नालंदा : दो पंचायती राज संस्थानों को मिला राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 23 अप्रैल 2022

नालंदा : दो पंचायती राज संस्थानों को मिला राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार

nalanda-ge-wo-naional-award
नालंदा. इस जिले के दो पंचायत संस्थानों को अलग-अलग राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार मिलने जा रहा है.भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा इस वर्ष नालंदा जिला के दो ग्राम पंचायत संस्थानों को अलग-अलग श्रेणियों में पुरस्कृत किया जा रहा है.दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के लिए पंचायती राज के प्रखंड स्तरीय संस्था पंचायत समिति इस्लामपुर का चयन किया गया है. यह पुरस्कार सेवाओं और सार्वजनिक वस्तुओं के वितरण में सुधार के लिए प्रत्येक स्तर पर पंचायती राज संस्थानों द्वारा किए गए अच्छे कार्य की मान्यता के लिए सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाली पंचायती राज संस्था को प्रदान किया जाता है. बाल हितैषी पुरस्कार के लिए हरनौत प्रखंड के ग्राम पंचायत राज सुढ़ारी का चयन किया गया है. यह पुरस्कार बाल सुलभ प्रथाओं को अपनाने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली ग्राम पंचायतों को दिया जाता है.यह पुरस्कार 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर दोनों पंचायती राज संस्थानों को प्रदान किया जाएगा.


विशेष अभियान के माध्यम से किया जाएगा

वहीं केंद्र सरकार द्वारा पीएम किसान के वैसे सभी लाभुकों, जिनको किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध नहीं है, उन्हें इससे जोड़ने और नए किसान क्रेडिट कार्ड देने के लिए स्प्रिंट कैम्पेन का आयोजन दिनांक 24 अप्रैल 2022 से 01 मई 2022 तक विशेष अभियान के माध्यम से किया जाएगा.किसानों की आय में वृद्धि के लिए किसानों को उचित ऋण की सुविधा मुहैया कारण आवश्यक  है, जिससे किसान सही समय पर उचित तरीके से खेती कर सकें. अभियान से जुड़े सभी संबद्ध विभागों एवं बैंकों को अभियान को सफल बनाने के लिए निर्देश जारी किया जा चुका है. इस अवसर पर आज मीडिया के समक्ष जिला अग्रणी बैंक प्रबंधक रत्नाकर झा ने कहा कि अभियान को सफल बनाने के लिए, पीएम किसान के गैर केसीसी लाभुकों की सूची सभी बैंकों एवं जिला कृषि कार्यालय द्वारा पंचायत सचिवों से साझा किया जाएगा. इस सूची के आधार पर पंचायत सचिव सभी चिन्हित लाभुकों द्वारा निर्धारित प्रारूप में फार्म भरकर बैंकों को स्वीकृति के लिए प्रेषित करेंगे. सभी बैंक दिशानिर्देशों के अनुसार प्राप्त आवेदनों की जांच कर योग्य आवेदन को स्वीकृति प्रदान करेंगे. जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड अमृत बरनवाल ने बताया कि अभियान की शुरुआत 24 अप्रैल 2022 को राष्ट्रीय पंचायतीराज दिवस के अवसर पर माननीय प्रधानमंत्री द्वारा विशेष ग्राम सभा के माध्यम से किया जाएगा. जिसमें सभी पंचायत शामिल होंगे. ग्राम सभाओं के माध्यम से लाभुकों को चिन्हित कर आवेदन प्राप्त किए जाएँगे. इस अभियान में सभी बैंकों के ग्रामीण/सेमी अर्बन शाखाएं, कॉपरेटिव बैंक, पैक्स, नाबार्ड तथा सरकारी विभागों में जिला प्रशासन के नेतृत्व में कृषि, पशुपालन, डेयरी, मत्स्य पालन, राजस्व, पंचायती राज आदि विभागों के आपसी समन्वय से कार्य किया जाएगा.ब्रीफिंग के क्रम में जिला पंचायत राज पदाधिकारी, राजस्व शाखा प्रभारी, एलडीएम, डीडीएम नाबार्ड, जिला कृषि पदाधिकारी आदि मौजूद थे.

कोई टिप्पणी नहीं: