विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 फ़रवरी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 10 फ़रवरी 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 फ़रवरी

विधायक भार्गव के प्रयासों से खेजड़ा पडरात को मिली पंचायत भवन की सौगात


vidisha news
विदिशाः- आपका विधायक आपके द्वार कार्यक्रम के तहत विधायक शशांक भार्गव ने प्रशासनिक अमले के साथ ग्राम खेजड़ा पडरात, नांदोर,रमगढ़ा का दौराकर सीधे जनता से मूलभूत समस्याएं सुनीं। विधायक भार्गव एवं जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि राकेश कटारे ने ग्रान खेजड़ा पड़रात में 20 लाख रुपए की लागत से निर्मित होने वाले पंचायत भवन का भूमिपूजन किया। विद्युत समस्या के हल के लिए विधायक भार्गव ने घोषणा की अगर ग्रामवासी आपसी सहमति से सौ विद्युत कनेक्शन लेते हैं तो विधायक निधि से 25 केवीए का ट्रांसफार्मर स्थापित करवा दिया जाएगा साथ ही आवास योजना बस्ती में बिजली के पोल लगवा दिए जाएंगे। शमशान घाट की भूमि का सीमांकन कर अतिरिक्त भूमि खेल मैदान के लिए आवंटित करने के निर्देश पटवारी को दिए। ग्राम नादौर में ग्रेवल सड़क का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।पंचायत निधि से 300 मीटर की सीसी सड़क निर्माण के निर्देश सचिव को निर्देश दिए। पटवारी को शमशान घाट की भूमि एवं पुरे गांव की सभी सड़को का सीमांकन कराने के निदेश दिए। विधायक निधि से तालाब की तरफ 5 विद्युत पोल लगाने के कार्य की स्वीकृति दी। ग्राम रामगढ़ में नौलास जाने वाली सड़क का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।  ग्रामवासियों की मांग थी मुक्तिधाम की वर्तमान जगह बदलने की मांग की विधायक भार्गव ने पटवारी को निर्देश दिया कि दूसरी जगह मुक्तिधाम बनाने का प्रस्ताव बना कर सूचित करें।युवाओं की मांग पर खेल मैदान की जगह तलाशने के निर्देश पटवारी को दिए। ग्राम खेजड़ा पडरात में ग्राम चौपाल को संबोधित करते हुए विधायक शशांक भार्गव ने कहा खेजड़ा पडरात के मतदाताओं ने हमेशा उन्हें आशीर्वाद दिया है।हमारा भी फर्ज था खेजड़ा में विकास कार्यों की सौगात दें।27 सालों से खेजड़ा को पंचायत भवन नहीं मिल पाया था आज 20 लाख की राशि से बनने जा रहे पंचायत भवन की शुरुआत हुई है। 89.17 लाख की राशि से नलजल योजना मंजूर कराई जिसका कार्य प्रगति पर है। मूडराघाट पर पुलिया निर्माण करवाया।उप स्वास्थ्य केंद्र में प्रसूति उपकरण उपलब्ध करवाए अब पैथोलॉजी जांच भी उप स्वास्थ्य केंद्र में हो सकेंगी।आगे भी खेजड़ा पडरात के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि राकेश कटारे विधायक प्रतिनिधि बाबूलाल वर्मा ने कहा कि विधायक जी के प्रयासों से कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में गौशाला के निर्माण के लिए 32 लाख रुपए की राशि मंजूर कराई थी लेकिन शासकीय भूमि पर अतिक्रमण होने के कारण भाजपा सरकार ने इसके निर्माण कार्य पर रोक लगवा दी है। इस अवसर ग्राम चौपालों को पूर्व सरपंच नंदकिशोर शर्मा,अजय कटारे,दीवान किरार,गौरव दांगी,संतोष गुर्जर,सुरेंद्र लोधी,चंद्रपाल रघुवंशी, महेंद्र रघुवंशी, मलखान मीणा, मनोज कुशवाह, भूपेंद्र रघुवंशी,लालू लोधी आदि ने भी संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस परिवार के लोग खेजड़ा पडरात की जनता के सुख दुख में सदैव साथ खड़े रहेंगे। इस अवसर पर सरपंच प्रतिनिधि बृजेश लोधी,अनिल लोधी,शेरा मालवीय,मुआज़ कामिल,मनीष विश्वकर्मा,हरिओम किरार,सोमू रघुवंशी सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।


संविदा सेवा समाप्ति का आदेश


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा जिला पंचायत सीईओ के प्रतिवेदन पर ग्राम पंचायत सेमरी अहीर के रोजगार सहायक श्री सुनील मरोठिया की संविदा सेवाएं समाप्त करने का आदेश जारी कर दिया है। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट को ग्राम मुस्कुरा, सेमरा अहीर, तिलोनी झुकरजोगी, सेमरा मेघनात ग्रामों के भ्रमण के दौरान स्थानीय नागरिकों ने अवगत कराया। प्राप्त शिकायतों की जांच अनुसार मनरेगा अंतर्गत षडयंत्र पूर्वक तथा कूटरचित तरीकों से मजदूरी राशि निकालकर व्यापक रूप से वित्तीय अनियमितता उजागर हुई हैं को संज्ञान में लेते हुए कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा कार्यवाही संपादित की गई है।


सीएम हेल्पलाईन आवेदनों के निराकरण नवाचार से फायदा


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बुधवार को विभिन्न विभागों में सीएम हेल्पलाइन के लंबित आवेदनों के निराकरण हेतु की गई कार्यवाही की गहन समीक्षा की। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जिले की प्रत्येक तहसील में मंगलवार को जनसुनवाई कार्यक्रम के साथ-साथ सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों का निराकरण कराने हेतु शिविरों के आयोजन संबंधी नवाचार के सापेक्ष परिणाम परिणीत हुए हैं। उन्होंने कहा कि तहसील स्तर पर आयोजित होने वाले इस प्रकार के शिविरों का फायदा आवेदकों के साथ-साथ विभागों को हुआ है। शिविर में संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा शिकायत आवेदकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराई जा रही है। जिनसे एसडीएम व विभाग के अधिकारी प्रत्यक्ष रूप से संवाद कर समस्याओं के समाधान हेतु पहल कर रहे हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि विदिशा जिले में प्रत्येक विभाग के निराकरण का वेटेज प्रतिशत 40 से कम न हो। इस ओर सभी विभाग ध्यान देंगे। समीक्षा बैठक में प्रत्येक विभागवार लंबित आवेदनों की जानकारी वहीं निराकरण के लिए की गई कार्यवाही, शिकायत के परिपेक्ष्य में निराकरण का जबाव दाखिल किया गया कि नहीं, एल-1 स्तर पर निराकरण का प्रतिशत इत्यादि की समूचित जानकारी पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से प्रस्तुत की गई। समीक्षा बैठक में विदिशा एवं बासौदा तथा नटेरन एसडीएम ने अपने अनुविभाग क्षेत्र अंतर्गत आने वाली तहसीलों में सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों हेतु विभागवार शिविरों के आयोजन के अनुभवों को साझा किया। साथ ही निराकरण के लिए स्थानीय स्तर पर अधिकारियों के संयुक्त समन्वय को स्थापित कर आवेदनों के निराकरण में प्राप्त हुई सफलताओं पर विस्तृत जानकारी दी है। समीक्षा बैठक के दौरान बतलाया गया कि प्रदेश स्तरीय जारी रैंकिंग में 10 विभाग डी ग्रेड की श्रेणी में शामिल हैं। वहीं जिले से कम संतुष्टि का वेटेज अर्थात 29 प्रतिशत से कम है ऐसे 17 विभाग हैं। जिन विभागों के द्वारा संतुष्टि प्रतिशत से कम का निराकरण किया गया है। उन विभागों के कारण शिकायतों की संख्या व जिले की रैंकिंग प्रभावित हो रही है। जिले में 100 दिवस से अधिक की कुल 997 शिकायतें तथा 300 दिवस से अधिक की कुल 251 शिकायतें लंबित हैं। उपरोक्त शिकायतों के साथ-साथ जनवरी माह की शिकायतों का निराकरण 20 फरवरी 2022 के पूर्व कराया जाना सुनिश्चित करें के निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को मौके पर दिए गए हैं इस दौरान बताया गया कि सीएम हेल्पलाइन की प्रदेश स्तरीय जिलेवार रैंकिंग प्रत्येक माह की 20 तारीख को जारी की जाती है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृंदावनसिंह, अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ दयाशंकर सिंह के अलावा, समस्त एसडीएम एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे। 


सफलता की कहानी : सीएम हेल्पलाईन, परिवहन विभाग की 100 प्रतिशत शिकायतों का निराकरण


जिले में सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज आवेदनों का शत प्रतिशत निराकरण करने पर मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान के द्वारा जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा को प्रशंसा पत्र प्रेषित किया गया है। गौरतलब हो कि विदिशा जिले में सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज आवेदनों के निराकरण हेतु नवाचार के तहत तहसील स्तर पर प्रत्येक मंगलवार को शिविरों का आयोजन किया जा रहा है वहीं विभागों के अधिकारियों द्वारा भी नवाचार कर दर्ज आवेदनों का संतुष्टि पूर्वक समाधान किया जा रहा है। विदिशा जिले में जिला परिवहन कार्यालय में पिछले अप्रैल माह से लेकर जनवरी माह तक प्राप्त शिकायतों का शत-प्रतिशत संतुष्टिपूर्ण निराकरण करने पर विभाग को प्रदेश स्तरीय रैंकिंग में प्रथम स्थान हासिल हुआ है। वहीं वेटेज वेल्यू 100 प्रतिशत है। जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा ने बताया कि परिवहन विभाग को अप्रैल से लेकर जनवरी 2022 तक कुल 51 शिकायतें सीएम हेल्पलाइन के तहत प्राप्त हुई थीं। जिनका निराकरण शिकायत प्राप्ति दिवस को ही किया गया है। 


ग्रामीण स्वच्छता कार्यों की समीक्षा


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता संबंधी कार्यों की समीक्षा बुधवार को की। उन्होंने कहा कि विदिशा जिले में पांच हजार से अधिक आबादी वाले ग्रामों में स्वच्छता संबंधी कार्य निकायों की तर्ज पर सम्पादित किए जाएं। उन्होंने प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक-एक सफाईकर्मी के प्रबंध सुनिश्चित करने उपरोक्त सफाई कर्मियों को कलेक्टर दर पर पंचायतों के माध्यम से कराने तथा कचरा संग्रहण हेतु ई-रिक्शा क्रय करने पर बल दिया है। जिला पंचायत सीईओ डाॅ योगेश भरसट ने बताया कि आकांक्षी जिले के तहत जिले की 117 ग्रामों को आदर्श ग्राम की परिधि में लाने के लिए किए जाने वाले कार्यों का क्रियान्वयन स्वच्छता मिशन के अंतर्गत सम्पादित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर एक पंचायत में इसके लिए आवश्यक प्लान तैयार कर मूर्त रूप दिया जा रहा है। ऐसे ग्राम पंचायतें जो इस कार्य में लापरवाही अथवा कोताही बरतती हैं या कार्य नहीं करती हैं। उन ग्रामों में समूहों को जबावदेही सौंपी जाएगी। इसी प्रकार नल-जल योजना के कार्यों के संबंध में भी समूहों को भी सशक्त बनाया जाएगा। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उपरोक्त बैठक में जिन गतिविधियों एवं रणनीतियों पर गहन समीक्षा की गई है। उनमें 5 हजार से अधिक आबादी वाले ग्रामों के लिए स्वच्छता संबंधी प्लान, ग्रामीण परिवारों में शौचालयों की उपलब्धता व निर्माण के अलावा राष्ट्रीय परिवार सर्वेक्षण, सामुदायिक स्वच्छता परिसर का निर्माण, ठोष अपशिष्ट प्रबंधन कार्य, व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्य, ओडीएफ प्लस ग्रामों की प्रगति, गोवर्धन वायोगैस संयत्र तथा प्रचार-प्रसार गतिविधियों के कार्यों की समीक्षा की गई है। उपरोक्त बैठक में जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकरसिंह तथा समस्त जनपद सीईओ मौजूद रहे। 


62 सैम्पल पाॅजिटिव प्राप्त हुए


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ अखण्ड प्रतापसिंह ने बताया कि विदिशा जिले में बुधवार 9 फरवरी को कोविड-19 के 62 सैम्पल पाॅजिटिव प्राप्त हुए हैं। विकासखण्डवार जानकारी इस प्रकार से- विदिशा में 34, ग्यारसपुर में 11, सिरोंज में सात, नटेरन में 6, लटेरी में दो तथा कुरवाई एवं बासौदा विकासखण्ड में क्रमशः एक-एक सैम्पल पाॅजिटिव प्राप्त हुआ है।


नल-जल योजना का लाभ समुचित गांव के घरो एवं शासकीय कार्यालयों में कराना सुनिश्चित करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बुधवार को जिला जल एवं स्वच्छता मिशन के तहत संपादित किए जाने वाले कार्यो की समीक्षा की। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट के साथ-साथ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री, समस्त ठेकेदारों के अलावा जल मिशन को क्रियान्वित कराने वाले अधिकारी मौजूद रहें। कलेक्टर श्री भार्गव ने स्पष्ट निर्देश दिए है कि जल जीवन मिशन के तहत जिन ग्रामो में नल से जल घर के अन्दर पहुंचाने का कार्य किया जाना है उस ग्राम के एक भी घर तथा संचालित होने वाले शासकीय कार्यालय जिसमें आंगनबाडी, स्कूल, पंचायत भवन के अलावा अन्य कोई शासकीय कार्यालय संचालित हो रहा है तो उनमें भी नल कनेक्शन अनिवार्य रूप से कराया जाना सुनिश्चित हो। ग्रामो के वार्डो में नलो से जलापूर्ति के दौरान किसी भी प्रकार का भेदभाव न बरता जाए । ऊंचाई क्षेत्रों पर बने घरो में भी उसी अनुपात में पानी का प्रेशर प्राप्त हो जिस प्रकार निचले घरो में मिल रहा है। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि नल-जल पाईप लाइन अथवा कनेक्शन देने के दौरान सड़कों की अनावश्यक रूप से खुदाई ना की जाए। आवश्यकतानुसार जिन क्षेत्रों में सड़कों की खुदाई की आवश्यकता है वहां कटर से सड़कों की लाइन बनाकर पाइप लाइन उसमें डाली जाए वहीं खोदी गई अथवा कटर से काटी गई सड़क का निर्माण पूर्व गुणवत्ता के अनुसार कराया जाना सुनिश्चित हो। यह कार्य संबंधित सड़क निर्माण ऐजेन्सी की निगरानी में संपादित हो। उनके द्वारा एनओसी जारी होने के उपरांत ही संबंधित ठेकेदार को राशि का भुगतान किया जाए।  कलेक्टर श्री भार्गव ने संबंधितों को आपसी समन्वय स्थापित कर जल जीवन मिशन के कार्यो का समय सीमा में क्रियान्वयन कर शासन की मंशा के अनुसार नल से जल के घर के अन्दर को चरितार्थ करें। इस कार्य में किसी भी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने जनपदो के सीईओ के तहत जल मिशन एवं स्वच्छता कार्यो की निगरानी हेतु स्थानीय संसाधनो का उपयोग करें। बैठक में जल जीवन मिशन के तहत जिले की मूलभूत जानकारी, समय सीमा के तहत स्वीकृत कार्यो की प्रगति तथा योजना पूर्ण कराने की समय सीमा का निर्धारण, कार्ययोजना एवं उपाय तथा चुनौतियां इत्यादि बिन्दुओं पर  पृथक-पृथक विस्तृत समीक्षा कर आवश्यक सुझावो के अनुरूप कार्यो की के संपादन के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया गया है। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में नल-जल कनेक्शन व स्वच्छता संबंधी महत्वपूर्ण कार्य ग्रामीण विकास विभाग की महती भूमिका है। उन्होंने समस्त जनपदो के सीईओ ततसंबंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप हर घर में नल से जल पहुंचाने के नैतिक दायित्व के सहभागी बनें। उन्होंने कहा कि जिन ग्रामो में स्वच्छता मिशन के तहत कार्या के संपादन में कोताही बरती जाएगी उस क्षेत्र के जेआरएस सहित अन्य पर सख्त कार्यवाही होगी। उपरोक्त बैठक में बताया गया कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत विदिशा जिले के समस्त 1532 ग्रामीण परिवारों को वर्ष 2024 तक क्रियाशील घरेलू नल कनेक्शन पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्तमान में ग्रामीण परिवारों के घरेलू नल कनेक्शन के अद्यतन स्थिति के संबंध में बताया गया कि जिले में ग्रामीण परिवारों की कुल संख्या 257424 है। जिसमें घरेलू नल कनेक्शन 99391 परिवारो को प्रदाय किया जा चुका है।


सफलता की कहानी : संतुलित खाद एवं उर्वरक का उपयोग कर कृषक मुनाफे की ओर बढ रहें है


vidisha news
विदिशा जिले के कृषकों को नवीन तकनीकी से खेती किसानी कर मुनाफे और प्रगति की ओर अग्रसर करने हेतु शासन द्वारा संचालित की जा रही आत्मा परियोजना अंतर्गत कृषक प्रशिक्षण लेने के उपरांत नवीन तकनीकों का इस्तेमाल कर खेती में पूर्व की भांति वर्तमान में अधिक मुनाफा हासिल कर रहे हैं। विदिशा जिले के ग्राम भाटनी में निवासरत कृषक श्री राजेश मीणा पुत्र श्री मुंशीलाल मीणा काफी मेहनती कृषक हैं। उनमें उन्नत खेती करने का जुनून और जज्बा है। परंतु कमी थी तो मार्गदर्शन की। कृषक श्री राजेश मीणा अपनी जमीन पर संतुलित उर्वरक एवं खाद का उपयोग कर खेती करना चाहते थे। परंतु मार्गदर्शन न मिलने के कारण नहीं कर पा रहे थे। इसी दरमियान कृषक श्री मीणा की मुलाकात आत्मा परियोजना के सहायक तकनीकी प्रबंधक श्री अशोक रघुवंशी से हुई एवं उनके समक्ष अपनी जिज्ञासा रखी। कृषक द्वारा आत्मा परियोजना अंतर्गत आयोजित गतिविधियों, कृषक प्रशिक्षण, भ्रमण आदि में सक्रिय रूप से भाग लिया गया। अधिकारियों के द्वारा कृषक  के घर पहुंचकर देखा कि उनके पास पांच-छह पशु हैं। अधिकारियों ने कृषक को नाडेप एवं वर्मी कंपोस्ट बनाने की विधि बताई एवं केंचुए भी उपलब्ध कराए। अपने खेत पर 4 वर्मी कंपोस्ट पिट का निर्माण कराया। कृषि विभाग तथा आत्मा परियोजना के माध्यम से धान, गेहूं एवं चना की उन्नतशील प्रजातियां जैसे एचआई-8759, एचआई-8713, जेजी-12, जेजी-14 का बीज भी उपलब्ध कराया गया। कृषक श्री राजेश मीणा ने बताया कि जैविक एवं रासायनिक खाद के संतुलित उपयोग से वर्तमान में वह अपनी 5 हेक्टेयर जमीन पर खरीफ में धान लगाते हैं। जिससे वह 70 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादन प्राप्त करते हैं तथा गत वर्ष रबी में गेहूं की एचआई-8759 किस्म से 73 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उत्पादन प्राप्त किया। जैविक खाद एवं वर्मी कंपोस्ट के उपयोग से उर्वरक एवं कीटनाशक पर होने वाले खर्चों में 50 प्रतिशत तक कमी आई है। कृषक श्री मीणा अब ग्राम के अन्य कृषकों को भी जैविक खेती करने हेतु प्रेरित कर रहे हैं।


एसएटीआई डिग्री कॉलेज में सात दिवसीय एनसीसी सीएटीसी केम्प की हुई शुरुआत


vidisha news
सात दिवसीय एनसीसी  सीएटीसी (कंबाईंड एनुअल ट्रेनिंग कैंप ) आयोजित किया जा रहा है जिसमें पांच दिवसीय  एनसीसी बी सर्टिफिकेट परीक्षा में शामिल होने वाले कैडेटस  तथा सात दिवसीय दबब सी सर्टिफिकेट  परीक्षा में शामिल होने वाले  कैडेटस शामिल  हो  रहे  है ।  एसएटीआई में कैंप की शुरुआत सुबह आज  14 एम पी  बटालियन विदिशा  कमान अधिकारी कर्नल अरविंद राणा   के  उद्बोधन से हुई। उन्होंने कहा कि कैडेट के जीवन में अनुशासन होना चाहिएस। तभी वह आगे बढ़ सकते हैं उन्हें अनुशासित रहकर कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता पर बल दिया।  कैडेटों को अपने जीवन में लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रतिदिन 12 से 13 घंटे की पढ़ाई करनी चाहिए। कैडेटों को पर्यावरण सुरक्षा की भी जानकारी दी ,जल संरक्षण पर जोर दिया ,और पॉलिथीन का उपयोग नही करने का संदेश दिया है। उक्त केम्प में  लेफ्टिनेंट कर्नल यश छिब्बर, एसएम सूबेदार मेजर विनोद सिंह ट्रेनिंग जेसीओ  पी गले ,ए एनओ में कैप्टन संजीव कुमार माथुर, कैप्टन रामानंद मिश्रा, लेफ्टिनेंट भरत सिंह चौधरी, लेफ्टिनेंट विनीता प्रजापति एवं सी टी ओ ऊषा किरण तिग्गा तथा अन्य पी आई स्टाफ  उपस्थित रहा।

कोई टिप्पणी नहीं: