विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 07 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 7 मई 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 07 मई

लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम का आयोजन आज, कलेक्टर श्री भार्गव ने कार्यक्रम के संपादन हेतु वीसी के माध्यम से अधिकारी कर्मचारियों को निर्देश दिए


vidisha news
मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजनांतर्गत मुख्यमंत्री लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम के संबंध में आज शनिवार की सांय श्री उमाशंकर भार्गव ने नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार में बैठक आयोजित कर वीसी के माध्यम से कार्यक्रम के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। उक्त बैठक में समस्त एसडीएम एवं जनपदों के सीईओ वीसी के माध्यम से जुड़े। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला स्तरीय कार्यक्रम एसएटीआई के केलाश सत्याथी सभागार में आयोजित होगा के परिप्रेक्ष्य में आवश्यक निर्देश दिए हैं इसके अलावा उन्होंने समस्त एसडीएमो, जनपदों के सीईओ एवं अन्य अधिकारी, कर्मचारियों को कार्यक्रम के सकुशल संपादन हेतु निर्देश प्रसारित करते हुए कहा है कि उक्त कार्यक्रम सांय छह बजे से प्रारंभ होगा। सांय सात बजे मुख्यमंत्री जी का संबोधन होगा के परिप्रेक्ष्य में विकासखण्ड एवं जनपद पंचायत स्तर पर पुख्ता प्रबंध कराया जाना सुनिश्चित करने के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों का आमंत्रित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा है कि उक्त कार्यक्रम के प्रबंध पूर्व की भांति ही आयोजित करें। उन्होंने ग्राम पंचायतों में सचिव, जीआरएस सहित आंगनबाड़ी कर्मियों और कोटवारों को भी आयोजन के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना से लाभान्वित बालिकाओं को उनके अभिभावकों के साथ कार्यक्रम में आमंत्रित कराना सुनिश्चित हो के अलावा उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि कार्यक्रम के समापन के उपरांत बालिकाओं को सकुशल घर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी कोटवारों की रहेगी। इसके लिए पृथक-पृथक कोटवारों की जिम्मेदारी तय की जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि उक्त कार्यक्रम का आयोजन नगरीय निकाय स्तर पर भी किया जाना है। इसके लिए उन्होंने एसडीएमों को निर्देश दिए हैं कि कार्यक्रम के संचालन हेतु नगर पालिकाओं का भी सहयोग लें। उन्होंने कहा है कि कार्यक्रम आयोजन के दौरान सभी ग्राम पंचायत खुली रहें का विशेष ध्यान रखा जाए। किसी भी प्रकार की कोई शिकायत ना मिलें, यदि शिकायत मिली तो उसे गंभीरता से लिया जाएगा। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम शासन की महत्वाकांक्षी योजना है। कार्यक्रम आयोजन हेतु आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ग्राम पंचायतों में घर-घर पीले चावल देकर आमजनों को आमंत्रित करें तथा स्व सहायता समूह की महिलाओं को कार्यक्रम में आमंत्रित कराना सुनिश्चित करें। उक्त बैठक में एसडीएम श्री गोपालसिंह वर्मा, ग्यारसपुर एसडीएम श्री तन्मय वर्मा, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे सहित अन्य उपस्थित रहे।


अतिथियों द्वारा किया जाएगा सम्मानित-

लाड़ली लक्ष्मी उत्सव कार्यक्रम अन्तर्गत जिला स्तरीय कार्यक्रम एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह आयोजित किया गया है। उक्त कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय ख्याति अर्जित करने वाली बालिकाओं, शेक्षणिक क्षेत्र में उत्कृष्ट स्थान हासिल कर जिला एवं राज्य स्तरीय प्रवीण्य सूची में स्थान हासिल करने वाली बालिकाओं के अलावा वे दंपत्ति जिन्होंने एक या दो बलिकाओं के जन्म के उपरांत परिवार स्थायी नियोजन अपनाया गया है उन्हें कार्यक्रम स्थल पर अतिथियों के द्वारा सम्मानित किया जाएगा।


लाड़ली लक्ष्मी उत्सव’’ का राज्य स्तरीय कार्यक्रम आज, जिला स्तरीय कार्यक्रम एसएआईटी के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में


राज्य शासन के निर्देशानुसार 2 मई से 11 मई 2022 तक लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मनाया जा रहा है। लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का राज्य स्तरीय कार्यक्रम रविवार 8 मई 22 को भोपाल के लाल परेड़ ग्राउण्ड से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा संबोधित किया जायेगा। जिसका सीधा प्रसारण पूरे प्रदेश के साथ-साथ  जिले में भी किया जायेगा। जिला स्तर कार्यक्रम एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह आयोजित किया गया है।  जिला स्तर पर सीधा प्रसारण जिला, जनपदों एवं ग्राम पंचायत पर किया जायेगा। मौके पर सभी लाड़ली लक्ष्मी परिवारों को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं अन्य विभागों के मैदानी अमलों द्वारा आमंत्रित किया जायेगा। इस अवसर पर ऐसे व्यक्ति महिलाओं को भी आमंत्रित किया जायेगा, जिन्होंने समाज में व्यापक बदलाव का कार्य किया हो, उनका 8 से 10 मिनिट का उद्बोधन भी रखा जायेगा। जिला स्तरीय कार्यक्रम में स्थानीय अतिथियों की उपस्थिति में दीप प्रज्जवलन, माल्यार्पण एवं कन्या पूजन किया जाएगा। ग्राम पंचायत के अलावा संबंधित ग्रामों में भी कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा ताकि लाड़ली लक्ष्मियों को अधिक दूरी न तय करना पड़े।  भोपाल से कार्यक्रम का आयोजन सायं 6ः30 बजे से किया जायेगा। मुख्यमंत्री जी कार्यक्रम में सायं 7 बजे मंचासीन होंगे। इसके पूर्व जिला, जनपद पंचायत स्थलों पर लाड़ली लक्ष्मियों, अभिभावकों सहित एक साथ एक रैली के रूप में स्थानीय वाद्ययंत्रों की संगीतमय प्रस्तुति के साथ लाया जाये, ऐसे निर्देश शासन से प्राप्त हुये है। कार्यक्रम स्थल पर सबको तिलक लगाकर स्वागत किया जायेगा। रैली के दौरान स्थानीय समूहों द्वारा लाड़लियों एवं उनके अभिभावकों पर यथा संभव पुष्प वर्षा की जायेगी। जिला स्तर पर कार्यक्रम के पूर्व तीन लाड़ली लक्ष्मियों का कन्यापूजन किया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में कोटवारों के माध्यम से डोडी पिटवाई जाये साथ ही भजन मंडलियों द्वारा किये जाने वाली प्रभात फेरियों में भी लाड़ली महिमा गान गाया जाने के संबंध में व्यवस्थायें की जायेगी। राज्य से जारी लाड़ली लक्ष्मी पर आधारित गीत का उपयोग सभी कार्यक्रमों में किया जायेगा। स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम के अतिथि सभी लाड़लियों एवं उनके अभिभावकों को स्थानीय सहयोग से प्रसाद, लड्डू, मिठाई, स्वल्पहार वितरण किया जायेगा।


विभिन्न पुरस्कारों के लिए प्रस्ताव 10 मई तक आमंत्रित


युवाओं के लिए स्थापित पुरस्कारों यथा कबीर, शंकराचार्य, गुरु नानक, गौतम बुद्ध, रहीम राज्य सम्मान के प्रस्ताव 10 मई तक आमंत्रित किए गए हैं। जिला स्तर पर प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों के संबंध में पुरस्कार नियमों का उल्लेख किया गया है। इस सम्बन्ध में निर्देश दिए गए हैं कि 10 मई तक प्राप्त आवेदनों को रजिस्टर में तिथिवार पंजीकृत कर अंकित किया जाए। उक्तावधि के पश्चात प्राप्त आवेदन को स्वीकार नहीं किया जाए। 


सीएम हेल्पलाइन की 474 शिकायतों का निराकरण


सीएम हेल्पलाइन के तहत ग्रामीण विकास विभाग अर्थात जनपदों में अप्रैल माह में  दर्ज कुल 1122 शिकायतों के निराकरण हेतु विशेष पहल की जा रही है ।जिसकी मॉनिटरिंग स्वयं जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट कर रहे हैं । उन्होंने सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण हेतु जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओअतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ श्री दयाशंकर सिंह नोडल का दायित्व सौंपा है। नोडल अधिकारी श्री सिंह ने बताया कि प्रत्येक जनपद सीईओ से जीवंत संपर्क बनाकर उन्हें निराकरण के लिए विशेष पहल कर आवेदनों का  शीघ्र अति शीघ्र निराकरण कराए जाने के निर्देश प्रसारित किए गए हैं। जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह ने बताया कि विदिशा जिले के सातों जनपदों में अप्रैल माह मेंकुल 1122 शिकायतें  प्राप्त हुई थी। जिसमें से अब तक 747 शिकायतों का निराकरण संतुष्टि पूर्वक किया जा चुका है। वहीं शेष लंबित शिकायतों का निराकरण भी एक दो दिवस में पूर्ण करने के निर्देश सभी जनपद सीओ को दिए गए हैं। जनपद वार प्राप्त शिकायतें और निराकरण का ब्यौरा इस प्रकार से है जनपद पंचायत बासौदा में 192 शिकायतें प्राप्त हुई थी जिसमें से 126 का निराकरण किया जा चुका है। इसी प्रकार ग्यारसपुर में 125 मे से 96 का, कुरवाई में 106 में से 66 का लटेरी में 294 शिकायतें प्राप्त हुई थी जिनमें से 212 का निराकरण किया जा चुका है। जबकि नटेरन में 112 में से 59 का विदिशा में 140 में से 104 का सिरोज जनपद पंचायत में 153 में से 84 शिकायतों का निराकरण शनिवार सात मई तक किया जा चुका है।


मरीजों को समय पर उपचार मिले- अपर कलेक्टर

  • जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला आयोजन के परिपेक्ष में अंतर विभागीय समन्वय की बैठक संपन्न, जिला स्तरीय दो दिवसीय स्वास्थ्य मेला 18 एवं 19 को

vidisha news
मरीजों का समय पर इलाज हो यही नैतिक जवाबदेही है ,स्वास्थ्य विभाग की इस कार्य में अन्य विभागों का अपना सहयोग प्राप्त कर स्वास्थ सुविधाओं के क्षेत्र में जिले को अग्रणी कर सकते हैं। उक्त आशय के विचार आज अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेले आयोजन के परिपेक्ष में आयोजित बैठक में व्यक्त किए हैं। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य गतिविधियों के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार के अवरोध उत्पन्न ना हो को ध्यान रखते हुए अंतर विभागीय समन्वय कि जहां आवश्यकता है उसे पूरा कराया जाना चाहिए उन्होंने जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेले आयोजन के पहले व्यापक प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए स्वास्थ्य विभाग एवं  निकाय तथा ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों से कहा है कि आयोजन की तिथियों का हर स्तर पर प्रचार प्रसार हो साथी जिन चिकित्सकों विशेषज्ञों की उपलब्धता स्वास्थ्य मेला में की जा रही है। उसकी भी जानकारी हर विभिन्न स्तरों पर प्रचारित करने के निर्देश उन्होंने दिए हैं। अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने जिले के दिव्यांग जनों को भी इस जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेले का लाभ मिले इसके लिए उन्होंने सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक डॉक्टर पीके मिश्रा को स्वास्थ्य मेला परिसर में पृथक से काउंटर लगाए जाने के निर्देश दिए हैं ,साथ ही इस काउंटर पर दिव्यांग जनों को वितरित किए जाने वाले उपकरण संधारित कर आवश्यकता के अनुसार आवेदन प्राप्त होने पर संबंधित दिव्यांग जनों को वितरित कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर अखंड प्रताप सिंह ने बैठक के शुरू में बतलाया की जिला स्तरीय दो दिवसीय स्वास्थ्य मेला 18 एवं 19 मई को आयोजित किया जाएगा। आयोजन के तहत  तैयारियां सुनिश्चित की जा रही हैं। उन्होंने बताया कि इस से पहले 18 से 28 अप्रैल तक  खंड स्तरीय स्वास्थ्य मेलों का आयोजन किया जा चुका है। उन्हें बताया कि  जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेले की सेवाएं लेनी है तो वह भी इस मेले में सम्मिलित होकर प्राप्त कर सकते हैं। सीएमएचओ डॉ अखंड प्रताप सिंह ने जिला स्तरीय स्वास्थ्य महिला आयोजन के लिए निर्धारित रूपरेखा पर प्रकाश डालते हुए बिंदुवार जानकारी दी उक्त बैठक में सिविल सर्जन अधीक्षक डॉ संजय खरे सहित समस्त बीएमओ के अलावा अन्य चिकित्सक गण व अन्य तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। 


सफलता की कहानी : लाडली लक्ष्मी योजना बनी आयुषी के अध्ययन में सहारा, पढ़ाई में होशियार लाडली आयुषी करना चाहती हैं यूपीएससी की तैयारी


vidisha-news
लाडली बालिका आयुषी रैकवार के माता पिता उनकी बालिका को मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ मिलने से काफी प्रसन्न हैं। बालिका आयुषी रैकवार लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ लेकर शैक्षणिक क्षेत्र में अग्रणी है। पढ़ाई में होशियार आयुषी ने लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ लेकर दसवीं कक्षा में 95 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल में टॉप किया तथा 12वीं कक्षा में 87.2 प्रतिशत अंक लाकर कक्षा में दूसरा स्थान हासिल किया है। उन्हें लाडली लक्ष्मी योजना अंतर्गत पढ़ाई के समय 18000 की राशि दी गई है इसके अलावा 21 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद उन्हें विवाह हेतु एक लाख की राशि मुहैया कराई जाएगी। इस प्रावधान के होने से आयुषी के माता पिता श्री विनोद रैकवार एवं श्रीमती हेमा रैकवार बेहद खुश हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री जी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है और अपनी बच्ची के अध्ययन हेतु सहयोग भी कर रहे हैं। आयुषी ने बताया कि वह स्कूल स्तर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों संगीत, ड्राइंग, नाटक, मेहंदी जैसी प्रतियोगिताओं में भी सक्रिय हैं। उन्होंने बताया कि वह भविष्य में यूपीएससी की तैयारी करना चाहती हैं। जिसमें लाडली के माता-पिता हर संभव प्रयास कर बालिका को प्रोत्साहित करते हैंं।

कोई टिप्पणी नहीं: