विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 21 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 21 फ़रवरी 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 21 फ़रवरी

सोमू रघुवंशी बने बाल कांग्रेस के कैप्टन


vidisha news
विदिशाः- मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने चाचा नेहरू के सपनों के अनुरूप भारत देश के निर्माण में युवाओं के अच्छे नागरिक बनकर योगदान देने के उद्देश्य से 16 से वर्ष 20 वर्ष के किशोरों को पार्टी से जोड़ने के लिए मध्यप्रदेश में बाल कांग्रेस का गठन किया गया है। इसमें 16 से 20 वर्ष के छात्र शामिल होंगे। संगठन विस्तार हेतू विधायक शशांक भार्गव की अनुशंसा पर प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के निवास पर मढीपुर के सोमू रघुवंशी को विदिशा विधानसभा क्षेत्र का कैप्टन मनोनीत किया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, प्रभारी बाला बच्चन, एन पी प्रजापति, प्रदेश कैप्टन लक्ष्य गुप्ता ने सोमू को नियुक्ति पत्र सौंपा। सोमू रघुवंशी को बाल कांग्रेस का कैप्टन नियुक्त होने पर बाबूलाल वर्मा,नंदकिशोर शर्मा,अजय कटारे,नरेंद्र रघुवंशी, दीवान किरार,प्रियंका किरार,गौरव दांगी,डॉ शिवराज पिपरोदिया,वैभव भारद्वाज, संयोग जैन,सुमित वैद्य,संतोष गुर्जर,देवेंद्र दांगी,नवीन श्रीवास्तव आदि ने बधाई देते हुए विधायक शशांक भार्गव सहित वरिष्ठ नेतृत्व का आभार व्यक्त किया है। 


मुख्यमंत्री ने बेटे को डेरी खुलवाई लेकिन विदिशा के बेरोजगारों की कोई फिक्र नहीं - विधायक शशांक भार्गव


vidisha news
विदिशाः- विधायक शशांक भार्गव आपका विधायक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत प्रशासनिक अमले के साथ ग्राम उदयगिरि, सुनपुरा, माधोपुरा, विघन, ग्रंट, करैया हवेली,सुआखेड़ी पहुंचे जहां चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। ग्राम उदयगिरि में निर्माणाधीन नल जल योजना के माध्यम से घर तक कनेक्शन देने के सम्बंध में विधायक भार्गव ने विभाग को निर्देश दिये। बरबटपूरा मंदिर के पास एवं उदयगिरि में हैडपम्प खराब था जिसे ठीक करने के लिए विभाग को निर्देश दिए। ग्राम माधोपुर में आंगनबाड़ी केंद्र नही जिसके, जिसकी स्वीकृति के लिए सबंधित विभाग के से स्वीकृति कराने का आश्वासन दिया। माधोपुर शमशान से ग्रंट तक जाने वाले रास्ते का सीमांकन करने एवं स्वास्थ्य केंद्र के लिए जगह आवंटन के लिए पटवारी को निर्देशित किया। ग्राम विघन में नल जल योजना का कार्य धीमी गति से चल रहा है, मौके से ही विभाग को सूचित करके कार्य मे तेजी लाने के निर्देश दिए। ग्राम करैया हवेली में पशु चिकित्सालय स्वीकृत है भूमि आवंटित कर नौइयत परिवर्तन के निर्देश दिए।ग्राम सुआखेड़ी में अजा बस्ती में पानी की समस्या बताई गई।ग्राम सुआखेड़ी में हैडपम्प में मोटर डलवाने के लिए विभाग को निर्देश दिए।बस्ती में आवागमन की समस्या दूर करने के लिए सड़क डलवाने के लिए ग्राम सचिव को निर्देश दिया। ग्रामीणों ने अवगत कराया कि सचिव अनुपस्थित रहता है और मनरेगा कार्यों की जांच कराने के लिए पत्र लिखा जाएगा ताकि सत्यता सामने आ सके। शंकर जी के मंदिर के पास स्कूल वाले बोर में पाइप लाइन डालने के लिए सचिव से स्टीमेट तैयार करने के निर्देश दिए। अजा बस्ती में पाइप लाइन डलना है, पंचायत के पास राशि है जिससे उक्त कार्य को कराए जाने के निर्देश सचिव को दिए ग्राम चौपालों को संबोधित करते हुए विधायक शशांक भार्गव ने कहा उदयगिरि का नाम दुनिया में मशहूर है लेकिन उदयगिरि और आसपास के गांवों की हालत खराब है।विधायक भार्गव ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इसी क्षेत्र के किसान हैं उन्होंने करोडों रुपए खर्च करके डेरी खोलकर अपने बेटे को तो रोजगार से लगा दिया लेकिन इस क्षेत्र के युवाओं को रोजगार देने की कोई योजना नहीं बनाई।आज भी उदयगिरि, सुनपुरा, माधोपुरा के युवा बेरोजगारी की मार से बचने के लिए मजदूरी करने को विवश हैं। वरिष्ठ नेता मजीद मंसूरी,विधायक प्रतिनिधि नरेंद्र रघुवंशी  ने कहा कि मुख्यमंत्री चाहते तो इस क्षेत्र का समग्र विकास हो सकता था लेकिन उन्होंने इस क्षेत्र के लोगों का इस्तेमाल सिर्फ वोटों के लिए किया। इस अवसर ग्राम चौपालों को बाबूलाल वर्मा,अजय कटारे,दीवान किरार,विक्रम राजपूत,वीरेंद्र राजपूत,मनोज कुशवाह,परमाल सिंह,चंदर राजपूत आदि ने भी संबोधित  किया। इस अवसर पर कोमल जाटव,शहजाद खां,राजकुमार डिडोत,सोनू राजपूत,धर्मेंद्र जादौन, अमित सोनी,विनोद राजपूत, खिलान सिंह शाक्य,मुआज़ कामिल,अवधेश प्रताप सिंह,हरिओम किरार,शंकर सिंह तोमर सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।  


385 जीआरएस को आईडी पासवर्ड जारी


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज टीएल बैठक में आयुष्मान कार्ड के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले में 9 लाख से अधिक नागरिकों को आयुष्मान कार्ड जारी किए जाने हैं। इस कार्य में जिला पिछड़े न इसके लिए जिले में पदस्थ 385 जीआरएस को आईडी पासवर्ड जारी किए गए हैं। प्रत्येक कार्ड को बनाने के उपरांत पांच रूपये जीआरएस के शासन के नियमानुसार प्रदाय किए जाएंगे। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि ग्राम विकास की जीआरएस केन्द्र धूरी है। हर कार्य की जानकारी बेव पोर्टल पर दर्ज कराने हेतु जीआरएस को दायित्व सौंपे गए हैं। उनके कार्यो में ग्राम स्तरीय अन्य अमला सहयोगप्रद कर रहा है। उन्होंने आयुष्मान कार्ड के लक्ष्यपूर्ति हेतु समयावधि में कार्ड जारी कर हितग्राहियों को इलाज के दौरान लाभ मिल सके पर विशेष बल दिया है। गौरतलब हो कि आयुष्मान कार्ड धारक हितग्राही को पांच लाख रूपये तक का निशुल्क इलाज की सुविधा मुहैया की जाती है। 


सीएम हेल्पलाइन, फरवरी की शिकायतों के निराकरण पर बल


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अब प्रत्येक विभाग फरवरी माह की दर्ज शिकायतों के निराकरण पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने जिले में सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों का निराकरण हेतु किये गए प्रयासों पर संतोष जाहिर करते हुए उन्होंने यह गति बनाये रखने पर बल दिया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के ऐसे विभाग जो प्रदेश स्तरीय जारी सूची में सी और डी ग्रेड में शामिल हैं उन विभागों के अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही हेतु अर्धशासकीय पत्र तैयार कर विभाग प्रमुख को प्रेषित करने के निर्देश सीएम हेल्पलाइन की जिला नोडल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग को दी है। कलेक्टर श्री भार्गव ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक के दौरान समस्त एसडीएम और तहसीलदारों को भी सीएम हेल्पलाइन के निराकरण के संबंध में विशेष ध्यान देते हुए कार्यों का समयसीमा में सम्पादन कराने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब हो कि जिले में फरवरी माह में सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से अब तक कुल 2710 आवेदन दर्ज हुई हैं। इन आवेदनों का निराकरण संतुष्टिपूर्वक कराने पर जिले के साथ-साथ विभाग के वेटेज में बढ़ोत्तरी होगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीएम और तहसीलदार को निर्देश दिए हैं कि राजस्व संबंधी समस्याओं का निराकरण समय-सीमा में कराया जाना सुनिश्चित करें। यदि इस कार्य में लापरवाही प्रदर्शित हुई तो संबंधित एसडीएम एवं तहसीलदार का वेतन आहरण नही करने के निर्देश जिला कोषालय अधिकारी को दिए हैं। 


सभी एसडीएम विकास कार्यों की समीक्षा करें- कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने वीसी के माध्यम से आयोजित समीक्षा बैठक में समस्त एसडीएम को निर्देश दिए हैं कि अनुविभाग स्तरीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक स्थानीय विधायक की अध्यक्षता में प्रत्येक तीन माह में आयोजित किया जाना अनिवार्य है। अतः जिन एसडीएम के द्वारा उपरोक्त बैठक का आयोजन नहीं किया गया है वे शीघ्र-अतिशीघ्र आयोजित कर की गई कार्यवाही से जिला कार्यालय को अवगत कराएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने बैठक आयोजन की तिथि और ऐजेण्डा की समुचित जानकारी स्थानीय विधायक के साथ-साथ अन्य जनप्रतिनिधियों को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसके अलावा इस बैठक में अन्य विभागों के कार्यों की भी समीक्षा करें। खासकर ऐसे मुद्दे जिनका निराकरण अनुविभाग स्तर पर संभव है। उन मामलों का निराकरण शत-प्रतिशत कराया जाना सुनिश्चित हो।


विकास कार्यों की समीक्षा


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के उपरांत विदिशा जिले के अन्तर्गत आने वाले समस्त विकासखण्डों के एसडीएम एवं समस्त जनपदों के सीईओ की बैठक वीसी के माध्यम से आयोजित कर सम्पादित कार्यों सहित सीएम हेल्पलाइन के लंबित आवेदनों की समीक्षा की। कलेक्टर श्री भार्गव ने सीएम हेल्पलाइन के तहत निराकरण करने की कार्यवाही में कोताही बरतने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही के प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि पीएम आवास योजना के तहत समय सीमा में आवास पूर्ण किए जाएं। इसके अलावा उन्होंने निर्देशित किया है कि आगामी बैठक के पूर्व सभी जनपदों में अधिक से अधिक आवास पूर्ण कराए जाएं। इसके अलावा कलेक्टर श्री भार्गव ने पात्रता पर्ची के प्रकरणों में भी क्रियान्वित कार्यों का विशेष ध्यान देने हेतु निर्देशित किया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीएम को आगामी मेलों को ध्यानगत रखते हुए तैयारियों को अंतिम रूप देने से पहले बैठक अनिवार्य रूप से आयोजित की जाए और इन बैठकों में विधायकों के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों को आवश्यक रूप में आमंत्रित किया जाए। इसके अलावा समर्थन मूल्य पर गेहूं, चना, मसूर खरीदी के लिए किए जाने वाले प्रबंधों के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने प्रदेशव्यापी पौधरोपण कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि एक से पांच मार्च तक पूरे विदिशा जिले में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। रोपित किए गए पौधों की जानकारी वायुदूत एप्प पर दर्ज करनी है ताकि प्रदेश स्तरीय ऑनलाइन मॉनिटरिंग कार्यों में विदिशा जिला अव्वल रहे। उपरोक्त समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृन्दावनसिंह ने सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण हेतु किन-किन बिन्दुओं पर विशेष ध्यान दें, जबाव कैसे दाखिल हो, आवेदक से वार्तालाप कैसे करें, समस्याओं के निराकरण हेतु किए जाने वाले प्रबंध इत्यादि के बारे में गहन प्रकाश डाला है।  


नीति आयोग से प्राप्त आठ करोड़ राशि जारी


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान बताया कि नीति आयोग द्वारा जारी की गई आठ करोड़ की राशि प्राप्त हुई है। उपरोक्त राशि में से स्वास्थ्य संबंधी निर्धारित पैरामीटरों के क्रियान्वयन हेतु पांच करोड़ रूपये तथा शहरी क्षेत्रों में 32 आंगनबाड़ी केन्द्रों में तीन करोड़ रूपये की राशि जारी की गई है। कलेक्टर श्री भार्गव ने आंगनबाड़ी निर्माण एजेन्सी के पीआईयू के जिला प्रबंधक को निर्देश दिए हैं कि निकाय क्षेत्रों में बनने वाली आंगनबाड़ी केन्द्र भवनों के लिए जो भूमि आवंटित की गई है। उस पर निर्धारित नक्शे के अनुसार लेयआउट डालकर कार्य कराना शुरू किया जाए। उन्होंने कार्य पूर्ण गुणवत्ता के साथ समय सीमा में कराए जाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि स्वास्थ्य और आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए जारी होने वाली उपरोक्त राशि से सम्पादित होने वाले कार्यों का नीति आयोग के प्रतिनिधियों द्वारा जायजा लिया जाएगा। अतः स्वास्थ्य के तहत संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए चिन्हित किए गए कार्यों का भी शीघ्र-अतिशीघ्र कराया जाना सुनिश्चित हो। उपरोक्त कार्यों में किसी भी प्रकार से बिलम्व न हो कि जबावदेंही सम्बंधित एजेन्सी को सौंपी गई हैं। 


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, समायोजन कर बीमा की पूर्ण राशि लौटाने की प्रक्रिया क्रियान्वित


जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित विदिशा के सीईओ श्री विनय प्रकाशसिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांन्तर्गत खरीफ 2020 की क्लेम राशि बीमा कंपनी द्वारा सीधे कृषकों के खातों में जमा कराई जा रही है। चूंकि खरीफ ऋण चुकौती की ड्यू डैट खरीफ फसलों के बाजार में आने से लेकर अंतिम दिनांक 28 मार्च निर्धारित है। इस कारण उक्त राशि को कृषकों के द्वारा लिए गये कर्ज के विरूद्ध समायोजित किया जा रहा है। समायोजन उपरांत समस्त ड्यू कृषकों की जो भी लिमिट निकल रही है। उस किसान को पात्रता अनुसार नया केसीसी ऋण तीन-पांच दिन में वितरित कर दिया जाएगा। सीईओ श्री सिंह ने बताया कि उक्त वितरण में ड्यू कृषकों को बीमा कंपनी से प्राप्त फसल बीमा क्लेम की पूर्ण राशि वापिस कर दी जावेगी। साथ ही कृषकों की यह मांग भी रहती है कि रबी फसल 28 मार्च तक तैयार होकर बाजार में विक्रय नहीं हो पाती है। इस कारण ड्यू डेट को 28 मार्च से बढ़ाकर 15 जून किया जाावे। अतः कृषक कालातीत न हो एवं उन्हें शासन की महत्वपूर्ण शून्य प्रतिशत योजना का लाभ मिलता रहे को दृष्टिगत रखते हुए खरीफ 2020 की प्राप्त फसल बीमा की राशि का समयोजन किया जाकर प्राप्त फसल बीमा की पूर्ण राशि कृषकों को वापिस की जा रही है। जिससे कृषकों की ऋण की चुकौती दिनांक 28 मार्च से बढ़कर 15 जून हो जावेगी। इस स्थिति में कृषक के कालातीत नहीं होने की महत्वपूर्ण शून्य प्रतिशत योजना का लाभ भी जारी रहेगा।  


मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना सहायता राशि के सहमति पत्र प्राप्त करें


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना अन्तर्गत सहायता राशि के लिए सहमति पत्र प्राप्ति के उपरांत शीघ्र-अतिशीघ्र राशि जारी करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब हो कि ऐसे बच्चे जितने माता-पिता कोविड-19 से दिवंगत हुए हैं। उन बच्चों के अभिभावकों अथवा उनसे सहमति प्राप्त कर अनुग्रह सहायता राशि जारी की जानी है। जिले में अनुग्रह सहायता राशि के कुल 49 प्रकरण सहमति पत्र प्राप्ति न होने के कारण लंबित हैं जिसमें सबसे ज्यादा बासौदा विकासखण्ड में 16, विदिशा में 14 तथा ग्यारसपुर, लटेरी व कुरवाई सहित प्रत्येक में क्रमशः चार-चार सिरोंज में तीन तथा नटेरन विकासखण्ड में दो प्रकरण लंबित हैं।


कलेक्टर श्री भार्गव की पहल पर महिलाओं ने आंगनबाड़ी गोद ली


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की पहल पर विदिशा जिले में एक-एक आंगनबाड़ी केन्द्र गोद लेने हेतु अडाॅप्ट आंगनबाड़ी कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसके तहत आंगनबाड़ी केन्द्र गोद ली जा रहीं हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा अधिकारियों, कर्मचारियों सहित सामाजिक संगठनों से भी आंगनबाड़ी केन्द्रों को गोद लेने के लिए नवाचार किया गया था। इसी क्रम में आज सोमवार को तीन आंगनबाड़ी केन्द्रों को गोद लिया गया है। अडाॅप्ट आंगनबाड़ी कार्यक्रम अन्तर्गत आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 35/150 को गायत्री परिवार की उमा श्रीवास्तव, आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 35/76 को गुरूदेव श्री विद्यासागर महाविद्यालय की प्रोफेसर श्रीमती प्रिया शर्मा एवं आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 35/76 को गल्र्स स्कूल की रिटायर्ड टीचर श्रीमती इंद्रा पुरी ने गोद लिया है। उक्त कार्यक्रम हीरापुरा स्थित आंगनबाड़ी में सम्पन्न हुआ। साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्र गोद लेने के साथ ही इन महिलाओं के द्वारा आंगनबा़ड़ी केन्द्रों को फिल्टर वाॅटर मशीन, स्टेशनरी की सामग्री एवं कुर्सियां प्रदाय की गई हैं। इस अवसर पर सुपरवाईजर श्रीमती प्रज्ञा पटेल, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता श्रीमती दुर्गेश यादव, माजिदा खान, प्रीति रैकवार सहित आंगनबाड़ी केन्द्र के बच्चे सहित अन्य लोग उपस्थित रहे। 


पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना, पात्र परिवारों दालों का वितरण


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं आत्मनिर्भर भारत योजना अन्तर्गत शेष बची दाल के वितरण के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए हैं। कलेक्टर द्वारा जारी पत्र में कहा गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना एवं आत्मनिर्भर भारत योजना अन्तर्गत आवंटित दालों में से पात्र परिवारों को वितरण के पश्चात उचित मूल्य दुकानों एवं प्रदाय केन्द्रों पर शेष बची दालों (चना सहित) का वितरण किया जाना है। शेष बची दाल का वितरण आईसीडीएस अन्तर्गत संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र में दर्ज हितग्राही के मान से प्रति हितग्राही को एक किग्रा के मानसे वितरण किया जाएगा। कलेक्टर श्री भार्गव ने महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्देश दिए हैं कि अधीनस्थ पर्यवेक्षकों के माध्यम से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देशित करें कि वह आंगनबाड़ी केन्द्र में दर्ज हितग्राहियों की सूची स्व सहायता समूहों को उपलब्ध कराकर अपने क्षेत्र की उचित मूल्य की दुकान से शेष बची दालों (चना सहित) का उठाव कर प्रति हितग्राही को एक किग्रा के मान से दाल/चना का वितरण हितग्राहियों को कराया जाना सुनिश्चित  किया जाए।


अंतराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस का आयोजन


vidisha news
शासकीय कन्या (अग्रणी) स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा में अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस मनाया गया। इस अवसर पर मातृभाषा और उसके महत्त्व विषय पर व्याख्यान आयोजित किया गया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने मातृभाषा की अहमियत पर ध्यान दिलाते हुए कहा कि सभी के लिए उसकी मातृभूमि खास होती है। वह उसकी अपनी पहचान होती है। इसलिए इसके प्रति हमें कृतज्ञ रहना चाहिए। महाविद्यालय की प्राध्यापक डॉ ओजस्विनी जौहरी ने मातृभाषा को गर्व का विषय बताते हुए कहा कि किसी भी मंच से इसे बोलने में हमें कोई झिझक नहीं होनी चाहिए। अस्मुरारी नंदन मिश्र ने मातृभाषा के रूप, उपयोगिता और महत्त्व पर विस्तार से बात की। उन्होंने छोटी-छोटी कहानियों के माध्यम से बताया कि मातृभाषा से हम किस तरह का जुड़ाव महसूस करते हैं। हम जब भावुक होते हैं, तो सबसे अधिक मां और मातृभाषा के निकट हो जाते हैं। डॉ ज्योति मिश्रा ने वक्ताओं को धन्यवाद देते हुए मातृभाषा दिवस आयोजन के पीछे के कारणों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संयोजन प्राध्यापक किरण जैन एवं संचालन श्री रवि रंजन ने किया। इस अवसर पर डॉ सीमा चक्रवर्ती, डॉ विनिता प्रजापति, डॉ मलखान सिंह के साथ महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक एवं छात्राएं उपस्थित रहीं। 


स्वास्थ्य कार्यों का जायजा


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने आज ग्यारसपुर विकासखण्ड में संचालित स्वास्थ्य कार्यों का जायजा लिया है। खण्ड मुख्यालयों पर आयोजित उपरोक्त बैठक में स्वास्थ्य गतिविधियों तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की अद्यतन जानकारियां उनके द्वारा प्राप्त की गई हैं। सीएमएचओ डॉ एपीसिंह ने कहा कि ग्यारसपुर क्षेत्र की स्वास्थ्य संस्थाओं में डिलेवरी पॉइंट संचालित किए जाने हैं। इसके लिए आवश्यक उपकरण व अन्य सामग्री की पूर्ति नीति आयोग के द्वारा मुहैया कराइ गई राशि से कराई जा रही है। उन्होंने स्वास्थ्य गतिविधियों के बेहतर क्रियान्वयन कर क्षेत्र में पदस्थ चिकित्सक अपने उच्च कार्यों से जाने जाएं। उपरोक्त बैठक में जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा ने विभिन्न प्रकार के टीकाकरणों के क्रियान्वयन पर बल दिया। उन्होंने कहा कि संस्थाओं में, आंगनबाड़ी केन्द्रों में आयोजित होने वाले टीकाकरण सत्रों में एक भी टीकाकरण से वंचित न रहे के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। डीपीएम श्री आशुतोष घुटे ने विभिन्न प्रकार के राष्ट्रीय कार्यक्रमों की उपलब्धियों का ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज कराने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि धरातल स्तर पर यह कार्य होने के उपरांत उसे ऑनलाइन दर्ज करना अति आवश्यक है। ताकि जिले की प्रोगे्रस में वृद्धि परिलीक्षित हो। डाटा एंट्री में यदि कहीं किसी को दिक्कत आती है तो सीएमएचओ कार्यालय में पदस्त डाटा ऑपरेटरों से संपर्क कर समाधान प्राप्त करें। जिला क्षय अधिकारी डॉ पुनीत माहेश्वरी डीसीएम डॉ राकेश कुमार पंथी द्वारा ग्यारसपुर ब्लॉक में उपस्वास्थ्य केन्द्रवार राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम की समीक्षा बैठक कर लक्ष्य के विरुद्ध जिन उप स्वास्थ्य केंद्र की उपलब्धि कम परिलीक्षित होने पर संबंधितों को लक्ष्यपूर्ति हेतु निर्देश दिए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: