बेतिया : खराब चापाकलों की मरम्मति त्वरित गति से कराने का निर्देश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 23 फ़रवरी 2022

बेतिया : खराब चापाकलों की मरम्मति त्वरित गति से कराने का निर्देश

abandon-handpipe-bihar
बेतिया। पश्चिम चम्पारण जिले के जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा आज पीएचईडी द्वारा किये जा रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी गर्मी के मौसम को देखते हुए सभी व्यवस्थाएं अपडेट रखी जाय ताकि त्वरित गति से कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में जिलेवासियों को किसी भी सूरत में पानी की किल्लत नहीं होने पाएं, इसका विशेष ध्यान रखा जाय। खराब पड़े चापाकल को तुरंत ठीक किया जाय साथ ही नल-जल योजना के तहत लाभुकों को हर हाल में पानी दिलाना सुनिश्चित किया जाय।  कार्यपालक अभियंता/सहायक अभियंता पीएचईडी को निदेश दिया कि जिले में खराब चापाकलों का ससमय सर्वें कराते हुए मरम्मति कार्य युद्धस्तर पर करायी जाय। चापाकल मरम्मति कार्य के लिए सभी गैंग को आवश्यक संसाधनों के साथ पूरी तरह मुस्तैद रखा जाय। जिला कल्याण पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि विकास मित्रों के माध्यम से जिले के महादलित टोलों में सर्वे करायें तथा खराब चापाकलों से संबंधित अद्यतन रिर्पोट पीएचईडी विभाग को उपलब्ध कराया जाय ताकि वहां भी चापाकल पूर्णतः फंक्शनल कराया जा सके। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि चापाकलों की मरम्मति के लिए पीएचईडी विभाग द्वारा तैयारी की जा रही है। जिले में लगभग 37 हजार चापाकल पीएचईडी विभाग द्वारा अधिष्ठापित कराये गये हैं। वर्तमान में इनमें से कितने फंक्शनल हैं और कितने ननफंक्शनल है, इसका सर्वें कराया जा रहा है। सर्वे कराने के उपरांत त्वरित गति से मरम्मति कार्य करते हुए फंक्शनल करा दिया जायेगा। बताया गया कि वर्तमान में प्रत्येक प्रखंड के लिए एक गैंग की व्यवस्था की गयी है जिसमें एक मिस्त्री सहित दो हेल्पर आवश्यक संसाधनों के साथ कार्यरत हैं। आवश्यकतानुसार गैंग की संख्या बढ़ायी जायेगी। समीक्षा के दौरान बताया गया कि पीएचईडी कंट्रोल रूम सहित निदान कॉल सेन्टर के माध्यम से प्राप्त शिकायतों के आलोक में त्वरित गति से कार्रवाई करते हुए खराब चापाकलों को निरंतर ठीक कराया जा रहा है।  जिलास्तर पर संचालित निदान कॉल सेन्टर का लैंडलाइन नंबर एवं व्हाट्एस नंबर है। कॉमन लैंडलाइन नंबर-06254-242199 एवं व्हाट्सएप नंबर-6204083522 तथा पीएचईडी के कंट्रोल रूम नंबर-06254-295195 पर जिलेवासी उक्त चापाकल, नल-जल से संबंधित शिकायत एवं सुझाव दर्ज करा सकते हैं। दर्ज शिकायतों एवं सुझावों पर अविलंब कार्रवाई की जायेगी। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री अनिल कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला गोपनीय शाखा, श्री बैद्यनाथ प्रसाद सहित संबंधित अधिकारी एवं अभियंता उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: