बिहार : PMCH नर्सिंग छात्राओं के सवाल पर महबूब आलम ने सीएम से बात की - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 13 मई 2022

बिहार : PMCH नर्सिंग छात्राओं के सवाल पर महबूब आलम ने सीएम से बात की

mahboob-alam-alk-cm
पटना 13 मई, जीएनएम नर्सिंग छात्राओं का हॉस्टल पटना के पीएमसीएच से वैशाली के राजापाकड़ शिफ्ट किए जाने के मसले पर आज माले विधायक दल के नेता महबूब आलम ने बिहार के सीएम श्री नीतीश कुमार से टेलीफोनिक वार्त्ता की. माले नेता ने कहा कि सरकार का यह फैसला कहीं से उचित प्रतीत नहीं होता है. इससे छात्राओं को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ेगा. उन्होंने आंदोलन के दौरान छात्राओं पर किए गए बर्बर लाठीचार्ज के मसले को भी उठाया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मसले को गंभीरता से सुना. उन्होंने कहा कि चूंकि वे अगले दो दिन के लिए दिल्ली जा रहे हैं इसलिए अपना लिखित पत्र उनके निजी सहायक को दे दें. मुख्यमंत्री महोदय ने कहा कि वे स्वास्थ्य विभाग के सचिव को इस मामले में उचित कार्रवाई करने का निर्देश दे देंगे. माले विधायक महबूब आलम ने यह भी कहा कि यदि एक जगह संभव ना हो तो अलग-अलग बैच को अलग-अलग जगहों पर शिफ्ट किया जा सकता है, लेकिन इसे पटना में ही किया जाना चाहिए ताकि छात्राएं बेवजह की परेशानी का सामना न करें. आंदोलन के दौरान नर्सिंग छात्राओं पर बर्बर लाठीचार्ज हुआ, पीएमसीएच प्रशासन का रुख इन लड़कियों के प्रति बहुत ही कठोर रहा है और आंदोलन का बहाना बनाकर उनके ऊपर कार्रवाई की भी धमकी दी जा रही है. यह सरासर अन्याय है और इसे तत्काल रोकने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए. नर्सिंग छात्राओं के बीच बर्बर लाठीचार्ज और पीएमसीएच प्रशासन के असंवेदनहीन रुख के बाद भय का माहौल व्याप्त है. सरकार अपनी ओर से पहल करके जीएनएम नर्सिंग छात्राओं को आश्वासन दे कि उन्हें भविष्य में किसी भी प्रकार के संकट का सामना नहीं करना पड़ेगा. विदित हो कि पीएमसीएच से अपना हॉस्टल वैशाली के राजापाकर में शिफ्ट किए जाने के खिलाफ जीएनएम नर्सिंग छात्राओं ने लगातार आंदोलन किया.आइसा और ऐपवा ने इस आंदोलन का सक्रिय समर्थन किया. पुलिस ने बहुत ही बर्बरता के साथ छात्राओं पर लाठीचार्ज किया. लाठीचार्ज में कई लोग घायल हुए थे और फिर जबरदस्ती छात्राओं के आंदोलन को वहां से हटा दिया गया.

कोई टिप्पणी नहीं: