विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 मई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 9 मई 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 09 मई

नीति आयोग के पैरामीटर अनुसार किस प्रकार की मदद चाहिए अधिकारी स्वयं बताएंगे- कलेक्टर श्री भार्गव


vidisha news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को नीति आयोग के पैरामीटर अनुसार क्रियान्वित कार्यों की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अब संबंधित विभागों के अधिकारी स्वयं ही बैठक में बताएंगे कि जिला प्रशासन अथवा अन्य विभागों से किस प्रकार का सहयोग अथवा मदद चाहिए ताकि नीति आयोग के निर्धारित पैरामीटरों अर्थात केपीआई के अनुरूप प्रदेश, राष्ट्रीय स्तर पर विदिशा जिले की रैंकिंग में वृद्धि हो। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि पिछले छह माह से आकांक्षी जिलों की सूची में विदिशा जिला अनेक पैरामीटरों पर लगातार नीचे होता जा रहा है। संबंधित अधिकारी इस ओर विशेष ध्यान दें। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने नीति आयोग के द्वारा जारी देश के 112 आकांक्षी जिलों में प्रभावी ढंग से बदलाव लाने के उद्देश्य से एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्टस प्रोग्राम लागू किया गया है। यह कार्यक्रम केन्द्र व राज्य सरकार के सहयोगात्म प्रयासों और मासिक डेल्टा के माध्यम से जिलों के बीच प्रतिस्पर्धा के साथ तत्काल सुधार के लिए प्रत्येक जिले की क्रियान्वित कार्यों पर केन्द्रित है। उन्होंने बताया कि व्यापक सामाजिक, आर्थिक विषयों पर आधारित रैंकिंग, कौशल विकास एक संकेतक है। जो प्रमाण, प्लेसमेंट, शिक्षा, पूर्व शिक्षा की मान्यताएं और कौशल प्रशिक्षण वर्ग में उपलब्धियों के आधार पर जिले की रैंकिंग का निर्धारण करता है। बैठक में बताया गया कि एस्पिरेशनल डिस्ट्रक्टस प्रोग्राम में विदिशा जिले के संदर्भ में नीति आयोग द्वारा जो विशेष ध्यान देने के इंडिकेटर तय किये हैं उनमें कौशल विकास डौमेन में निम्नलिखित केपीआई पर विशेष रूप से प्रदर्शन अन्य जिलों की तुलना में पिछड़ा है। खासकर अल्प अवधि या दीर्घ अवधि प्रशिक्षण योजनाओं में प्रमाणित युवाओं का प्रतिशत नहीं खासकर जिले में 15 से 29 आयुवर्ग युवाओं की संख्या प्रशिक्षण कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो रही है ततसंबंध में उन कारणों पर आधारित समुचित जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश आईटीआई प्राचार्य व जिला रोजगार अधिकारी को संयुक्त रूप से दिए जाएं। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई इस बैठक में नीति आयोग के निर्धारित पैरामीटरों को क्रियान्वित कराने वाले विभागों के अधिकारियों के साथ-साथ अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहें। 


सोंठिया फाटक से कलेक्ट्रेट पहुंच मार्ग का निर्माण कार्य आज से शुरू करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देश दिए है कि सौंठिया फाटक (अण्डर ब्रिज) से नवीन कलेक्ट्रेट तक पहुंच सड़क मार्ग का निर्माण कार्य मंगलवार की प्रातः सात बजे से शुरू कराने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि सड़क निर्माण में आने वाली सभी बाधाओं का समाधान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि मंगलवार की प्रातः सात बजे मैं स्वंय पहुंचकर अपनी उपस्थिति में निर्माण कार्य की शुरूआत कराऊंगा। उन्होंने प्रातः सात बजे जिन-जिन विभागों के अधिकारियों को उपस्थित होने के निर्देश दिए है उनमें मुख्य नगरपालिका अधिकारी, खेल विभाग, स्वास्थ्य विभाग, लोक निर्माण विभाग, एसडीएम एवं तहसीलदार शामिल है। 


सीएम हेल्पलाइन में निराकरण की गति बनाएं रखें-कलेक्टर श्री भार्गव


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को साप्ताहिक लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक में सीएम हेल्पलाइन के तहत दर्ज आवेदनों की विभागवार गहन समीक्षा की है। सीएम हेल्पलाइन के निराकरण मामलों में सोमवार नौ मई को जारी रैंकिंग सूची में विदिशा जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। कलेक्टर श्री भार्गव ने सभी विभागों के अधिकारियों खासकर जिन विभागों में सीएम हेल्पलाइन के आवेदन लंबित है उन विभागों के अधिकारियों से कहा है कि निराकरण की तीव्र गति इस प्रकार बनाए रखें ताकि जिलो की मासिक रैकिंग जारी होने पर विदिशा जिला इसी प्रकार अव्वल स्थान पर बना रहें। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला अधिकारियों के साथ-साथ व्हीसी के माध्यम से खण्ड स्तरीय अधिकारियों से निराकरण के संबंध में विस्तृत संवाद कर अपडेट स्थिति से अवगत हुए है। बैठक में बताया गया कि जिले के पीडब्ल्यूडी, जल संसाधन, चिकित्सा शिक्षा, श्रम, आदिम जाति कल्याण विभाग, पिछडा वर्ग अल्पसंख्यक कल्याण, उद्यानिकी, इन विभागों के द्वारा बैटेज 15 प्रतिशत से कम अंक हासिल किए गए है। अतः संबंधित विभाग के अधिकारी विशेष पहल करें।


शिविर

कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों के निराकरण मामलों में विभागों के अधिकारियों को किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना ना करना पडे़ इसके लिए जिला एवं अनुविभाग स्तर पर विशेष शिविरों का आयोजन मई माह की जारी तिथियो में किया जा रहा है। उन्होंने समस्त जिलाधिकारियो से कहा है कि नवीन कलेक्ट्रेट के ई-दक्ष केन्द्र में उपस्थित होकर सीएम हेल्पलाइन संबंधी आवेदनों के निराकरण संबंध में की जा रही पहल का अवश्य ही लाभ उठाएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि अनुविभाग स्तर पर आयोजित होने वाले निराकरण शिविरो में संबंधित विभाग के द्वारा आवेदकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराई जानी है इस कार्य में किसी भी विभाग के द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उसके खिलाफ कार्यवाही का प्रस्ताव शीघ्र प्रेषित करें। प्रत्येक एसडीएम शिविर के उपरांत निराकरण आवेदनों की विभागवार जानकारी जिला नोडल अधिकारी को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। बैठक में बताया गया कि अपै्रल माह में विभिन्न विभागों को कुल छह हजार आवेदन सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से प्राप्त हुए थे जिनमें से 4500 आवेदनों का संतुष्टिपूर्वक निराकरण किया जा चुका है शेष 1500 आवेदनों का निराकरण 20 मई के पहले सुनिश्चित करें ताकि 20 तारीख के बाद जारी होने वाली जिलो की प्रदेश स्तरीय रैकिंग सूची में विदिशा जिला पिछड़ ना पाए।


रात्रि चौपाल का आयोजन प्रत्येक माह में दो बार


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि लटेरी अनुविभाग क्षेत्र के दूरस्थ ग्रामों में रात्रि चौपाल का आयोजन कर ग्रामीणजनों की समस्याओं के निदान की पहल करें। गौरतलब हो कि ग्रामीणजनों के मूलभूत समस्याओं से अवगत होकर ग्राम में ही उनका निराकरण कराया जाना संभव हो साथ ही ग्रामीणजनों को शासन की नवीन योजनाओं की सुगमता से जानकारियां देने के उद्धेश्य से जिले में रात्रि चौपालों का आयोजन किया जा रहा है कि जानकारी देते हुए जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि अब प्रत्येक माह में दो बार रात्रि चौपालों का आयोजन शुक्रवार की रात्रि में किया जाएगा। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने बताया कि रात्रि चौपाल एक साथ 30 से 40 गांवो में आयोजित की जाएगी इसके लिए विभागों के वाहनो का भी अधिग्रहण किया जाएगा ताकि ऐसे अधिकारी जिनके पास वाहन नही है  व रात्रि चौपाल के निधारित संबंधित ग्राम में सुगमता से पहुंचकर विभागीय योजनाओं का जानकारी देकर और ग्रामीणजनों की समस्याओं का निदान कर सकें। प्रत्येक ग्राम में जिलाधिकारी और उनके अधीनस्थ ग्रामों में आयोजित होने वाली चौपाल कार्यक्रम में अनिवार्यतः शामिल होना सुनिश्चित करेंगे।


बीमा संबंधी शिकायतों के निदान हेतु शुक्रवार को बैठक आयोजित


किसानों की बीमा संबंधी शिकायतों के निराकरण हेतु विशेष पहल की जा रही है। ततसंबंध में बीमा संबंधी शिकायतों को हल कराते हुए किसानों के खातो में बीमा राशि शीघ्र जमा हो इसके लिए विशेष बैठक शुक्रवार 13 मई को आयोजित की गई है उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह की अध्यक्षता में नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सायं पांच बजे से शुरू होगी। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने किसानो के फसल बीमा संबंधी शिकायतों के निराकरण हेतु कृषि विभाग, लीड़ आफीसर को समुचित जानकारियों सहित उपस्थित होने के निर्देश दिए है।


शिक्षा विभाग के कर्मचारियों की सर्विस बुक अपडेट करें


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान स्कूल शिक्षा विभाग की शिकायतों के निराकरण पर बल देते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए है कि स्कूल शिक्षा विभाग में पदस्थ सभी कर्मचारियों की सेवा पुस्तिकाएं आगामी 15 दिवस में अपडेट की जाए। यह कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त एसडीएमों को निर्देश दिए है कि स्कूलों के निरीक्षण के दौरान पदस्थ शिक्षकों सहित अन्य स्टाफ की सेवा पुस्तिकाएं अपडेट हुई है कि नहीं का जायजा जरूर लें। उन्होंने कहा कि अनेक स्तर पर इस प्रकार की शिकायतें प्राप्त हो रही है कि स्कूल शिक्षा विभाग के कर्मचारियों को उनके विभागीय कर्मचारी ही परेशान कर रहे है। यह खुलासा सीएम हेल्पलाइन के लंबित आवेदनों की समीक्षा के दौरान संज्ञान में आया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए है कि सभी कर्मचारियों की सेवा पुस्तिकाएं अपडेट कराएं जिसमें कर्मचारी संबंधी तमाम जानकारियां शासन के नियमानुसार अंकित कराए जाए। वहीं कर्मचारियों के अवकाश सहित अन्य दावो का भी निराकरण उक्त अवधि में शत प्रतिशत किया जाए। 


जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला 18 एवं 19 को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने 18 एवं 19 मई को आयोजित होने वाला जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला की तैयारियों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला में भोपाल से वरिष्ठ चिकित्सगण अपनी सेवाएं देने हेतु उपस्थित रहेंगे जिसमें बंसल हास्पिटल, चिरायु, मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक शामिल रहेंगे। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि दो दिवसीय स्वास्थ्य मेला श्रीमंत माधवराव सिंधिया शासकीय जिला चिकित्सालय प्रागंण में आयोजित किया जाएगा। इस स्वास्थ्य मेला में दिव्यांगजनों के स्वास्थ्य परीक्षण सहित प्रमाण पत्र जारी करने का कार्य किया जाएगा। इसके अलावा खण्ड स्तरीय स्वास्थ्य मेला में चिन्हित ऐसे मरीज जिनका इलाज जिला मुख्यालय पर संभव है उन सबको भी इस शिविर में शामिल होने हेतु सूचित किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि विकासखण्ड स्तरों पर चिन्हित ऐसे दिव्यांगजन अथवा गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीजो को लाने-ले-जाने की सुविधा खण्ड चिकित्सा अधिकारी के माध्यम से सुनिश्चित कराई जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि नाक, कान, गला से संबंधित चिकित्सा विशेषज्ञ अपनी सेवाएं देने हेतु उपस्थित रहेंगे अतः जिले के ऐसे मरीज जिन्हें पूर्व उल्लेखित से संबंधित कोई समस्या है तो वे अवश्य इस शिविर का लाभ उठाएं। उन्होंने नाक, कान, गला के परीक्षण हेतु पृथक से काउंटर बनाए जाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए है कि मेडिकल बोर्ड में जिन चिकित्सकों को शामिल किया जाता है वे समय पर उपस्थित होकर मेडिकल बोर्ड में शामिल होने वालो का परीक्षण कर प्रमाण पत्र जारी करने की कार्यवाही क्रियान्वित की जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गुरूवार को मेडिकल बोर्ड के द्वारा परीक्षण किया जा रहा है इसके बावजूद भी ऐसे रोग विशेषज्ञो की उपस्थिति ना होने के कारण उन्हें पृथक से आगामी बोर्ड में उपस्थित होने हेतु सूचनाएं दी जाती है जो कदापि उचित नहीं है अतः मेडिकल बोर्ड के समक्ष जो भी परीक्षण कराने हेतु नागरिक उपस्थित होते है उनके तमाम निर्धारित पैरामीटर अनुसार उसी दिन सुनिश्चित हो।


आपदा प्रबंधन, पूर्व तैयारियों की बैठक सम्पन्न


वर्षाकाल के दौरान जिले में किसी भी प्रकार की क्षति ना हो इसके लिए किए जाने वाले प्रबंधनों पर आज विचार विमर्श किया गया। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में आहूत इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदावंन सिंह, जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, समस्त विभागों के अधिकारी तथा व्हीसी के माध्यम से खण्ड स्तरीय अधिकारी शामिल हुए ।  कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि हर विभाग को अपनी-अपनी कार्ययोजना तैयार कर इसकी प्रति उपलब्ध कराने के निर्देश पूर्व में प्रसारित किए गए है जिसमें मुख्य रूप से नोड्ल अधिकारी एवं उसके सहायक का नाम एवं सम्पर्क नम्बर, बाढ़ आपदा प्रबंधन के संबंध में बचाव स्त्रोतों की जानकारी दी जानी है। उन्होंने कहा कि किसी प्रकार की बैठक समस्त एसडीएम अपने स्तर पर आहूत कर स्थानीय स्तर पर किए जाने वाली प्रबंधनों की सूची संधारित करें। इस दौरान बाढ़ के प्रकार, बाढ़ से खतरा, बाढ़ के प्रभाव, बाढ़ के दुष्परिणामों को बढाने वाले कारक तैयार योजना, पूर्व चेतावनी तंत्र, निर्धारित स्थलों की तैयारियां, बाढ़ के पहले की तैयारी, आपातकालीन वस्तुएं, बाढ़ के दौरान त्वरित किए जाने वाले कार्य, प्रभावितों को राहत शिविरों में ठहराने के प्रबंध, बाढ़ संबंधी चेतावनी देने, चेतावनी के उपरांत किए जाने वाले कार्य, पानी में डूबे व्यक्ति की सहायता, बाढ़ के बाद सामान्य जनजीवन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि प्रत्येक तहसील में विभाग के माध्यम से चार-चार गोताखोर, लाइफ जैकेट, नाव मुहैया कराई गई है। उन्होंने स्थानीय स्थलों के नवीने गोताखोरो की सूची तैयार कर एक प्रति होमगार्ड कार्यालय को उपलब्ध कराने का आग्रह किया। बाढ़ पूर्व तैयारियों के संबंध में की जाने वाली कार्यवाही, बाढ़ के दौरान राहत एवं बचाव कार्यो की चेकलिस्ट भी सभी अधिकारियों को प्रदाय की गई। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जिले में जो भी जलाश्य, नदियां है जिनके माध्यम से वर्षारूपी जल बस्तियों, शहर में भरता है का चिन्हांकन पूर्व में किया जा चुका है। इसके अलावा और नए क्षेत्रों में जलभराव की संभावना हो तो उसकी सूची तैयार की जाए। वर्षाकाल के दौरान स्थानीय एसडीएम, तहसीलदार सतर्क रहें और जिला कार्यालय, राज्य के बाढ़ आपदा कंट्रोल रूम से सतत सम्पर्क बनाए रखें। बांधो का पानी छोड़ने से पूर्व संबंधित क्षेत्रों के रहवासियों को चेतावनी दी जाए। बाढ़ के दौरान किसी भी प्रकार से जनहानि ना हो के प्रबंध पूर्व में सुनिश्चित किए जाए। इसी प्रकार पशु हानि भी ना हो पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित कराए जाने पर उन्होंने बल दिया। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि जिन विभागों की सड़कों पर पुल-पुलिया है कि सूची तैयार की जाए और बाढ़ से प्रभावित होने वाली पुल-पुलियों पर बेरीकेट् लगाने और चौकीदार तैनात करने की जबावदेंही संबंधित विभाग की होगी। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम का गठन किया जाता है ठीक वैसे ही तहसील स्तरों पर कार्यवाही की जाए। उन्होंने तहसीलों पर स्थापित वर्षामापी यंत्रो की जानकारियां प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावितों को जिन राहत शिविरों में रखा जाएगा की सूची पूर्व में तैयार करने और राहत शिविरों में तमाम बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति कराए जाने के निर्देश दिए।


टीम गठन

आपदा प्रबंधन के तहत जिला मुख्यालय, तहसील, ग्राम पंचायत और ग्राम स्तर पर टीम गठित करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिए गए। प्रत्येक टीम में पांच-पांच सदस्यों के अलावा स्थानीय गणमान्य नागरिकों को भी शामिल किया जाएगा।


राहत शिविर

कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि बाढ़ आपदा के दौरान प्रभावितों को जिन स्थलों, स्कूलों में रूकवाने की व्यवस्था की जाती है वहां पर्याप्त बुनियादी सुविधाएं पूर्व में ही ईजाद की जाए।


उपकरणों का परीक्षण

कलेक्टर श्री भार्गव ने बाढ़ से बचाव के दौरान उपयोग में लाई जाने वाली सामग्री की जांच पड़ताल पूर्व में करने के निर्देश दिए है। 


नोड्ल अधिकारी

कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि प्रत्येक विभाग के नोड्ल अधिकारी वर्षाकाल अवधि में सतत सम्पर्क में बने रहेंगे। आवश्यकता पड़ने पर अमले सहित बचाव राहत स्थल पर अविलम्ब पहुंचेगे। उन्होंने ऊर्जा विभाग और नगरपालिका की एक-एक टीम पुलिस थानों में समुचित उपकरणों सहित मौजूद रहेगी।


आठ नए विद्युत उपकेन्द्र स्वीकृत


विदिशा जिले में आठ नए विद्युत उपकेन्द्र स्वीकृत किए गए है कि जानकारी सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के उप महाप्रबंधक श्री अवधेश त्रिपाठी ने दी। उन्होंने बताया कि नए विद्युत उपकेन्द्र कुरवाई एवं ग्यारसपुर विकासखण्ड में क्रमशः दो-दो, बासौदा में तीन तथा नटेरन विकासखण्ड में एक विद्युत उपकेन्द्र स्वीकृत किया गया है इन उपकेन्द्रों के निर्माण हेतु राशि प्राप्त हो चुकी है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने संबंधित विकासखण्ड क्षेत्र के अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए है कि निर्माण कार्य के लिए जमीन आवंटन की कार्यवाही शीघ्रतिशीघ्र करे ताकि विद्युत उपकेन्द्रों का निर्माण कार्य शीघ्र पूर्ण हो सकें।


पहुंचविहिन ग्राम में अनाज का भण्डारण कराएं


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सोमवार को लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक में जिले के ऐसे दूरस्थ ग्राम जो वर्षाकाल में पहुंचविहिन हो जाते है उन ग्राम क्षेत्रों की उचित मूल्य दुकानों में अग्रिम अनाज भण्डारण के कार्यो की भी समीक्षा की है। बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रशिम साहू ने बताया कि जिले की एक मात्र ग्राम बासौदा विकासखण्ड में है इस उचित मूल्य दुकान में वर्षाकाल के दौरान पहुंचविहिन होने वाली बावली उचित मूल्य दुकान में तीन माह का कार्डधारकों की मात्रा के आधार पर अग्रिम खाद्यान्न भण्डारण का कार्य नागरिक आपूर्ति निगम के माध्यम से क्रियान्वित किया जा रहा है।


अजय, विजय के इलाज प्रबंध सुनिश्चित करें


vidisha news
शमशाबाद विधायक श्रीमती राजश्री सिंह ने आज नटेरन विकासखण्ड के ग्राम इकोदिया के जुड़वा अजय, विजय का इलाज के संबंध में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव से चर्चा की। कलेक्टर श्री भार्गव ने कलेक्ट्रेट में मौजूद दोनो बच्चो की प्रारंभिक जांच मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी व सिविल सर्जन से कराने के उपरांत दोनो बच्चों के इलाज के तमाम प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए है। आठ वर्षीय जुड़वा अजय, विजय के पिता श्री भूरे सिंह जाटव ने दोनो बच्चों के जन्म उपरांत शारीरिक परेशानियों की जानकारी चिकित्सकों को दी। मानसिक एवं शारीरिक निःशक्तता से ग्रस्त अजय, विजय को 18 मई को आयोजित होने वाले जिला स्तरीय स्वास्थ्य मेला में पहुंचाने के प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश नटेरन बीएमओ को दिए गए है। कलेक्टर श्री भार्गव ने बच्चों के माता-पिता से चर्चा कर उन्हें शासन की अन्य योजनाओं का लाभ प्राप्त हो रहा है कि नहीं की भी जानकारी ली। मौके पर मौजूद सामाजिक न्याय विभाग के प्रभारी उप संचालक डॉ पीके मिश्रा को आवश्यक निर्देश दिए गए है।

सामान्य सभा समिति की द्वितीय बैठक आज


चिकित्सा, शिक्षा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री विश्वास सारंग की अध्यक्षता में अटल बिहारी वाजपेई शासकीय स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय विदिशा की सामान्य सभा समिति की द्वितीय बैठक आज मंगलवार 10 मई 2022 की दोपहर 12 बजे से बल्लभ भवन, भोपाल के कक्ष क्रमांक 310, सभागृह में आयोजित की जाएगी। अटल बिहारी वाजपेई शासकीय स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय के अधिष्ठाता एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि भोपाल में आयोजित उक्त बैठक में विदिशा की सामान्य सभा समिति के सदस्य उक्त बैठक में उपस्थित रहेंगे। 


पेयजल कार्यो की समीक्षा 12 को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में पेयजल संबंधी कार्यो की समीक्षा बैठक गुरूवार 12 मई को आयोजित की गई है यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में दोपहर तीन बजे से शुरू होगी। कलेक्टर श्री भार्गव ने उक्त बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग से संबंधित सभी इंजीनियर, ठेकेदारों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने के निर्देश कार्यपालन यंत्री श्री संतोष साल्वे को दिए है। उन्होंने कहा कि इस बैठक में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना को क्रियान्वित कराने वाले विभागो के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे ताकि नलजल योजना के कार्यो के दौरान जहां सड़कों की क्षति हुई है उन ग्राम क्षेत्रों की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्ति के उपरांत मरम्मत संबंधी कार्य एक जून के पहले पूरा कराया जा सकें।


समाधान ऑन लाइन कार्यक्रम स्थगित


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि मंगलवार दस मई को आयोजित होने वाली समाधान ऑन लाइन कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों से स्थगित हुआ है। आयोजन की नवीन तिथि पृथक से जारी की जाएगी।


सीएम हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों के निराकरण हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त


सीएम हेल्पलाइन की लंबित शिकायतों के निराकरण हेतु कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन पोर्टल 181 पर विभिन्न विभागों की शिकायतें अधिक संख्या में लंबित हैं। माह के 20 तारीख को ग्रेडिंग जारी की जाती है एवं जिले की ग्रेडिंग में सुधार लाने हेतु सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों के निराकरण हेतु नोडल अधिकारियों को दायित्व सौंपे गए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग हेतु जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग हेतु लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के श्री महेंद्र विश्वकर्मा, खाद्य आपूर्ति विभाग हेतु कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी सुश्री मिताली मेहरा, किसान कल्याण एवं कृषि विभाग हेतु श्री महेंद्र ठाकुर, लोक स्वास्थ्य विभाग हेतु प्रभारी डीएचओ डॉक्टर भूपेंद्र चौहान, जिला अस्पताल हेतु पीजीएमओ जिला अस्पताल डॉ विवेक गुप्ता, नगर पालिका हेतु एपीओ डूडा श्री केडी पांडे, महिला एवं बाल विकास विभाग हेतु महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक विभाग हेतु श्रीमती गायत्री शर्मा, फसल बीमा सहकारिता हेतु कॉपरेटिव बैंक के सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह, श्रम विभाग हेतु श्रम अधिकारी श्री रामचरण संतोरे, शिक्षा विभाग हेतु एमएलबी प्राचार्य श्री विनोद चौधरी के अलावा जिला शिक्षा केंद्र हेतु सह समन्वयक बीएसी संजय श्रीवास्तव एवं ऊर्जा विभाग हेतु सहायक यंत्री श्री अखिलेश को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। 


स्टॉक घोषणा के संबंध में बैठक आज


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में खाद्य, तेलो, तिलहनों के स्टॉक की घोषणा संबंधी बैठक मंगलवार दस मई को आयोजित की गई है यह बैठक नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सायं पांच बजे से शुरू होगी। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के प्रमुख सचिव द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुरूप विदिशा जिले में भी खाद्य तेल एवं तिलहन व्यापारी नियंत्रण आदेश के परिपालन में जिले के संबंधित व्यापारियों जिसमें थोक विक्रेता, फुटकर विक्रेता एवं रिफायनर, मिलर, कमीशन अभिकर्ता, एक्सट्रेक्टर, आयातक एवं निर्यातक को कलेक्टर द्वारा आयोजित बैठक में विधिवत संसूचित किया गया है ताकि संबंधितों के खाद्य तेल, तिलहनो के स्टॉक की जानकारियां संस्थानों पर प्रदर्शित करने की कार्यवाही सुनिश्चित हों।

कोई टिप्पणी नहीं: