धर्म के नाम पर हत्या के विरोध में हिंदूवादी संगठनों ने निकाला संकल्प मार्च - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 9 जुलाई 2022

धर्म के नाम पर हत्या के विरोध में हिंदूवादी संगठनों ने निकाला संकल्प मार्च

hindutva-organizations-took-out-a-resolution-march-in-delhi
नयी दिल्ली, 09 जुलाई, हिंदूवादी संगठनों ने उदयपुर और अमरावती में कट्टरपंथियों द्वारा धर्म के नाम पर की गयी हत्याओं के खिलाफ राजधानी में विभिन्न हिंदूवादी संगठनों के बैनर तले शनिवार को एक मार्च निकाला गया और जंतर- मंतर के पास जोरदार प्रदर्शन किया गया। हाथ में तिरंगा और भगवा ध्वज लेकर प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी एक फिल्म निर्माता द्वारा मां काली का अपमानजनक चित्रण किए जाने का विरोध कर रहे थे। मार्च पूर्वाह्न 10 बजे मंडी हाउस से शुरू होकर जंतर-मंतर पर समाप्त हुआ, जिसका आयोजन हिंदुओं के खिलाफ जिहादी प्रवृति के लोगो द्वारा जारी हिंसा की घटनाओंके विरोध में किया गया। प्रदर्शन में विश्व हिंदू परिषद (विहिप), बजरंग दल और उनके कई सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ता और बड़ी संख्या में अन्य लोग शामिल थे। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि भारत संविधान से चलेगा ना कि किसी धर्म विशेष के कानून से। प्रदर्शन में शामिल लोगों में महिलाएं और बच्चों भी शामिल थे। इसमें अधिकतर ने भगवा वस्त्र या भगवा अंगवस्त्र पहन रखा था। विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा,' हिंदुओं पर हो रहे हमले ठीक नहीं हैं। कानून बचाने के लिए हिंदू समाज आज बाहर आया है।' उन्होंने कहा कि हिंदुओं को कोई विभाजित नहीं कर सकता और कोई डरा भी नहीं सकता। विहिप ने पूरे देश में हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है, जिस पर किसी हिंदू को अगर धमकी दी जाती है तो उसे बजरंग दल द्वारा सुरक्षा दी जायेगी। दिल्ली भाजपा के नेता कपिल मिश्रा ने कहा,'संविधान की रक्षा के लिए ये संकल्प मार्च है। भारत संविधान से चलेगा, भारत शरीयत से नहीं चलेगा जो कन्हैया, उमेश कोल्हे के साथ हुआ है उससे समस्त हिन्दू समाज मे आक्रोश है। कानून तोड़ने वाले सड़क पर आ सकते हैं तो संकल्प लेकर संविधान का पालन करने वाले भी सड़क पर आ सकते हैं।' हिंदु संगठनों के प्रदर्शन के कारण सिकंदरा रोड, बाराखम्‍भा रोड, कॉपरनिकस मार्ग, फिरोजशाह रोड, भगवान दास रोड, कस्‍तूरबा गांधी मार्ग, टॉल्सटॉय मार्ग, संसद मार्ग पर (कनॉट प्‍लेस से पटेल चौक) और जनपथ पर यातायात प्रभावित रहा। पुलिस ने पहले ही इन मार्गों पर यात्रा करने से बचने की सलाह दी थी। 

कोई टिप्पणी नहीं: