झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 18 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 18 फ़रवरी

हाईस्कूल के वि़द्यार्थियों का पहले दिन हिन्दी विषय का सरल प्रश्न-पत्र होने से छात्र-छात्राओं के खिले रहे चेहरे,

  • जिले में 49 केंद्रों पर 12 हजार 899 विद्यार्थियांे ने दी परीक्षा, 1209 छात्र-छात्राएं रहे अनुपस्थित
  • नहीं बना कोई नकल प्रकरण

jhabua news
झाबुआ। माध्यमिक शिक्षा मंडल मप्र भोपाल द्वारा आयोजित कक्षा 10वीं की परीक्षा जिले में 18 फरवरी, शुक्रवार से आरंभ हुई। पहले दिन विद्यार्थियों का सरल विषय हिन्दी का प्रश्न-पत्र होने से एग्जाम देकर केंद्रों से बाहर आने के बाद उनके चेहरे खिले नजर आए और हाठों पर मुस्कान रहीं। केंद्र के बाहर आकर छात्र-छात्राओं ने एक-दूसरे से बातचीत कर प्रश्न-पत्र में पूछे गए प्रश्नों के सहीं उत्तर को लेकर अपनी जिज्ञासाएं भी शांत की। हाईस्कूल की परीक्षा जिले में कुल 49 केंद्रों पर हो रहीं है। जिसमें 17 संवेदनशील केंद्र भी सम्मिलित है। परीक्षा का समय सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक है। कक्षा 12वीं की तरह यह परीक्षा भी आगामी 10 मार्च तक संचालित होगी। वर्तमान में संपूर्ण मप्र सहित झाबुआ जिले में भी कोविड का प्रकोप कम हो जाने से बोर्ड के अलावा लोकल परीक्षाएं भी ऑफलाईन होने से विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों में खुशी है। ऑनलाईन परीक्षा में विद्यार्थी ठीक तरीके से तैयार नहीं कर पाते है और घर पर ही हरक परीक्षा देने से उनका मन भी इधर-उधर भटकने के साथ शिक्षा के स्तर में गिरावट आती है। ऑफलाईन परीक्षा में केंद्रों में कड़ी सुरक्षा के बीच बिना नकल किए एवं कड़े अनुशासन के बीच परीक्षा होने से विद्यार्थियों में परीक्षा की तैयारी को लेकर विशेष उत्साह और रूचि रहती है और वह परीक्षा की पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ तैयारी करते है।


11960 छात्र-छात्राओं ने दी परीक्षा

जिले की समन्वयक संस्था शासकीय उत्कृष्ट उमा वि़द्यालय झाबुआ में बनाए जिला कंट्रोल रूम के प्रभारी हेमेन्द्र परमार ने बताया कि प्रथम दिन हाईस्कूल की परीक्षा में कुल 12 हजार 899 में से 11 हजार 690 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। 1209 छात्र-छात्राएं अनुपस्थित रहे। जिले में किसी भी केंद्र पर नकल प्रकरण नहीं बना। सभी स्थानों पर शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा संपन्न हुई।


विक्रम डामोर ने रायटर की मद्द से दी परीक्षा, खुशी जाहिर की

शासकीय बुनियादी हाईस्कूल सेंटर पर शासकीय हाईस्कूल बड़ा सेमलया विकासखंड झाबुआ हाथ-पैरों से हल्का पैरालिसिस से ग्रसित छात्र विक्रम पिता केकू डामोर ने अपने साथ एक रायटर (लेखक) पवन पिता जामसिंह निवासी चारोलीपाड़ा को साथ बिठाकर प्रश्न-पत्र हल किया। केकू को प्रश्न-पत्र हल करने के लिए उसकी दिव्यांगता के चलते आधे घंटे का अतिरिक्त समय केंद्राध्यक्ष की ओर से प्रदान किया गया। विक्रम डामोर ने भी प्रश्न-पत्र हल करने के बाद पर्चा अच्छा होने से प्रसन्नता व्यक्त की।


कुशाभाई ठाकरे के जन्म शताब्दी वर्ष एवं पं. दिनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि को जिला भाजपा द्वारा मनाया जा रहा संगठन पर्व के रूप में, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक ने बोरी क्षेत्र का दौरा कर बुथ कार्यकर्ताओं से की चर्चा

  • मोबाईल पर एप डाउनलोड करवाकर समिति एवं पन्ना सदस्य बनाए गए

झाबुआ। स्व. कुशाभाऊ ठाकरे के जन्म शताब्दी वर्ष एवं पं. दिनदयाल उपाध्याय की पुण्यतिथि को मप्र भाजपा के निर्देश पर जिला भाजपा द्वारा भी उत्साहपूर्वक मनाया जा रहा है। इसके तहत जिले के प्रत्येक बुथों का जिला भाजपा एवं मंडलों के पदाधिकारियों द्वारा निरीक्षण कर मोबाईल एप डाउनलोड करवाकर सदस्य बनाए जाने का कार्य जोर-शोर से जारी है। इसके साथ ही जिले के मंडल स्तरों पर समर्पण निधि एकत्रितकरण का कार्य भी चल रहा है। जानकारी देते हुए भाजपा जिला मीडिया प्रभारी योगेद्र नाहर ने बताया कि इसी क्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक 17 फरवरी, गुरूवार को बोरी क्षेत्र के दौरे पर रहे। यहां उन्होंने बोरी मंडल अंतर्गत आने वाले बुथ केंद्रांे पर पहुचंकर कार्यकर्ताओं से रूबरू हुए और उन्हें स्व. कुशाभाई ठाकरे के जन्म शताब्दी वर्ष तथा पं. दिनदयाल की पुण्यतिथि के बारे में जानकारी देते हुए आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान किया।


बुथ एवं पन्ना समिति सदस्य बनाए

इस बीच बोरी मंडल के कुंडलवासा केंद्र के ग्राम भूरछवडी में बूथ नंबर-326 पर भी भाजपा जिलाध्यक्ष श्री नायक ने पहुंचकर यहां स्वयं कार्यकर्ताओं से मोबाईल पर एप डाउनलोड करवाकर बाद यहां रतनसिंह बघेल का एप के माध्यम से फ़ोटो खींचकर बुथ समित का सदस्य बनाया एवं सुनील बघेल को पन्ना नंबर-5 का प्रमुख बनाकर बुथ विस्तारीकरण के क्षेत्र में कार्य करने तथा भाजपा की रीति-नीति और सरकार की योजनाओं को ग्रामीणों तथा जन-जन तक पहुंचाने हेतु आव्हान किया। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी श्री नाहर ने बताया कि आगामी दिनों में भी यह कार्य सत्त जारी रहेगा।


आंनगवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं की बुनियादी सुविधाआंे और अधिकारों को लेकर लामंबद हुआ मप्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका संघ

  • सभा कर एवं रैली निकालकर कलेक्टोरेट पहुंचकर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम जिला प्रशासन को सौंपा ज्ञापन
  • प्रदेश स्तरीय 8 मांगे एवं जिला स्तर की 6 मांगें रखकर निराकरण की पूरजोर मांग की

jhabua news
झाबुआ। मप्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका संघ के प्रदेश स्तरीय आव्हान पर जिला मुख्यालय झाबुआ पर 18 फरवरी, शुक्रवार को स्थानीय डीआरपी लाईन स्थित डॉ. अंबेडकर पार्क पर जिलेभर से आई आंगनाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं मिनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर जिला स्तरीय बैठक में सम्मिलित होने के बाद यहां से मांगों संबंधी नारेबाजी और संगठन का झंडा लेकर सैकड़ों कार्यकर्ता और सहायिकाओं द्वारा रैली निकाली गई। रैली के कलेक्टोरेट पहुंचने पर यहां संघ के प्रादेशिक एवं जिला पदाधिकारियों के नेतृत्व में मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन प्रेषित किया गया। गुरूवार को सुबह 10 बजे से ही जिले के विभिन्न स्थानों से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और मिनी कार्यकर्ताओं का डीआरपी लाईन स्थित अंबेडकर पार्क में एकत्रित होना आरंभ हो गया था। दोपहर 12 बजे से जिला स्तरीय सभा का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ मप्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिका संघ की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं संभाग प्रभारी श्रीमती गंगा गौयल के साथ संघ की जिला उपाध्यक्ष ज्योत्सना दीक्षित एवं जिला सह-सचिव श्रीमती बसंती भूरिया ने भगवान विश्वकर्माजी की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया।


प्रदेश के मुखिया भांजियों को कर रहे उपेक्षित

बाद अपने उद्बोधन में तीनों महिला वक्ताओं ने उपस्थित समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकओं में जोश भरते हुए कहा कि हमे अब अपने हक और अधिकारों के लिए आरपार की लड़ाई होगी। लगातार ज्ञापन, धरना-प्रदर्शन, रैली निकालने के बाद भी मप्र सरकार और जिला प्रशासन के कानो में जूं तक नहीं रेंग रहीं है। प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान अपने आपको मामा कहते है, लेकिन उनके द्वारा राज्य में भाजियों को उपेक्षित करने के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाया जा रहा है, जो अब संगठन सहन नहीं करेगा। संगठन की मांगे पूरी नहीं होने पर आगामी दिनों में सड़कों पर उतरने के साथ मप्र की राजधानी भोपाल मंे विधानसभा भवन और मुख्यमंत्री निवास का भी घेराव करने से हम नहीं चूकेंगे। नारी शक्ति जब जागृत हो गई है और अपनी मांगों तथा अधिकारों के लिए हर संभव प्रयास करेगी। इस दौरान विशेष रूप से वरिष्ठ नागरिक परिसंघ (संबद्ध - भारतीय मजदूर संघ) के जिला महासचिव जयेन्द्र बैरागी भी उपस्थित रहे। उन्होंने भी अपने उद्बोधन में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं में उत्साह का संचार किया और उनसे एकता एवं संगठन संबंधी नारे लगवाए।


विरोध रैली निकाली गई

दोपहर 2 बजे जिलेभर से बड़ी संख्या में आई समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं और मिनी कार्यकर्ताओं ने दो-दो की कतार में खड़े होकर एवं अपने हाथांे में मांगांे संबंधी नारों से लिखी तख्तीयां और झंडे लेकर रैली निकाली। रैली का नेतृत्व संघ के प्रादेशिक एवं जिला पदाधिकारियों ने किया। यह रैली नारेबाजी के साथ कलेक्टोरेट पहुंची। कलेक्टोरेट के मुख्य प्रवेश द्वार के बाहर ं सभी कार्यकर्ता और सहायिकाएं जमा हुई। जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम प्रदेश एवं जिला स्तर की समस्याओं और मांगों को लेकर अपर कलेक्टर जुवानसिंह बघेल को ज्ञापन सौंपा गया। जिसका वाचन संघ की जिला उपाध्यक्ष ज्योत्सना दीक्षित ने किया।


ग्रामीण क्षेत्रों में जमीनी स्तर पर काम किया जाता है

ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि मप्र और झाबुआ जिले में आंगनवड़ी केंद्रों पर कार्यरत कार्यकर्ता और सहायिकाएं वर्षों से विभिन्न योजनाओं में शासकीय कर्मचारियों की तरह क्रियान्वित करती आ रहीं है। कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं द्वारा शासकीय योजनाआंे में धरातल स्थल पर कार्य करते हुए टीकाकरण करवाने, पल्स पोलियो अभियान, जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र का पंजीयन करने, मतदाताओं सूची का सर्वे कर नए एवं छूटे हुए मतदाओं का नाम मतदाता सूची में शमिल करने एवं मृतकों का नाम हटवाने, आंगनवाड़ी केंद्रों पर बच्चों को प्राथमिक शिक्षा अर्जित करवाने के साथ पोषण आहार, गर्भवती, धात्री महिलाओ और किशोरी बालिकाओं को पोषण आहार तथा आयरन की गोलियां वितरित करने जैसे अनेक महत्वपूर्ण कार्य किए जाते है। जितना काम दूसरे सरकारी एवं अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों द्वारा नहीं किया जाता है, उससे कहीं ज्यादा काम आंगवाड़ियों द्वारा किया जाता है, फिर भी कोरोना यौद्धा के रूप में जमीन स्तर पर कार्य करने वाली इन कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की मप्र एवं केंद्र सरकार के साथ प्रशासन भी लगातार उपेक्षा कर रहा है, जो अब कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


प्रदेश स्तर की रखी 8 मांगे

ज्ञापन में प्रदेश स्तरीय मांगों में आंगनवाड़ी में कार्यरत बहनों को सरकारी कर्मचारी घोषित कर सामाजिक सुरक्षा दी जाने एवं उच्च श्रेणी में शामिल किया जाने, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के अंतर्गत आंगनवाड़ी केंद्रों को प्री-प्रायमरी स्कूल में बदले जाने पर उसमें कार्यरत कार्यकर्ता को प्री-प्रायमरी एवं सहायिका को प्री-प्रायमरी असिस्टेंट टीचर में शिक्षण के अनुभव के आधार उनकी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार प्रशिक्षण देकर पदोन्नत किया जाने, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाअेंा को बड़ी हुई प्रोत्साहन राशि 1500 रू. की कटोती विगत शासनकाल में कर दी गई थी, जो अभी तक निरंतर जारी है। वर्तमान शासनकानल में इस प्रोत्साहन राशि का शीघ्र भुगतान किया जाने, मप्र आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और मिनी कार्यकर्तायों की सेवा निवृत्ति पर उन्हें क्रमशः 1 लाख एवं 75-75 हजार रू. की राशि प्रदान किए जाने की पूर्व घोषणा पर तत्काल ही अमल कर सेवानिवृत्ति पर यह राशि प्रदान की जाने, मिनी आंगनवाड़ी केंद्रों में मिनी कार्यकर्ता पदस्थ है, उन्हें जनसंख्या के आधार पर पूर्ण आंगनवाड़ी केंद्र में परिवर्तित करते हुए मिनी कार्यकर्ता को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनाए जाने एवं सहायिका भी नियुक्ति भी की जाने। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के पास पहले से ही विभागीय कार्यों का अत्यधिक बोझ होनेे उनकी अन्य कार्यो में ड्यूटी नहीं लगाई जाने, आदिवासी बाहुल क्षेत्र में मोबाईल नेटवर्क की समस्या होने से पोषण ट्रेकर एप बंद तत्काल किया जाने आदि मांग रखी गई।


जिला स्तर की 6 मांगे रखी

इसके अतिरिक्त जिला स्तर की मांगों में जिले की समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और मिनी कार्यकर्ताओं को प्रतिमाह की 5 तारिख तक मानदेय एवं प्रोत्साहन राशि एकसाथ कार्यकर्ताओं के बैंक जमा हो जाने, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं पर आए दिन हमले हो रहे है, इस हेतु उन्हें सुरक्षा प्रदान करने, कार्यकर्ताओं की सेवा पर रहते हुए आकस्मिक मृत्यु दर पर कलेक्टर महोदय द्वारा सहयोग राशि परिवारजनों को प्रदान की जाने, आंगनवाड़ी केंद्र बनी पिपलीपाड़ा की सहायिका धापू भरत डामोर मार्च 2021 से अनपुस्थित है। पर्यवेक्षक द्वारा उसे संरक्षण प्रदान करते हुए घर पर ही बैठकर फोटो डालने के साथ उसकी हर माह की तनख्वाह भी निकाली जा रहीं है। उक्त सहायिका को सेवा से तत्काल पृथक किया जाए, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्वीकृत शासकीय वार्षिक अवकाश का आदेश जारी किया जाने के अलावा झाबुआ से प्रतिदिन अपडाउन कर कल्याणपुरा के ग्राम बिसौली में पदस्थ एएनएम श्रीमती प्रेमलता सोलंकी ने कोविड टीकाकरण कार्य में लगी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती हीरा परमार, केंद्र डामोर फलिया बिसौली के साथ जबरन मारपीट की एवं थाने में झूठी एफआईआर भी दर्ज करवाई। एएनएम श्रीमती प्रेमलता सोलंकी द्वारा कार्य में लापरवाही की जाती है एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाओं के साथ अभद्र व्यवहार किया जाता है। उक्त एएनएम सोलंकी को तत्काल अन्य स्थान पर स्थानित किया जाने की मांग की गई।


हाथ-पैरों में हल्का पैरालिसिस होने के बाद भी कक्षा 10वीं के छात्र विक्रम डामोर ने नहीं मानी हारी, 18 फरवरी से शुरू होने वाली हाईस्कूल बोर्ड की परीक्षा में राईटर (लेखक) के सहारे देगा एक्जाम

  • विक्रम के परिवार वाले एवं शाला प्रभारी करते है अध्ययन कार्य के लिए उसे प्रेरित

jhabua news
झाबुआ। झाबुआ विकासखंड अंतर्गत आने वाले ग्राम माकनकुई निवासी 15 वर्षीय बालक विक्रम पिता केकू डामोर, जिसे पिछले एक महीने पूर्व हाथ-पैरों में हल्का पैरालिसिस का असर होने से उसे हाथ-पैरों को उठाने में काफी परेशानी आ रहीं है, फिर भी इन परिस्थितियों को वह कड़ी चुनौती देते हुए हार नहीं मानते हुए 18 फरवरी से होने वाली हाईस्कूल की परीक्षा में सम्मिलित होने की प्रबल इच्छा रखते हुए एक्जाम में अपने साथ रायटर (लेखक) की मद्द से परीक्षा देगा। हाईस्कूल की परीक्षा 10 मार्च तक चलेगी। पूरा मामला इस प्रकार है कि मासूम बालक विक्रम मेड़ा को पिछले एक माह पूर्व अचानक से ही हाथ-पैरों में झुनझुनी होने लगी। परिवारजनांे ने जब उसका जिला चिकित्सालय में उपचार के बाद दाहौद (गुजरात) में उपचार करवाया तो चिकित्सकों ने उसके हाथ-पैरों का एक्स-रे और सीटी स्कैन करवाकर बालक को हल्का पैरालिसिस होने की जानकारी दी। विक्रम समीपस्थ ग्राम बड़ा सेमलया शासकीय हाईस्कूल में अध्ययनरत है। बालक की पढ़ाई के प्रति लगनता और मेहनतशील प्रवृत्ति हमेशा रही है। परिवार भी उसे उच्च शिक्षा ग्रहण करवाने हेतु पूरी तरह तत्पर है, ताकि उसका भविष्य संवर सके। शासकीय हाईस्कूल बड़ा सेमलया के प्रभारी बाबू भूरिया से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि विक्रम पढ़ाई में अव्वल होकर हमेशा हर कक्षाओं में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होता है। वह स्कूल का होनहार छात्र है।


एडीपीसी, संकुल प्रभारी एवं केंद्राध्यक्ष से चर्चा कर रायटर उपलब्ध करवाया

कक्षा 10वीं की परीक्षा के एक दिन पूर्व 17 फरवरी, गुरूवार को दोपहर विक्रम को मोटरसाईकिल पर लेकर उसके पिता केकू डामोर एवं शाला प्रभारी बाबु भूरिया झाबुआ पहुंचे और उसका झाबुआ में शासकीय बुनियादी हाईस्कूल सेंटर होने से बालक की उक्त समस्या से अवगत करवाया। इस संबंध में अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक ज्ञानेन्द्र ओझा, झाबुआ संकुल प्रभारी रविन्द्रंिसह सिसौदिया एवं शासकीय बालक उमा विद्यालय के वरिष्ठ व्याख्याता मुकेश जोशी तथा शासकीय बुनियादी हाईस्कूल की केंद्राध्यक्ष राजू मावी और अन्य शिक्षिकाओं से चर्चा उपरांत विक्रम को परीक्षा देने के लिए शासकीय बालक उमा विद्यालय रातीतलाई में कक्षा 9वीं में पढ़ने वाले छात्र पवन पिता जामनसिंह ग्राम चारोलीपाड़ा की व्यवस्था करवाई गई। पवन विक्रम के साथ सभी प्रश्न-पत्रों में उसके लिए लेखक का कार्य करेगा, अर्थात विक्रम प्रश्न-पत्र में प्रश्न देखकर उसका उत्तर बताएगा और पवन उसे लिखने का काम करेगा। विक्रम की हाईस्कूल परीक्षा 18 फरवरी से आरंभ होकर आगामी 10 मार्च तक चलेगी।


द्वितीय सीनियर जिला स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता का हुआ आयोजन, 28 खिलाड़ियों ने की सहभागिता, चयनित बालक-बालिकाएं आगामी 20 फरवरी को जबलपुर में होने वाली सीनियर प्रतियोगिता में लेंगे भाग

  • पुष्पमालाओं से स्वागत कर शुभकामनाएं प्रेषित की

jhabua news
झाबुआ। द्वितीय सीनियर जिला स्तरीय तीरंदाजी चयन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के कुल 28 खिलाड़ियों ने हिस्सा लेकर तीरंदाजी में अपने दम-खम का शानदार प्रदर्शन किया। इस प्रतियोगिता में इंडियन राउंड विद्या में बालक वर्ग में विभोर व्यास, अथर्व बारिया, तेजस गुप्ता एवं सिकंदर चौहान तथा बालिका वर्ग में जाहन्वी देशमुख, सलोनी भूरिया एवं तनिष्का राठौर का चयन हुआ। इसी प्रकार रिकर्व राउंड में बालक वर्ग में पंकज सिगाड़, कैलाश मेड़ा, विजय मेड़ा एवं राहुल भरिया तथा बालिका वर्ग सिया सिसौदिया और कंपाउंड राउंड में मंथन सोलंकी एवं महेंद्र भूरिया आदि चयनित हुए। चयनित समस्त खिलाड़ी 20 फरवरी, रविवार को जबलपुर में होने वाली 17वीं सीनियर प्रतियोगिता में सम्मिलित होकर अपना प्रदर्शन करेंगे।


पुष्पमाला पहनाकर स्वागत किया

इस अवसर जिला खेल अधिकारी विजयकुमार सलाम, देवश्री नाय, कालूसिंह राठौड़, जिला तीरंदाजी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष मनोज बाबेल, सचिव जयंतीलाल परमार, सह-सचिव जगदीश रावत, कोषाध्यक्ष जेवेन्द्र बोराड़े, श्रीमती कीर्तिराज गोड, उमंग सक्सेना, जवानसिंह आदि ने सभी खिलाड़ियांें का पुष्पमाला पहनाकर बधाई देते हुए सभी खिलाड़ियों को जबलपुर में भी उत्कृष्ट प्रदशन करने हेतु आशीर्वाद प्रदान किया।


पिरामल स्वास्थ्य द्वारा जिले में 100 दिन 100 जिले, टीबी एक्टिव केस फाईडिंग मुहिम की गई आरंभ, सीएमएचओ डॉ. ठाकुर एवं डीटीओ डॉ. बामनिया ने कार्यकर्ताओं को दिया प्रशिक्षण

  • गांवांे में टीबी के क्षेत्र में किया जाएगा कार्य

jhabua news
झाबुआ। पिरामल स्वास्थ्य एनजीओ देश के विभिन्न राज्यों में 100 दिन, 100 जिले टीबी एक्टिव केस फाईंडिंग मुहिम शुरू करने जा रहा है। इस कार्यक्रम के तहत जिले में भी टीबी के अत्यधिक दबाव वाले गांवों से टीबी मरीजों की खोज कर जांच एवं डॉट्स द्वारा उनका संपूर्ण इलाज किया जाएगा। इस मुहिम के अंतर्गत पिरामल स्वास्थ्य एनजीओ द्वारा जिले में अपनी टीम उतार दी गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जयपालसिंह ठाकुर तथा जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ जितेन्द्र बामनिया के मार्गदर्शन मंे टीम को प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन टेªनिंग अधिकारी प्रकाश डामोर ने किया। प्रशिक्षण वर्ग में झाबुआ जिला सुपरवाईजर जोन मंडोरिया एवं अविनाश बारिया ने अपनी कुल 14 लोगों की टीम के साथ इसका पूर्णतः प्रशिक्षण प्राप्त किया। जिसे आगामी दिनों में ग्रामों में अमल में लाकर टीबी के क्षेत्र में कार्य किया जाएगा।


राष्ट्रीय संत श्री गाड़गेजी महाराज के जन्मोत्सव पर 23 फरवरी को झाबुआ में निकाली जाएगी शोभायात्रा, माहेश्वरी धर्मशाला पर समाजजनों के लिए महाप्रसादी (भंडारा) का होगा आयोजन

  • सकल पंच रजक समाज एवं संत श्री गाड़गे बाबा जन्म महोत्सव समिति करेगी आयोजन

झाबुआ। स्वच्छ भारत अभियान के जनक एवं राष्ट्र संत की उपाधि प्राप्त श्री गाड़गेजी महाराज की आगामी 23 फरवरी को जयंती पर सकल पंच रजक समाज एव संत श्री गाड़गे बाबा जन्म महोत्सव समिति द्वारा विभिन्न कार्यक्रम किए जाएंगे। जानकारी देते हुए अखिल भारतीय रजक महासंघ की प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती चेतना चौहान ने बताया कि सकल पंच रजक समाज झाबुआ द्वारा संत श्री गाड़गे बाबा का इस वर्ष 5वां जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। जिसमें 23 फरवरी, बुधवार को सुबह 9 बजे से स्थानीय राजवाड़ा स्थित श्री देवधर्म राज मंदिर से शोभायात्रा आरंभ होगी, जो शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए दोपहर 12.15 बजे से स्थानीय कमल टॉकिज गली के समीप लक्ष्मीनारायण मंदिर, स्थित माहेश्वरी धर्मशाला पर सभी के लिए महाप्रसादी (भंडारे) का आयोजन होगा।


समाज के वरिष्ठजनों का होगा सम्मान

इस दौरान समाज के वरिष्ठजनों का सम्मान भी किया जाएगा। शोभायात्रा में सभी महिलाएं लाल एवं पुरूष सफेद रंग के वस्त्र पहनकर सम्मिलित होंगे। संपूर्ण आयोजन कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए किया जाएगा। आयोजक समाज एवं समिति ने धर्मप्रेमी जनांे से बड़ी संख्या में उपस्थित रहकर लाभ लेने की अपील की है।


आफत में राहत : मुख्यमंत्री जी मध्यप्रदेश शासन द्वारा वन क्लिक के माध्यम से फसल क्षति की राशि 18.10 लाख प्रदान किए


झाबुआ ।  माननीय मुख्यमंत्री महोदय शासन द्वारा ओलावृष्टि-बारिश से  फसल क्षति के लिए राहत राशि का वितरण 17 फरवरी को  वीडियो कांफ्रेंसिंग  में वन क्लिक माध्यम से किया। झाबुआ जिले के 29 ग्राम प्रभावित हुए थे, जिनका 61.81 रकबा ( हेक्टर में ) प्रभावित हुआ था। इसमें 323 किसानों को रुपए 18.10 लाख की राशि प्रदान की गई है। झाबुआ जिले के कृषक जिसमें उप तहसील झकनावदा एवं उप तहसील सारंगी क्षेत्र के कृषकों को यह राशि प्रदान की गई है। कृषको को यह बहुत ही बड़ी राहत राशि प्राप्त होने पर माननीय मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त किया है। कृषको में नई ऊर्जा प्राप्त हुई है। कृषकों  मे हर्ष व्याप्त है। आफत में राहत मिलने पर खुशियों की बरसात हुई है। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर  गेमावत द्वारा इन क्षेत्रों का पूर्व में सघन भ्रमण किया था। किसानों से रूबरू चर्चा की थी । फसलों का जायजा भी लिया था। फसल में  क्षति के कारण आ रही समस्याओं को ध्यान में रखते हुए निर्देश दिए थे, जो भी कृषक प्रभावित हुए हैं, उनके लिए मुआवजा की राशि का निर्धारण तत्काल किया जाए। जिसका परिणाम था कि राज्य शासन द्वारा वन क्लिक के माध्यम से जिले को एक बड़ी राशि प्राप्त हुई है।

 

अंतराष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिता की तैयार अंतिम दौर मे चंद्रशेखर आजाद स्मृति अंतरराष्ट्रीय रैपिड रेटिंग शतरंज स्पर्धा 26 से

 

झाबुआ । जिला प्रशासन झाबुआ के तत्वाधान में 26 और 27 फरवरी को स्थानीय अंबा पैलेस में प्रथम चंद्रशेखर आजाद फिडे रेटिंग रैपिड शतरंज स्पर्धा का आयोजन किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि 3 लाख रूपये प्राइज मनी की यह मध्यप्रदेश शतरंज खेल इतिहास का सर्वाधिक पुरुस्कार राशि वाली स्पर्धा होगी। मध्यप्रदेश के सुदूर आदिवासी अंचल झाबुआ में प्रतिभावान खिलाड़ियों को सुलभ अवसर एवं अंतर्राष्ट्रीय मंच प्रदाय करने कि दिशा में जिला प्रशासन की ये महत्वपूर्ण पहल है। प्रतियोगिता के संबंध में और ज्यादा जानकारी देते हुए टूर्नामेंट डायरेक्टर गौरव चतुर्वेदी ने बताया कि उक्त स्पर्धा वर्ल्ड चेस फेडरेशन, अखिल भारतीय शतरंज संघ और मध्यप्रदेश तदर्थ कमेटी द्वारा अनुमोदित है।इस स्पर्धा में खेलने वाले खिलाड़ियों को देश के माहिर खिलाड़ियों के साथ खेलने का अवसर तो मिलेगा ही साथ ही साथ इंटरनैशनल रेटिंग भी प्राप्त होगी।इस प्रकार खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने का सुनहरा अवसर मिलेगा। प्रतियोगिता के तकनीकी पक्ष के बारे में जानकारी देते हुए गौरव चतुर्वेदी द्वारा बताया गया की स्पर्धा में कुल 52 पुरुस्कार रखे गए हैं। जिसमे प्रथम 50 हजार, द्वितीय 30 हजार, तृतीय 20 हजार है। इस प्रकार अलग अलग श्रेणियों को मिलाकर कुल 52 प्राइज दिए जाएंगे। इस स्पर्धा में दिल्ली, महाराष्ट्र, बिहार, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक और देश के विभिन्न प्रांतों के नामचीन खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। प्रतियोगिता में ग्रैंडमास्टर और इंटरनेशल मास्टर के भी शिरकत करने की संभावना है। यह टूर्नामेंट विश्व शतरंज महासंघ के अधतन नियमों के आधार पर दो दिनों तक आयोजित है।प्रतियोगिता स्विस पद्धति से खेली जाएगी। जिसमे 25$10 टाइम कंट्रोल के कुल 8 राउंड होंगे। स्पर्धा की तैयारियों के संबंध में आयोजन कमेटी चेयरमैन सिद्धार्थ जैन (मुख्य कार्यपालन अधिकारी) जिला पंचायत झाबुआ द्वारा बताया गया कि झाबुआ जिले में इस तरह के अंतराष्ट्रीय आयोजन का किया जाना खेल के विकास और समृद्धि की दिशा में एक निर्णायक प्रयास है। प्रथम चंद्रशेखर आजाद मेमोरियल फिडे ओपन इंटरनेशनल रैपिड रेटिंग टूर्नामेंट अपने आप में और खास इसलिए भी है की स्पर्धा का समापन एवं पुरुस्कार वितरण चंद्रशेखर आजाद जी की पुण्य तिथि को किया जाना है। इस प्रकार आजादी के अमृत महोत्सव के दृष्टिगत देश की आजादी के नायकों को याद कर हम इस आयोजन को उत्सव रूप में भी मानने प्रयासरत हैं। उक्तर आयोजन की तैयारियों को जिला कलेक्टुर झाबुआ श्री सोमेश मिश्रा के विशेष मार्गदर्शन में अंतिम रूप दिया जा रहा है। ऑर्गेनाइजिंग कमेटी की कोऑर्डिनेटर और परहित जनसेवा संस्था झाबुआ की अध्यक्ष अर्चना राठौर ने स्पर्धा को ऐतिहासिक बताते हुए जानकारी दी कि झाबुआ जिले में इस तरह के आयोजन से स्था्निय एवं संलग्नर आदिवासी अंचल के युवा खिलाडियों  एवं  छात्र छात्राओं को राष्टीीय और अंतराष्टीलय पटल पर अपना नाम अंकित करने का यह महत्व‍पूर्ण  अवसर है, प्रतियोगिता में प्रवेश शुल्क् 1500 रूपए निर्धारित है किन्तु झाबुआ जिले के खिलाडियों हेतु प्रवेश शुल्का 800 रूपये रखा गया है।  प्रतियोगिता में प्रवेश की अंतिम तिथि 24 फरवरी 2022  है। इक्छुुक खिलाडियों से स्पर्धा  में अधिक से अधिक संख्या  में भाग लेने हेतु दुरभाष क्रमांक 9424549900 पर  सर्म्प.क किये जाने अपील की गई है।


इनका कहना है....

ऑगनाइजिंग कमेटी के चेयरमेन श्री सिद्धार्थ जैन ने बताया कि शतरंज स्पर्धा के माध्यिम से जिला प्रशासन खेल प्रतिभाओं  को स्थाानीय स्तगर पर अंतर्राष्ट्रीमय मंच प्रदाय कर झाबुआ जिले को खेल जगत के राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय पटल पर पहचान दिलाये जाने प्रयत्नरत है।

 

 ग्राम पंचायत कालाखुट के सचिव को निलंबित किया गया


झाबुआ। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा कार्यालय आदेश दिनांक 15 फरवरी को श्री उदय परमार सचिव ग्राम पंचायत कालाखुट जनपद पंचायत झाबुआ को ग्राम पंचायत मुख्यालय पर नियमित रूप से उपस्थित नहीं रहने, पूर्व पदस्थी ग्राम पंचायत कुण्डला का दस्तावेज/अभिलेख प्रभार नहीं सौंपने, वरिष्ठ कार्यालय के निर्देशों की अवहेलना करने, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत स्वीेकृत आवासों को पूर्ण नहीं कराने मनरेगा के तहत लेबर बजट की पूर्ति नहीं करने, लक्ष्य अनुसार श्रमिक नियोजन नहीं करने तथा विगत पांच दिवस में श्रमिक नियोजन शून्य करने आदि कृत्य के कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया था जिसका उत्तर संतोषजनक एवं समाधान कारक नहीं होने से श्री परमार को मध्यप्रदेश पंचायत सेवा (ग्राम पंचायत सचिव भर्ती और सेवा शर्ते) नियम- 2011 कण्डिका (7) के प्रावधान के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाकर मुख्यालय जनपद पंचायत झाबुआ किया गया है । श्री परमार को निलंबन अवधी में भत्ते की पात्रता अर्जित रहेगी।

 

ग्राम पंचायत बामनिया के सचिव को निलंबित किया गया

 

झाबुआ। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा कार्यालय आदेश दिनांक 15 फरवरी को श्री मुन्ना अरड़ सचिव ग्राम पंचायत बामनिया जनपद पंचायत पेटलावद को ग्राम पंचायत मुख्यालय पर नियमित रूप से उपस्थित नहीं रहनेे, वरिष्ठ कार्यालय के निर्देशों की अवहेलना करने, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत स्वीेकृत आवासों को पूर्ण नहीं कराने मनरेगा के तहत लेबर बजट की पूर्ति नहीं करने, लक्ष्य अनुसार श्रमिक नियोजन नहीं करने आदि कृत्य के कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया था जिसका उत्तर संतोषजनक एवं समाधान कारक नहीं होने से श्री अरड़ को मध्यप्रदेश पंचायत सेवा (ग्राम पंचायत सचिव भर्ती और सेवा शर्ते) नियम- 2011 कण्डिका (7) के प्रावधान के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाकर मुख्यालय जनपद पंचायत पेटलावद किया गया है । श्री अरड़ को निलंबन अवधी में भत्ते की पात्रता अर्जित रहेगी।

 

कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह राशि का वितरण, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद द्वारा 6 प्रकरणों में स्वीकृती प्रदान की

 

झाबुआ। कलेक्टर श्री सोेमेश मिश्रा के आदेशानुसार कोविड-19 संक्रमण से मृत्यु पर अनुग्रह की राशि न्यायालय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद श्री शिशिर गेमावत के द्वारा श्री मुलचंद पिता नानाजी राठौर की मृत्यु कोविड-19 के कारण होने पर मृतक के वैध वारिसान पत्नि श्रीमती मैना बाई निवासी ग्राम रूपगढ़ तहसील पेटलावद को 50 हजार रूपए अनुग्रह राशि प्रदान की गई है। इसी तरह स्व. श्री पंकज पिता नटवलाल गुर्जर की मृत्यु कोविड-19 संक्रमण होने के कारण मृतक की वैध वारिसान पत्नि श्रीमती सुनिता निवासी पेटलावद तहसील पेटलावद को 50 हजार रूपए की अनुग्रह राशि प्रदान की गई है। इसके अतिरिक्त स्व. श्री रमेशचंद्र पिता प्यारेलाल की मृत्यु कोविड-19 संक्रमण से होने के कारण मृतक की वैध वारिसान पत्नि श्रीमती भावना को 50 हजार रूपए अनुग्रह राशि प्रदान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त स्व. श्री नरेन्द्र पिता श्री शंकरलाल गेहलोत की मृत्यु कोविड-19 संक्रमण से होने के कारण मृतक की वैध वारिसान पत्नि श्रीमती सीमा निवासी बामनिया को 50 हजार रूपए अनुग्रह राशि प्रदान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त स्व. श्रीमती धापूबाई पति गोवर्धनलाल वर्मा की मृत्यु कोविड-19 संक्रमण से होने के कारण मृतक की वैध वारिसान पति श्री गोवर्धनलाल निवासी ग्राम गोदडिया को 50 हजार रूपए अनुग्रह राशि प्रदान किए गए हैं। इसके अतिरिक्त स्व. श्रीमती सोनिया पति संजय कुमार भंडारी की मृत्यु कोविड-19 संक्रमण से होने के कारण मृतक की वैध वारिसान पूत्र श्री प्रतिक पिता संजय कुमार निवासी पेटलावद को 50 हजार रूपए अनुग्रह राशि प्रदान किए गए हैं। सभी को यह राशि उनके बैंक खातों में जारी करने की स्वीकृति दिनंाक 17 फरवरी 2022 को की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं: