मधुबनी : मध्यान भोजन रसोइया कल्याण समिति का धरना - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 मार्च 2022

मधुबनी : मध्यान भोजन रसोइया कल्याण समिति का धरना

mdm-meal-cook-protest-madhubani
मधुबनी (फिरोज आलम) मध्यान भोजन रसोइया कल्याण समिति के बैनर तले समाहरणालय के समक्ष एक दिवसीय जूली देवी की अध्यक्षता में धरना प्रदर्शन किया गया इस प्रदर्शन में एमडीएम रसोईया एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरके दत्ता भी रहे मौजूद प्रदर्शन को संबोधित करते हुए  समिति के जिला अध्यक्ष जूली देवी और एमडीएम रसोइया एकता संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरके दत्ता ने बताया कि केन्द्रीय एवं राज्य सरकार की श्रम विरोधी नीति के कारण एमडीएम रसोईया को 55 रु  प्रतिदिन मानदेय पर काम लेकर  बंधुआ मजदूर बनाकर आर्थिक शोषण कर रही है। इस दिशा में सरकार को वर्षो से अवगत कराता आ रहा हूं। लेकिन रसोईया संघ के तर्क संगत मांगों को सरकार नज़र अंदाज करती आ रही हैं। बिहार एमडीएम रसोईया एकता संघ मधुबनी शाखा की ओर सेआज शुक्रवार को जिला समाहरणालय के सामने एक दिवसीय प्रदर्शन एवं धरना दिया गया तथा यह कार्यक्रम जिला अध्यक्ष जुली देवी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बिहार के मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन जिलाधिकारी मधुबनी को सौंपा गया। 


उन्होंने बताया कि

1-सरकारी विद्यालय, संस्कृत विद्यालय, मदरसा विद्यालय में वर्षों से कार्यरत एमडीएम रसोईया की सेवा नियमित की जाए। 

2-सभी एमडीएम रसोईया की बकाया राशि की भुगतान यथाशीघ्र की जाए। 

3-एमडीएम रसोईया के मानदेय में सम्मानजनक वृद्धि कर न्यूनतम मजदूरी अधिनियम के तहत निर्धारित दर से भुगतान की जाए। 

4- सभी एमडीएम रसोईया को समय पर ड्रेस, मेडिकल बीमा सहित अन्य कर्मियों को मिलने वाली सरकारी लाभ की तरह रसोईया को भी दी जाए। 

5- 10 महीने की जगह 12 महीने का परिश्रमिक राशि का भुगतान की जाए। 

6- एमडीएम के संचालन की पूर्ण जिम्मेवारी एमडीएम रसोइया को प्रदान की जाए। 

7- एमडीएम के संचालन की जिम्मेवारी एनजीओ के द्वारा कराने संबंधी निर्णय पर रोक लगाई जाए। 


इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित रहे उर्मिला देवी, प्रमिला देवी, सुनीता देवी, पुनीता देवी, निलम देवी,चन्द्रकला देवी, मंगली देवी, रिंकु देवी, नितु देवी, मेहरून खातुन, शिव कुमार कामत, राम प्रीत यादव, महेन्द्र चौधरी, योगेन्द्र पंडित, धीरेन्द्र लाल दास, आदि।

कोई टिप्पणी नहीं: