विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 2 जनवरी 2022

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जनवरी

आगामी वर्ष के लिये लोक अदालत आयोजन की तिथियाँ जारी


vidisha news

राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के निर्देशानुसर वर्ष 2022 में समस्त न्यायालयों में आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालतों के लिए कार्यक्रम और तिथियां निर्धारित की गयी हैं। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वर्ष 2022 में 12 मार्च, 14 मई, 13 अगस्त व 12 नवंबर को लोक अदालतों का आयोजन किया जाएगा।  


समुदाय की भागीदारी बढ़ाने अडॉप्ट एन आँगनवाड़ी कार्यक्रम प्रारंभ


प्रदेश में आँगनवाड़ी केन्द्रों को सुदृढ़ करने के लिये समुदाय की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से अडॉप्ट एन आँगनवाड़ी कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। कार्यक्रम में आँगनवाड़ी केन्द्रों को अपनाने के लिये जन-प्रतिनिधि, शासकीय कर्मी, सामाजिक कार्यकर्ता, सामाजिक संगठन, गैर-शासकीय संस्थाएँ, औद्योगिक संस्थाएँ और अन्य संगठन अधो-संरचना, आँगनवाड़ी संचालन, पोषण सुधार आदि गतिविधियों में सहयोग कर सकते हैं।  आँगनवाड़ी केन्द्रों को अपनाने के लिये आँगनवाड़ी भवन एवं परिसर के लिये भूमि, आँगनवाड़ी भवन और कक्षों का निर्माण, पूर्व से निर्मित भवनों का सुधार, रंग-रोगन, पूर्व से निर्मित भवनों की बाउण्ड्री-वॉल का निर्माण, केन्द्र में हैण्ड-पम्प की स्थापना, बच्चों के लिये सुलभ शौचालय आदि के निर्माण में अपना सहयोग कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आँगनवाड़ी संचालन में सहयोग के लिये आउटडोर एवं इंडोर खेल सामग्री का प्रदाय, बच्चों को यूनिफार्म उपलब्ध कराना तथा केन्द्र के संचालन में आवश्यक सामग्री जैसे पंखा, घड़ी, फर्नीचर, बर्तन आदि उपलब्ध करा सकते हैं। साथ ही जन-प्रतिनिधि बच्चों के पोषण सुधार के लिये आवश्यक वित्तीय अथवा पोषण सामग्री का प्रदाय, अति कम वजन वाले बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्रों में भेजने के लिये आवश्यक सहयोग तथा उनके परिवार को आवश्यकतानुसार वित्तीय सहयोग अथवा सामग्री के रूप में सहायता प्रदान कर सकते हैं। आँगनवाड़ी केन्द्रों को अपनाने के लिये जिला स्तर पर जिला कलेक्टर को सहयोग राशि प्रदान की जा सकेगी। राशि, चेक अथवा बैंक ड्रॉफ्ट के रूप में ही स्वीकार की जायेगी।


ब्रूसेला टीकाकरण अभियान जारी : पशुपालक अपने गौ-भैंस वंशीय 4 से 8 माह तक के पशुओं को जरुर लगवायें टीका


उप संचालक पशुपालन एवं डेयरी विभाग के श्री ओमप्रकाश गौर ने बताया कि प्रदेश शासन के पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार विदिशा जिले के समस्त ग्रामों में राष्ट्रीय पशुरोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत ब्रूसेला टीकाकरण का आयोजन 01 जनवरी से 31 जनवरी 2022 तक किया जाना है। जिसके तहत ग्राम में उपलब्ध 4 से 8 माह की मादा गौ-भैंस वंशीय बछिया में निःशुल्क टीकाकरण किया जायेगा। इस कार्य के लिये पशु चिकित्सा विस्तार अधिकारी, पशु चिकित्सा सहायक शल्यज, सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारी तथा संबंधित क्षेत्र के गौसेवक एवं मैत्री के संयुक्त दलों के माध्यम से टीकाकरण की गतिविधियों की जायेंगी। इस संबंध में जिले के समस्त पशुपालकों से अपील की गई है कि वे अपनी गौ-भैंस वंशीय पशुओं में ब्रूसेला टीका अनिवार्य रुप से लगवायें।


त्रि-स्तरीय पंचायतों की मतदाता-सूची का पुनरीक्षण निर्धारित समयावधि में करें, राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने वीसी के माध्यम से की कलेक्टर्स से चर्चा


राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रतापसिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कलेक्टर्स एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के साथ त्रि-स्तरीय पंचायतों की निर्वाचन प्रक्रिया निरस्त होने तथा एक जनवरी 2022 की संदर्भ तिथि के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण पर चर्चा की। श्री सिंह ने कहा कि पुनरीक्षण कार्य निर्धारित समय-सीमा में अनिवार्य रूप से करें।  श्री सिंह ने कहा कि पंचायतों के आगामी आम निर्वाचन अध्यादेश क्रमांक-14 सन् 2021   की वापसी के बाद निर्मित स्थितियों एवं सर्वोच्च न्यायालय के 17 दिसम्बर, 2021 के आदेश के अनुपालन में कराये जायेंगे। मध्यप्रदेश शासन द्वारा अध्यादेश वापस लेने से त्रि-स्तरीय पंचायतों के परिसीमन एवं आरक्षण का स्टेटस प्रभावित हुआ है। त्रि-स्तरीय पंचायतों की स्थिति 21 नवम्बर, 2021 के पूर्व अनुसार प्रभावशील होगी। ग्राम पंचायतों की वर्तमान सीमा के अनुरूप नवीन मतदाता-सूची तैयार की जाना है। परिसीमन प्रभावित होने से वर्तमान मतदाता-सूची निष्प्रभावी हो गई है। ग्राम पंचायत एवं उनके वार्ड, जनपद पंचायत तथा जिला पंचायत एवं उनके निर्वाचन क्षेत्र की सीमाएँ भी 21 नवम्बर, 2021 के पूर्व विद्यमान स्थिति अनुसार अस्तित्व में आ गई हैं। स्थानों, सीटों के आरक्षण की स्थिति भी तद्नुसार प्रभावशील हुई है, किन्तु इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन किया जाना आवश्यक होगा। इन परिस्थितियों में पूर्व प्रचलित निर्वाचन प्रक्रिया को निरंतर रखा जाना विधि-संगत नहीं था। इसीलिये 4 दिसम्बर, 2021 को जारी पंचायत आम निर्वाचन का कार्यक्रम एवं उसके अनुसरण में की गई निर्वाचन संबंधी सभी कार्यवाहियों को निरस्त किया गया है। निर्वाचन आयुक्त ने निर्देशित किया कि पूर्व घोषित निर्वाचन कार्यक्रम अनुसार प्रथम एवं द्वितीय चरण के लिये की गई नाम निर्देशन-पत्र प्राप्त करने से लेकर प्रतीक आवंटन तक की कार्यवाही से संबंधित सभी अभिलेखों का संधारण किया जाये। अभ्यर्थियों द्वारा जमा प्रतिभूति राशि की वापसी अभ्यर्थी से आवेदन प्राप्त कर की जाये। ईव्हीएम को पुनरू उनके बॉक्स में जमा कर जिला निर्वाचन अधिकारी के स्टोर रूम में सुरक्षित रखा जाये। उन्होंने बताया कि उपरोक्त परिस्थिति में आदर्श आचरण संहिता स्वतरू समाप्त हो गई है।


मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित

सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री बी.एस. जामोद ने बताया कि एक जनवरी, 2022 की संदर्भ तिथि के आधार पर पंचायतों की फोटोयुक्त मतदाता-सूची के वार्षिक पुनरीक्षण का कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। रजिस्ट्रीकरण एवं सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी की नियुक्ति 30 दिसम्बर, 2021 तक की गई। फोटोयुक्त प्रारूप मतदाता-सूची का ग्राम पंचायत एवं अन्य विहित स्थानों पर सार्वजनिक प्रकाशन 4 जनवरी, 2022 को किया जायेगा। स्टेण्डिंग कमेटी की बैठकों का आयोजन 4 एवं 5 जनवरी को किया जायेगा। प्रारूप मतदाता-सूची के संबंध में दावा-आपत्ति केन्द्रों पर 4 से 9 जनवरी, 2022 तक दावे-आपत्ति प्राप्त किये जायेंगे। इस दौरान 18 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाता दावा प्रस्तुत कर मतदाता सूची में नाम जुड़वा सकते हैं। दावा-आपत्तियों का निराकरण 12 जनवरी तक किया जायेगा। फोटोयुक्त अंतिम मतदाता-सूची का सार्वजनिक प्रकाशन 16 जनवरी, 2022 को ग्राम पंचायत तथा अन्य विहित स्थानों पर किया जायेगा। 


किशोरों का कोविड वैक्सीनेशन आज से शुरू


स्वास्थ्य विभाग द्वारा 15 से 18 वर्ष आयु के किशोरों के वैक्सीनेशन के लिये नई गाईडलाईन जारी की गई है। जारी गाईडलाईन के अनुसार 15 से 18 वर्ष के आयुवर्ग के किशोरों का कोविन एप या कोविन पोर्टल पर एवं ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन होगा। जिसकी प्रक्रिया 1 जनवरी 2022 से कोविन एप व कोविन पोर्टल पर प्रारंभ हो गई है। सोमवार 3 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण का कार्य शुरु होगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी अनुसार यह वैक्सीन केवल किशोरों को ही लगाई जायेगी। रजिस्ट्रेशन के लिये कोविन एप एवं कोविन पोर्टल पर आधार के साथ 9 दस्तावेजों की सूची के आधार पर पंजीयन कराया जा सकेगा। इसमें स्कूल द्वारा जारी परिचय पत्र भी मान्य होगा। एैसे लाभार्थियों को सत्यापनकर्ता अथवा वेक्सीनेटर द्वारा ऑनसाईट भी पंजीयन किया जा सकता है। वेक्सीन लगवाने के लिये अपॉईंटमेन्ट ऑनलाईन या ऑनसाईट भी बुक करने की सुविधा उपलब्ध रहेगी। कोविन एप एवं कोविन पोर्टल से ऑनलाईन स्लॉट बुक करवाने वालों को वेक्सीनेशन सेन्टस पर रिफरेन्स नंबर और सीक्रेट कोड की जानकारी देना अनिवार्य होगा। यह रिफरेन्स नंबर एवं सीक्रेट कोड रजिस्ट्रेशन के दौरान प्राप्त होगा।


पायलेट प्रोजेक्ट में विदिशा का चयन पोषण अभियान


मध्यप्रदेश के आकांक्षी जिलों की सूची में शामिल जिलों में से विदिशा जिले को पायलेट प्रोजेक्ट में चयन किया गया है कि जानकारी देते हुए यूनिसेफ एमपी की पोषण अभियान कार्यक्रम की प्रोग्राम अधिकारी सुश्री पुष्पा अवस्थी ने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाले प्रोग्राम जिनकी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सतत मॉनिटरिंग की जाएगी। उनमें गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को संतुलित भोजन पोषण आहार, गर्भ अवस्था में दवाईयां, दैनिक दिनचर्या से संबंधित स्वास्थ्य परीक्षण समय-समय पर किया जाएगा। अच्छे परिणामों की प्राप्ती कर प्रदेश में उपलब्धियां हासिल हों। इसके लिए पायलेट प्रोजेक्ट हेतु विदिशा जिले का दो वर्ष पूर्व चयन किया गया था। पायलेट प्रोजेक्ट लागू होने से पहले शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के प्रबंधों की हर स्तर पर मॉनिटरिंग की गई है। पायलेट प्रोजेक्ट के माध्यम से क्रियान्वित बिन्दुओं का अन्य राज्यों के जिला प्रतिनिधि भी आकर देखेंगे व सीखेंगे। और अपने राज्यों एवं जिलों में भी पोषण अभियान योजना पर कार्य करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रतापसिंह के नेतृत्व में समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं एवं फील्ड स्तर पर पदस्थ के अलावा एचडब्ल्यूसी, पीएससी, सीएचसी, सीएचडीएच पर उपरोक्त कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। पोषण अभियान के उद्देश्यों के प्राप्ती हेतु महिला एवं बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग से संयुक्त समन्वय स्थापित कर उद्देश्यों की प्राप्ती करेंगे। इस कार्य में स्वास्थ्य विभाग का सभी डॉक्टर, नर्स, एएनएम, सुपरवाईजर, आशा एवं स्टॉफ को राज्य स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर संबंधित दिशा निर्देश से अवगत कराया गया है। ताकि पायलेट प्रोजेक्ट की निहित बिन्दुओं का अक्षरशः क्रियान्वयन कर विदिशा जिला उदाहरण प्रस्तुत कर सके।  


मत्स्य पालकों को केसीसी जारी होंगे


मत्स्य पालकों के लिए मतस्य पालन क्रेडिट कार्ड योजनांतर्गत केसीसी बनवाने की सुविधा उपलब्ध की गई है। मत्स्योद्योग के सहायक संचालक संतोष दुबे ने जानकारी देते हुए बताया कि विदिशा जिले में मत्स्य पालन अंतर्गत मत्स्य पालन व्यवसाय में संलग्न विभिन्न विकास खण्डों के सभी वर्ग के महिला/पुरूष जन सामान्य व्यक्तियों के मत्स्य पालन केसीसी बनाये जाने हेतु आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। सहायक संचालक मत्स्योद्योग जिला विदिशा ने मत्स्य पालन केसीसी योजनांतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए मत्स्य पालन समिति/समूह/मत्स्य पालनकर्ता स्वतंत्र व्यक्ति एवं जलाशय पट्टाधारक व निजी तालाब धारक व्यक्ति एवं प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अंतर्गत मत्स्य पालनकर्ता व्यक्तियों से जन सामान्य महिला/परूष (सभी वर्ग के व्यक्ति) से जिला विदिशा अंतर्गत मत्स्य पालन की विभिन्न गतिविधियों में संलग्न एवं इच्छुक व्यक्तियों से मत्स्य पालन केसीसी बनाये जाने हेतु विशेष अभियान मत्स्य पालन केसीसी स्पेशल कैम्पेन अंतर्गत मत्स्य पालन केसीसी बनाये जाने के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। तत्संबंध में मत्स्य पालनकर्ता अपना आवेदन मत्स्य विभाग में सहायक संचालक मत्स्योद्योग विदिशा के कार्यालय में कार्यालयीन समय में प्रस्तुत कर सकते हैं। 


राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य का दौरा कार्यक्रम


मध्यप्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य री बृजेश चौहान तीन जनवरी को विदिशा जिले की सिरोंज तहसील क्षेत्र के प्रवास पर रहेंगे। सदस्य श्री चौहान का प्राप्त दौरा कार्यक्रम अनुसार सोमवार तीन जनवरी की प्रातः आठ बजे भोपाल से प्रस्थान कर प्रातः साढ़े 10 बजे सिरोंज आगमन, उसके पश्चात सिरोंज में ही आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। जिसमें मुख्य रूप से प्रातः 11 बजे रक्षिता वेलफेयर सोसायटी भोपाल द्वारा कुपोषण महाअभियान में निस्वार्थ भाव से कार्य करने वाले वॉलेंटियर्स का सम्मान दोपहर दो बजे उत्कृष्ट स्कूल सिरोंज में बाल अधिकार एवं बच्चों के वैक्सीनेशन पर जागरूकता कार्यक्रम में शामिल होंगे। राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य श्री चौहान सांय साढ़े चार बजे सिरोंज में कोरोना के बाद की स्थिति में बच्चों की शिक्षा, सुरक्षा, नशे की बढ़ती लत पर जागरूकता विषय पर समीक्षा बैठक में शामिल होंगे। सांय साढ़े पांच बजे सिरोंज में एनआरसी का निरीक्षण उपरांत सांय साढ़े 6 बजे सिरोंज से भोपाल रवाना होंगे।   


टीएल बैठक आज


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षत में लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक अब प्रत्येक सोमवार को प्रातः 11 बजे से आयोजित की जायेगी कि जानकारी देते हुए अपर कलेक्टर श्री वृंदावनसिंह ने बताया कि पूर्व में यह बैठक पूर्व में सोमवार को साढ़े दस बजे शुरू होती थी के समय में परिवर्तन किया गया है। अब यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में प्रातः 11 बजे शुरू होगी। 


समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम आयोजन की तिथि में परिवर्तन


मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की अध्यक्षता में माह के पहले मंगलवार को आयोजित होने वाले समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम के आयोजन दिवस तिथि में परिवर्तन किया गया है। कि जानकारी देते हुए सीएम हेल्पलाईन के संचालक ने बताया कि चार जनवरी को आयोजित होने वाली समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों से स्थागित की गई है। आगामी समाधान ऑनलाईन कार्यक्रम 18 जनवरी 2022 की सांय साढे़ चार बजे से की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: