बिहार : वार्ड नम्बर-27 की वार्ड पार्षद काफी सक्रिय हैं - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 अप्रैल 2022

बिहार : वार्ड नम्बर-27 की वार्ड पार्षद काफी सक्रिय हैं

paana-ward-member
पटना. आज दिनांक 07/04/2022 पुरानी पुलिस लाइन तार घाट में फॉगिंग करवाया गया. पटना नगर निगम के वार्ड संख्या- 27 की वार्ड पार्षद रानी कुमारी कहती हैं कि आप लोगों का आशीर्वाद और प्यार इसी तरह हम पर बना रहे.आपकी वार्ड पार्षद रानी कुमारी मानती हैं कि आप लोगों की सेवा ही हमारी एकमात्र धर्म है.वार्ड संख्या-27 की जनता जिंदाबाद रहे. पटना नगर निगम में है 75 वार्ड.इन वार्डों में कोई वार्ड के पार्षद सक्रिय हैं तो कोई बिल्कुल निष्क्रिय हैं.वार्ड नम्बर-27 की वार्ड पार्षद काफी सक्रिय हैं. वे हमेशा अपने वार्ड में काम करवाते देखी जा सकती हैं.काम करवाने के बाद कृत कार्यों को सोशल मीडिया फेसबुक पर अपलोड कर देती हैं.वार्ड पार्षद रानी कुमारी हाथ जोड़कर कहती हैं कि दिनांक 30/03/2022 के गोलघर शिव मंदिर, मस्जिद गली में फॉबिंग करवाया. गंगा किनारे मैदान गली. सेवा ही हमारी एकमात्र धर्म है. आज उनके द्वारा दिनांक 07/04/2022 पुरानी पुलिस लाइन तार घाट में फॉगिंग करवाया गया.बता दें कि कोरोना संक्रमण काल में सैनिटाइजेशन करवाती थीं. उस समय पटना नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग सतर्क थे. इस संदर्भ में विभागीय अधिकारियों का कहना है कि इसमें केमिकल का प्रयोग होता है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. ऐसे में हम लोग बिना अनुमति और प्रोटोकॉल के सैनिटाइजेशन करते थे.  कोरोना संक्रमण से बचने के लिए शहर में लोग खुद ही घर, दुकान, ऑफिस और कॉलोनियों में सैनिटाइजेशन कर रहे थे. शासन की ओर से कोरोना संक्रमण शुरु होने पर सोडियम हाइपो क्लोराइड और ब्लीचिंग पाउडर के मिश्रण से सैनिटाइजेशन की सलाह दी थी. इसके लिए मिश्रण का अनुपात भी बताया गया था. शासन की ओर से घरों में पोछा लगाने और ऐसे स्थान जिन्हें सबसे ज्यादा स्पर्श किया जाता है, उनको दिन में चार से 6 बार सैनिटाइज करने की सलाह दी गई थी. बाद में लोगों ने खुद ही इसके जरिए गली, मोहल्ले और कॉलोनी को सेनेटाइज करना शुरू कर दिया. सैनिटाइजेशन टनल भी बनाई गई और उन्हें शुरु भी किया गया लेकिन, उनके दुष्प्रभाव सामने आने पर ऐसी टनल को बंद कर दिया गया. इसके बाद वार्ड पार्षद रानी कुमारी ने क्षेत्र में फॉगिंग करवाना शुरू कर दी है.हालांकि मच्छरों पर कोई खास असर नहीं पड़ता है.जब तक धुआं रहता है तब तक ही मच्छर कुछ देर के लिए भागते हैं और फिर आ जाते हैं.गौरतलब है कि निगम परिषद की बैठक में पार्षद छिडक़ाव वाली दवाओं की गुणवत्ता पर कई बार गंभीर आरोप लगा चुके हैं, जिसके बाद निगमायुक्त अनुराग वर्मा भी जांच के निर्देश दे चुके हैं लेकिन आज तक जांच रिपोर्ट का कोई अता-पता ही नहीं चल पाया है. पटना नगर निगम की वार्ड पार्षद रानी कुमारी का कहना है कि वार्ड नंबर-27 में रहने वालों किसको नहीं डर लगता है. डर के आगे जीत है. हमें जीतना है.कहो और करो ना महामारी से ही हमें जीतना है. और उससे पूरे देश से मिटाना है.

कोई टिप्पणी नहीं: