बिहार : पढ़ाई पर भी महंगाई की मार, सरकारी स्कूलों में देने होंगे दुगुना फीस - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 3 अप्रैल 2022

बिहार : पढ़ाई पर भी महंगाई की मार, सरकारी स्कूलों में देने होंगे दुगुना फीस

fees-double-in-bihar-governmen-school
पटना : पेट्रोल-डीज़ल, गैस सिलेंडर, खाद्य वस्तुओं की मूल्यों में लगातार हो रहे इजाफे के बाद अब आम आदमी पर बच्चों की फीस का बोझ भी बढ़ गया है। बिहार के सभी माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई महंगी हो गयी है। इसको लेकर शिक्षा विभाग ने कुछ दिन पहले ही आदेश जारी कर दिया है, जिसके बाद नये सत्र में एडमिशन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही अभिभावकों को फीस के लिए अधिक पैसे देने होंगे। जानकारी हो कि, बिहार में अब नौवीं व 11वीं में प्रवेश शुल्क 50-50 रुपये देने होंगे, इससे पहले नौवीं में प्रवेश शुल्क 20 रुपये व 11वीं में प्रवेश शुल्क 15 रुपये थे। इसके साथ ही नौवीं में विकास शुल्क अब एक बार में ही 80 रुपये देने होंगे। इससे पहले यह राशि दो किस्तों में ली जाती थी। वहीं,11वीं में विकास शुल्क अब 200 रुपये लिये जायेंगे जो की पहले 160 रुपये थे। इसके साथ ही उच्च माध्यमिक विद्यालयों में मनोरंजन शुल्क को 3 गुणा बढ़ाते हुए 60 रुपये किया गया है, जबकि विद्युत शुल्क को 60 से बढ़ाकर 80 किया गया है। इसके साथ छात्रों को अब परिचय पत्र के लिए भी शुल्क देय होंगे जो कि पहले मुफ्त में प्रदान किया जाता था। अब प्रवेश पत्र के लिए भी 20 रुपये देने होंगे। माध्यमिक में फॉर्म और प्रोस्पेक्ट्स के लिए भी अब 50 रुपये शुल्क देने होंगे जो पहले मुफ्त में मुहैया कराई जाती थी।

कोई टिप्पणी नहीं: