्य जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा के द्वारा संपादित किया जा रहा है। मंगलवार को बासौदा क्षेत्र में आटो रिक्शो के विरूद्व की गई सघन जांच पड़ताल कार्यवाही में 14 आटो रिक्शा, एक टैक्सी, एक स्कूल बस एवं एक लोडिंग ट्रक इस प्रकार कुल 17 वाहन नियमों के विरूद्व चलते पाए जाने के कारण उनके विरूद्व प्रकरण पंजीबद्ध कर उन्हें जप्त करने की कार्यवाही संपादित करते हुए पुलिस थाना बासौदा में सुरक्षार्थ रखा गया है।


एमसीसी प्रकोष्ठ का गठन


त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 के तहत आचार सहिंता प्रभावशील होने के उपरांत निर्वाचन संबंधी शिकायतें प्राप्ती हेतु जिला स्तर पर एमसीसी प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। एमसीसी के जिला नोड्ल अधिकारी एवं अपर कलेक्टर (विकास) के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान आचार संहिता का पालन सुनिश्चित कराने हेतु अधिकारियों को दायित्व सौंपे गए हैं। प्रकोष्ठ के संचालन हेतु जिला पंचायत के कक्षों में व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई हैं। जिला स्तर पर गठिन एमसीसी प्रकोष्ठ का सहायक नोड्ल अधिकारी जनपद पंचायत की सीईओ श्रीमति वंदना शर्मा को नियुक्त किया गया है। प्रकोष्ठ के सुव्यवस्थित संचालन हेतु लेखापाल श्री सुधीर जैन, सहायक ग्रेड-3 श्री श्रुत चतुर्वेदी, कम्प्यूटर ऑपरेटर श्री सीताराम अहिरवार को भी संलग्न किया गया है।


कार्य संपादन- 

जिला स्तरीय प्रकोष्ठ के द्वारा जिन कार्यों का संपादन किया जाएगा। उनमें निर्वाचन घोषणा के उपरांत आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित कराने संबंधी निर्देश जारी करना। मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की स्टेंडिंग कमेटी की प्रथम बैठक में  आदर्श  आचरण संहिता की प्रति सर्व संबंधितों को उपलब्ध कराना। निर्वाचन के दौरान आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित कराने हेतु जिला स्तरीय एवं त्रि-स्तरीय पंचायतों की पृथक-पृथक टीमों का गठन किए जाने संबंधी आदेश जारी करना एवं प्रतिदिन की रिपोर्ट संकलन एवं राज्य निर्वाचन पदाधिकारी को प्रेषण एवं ऑनलाईन प्रविष्टियां सुनिश्चित कराने हेतु आदेश जारी करना। निर्वाचन संबंधी आदर्श आचरण संहिता के पालन संबंधी महत्वपूर्ण गतिविधियों की वीडियोग्राफी एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर वीडियोग्राफी  सुनिश्चित कराना एवं रिकॉर्ड संघारित करना। विभिन्न सभाओं, वाहनों, लाउड स्पीकर इत्यादि से संबंधित अनुमतियों समय सीमा में जारी करने हेतु व्यवस्थाएं सुनिश्चित करना। आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनश्चित करने हेतु समस्त विभागों को निर्देश जारी करना एवं शासकीय मशीनरी के राजनैतिक दलों/प्रतिनिधियों का निर्वाचन कार्य में उपयोग को प्रतिबंधित करने से संबंधित आदेश जारी करना। प्रेक्षक महोदय को आदर्श आचरण संहिता के पालन संबंधी निर्धारित प्रत्रकों में प्रतिदिन जानकरी की प्रति उपलब्ध कराना। आदर्श आचरण संहिता के पालन से संबंधित अन्य कार्य। समय-समय नोडल अधिकारी द्वारा सौंपे जाने वाले कार्यों का संपादन करेंगे।      


अवकाश आवेदनों पर अनुशंसा उपरांत प्रेषित करें


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में पदस्थ सभी अधिकारी, कर्मचारियों के अवकाश पर प्रतिबंध लगाने की अवधि त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान प्रभावशील रहने का आदेश जारी किया है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि विशेष परिस्थितियों में संबंधित अधिकारी, कर्मचारियों के अवकाश आवेदनों पर जिला अधिकारी की टीप अनुशंसा के उपरांत जिला निर्वाचन कार्यालय को प्रेषित किए जाएं। किसी भी विभाग के अधिकारी, कर्मचारी बिना अनुशंसा के अपने अवकाश आवेदन जिला निर्वाचन कार्यालय में कदापि जमा न करें। तत्संबंध में सोमवार 6 दिसंबर को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक में विस्तृत जानकारी से अवगत कराया जा चुका है। यदि किसी कर्मचारी द्वारा अवकाश की मांग की जाती है तब उस शासकीय कर्मी का आवेदन पत्र संबंधी कार्यालय में प्राप्ती उपरांत अनुशंसा सहित जिला निर्वाचन कार्यालय को अग्रेषित किया जाए। 


जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का गठन


राजस्व विभाग द्वारा जारी निर्देशों के अनुपालन में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर मृतक के वारिसान को अनुग्रह राशि 50 हजार रूपये दिए जाने हेतु निर्देशित किया गया हैं आवेदनों की स्वीकृति के लिए गृह विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर जिले में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) का गठन किया गया है। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट स्वयं होंगे। इसके अलावा समिति में पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत सीईओ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डिस्ट्रिक्ट कमाण्डेंट होमगार्ड तथा विदिशा नगरपालिका अधिकारी को शामिल किया गया है। 


ग्यारसपुर जनपद पंचायत के लिए सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्त, पंच,सरपंच के नाम निर्देशन प्राप्ति क्लस्टरों की जानकारी


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 हेतु ग्यारसपुर जनपद पंचायत अंतर्गत पंच एवं सरपंच पद के नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति हेतु क्लस्टरवार सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्ति संशोधित आदेश जारी किया हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेशानुसार ग्यारसपुर जनपद पंचायत के आम निर्वाचन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित रूप से संपादित कराने हेतु जनपद पंचायत की 71 ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के लिए छह सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्त किए गए है जबकि दो रिजर्व रखे गए है। प्रभारी तहसीलदार गुलाबगंज श्री हेमंत शर्मा तहसील कार्यालय गुलाबगंज गूलरखेडी  जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें इकोदिया, धतूरिया, ऐरन, अंडियाकलां, बर्रीघाट, गूलरखेडी, गुलाबगंज, चकरघुनाथपुर, संतापुर, मूंगवारा, घोंसुआ, पिपरिया, लखनगार शामिल है। खण्ड चिकित्सा अधिकारी ग्यारसपुर श्री व्हीएस मिर्धा पंचायत भवन वनजागीर में उपस्थित होकर जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे। उनमें मढीचौबीसा, सौजना, हथियाखेडा, मेहरूखेडी, सुमेरबर्री, वनजागीर, चाठौली, मूडरागनेशपुर, गुनुआ, शामिल है। मबावि ग्यारसपुर के परियोजना अधिकारी श्री अरूणकांत प्रजापति नौलास के ग्राम पंचायत भवन में जिन ग्रामों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें सिमरहार, मढीपुर, सुआखेडी, पथरई, इमलावदा, बंजरिया, अटारीखेजडा, दीघोरा, अम्बार, नादौर, सियासी और कंजेला शामिल है। पशु चिकित्सा विभाग के ग्यारसपुर के श्री मोहित गौतम ग्राम पंचायत भवन नौलास में जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें खेजडापडरात, नौलास, सीहोद, बरखेडागंभीर, बंडवा, झिरनिया, लखूली, पुरागुसाई, घटेरा एवं बोरीरामपुर तथा सहकारिता विस्तार अधिकारी ग्यारसपुर के श्री कैलाश यादव जिन ग्राम पंचायत भवनों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें इन्दरवास, चिरावटा, ऊहरकोटरा, ग्यारसपुर, औलिंजा, मानौरा, धौखेडा, कोलुआधामनोद, मढियाधामनोद, दैयरपुर, बांसादेही, सेमराटप्पा, पिपरियापराशर शामिल है। नायब तहसीलदार ग्यारसपुर सुश्री सृष्टि श्रीवास्तव ग्राम पंचायत भवन हैदरगढ़ में जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगी उनमें हैदरगढ़, बरवाई, मोहम्मदगढ़, चीकली, खिरियाजागीर, बेहलोट मदनई, पचपेडिया, धामनोद, नौरजा, गुन्नौठा, मढियाजामन, कोलुआजागीर एवं मढियादरोई शामिल है। ग्यारसपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत रिजर्व सहायक रिटर्निंग आफीसरों में कृषि विभाग ग्यारसपुर के प्रभारी एसएडीओ श्री केपी ओझा, पशु चिकित्सक ग्यारसपुर के श्री शैलेन्द्र सिंह शामिल है।


कुरवाई जनपद पंचायत के लिए सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्त, पंच,सरपंच के नाम निर्देशन प्राप्ति क्लस्टरों की जानकारी


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021-22 हेतु कुरवाई जनपद पंचायत अंतर्गत पंच एवं सरपंच पद के नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति हेतु क्लस्टरवार सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्ति संशोधित आदेश जारी किया हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेशानुसार कुरवाई जनपद पंचायत के आम निर्वाचन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित रूप से संपादित कराने हेतु जनपद पंचायत की 75 ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति के लिए छह सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्त किए गए है। नायब तहसीलदार कुरवाई श्री मनीराम कोदर तहसील कार्यालय कुरवाई में  जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें करैया, शेखपुर, दादूरार, नाउकुण्ड, टेंकू, कांकर, झगरिया, भौंरासा, ईशाखेडी, कैथोरा, सिरावली शामिल है। जनपद पंचायत कुरवाई के सहायक यंत्री श्री केपी गोस्वामी पंचायत भवन बरवाई में जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देश पत्र प्राप्त करेंगे उनमें छीरखेडा, धारूखेडी, धुवा, करई, बेरखेडी, इमलिया, तमोईया, बरवाई, नेहरा, खजूरिया, काछी कुम्हारिया शामिल है। कृषि विभाग कुरवाई के आरएईओ श्री एनएस कुर्मी पंचायत भवन मेहलुआ में उपस्थित होकर जिन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें फतेहपुर, वीरपुर, मदउखेडी, मेहलुआ, माला, रोशनपिपरिया, बजीरावादा, पिथौली, कूल्हन, विशनपुर, पीकलोन, लेटनी शामिल है। पशु चिकित्सा विभाग के सहायक पशु चिकित्सक डॉ आरएस उपाध्याय पंचायत भवन लायरा में इन ग्राम पंचायतों के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे उनमें बासौदा, लचायरा, बरखेडा, मलियाखेडा, पाडोछा, जरगुंवा, लायरा, राजपुर, पनावर शामिल  है। नप कुरवाई के उपयंत्री श्री गौरव कुमार पंचायत भवन सीहोरा में मौजूद रहकर ग्राम पंचायत बरेठा, बरूअल, तलावार, सीहोरा, नगवासा, गुदावल, कोंसी, भैंसवाया, सिरनोटा,देवली, शहरवासा के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे। विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कुरवाई श्री कमल सिंह बागडी पंचायत भवन भालबामोरा में ग्राम  पंचायत देतरा, उकावद, मनेशा, श्यामपुर, गुदावल, भालबामोरा, दुधावरी, रामगढ़, मथुरापुर एवं बरखेडा पठारी के नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करेंगे। 


मेडिकल कॉलेज परिसर में अग्नि सुरक्षा के उपकरणों का डेमो प्रदर्शन


vidisha news
अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय विदिशा में आज अग्नि सुरक्षा पर प्रशिक्षण व उपकरणों का डेमो प्रदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया था। जिसका मुख्य उद्धेश्य अग्नि सुरक्षा के पहलुओं पर जागरूकता लाना और प्राप्त ज्ञान का सही व्यावहारिक उपयोग कर दुर्घटनाओं को रोकना है। प्रशिक्षण के प्रतिभागियों ने रूचि प्रदर्शित करते हुए तमाम जानकारियों को आत्मसात किया है। अग्नि सुरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन विदिशा जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से किया गया था। जिसका समन्वयक जिला सलाहकार सुश्री प्रशंसा दीक्षित ने किया है। प्रशिक्षण में डाक्टरों, स्टॉप नर्स, पैरामेडिकल, सुरक्षाकर्मियों, अन्य चिकित्सा प्रशासन कर्मचारियों सहित लगभग दो सौ प्रतिभागियों ने भाग लिया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, मेडिकल सुप्रीडेंन्ट डॉ डीडी परमहंस भी मौजूद रहे। प्रशिक्षण जिला होमगार्ड कमाण्डेंट श्री महेश हनोतिया कंपनी कमाण्डर श्री शशिधर पिल्लई और उनकी टीम द्वारा दिया गया है। एसडीईआरएफ की टीम और नगरपालिका विदिशा की टीम ने दमकल उपकरणों का डेमो प्रदर्शित किया है। 


एसडीएम कोविड से मृत्यु के अनुग्रह राशि के आवेदनों का परीक्षण कर प्रस्तुत करेंगे, दिवस निर्धारित


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह राशि मृतक के वारिसान को 50 हजार रूपये पात्रता अनुरूप प्रदाय किये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किये गये है। उन्होंने समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने-अपने क्षेत्र में कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु होने पर अनुग्रह राशि प्रदाय किये जाने हेतु आवेदक, वारिसान से आवेदन पत्र परिशिष्ट-01 के प्रारूप एवं परिशिष्ट - 02 के सभी दस्तावेंज अनुविभागीय कार्यालय में प्राप्त किए जाएंगे। आवेदन पत्र में दो मोबाइल नम्बर अंकित किए जाएंगे ताकि क्रियाशील नम्बर पर बात हो सकें। प्रत्येक अनुविभागीय अधिकारी कोविड सहायता सेल गठित कर कक्ष में आवेदन प्राप्त करने हेतु सहायको को नियुक्त करेंगे। आवेदन प्राप्त होने पर अनुविभागीय अधिकारी एवं विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी आवेदन की प्रारंभिक जांच कर अपनी टीप के साथ प्रति सोमवार, बुधवार एवं शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी विदिशा को प्रेषित करेंगे। मूल आवेदन पत्र भेजने के साथ-साथ समुचित जानकारी स्वास्थ्य विभाग के प्रभारी एवं राहत शाखा aartitiwari.a@gmail.com कलेक्ट्रेट कार्यालय को प्रेषित करेंगे। सीएमएचओ को आवेदन प्राप्त होने पर कोविड संबंधी दस्तावेंजो की जांच या ऐसा दस्तावेंज जो आवेदक नही लगा पाया है। उसकी पूर्ति कराकर कलेक्टर द्वारा गठित समिति के समक्ष रखे जाने हेतु प्रभारी अधिकारी को प्रति सोमवार एवं गुरूवार को प्रेषित करेंगे। जिला स्तरीय समिति की बैठक प्रत्येक सोमवार, गुरूवार को आयोजित होगी। समिति द्वारा पात्र, अपात्र का परीक्षण कर स्वीकृत अस्वीकृत किया जाएगा। यदि कोई व्यक्ति अपात्र पाया जाता है तो अपात्रता  की टीप कार्यवाही विवरण में दर्ज कर आवेदक को इसकी सूचना अनुविभागीय अधिकारी के माध्यम से दी जाएगी। जिला स्तरीय समिति द्वारा अपात्र किए गए आवेदक अपना अभ्यावेदन अपर कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति के समक्ष प्रस्तुत करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: