विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 23 मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 23 मार्च 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 23 मार्च

शहीद भगतंिसह के विचारों को जन जन तक पहुॅचाने की जरूरत है,  विधायक शशांक भार्गव


vidisha news
विदिशाः-शहीद दिवस के अवसर पर ब्लॉक कांग्र्रेस कमेटी विदिशा शहर ग्रामीण व शहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शहीद ज्योति स्तंभ पर प्रातः 10.30 बजे एकत्रित होकर भारत के अमर शहीद भगतसिंह, राजगुरू, सुखेदेव की शहादत को समरण करते हुए श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस अवसर पर विधायक शशांक भाग्रव ने कहा कि भगतसिंह, राजगुरू और सुखेदेव ने बहुत ही कम उम्र भारत माता की आजादी के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया था। आज बहुत सारे राजनीतिक दल जो शहीद भगतसिंह के विचारों के खिलाफ है वे भी उन पर कब्जा करना चाहते है। आज हमें फिर से भगतसिंह के विचारों को जन-जन तक पहुॅचाने की जरूरत है।  इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रभुदयाल यादव, अब्दुल मजीद भाई, बाबूलाल वर्मा, नंदकिशोर शर्मा, सुरेश मोतियानी, अजय कटारे, नरेन्द्र रघुवंशी, दीपक कपूर, सुरेश बाबू पाठक, शिवराज पिपरोदिया, प्रियंका किरार, अवदेश दुबे, हेमन्त शर्मा, प्रदीप बेघ, कुबेर सिंह जादौन, नवीन कोठारी, जितेन्द्र तिवारी, संयोगराज जैन, रामराज दांगी, ओ.पी.सोनी, विजयकांत रैकवार, बृजेन्द्र वर्मा, भोलाराम अहिरवार, मनोज कुशवाह, मुआज कामिल, अवदेश प्रतापसिंह राठौर, अभिराज शर्मा, खिलानसिंह शाक्य, संतोष गौड, गोलू शर्मा, राजकुमार डीडोत, दिनेश विश्वकर्मा, रामबाबू नामदेव, शहजाद खॉ, अमित चौहान, यश शर्मा, आदि उपस्थित थे।


10 की विधायक निधि से होगा बेतवा का शुद्धिकरण


vidisha news
विदिशाः- विधायक शशांक भार्गव ने महलघाट पर प्रैस कांफ्रेन्स कर बताया कि गर्मियों के मौसम में जल प्रवाह रूकने के कारण एवं नालों का प्रदूषित पानी नदी में मिलने के कारण वेतबा जल प्रदूषित होे जाता है और इस कारण से उस पर काई जम जाती है। इस समस्या के निदान के लिये फाउन्टेन (फुब्बारा) लगाये जाने हेतु विधायक निधी से 10 लाख 14 हजार 800 रूपये की राशि स्वीकृती हेतु पत्र लिखा है। महलघाट सेवा समिति एवं अन्य पर्यावरण संरक्षण कर रही संस्थाओं के द्वारा लंबे समय से बेतवा के प्रदूषण को लेकर चिंता जताई जा रही थी जिसे लेकर आज इस कार्य को स्वीकृति दी है। जिसमें महलघाट एवं बढ़ वाले घाट के समीप 10.14 लाख रुपए की राशि से फाउंटेन कम मेकेनिकल इरेटर स्थापित किए जाएंगे। हांलाकि ये बेतवा शुद्धिकरण का स्थाई हल नहीं है इस प्रोजेक्ट से कुछ निश्चित क्षेत्र में ही बेतवा जल शुद्ध होगा। स्थाई समाधान नर्मदा जल को बेतवा में लाकर ही हो सकेगा ।जिससे गर्मियों में भी बेतवा नदी में जलप्रवाह होता रहेगा। यह तभी संभव है जब मकोड़िया बांध निर्माण कर नर्मदा नदी से पानी लिफ्ट कर मकोड़िया डेम तक पहुंचाया जाए। इस विषय पर शासन स्तर पर पत्राचार चल रहा है। माननीय मुख्यमंत्री जी से भेंट कर बांध निर्माण की इस योजना से अवगत करवाया था जिससे रायसेन, विदिशा को पेयजलापूर्ति के साथ साथ सिंचाई की सुविधा भी मिल सकेगी मुख्यमंत्री जी ने शीघ्र ही इस विषय पर निर्णय लेने का आश्वासन दिया है। विधायक भार्गव ने कहा कि बेतवा शुद्धिकरण को लेकर वे सदैव संकल्पबद्ध हैं। 


सप्ताह में 5 दिवस खुले रहेंगे समस्त शासकीय कार्यालय, 30 जून 2022 तक प्रभावशील


समस्त शासकीय कार्यालय के कार्यदिवस सप्ताह में 5 दिवस (सोमवार से शुक्रवार) तक खुले रखने के आदेश की अवधि 30 जून 2022 तक बढ़ाई गई है। सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डॉक्टर श्रीनिवास शर्मा के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि 22 अक्टूबर 2021 के माध्यम से राज्य शासन द्वारा कोविड-19 महामारी के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में प्रदेश के समस्त शासकीय कार्यालय के कार्य दिवस सप्ताह में 5 दिवस सोमवार से शुक्रवार निर्धारित किए गए थे। उक्त आदेश दिनांक 31 मार्च 2022 तक प्रभावशील था। राज्य शासन द्वारा इसी अनुक्रम में यह निर्णय लिया गया है कि उक्त आदेश दिनांक 30 जून 2022 तक प्रभावशील रहेगा। उपरोक्त निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करते हुए अधीनस्थों को भी इस संबंध में सूचित करने के निर्देश दिए गए हैं।


रबी विपणन वर्ष 2022-23 समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन हेतु स्लॉट बुकिंग


रबी विपणन वर्ष 2022-23 कृषकों को समर्थन मूल्य पर गेहू विक्रय करने हेतु एसएमएस के इन्तजार को समाप्त करते हुए कृषक द्वारा उपज विक्रय करने के लिए उपार्जन केन्द्र का चयन एवं उपज विक्रय की दिनांक स्वयं ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकेंगे, जिसकी व्यवस्था निम्नानुसार निर्धारित की जाती है प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की तौल क्षमता का निर्धारण पोर्टल पर किया जाएगा, जिसके अनुसार प्रति तौलकांटा प्रतिदिन 250 क्विंटल के मान से गणना की गई है। प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर प्रतिदिन न्यूनतम 1000 क्विंटल उपज की तौल हेतु 4 तौल कांटे आवश्यक रूप से लगाए जाएं एवं उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की आवक अनुसार तौल कांटों की संख्या में वृद्धि की जाए, जिसकी तत्समय पोर्टल पर प्रविष्टि की जा सकेगी। कृषक द्वारा  23 मार्च  22 से स्लॉट बुकिंग www.mpeuparjan.nic.in पर की जा सकेगी, इस लिंक की जानकारी एसएमएस के माध्यम से कृषक के मोबाइल पर प्रेषित की जाएगी। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत, सत्यापित कृषक द्वारा स्वयं के मोबाइल, एमपी ऑनलाईन, सीएससी, ग्राम पंचायत, लोक सेवा केन्द्र, इन्टर नेट कैफे, उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। स्लॉट बुकिंग हेतु कृषक के ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी प्रेषित किया जाएगा, जिसे पोर्टल पर दर्ज करना होगा।


कृषकों को अपनी उपज विक्रय करने हेतु स्लॉट बुकिंग दो पारी में (प्रातः 9 से 1 बजे एवं अपरान्ह 2

से 6 बजे की जा सकेगी, जिसमें से एक पारी का चयन किया जा सकेगा।उपार्जन का कार्य सोमवार से शुक्रवार तक किया जाएगा एवं उपज विक्रय हेतु इसी अवधि की स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। सकेगी एवं 7 कृषक द्वारा उपज विक्रय हेतु आगामी 7 दिवस में फसल विक्रय हेतु स्लॉट बुकिंग की जा स्लॉट की वैधता अवधि 3 कार्य दिवस होगी। कृषक द्वारा उपज विक्रय हेतु तहसील अंतर्गत (जहां कृषक की भूमि है) किसी भी उपार्जन केन्द्र का चयन किया जा सकेगा। कृषक की भूमि एक से अधिक तहसील में स्थित होने पर उनके द्वारा किसी एक तहसील के उपार्जन केन्द्र का चयन किया जा सकेगा. जहां पर पंजीकृत भूमि की उपज का विक्रय किया जा सकेगा। उपार्जन केन्द्र की तौल क्षमतानुसार लघु या सीमांत एवं बड़े कृषकों को मिलाकर स्लॉट बुकिंग की सुविधा रहेगी जिसमें प्रतिदिन 100 क्विंटल से अधिक विक्रय क्षमता के 4 कृषक तक हो सकेंगे।  स्लॉट बुकिंग के समय पोर्टल पर कृषक की विक्रय योग्य कुल मात्रा प्रदर्शित कराई जाएगी, जिसमें कृषक द्वारा वास्तविक विक्रय योग्य कुल अनुमानित मात्रा की प्रविष्टि करनी होगी, इस मात्रानुसार ही कृषक से उपज की खरीदी की जा सकेगी। इस संबंध में कृषकों को अवगत कराया जाए। पोर्टल पर स्लॉट बुकिंग अनुसार उपार्जन केन्द्र की क्रय योग्य क्षमता घटते क्रम में प्रदर्शित होगी।


निर्धारित दिवस में उपार्जन केन्द्र की तौल क्षमतानुसार स्लॉट बुक होने पर कृषक को आगामी रिक्त

क्षमता वाले दिवस हेतु स्लॉट बुक करना होगा। कृषक द्वारा स्लॉट बुकिंग करने के उपरांत उपार्जन केन्द्र का नाम, विक्रय योग्य मात्रा एवं विक्रय की दिनांक एसएमएस के माध्यम से सूचित की जाएगी तथा इसका प्रिन्ट भी निकाला जा सकेगा। कृषक द्वारा विक्रय की जाने वाली संपूर्ण उपज की स्लॉट बुकिंग एक समय में ही करनी होगी आंशिक स्लॉट बुकिंग, आशिक विक्रय नहीं किया जा सकेगा। करने के उपरांत अन्य केन्द्र पर कृषक पंजीयन कृषक द्वारा निर्धारित उपार्जन केन्द्र पर स्लॉट बुकिंग परिवर्तन या स्थानांतरण की सुविधा नहीं होगी। उक्तानुसार कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए।


12 से 14 वर्ष आयु वर्ग के बालक बालिकाओं का कोविड-19 टीकाकरण का शुभारंभ


आज बुधवार से 12 से 14 वर्ष आयुवर्ग के बालक बालिकाओं का कोविड-19 टीकाकरण प्रारंभ हुआ। टीकाकरण कार्यक्रम का शुभारंभ विदिशा के शेरपुरा कन्या मिडिल स्कूल में विदिशा विधायक श्री शशांक भार्गव, जो ला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्यगण श्री मुकेश टंडन, श्री संदीप डोंगर, अन्य जनप्रतिनिधि के अलावा कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एके उपाध्याय, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मोदगिल, तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी, प्रभारी जिला मीडिया अधिकारी बीएस दांगी आदि की उपस्थिति में मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम शुभारंभ उपरांत 12 से 14 आयुवर्ग के बच्चों को टीका लगाया गया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा टीकाकरण कार्यक्रम की सराहना करते हुए टीकों को पूर्णता सुरक्षित बताया। इस अवसर पर विधायक श्री शशांक भार्गव ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बड़े ही खुशी की बात है कि 12 से 14 वर्ष आयुवर्ग के बच्चों का टीकाकरण प्रारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि पिछले 2 वर्ष से कोरोना काल में सभी को परेशानियों का सामना करना पड़ा है लेकिन अब स्थिति सामान्य है। विधायक श्री भार्गव ने वैज्ञानिकों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है। जिला क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य श्री मुकेश टंडन ने प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी के प्रति धन्यवाद देते हुए कहा कि कोरोना वायरस से देश के नागरिक सुरक्षित रहें इस हेतु उन्होंने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी उनकी ओर से सभी प्रयास किए गए। श्री टंडन ने कहा कि कोरोना वायरस से बचाने के लिए मुख्यमंत्री जी ने राजनीतिक सामाजिक और धार्मिक संगठनों को साथ में लेकर कार्य किया है और लोगों को जागरूक करने हेतु भी प्रयास किए। उन्होंने टीकाकरण अभियान से जुड़े सभी अधिकारी कर्मचारियों सहित स्वास्थ्य विभाग की टीम और सामाजिक धार्मिक संगठनों मीडिया बंधुओं के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है। उन्होंने निर्धारित आयु वर्ग के टीकाकरण हेतु सभी अभिभावकों से आग्रह किया है कि कोरोना संक्रमण से बचने हेतु वह अपने बच्चों को टीका अवश्य लगवाएं। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि विदिशा जिले में टीकाकरण कार्य हेतु निर्धारित आयु वर्ग के 88 हजार बच्चे हैं जिनमें से 64 हजार का लक्ष्य रखा गया है। जिनका वैक्सीनेशन करने हेतु अभियान प्रारंभ किया गया है इसके अलावा वह बच्चे जो शाला त्यागी हैं जो सरकारी या प्राइवेट स्कूल में दर्ज नहीं है उनका भी चिह्नांकन कर उनको भी वैक्सीन लगाने का कार्य किया जाएगा।


नरवाई जलाने की घटनाओं पर रोकथाम हेतु दिशा निर्देश


पर्यावरण सुरक्षा हेतु  नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देश कम में Air (Prevention and Control of Pollution) Act 1981 के अंतर्गत फसलों की कटाई के उपरोफसल अवशेषों को खेतों में जलाये जाने को प्रतिबंधित किया गया है । कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने ततसंबंध में जिला स्तर पर आदेश जारी कर जिले में नरवाई जलाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाते हुए संबंधित क्षेत्रों के एसडीएम को आवश्यक कार्यवाही करने हेतु अधिकृत किया है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि जिले में फसलों की कटाई में कम्बाईन हार्वेस्टर का चलन व्यापक रूप से किया जा रहा है। कम्बाईन हार्वेस्टर से कटाई के उपरांत फसल अवशेषों में आग लगाने की घटनाओं को देखते हुए  कटाई में कम्बाईन हार्वेस्टर के साथ स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम को लगाने की अनिवार्यता सुनिश्चित की गई है। यदि कृषक स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम का उपयोग नहीं करना चाहते तो उन्हें स्ट्रारीपर का उपयोग कर के फसल अवशेषों से भूसा प्राप्त करना अनिवार्य होगा। इसके उपरांत भी यदि कृषक नरवाई में आग लगाते हैं तो उनके विरूद्ध पर्यावरण विभाग द्वारा जारी उपरोक्त नोटिफिकेशन अनुसार नरवाई में आग लगाने की घटनाओं को प्रतिबंधित करके दण्ड उधरोपित करने का प्रावधान किया गया है। कम्बाईन हार्वेस्टरों के संचालकों को उपरोक्तानुसार उनके हार्वेस्टर के साथ उपरोक्त मशीनों को रखने हेतु बाध्य होगें। जिससे रबी की कटाई में नरवाई से आग लगाने की घटनाओं पर प्रभावी नियंत्रण रखा जा सके।खेतों में फसल कटने के बाद खेतों में लगे रबी फसलों के डंढल (नरवाई) जलाने के लिए कृषकों द्वारा खेतों में आग लगाकर खेत साफ किये जाते हैं। नरवाई जलाने से जनहानि, वन सम्पदा और पर्यावरण प्रदूषण अन्य प्रकार की हानियां होती है। साथ ही साथ भूमि की उर्वरा शक्ति भी नष्ट हो जाती है। अतः कृषक भाईयों से अपील की गई है कि खेत में नरवाई ना जलाकर कर उसको रोटावेटर या प्लाऊ माध्यम जुताई कर खेतो में मिलावें।


पिछले छह दिनों में एक भी पॉजिटिव प्राप्त नहीं हुआ


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि संक्रमित मरीजो का कोरोना सेम्पल परीक्षण सतत जारी है। पिछले छह दिन अर्थात 18 से 23 मार्च तक एक भी सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त नहीं हुआ है अंतिम पॉजिटिव एक सेम्पल 17 मार्च को प्राप्त हुआ था। 


साढे़ पांच हजार से अधिक बच्चों का टीकाकरण हुआ


12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों का कोरोना वैक्सीनेशन टीकाकरण कार्य बुधवार 23 मार्च से जिले में शुरू हुआ है। अभियान के पहले दिन सायं चार बजे तक 5678 बच्चों का टीकाकरण किया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने बताया कि निर्धारित शैक्षणिक संस्थाओं में अध्ययनरत 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों का टीकाकरण कार्य सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न हो इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग के माध्यम से सहयोग प्राप्त किया जा रहा है वहीं ऐसे बच्चे जो शाला त्यागी है उनके टीकाकरण हेतु अन्य विभागों के अमले की भी मदद ली जा रही है। प्रत्येक टीकाकरण केन्द्र पर बच्चों को ओआरएस का घोल पहले पिलाया जा रहा है इसके पश्चात टीकाकरण कार्य किया जा रहा है। टीका लगने के उपरांत आधे घंटे तक बच्चे का कमरे में बिठाया जा रहा है ताकि किसी भी प्रकार की उन्हें परेशानी होती है तो शीघ्र उसका उपचार किया जा सकें।


रोजगार मेला अब 28 को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलो में एक साथ स्व-रोजगार, रोजगार दिवस का आयोजन पूर्व में 29 मार्च को आयोजित होना था कि तिथि में परिवर्तन किया गया है। नवीन जानकारी के अनुसार उपरोक्त रोजगार मेले का आयोजन 28 मार्च को आयोजित किया गया है। मेला के नोडल अधिकारी व उद्योग विभाग के जिला प्रबंधक श्री पीडी वंशकार ने बताया कि अब सोमवार 28 मार्च को जिला स्तरीय स्वरोजगार, रोजगार दिवस का आयोजन किया जाएगा। एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में प्रातः 10.30 बजे से शुरू होगा। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिला स्तरीय स्वरोजगार, रोजगार दिवस आयोजन का सुव्यवस्थित रूप से संपादन हो इसके लिए नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त कर उन्हें आवश्यक जबावदेंही सौंपी है। संपूर्ण रोजगार मेले के जिले जिला पंचायत सीईओ को नोडल अधिकारी तथा सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक को सहायक नोडल अधिकारी का दायित्व सौंपा गया है। इसके अलावा मंच की व्यवस्था, स्टॉल निर्माण, माईक एवं लाईट, रोजगार कंपनियों को आमंत्रित करने, आफर लेटर वितरण, बैंकिग संस्थाओं के स्टॉल लगवाना, स्वरोजगार योजनाओं के लाभार्थियों को स्वीकृति पत्रों का वितरण के अलावा अन्य कार्यो के लिए भी पृथक-पृथक नोडल व सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है।


सफलता की कहानी : वेक्सीन लगी तो मिली सुरक्षा, पीएम का धन्यवाद

  • वैक्सीनेशन के पुख्ता प्रबंध से प्रसन्न मुद्रा में दिखीं छात्राएं

vidisha news
वैक्सीन लगी तो सुरक्षा मिली यह कहना है शेरपुरा कन्या मिडिल स्कूल मैं कक्षा आठ में अध्ययनरत छात्रा सुमन किरार का। बुधवार को 12 से 14 आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं का कोविड-19 टीकाकरण प्रारंभ हुआ है। शेरपुरा स्थित कन्या मिडिल स्कूल में भी टीकाकरण हेतू पुख्ता प्रबंध किए गए थे। स्कूल की ही छात्रा सुमन किरार ने भी वैक्सीन का पहला डोज लगवाया। इसके उपरांत उन्होंने कहा कि कोविड-19 वायरस से बचने हेतु सभी को वैक्सीनेशन कराना आवश्यक है। उन्होंने वैक्सीनेशन के फर्स्ट डोज के लिए प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद ज्ञापित करने के साथ-साथ विदिशा जिले की स्वास्थ्य विभाग की टीम को भी धन्यवाद दिया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के पश्चात स्कूल परिसर में ही ओआरएस घोल सभी छात्राओं को पिलाने की व्यवस्था भी की गई थी। इसके अलावा शेरपुरा स्थित कन्या मिडिल स्कूल में ही अध्ययनरत छात्रा सोनिका राठौर, पायल कुशवाहा और छवि धाकड़ सहित अन्य छात्राओं ने भी टीकाकरण कराया है। उन्होंने भी टीकाकरण कराने के पश्चात शासन, प्रशासन के प्रति धन्यवाद दिया है। 

उपार्जन कार्यो के मापदण्डों से अवगत हुए वेयर हाउस संचालक


jhabua news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में समर्थन मूल्य पर उपार्जित होने वाली फसले गेंहू, चना, मसूर के लिए निर्धारित मापदण्डो से आज वेयर संचालकों को अवगत कराया है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में पॉवर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की गई है। कलेक्टर श्री भार्गव ने वेयर संचालकों से कहा है कि उपार्जन कार्य वेयर हाउसों पर ही संपादित हो ताकि अनावश्यक परेशानियों से बचा जा सकें। इस दौरान गोदाम संचालकों के क्या-क्या दायित्व होंगे। गोदाम संचालकों को भुगतान की प्रक्रिया, गोदाम संचालक द्वारा उपार्जन समिति के रूप में संपादित किए जाने वाले कार्य इत्यादि की विस्तृत जानकारी दी गई है। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमति रश्मि साहू ने बताया कि जिले के सभी उपार्जन केन्द्र वेयर हाउसों पर संचालित किए जाएंगे इसके लिए 170 वेयर हाउसों का चिन्हांकन किया जा चुका है। गोदाम संचालकों को भुगतान योग्य राशि विगत रबी उपार्जन 2021-22 के अनुसार देय होगी तदानुसार प्रति कि्ंवटल पर कमीशन 27 रूपए, लेबर व्यय 11 रूपए, स्टीकिंग व्यय 12 रूपए इस प्रकार प्रति कि्ंवटल पर कुल पचास रूपए देय होगा। समीक्षा बैठक में वेयर हाउस संचालकों के द्वारा अपनी मूलभूत समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करया है।


कन्या महाविद्यालय में शहीद दिवस पर वीर शहीदों को किया नमन


vidisha news
शहीद दिवस के अवसर पर शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा में स्वतंत्रता संग्राम के वीर शहीदों को याद किया गया। शहीदे आजम भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव के शहादत दिवस पर स्वतंत्रता संग्राम में उनके बलिदान, त्याग एवं योगदान को याद करते हुए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। वीर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित करने के पश्चात महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. मंजू जैन ने बताया कि वीर शहीदों का जीवन आज के नौजवानों के लिए प्रेरणा का दर्शन है। उन्होंने नागरिक कर्तव्यों के पालन को देशसेवा का अंग मानते हुए कहा कि हम अपने-अपने कर्तव्यों को निभाते हुए देश की सेवा कर सकते हैं। राजनीति विज्ञान के सहायक प्राध्यापक रवि रंजन ने वीर शहीदों की स्वतंत्रता आंदोलन में भूमिका, उनकी कार्यप्रणाली तथा उस समय के विभिन्न घटनाक्रमों को विस्तार से बताया। एनसीसी प्रभारी डॉ विनिता प्रजापति ने छात्राओं को एकता और अनुशासन की सीख दी। वीर शहीदों के बलिदान को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखा गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ सीमा चक्रवर्ती ने किया। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय की छात्रा अवनी भार्गव एवं मोनिका शर्मा ने देशभक्ति पर आधारित गीत प्रस्तुत किए। इस अवसर पर महाविद्यालय की वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ रेखा श्रीवास्तव, श्रीमती वसुंधरा गवांदे एवं डॉ रामू विश्वकर्मा उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय की एनसीसी की छात्राओं की सक्रिय सहभागिता रही।

कोई टिप्पणी नहीं: