मधुबनी : मिथिला चित्रकला संस्थान के लोगो डिजाइन प्रतियोगिता का होगा आयोजन। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 अगस्त 2022

मधुबनी : मिथिला चित्रकला संस्थान के लोगो डिजाइन प्रतियोगिता का होगा आयोजन।

mithila-chitrakala-sansthan
मधुबनी, जिला पदाधिकारी -सह- निदेशक, मिथिला चित्रकला संस्थान, मधुबनी के निर्देश के आलोक में मिथिला चित्रकला संस्थान के प्रतीक चिन्ह से संबंधित लोगो (स्लोगन के साथ) डिजाइन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। जिसका अंतिम तिथि 14.08.2022 के संध्या 05.00 बजे तक है। लोगो प्रतियोगिता में चयनितों को 5000/- (पाँच हजार) रूपये नगद पुरूस्कार भी दिया जायेगा। लोगो प्रतियोगिता में शामिल होने एवं लोगो डिजाइन को लेकर निम्न नियमों का पालन करना होगा:- 

1. इस प्रतियोगिता में मधुबनी के सभी इच्छुक व्यक्ति, पेशेवर, कलाकार, गैर पेशेवर व्यक्ति एवं एजेंसियाँ भाग ले सकते है। प्रविष्टि एक व्यक्तिगत परियोजना या टीम परियोजना के रूप में दी जा सकती है। 

2. प्रविष्टि देते समय प्रतिभागी का प्रोफाईल जिसमें नाम, पता एवं मोबाईल नम्बर आदि हो, दिया जाना अनिवार्य होगा तथा इसके लिए संलग्न रजिस्ट्रेशन फार्म भरना आवश्यक है। 

3. प्रविष्टि के साथ डिजाईन और इस आशय की संक्षिप्त व्याख्या की जाय कि किस प्रकार यह मिथिला चित्रकला संस्थान के उद्देश्यों को सर्वोत्तम रूप से प्रस्तुत करेगी।* 

4. विजेता वाली डिजाइन मिथिला चित्रकला संस्थान की बौद्धिक संपदा होगी और इसका उपयोग सूचना, शिक्षा और संचार सामग्रियों के लिए और साथ हीं ऐसे किसी भी अन्य कार्य के लिए किया जा सकेगा जो उचित समझा जाय। आवश्यक होने पर मिथिला चित्रकला संस्थान, मधुबनी मूल रूप से बदलाव कर सकेगा। 

5. यह ध्यान रहे कि लोगो और स्लोगन मौलिक हो और इससे भारतीय कॉपीराईट अधिनियम, 1957 (INDIAN COPYRIGHT ACT,1957) के किसी भी प्रावधान का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। लोगो/फोटो के डिजाइन से किसी भी अन्य व्यक्ति/संस्थान के बौद्धिक संपदा अधिकारों का भी उल्लंघन नहीं होना चाहिए। इसकी जिम्मेवारी प्रतिभागी की होगी और इसके किसी विवाद के लिए मिथिला चित्रकला संस्थान, मधुबनी जिम्मेवार नहीं होगा। 

6. रचना मौलिक होना चाहिए एवं दूसरे की रचनाओं की चोरी नहीं होनी चाहिए। 

7. कोई प्रतिभागी एक से अधिक (अधिकतम पाँच) प्रविष्टि भी भेज सकते है। 

8. प्रतियोगिता के विजेता को डिजाइन यथा संभव ऐसे ओपन फाइल फॉर्मेंट में भी प्रस्तुत करना होगा, जिसे आवश्कतानुरूप संपादित किया जा सकें। 

9. प्रतिभागी केवल jpeg/jpg/png or pdf फार्मेट में हीं लोगो और स्लोगन अपलोड कर सकते है/mithilachitrakalasansthan@gmail.com भेज सकते है या फिर हाथ से बनाया हो सकता है। अंतिम रूप से तैयार डिजाइन का आकार निम्न प्रकार से होगा:- हाथ से बनाये गये लोगो का आकार 04 सेमी X 20 सेमी एवं कम्प्यूटर द्वारा बनायें गये लोगो का आकार 100 pixel X 100 pixel से 1000 पिक्सेल, pdf अथवा image के लिए अधिकतम आकार 2 MB होगा। 

10. लोगो ऐसा होना चाहिए जिसका उपयोग वेबसाइट/सोशल मीडिया और प्रेस विज्ञप्तियों, संकेत सूचक जैसी मुद्रित सामग्री पर भी किया जा सके। 

11. प्रतिभागियों को लोगो के डिजाइन पर छाप अथवा वाटर मार्क नहीं लगाना है। 

12. स्लोगन आकर्षक होना चाहिए और यह 02 से 08 शब्द के बीच का होना चाहिए। 

13. लोगो रंगीन में तैयार किया जाना है। 

14. जिला पदाधिकारी -सह- निदेशक, मिथिला चित्रकला संस्थान को लोगो डिजाइन प्रतियोगिता को स्थगित/रद्द करने अथवा इसके किसी शर्त्त/नियम को परिर्वतन करने का अधिकार सुरक्षित होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: