झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 24 अगस्त 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 24 अगस्त

लापरवाही की भी सारी हदे की पार ..., 

  • कचरे और गंदगी के अंबार के पास संचालित हो रहा जवाहर नवोदय विद्यालय थांदला, 400 बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा थांदला प्रशासन

झाबुआ। जिले के थांदला विकासखंड में प्रशासन, नगर परिषद् और वहां के जनप्रतिनिधियों तथा समाजसेवियों ने भी शायद अपनी आंखों पर काला चश्मा पहन लिया है। जिसके चलते उनका थांदला में ही थांदला-बदनावर मार्ग पर पिछले कई महीनों से कचरे और गंदगी के अंबार के बीच संचालित हो रहे जवाहर नवोदय विद्य़ालय झाबुआ-2 की इस गंभीर समस्या की ओर ध्यान नहीं जा रहा है। एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘‘स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत’’ अभियान संचालित कर रहे है एवं मप्र के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान लगातार प्रदेश के हर जिलों मंे प्रशासनिक अधिकरियों से चर्चा कर ‘‘स्वच्छता और स्वस्थता’’ की फिडबैक ले रहे है। वहीं 22 अगस्त, सोमवार को कलेक्टोरेट सभा कक्ष में विश्व मच्छर दिवस के उपलक्ष में जिला स्वास्थ्य विभाग एवं जिला रोगी कल्याण समिति की बैठक स्वयं जिलाधीश द्वारा ली गई है। समयावधि पत्रांे की समीक्षा बैठक में समस्त अनुभाग के एसडीएम को निर्देश प्रदान किए गए, पर बड़ी विड़ंबना है कि शासन, विशेषकर थांदला प्रशासन और नगर परिषद् थांदला का ध्यान जवाहर नवोदय विद्यालय क्रमांक-2 की ओर नहीं जा रहा है। जहां अध्ययनरत करीब 400 छात्र-छात्राओं ंके स्वास्थ्य के साथ खुलेआम खिलवाड़ हो रहा है। भारत सरकार के उपक्रम के माध्यम से संचालित किए जाने वाले जवाहर नवोदय विद्यालय की यह दषा जिला प्रशासन, जिला स्वास्थ्य विभाग, नगर परिषद् थांदला के समस्त जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों की घोर लापरवाही की तस्वीर को उजागर कर रहीं है। जब विद्यालय के पास ही नगर परिषद् का अमला ट्रेचिंग ग्राउंड संचालित कर यहां लगातार कूड़ा-कचरा फैंक रहा है। जिससे यह स्थान गंदेगी के ढेर में तब्दील हो गया है।


वि़द्यालय की पालक समिति की बैठक में उठाया मुद्दा

ज्ञातव्य रहे कि जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 6टीं से लेकर 12वंी तक की कक्षाएं संचालित होती है और यहां दर्ज छात्र-छात्राओं की संख्या करीब 400 है। पिछले दिनों संस्था प्राचार्य द्वारा पालक समिति की बैठक ली जाने पर बच्चों के अभिभावकों ने विद्य़ालय के पास लगे कचरे और गंदगी के ढ़ेर के कारण छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य पर पड़ रहे बुरे असर से प्राचार्य एवं विद्य़ालय प्रबंधन को अवगत करवाया। छात्र-छात्राओं के अभिभावक में जागरूक नागरिक पुरूषोत्तम पाटीदार, निर्मलकुमार संघवी एवं युवा प्रवीण चौयल ने बताया कि विद्यालय के पास लगे कूड़े-कचरे और गंदगी के ढ़ेर के कारण शाला भेजने पर बच्चें बीमार हो रहे है। बच्चांे को सर्दी-जुखाम, बुखार और उल्टी-दस्त जैसी शिकायते सामने आ रहीं है। वि़द्यालय के अंदर बच्चों की भोजन सामग्रीयों पर भारी मात्रा में मक्खीयां भीन-भीना रहीं है। फ्रिज, सब्जियांें, बर्तनों और यहां तक की दीवारों पर मक्कीयां के ढ़ेर देखे जा सकते है। ऐसे में प्रतिदिन यहां 5-10 बच्चों का स्वास्थ्य खराब हो रहा है। आलम तो यह है कि संस्था प्राचार्य भावना शिल्पे स्वयं भी इस कारण 5 दिनों तक बीमार रहीं।


नगर परिषद् थांदला नगर का पूरा कचरा विद्य़ालय के पास फिंकवा रहा

उक्त अभिभावकांे ने बताया कि नगर परिषद् थांदला द्वारा वर्तमान में पूरे नगर में सफाई कार्य के बाद सफाई वाहनांे से कचरा वि़द्यालय के पास ट्रेचिंग ग्राउंड बनाकर फिंकवाया जा रहा है। जिसकी शिकायत कुछ दिनों पूर्व विद्य़ालय के अभिभावकों द्वारा नगर परिषद् अध्यक्ष एवं सीएमओ को करने पर उन्हांेन यह कहकर पल्ला झाड़ दिया कि वह उक्त स्थान पर कचरा नहंी फिंकवाए, तो कहां फैंके। इसके बाद विद्यालय के बच्चों के अभिभावकों ने मिलकर जिला मुख्यालय पर कलेक्टोरेट में कलेक्टर सोमेश मिश्रा को संपूर्ण मामले से अवगत करवाया। जिस पर कलेक्टर श्री मिश्रा के निर्देश पर एसडीएम थांदला शिशिर गेमावत द्वारा विद्यालय के पास से ट्रेचिंग ग्राउंड का स्थान परिवर्तित करवाकर दूसरी जगह तलावली में किया गया, लेकिन यह व्यवस्था ज्यादा समय तक नहीं चलने से नगर परिश्षद् थांदला द्वारा पुनः विद्य़ालय के पास ही सफाई वाहनों से पुनः कचरा फिंकवाया जाने लगा।


सीएम हेल्पलाईन पर दर्ज करवाई शिकायत

विद्यार्थियों की उक्त ज्वलंशील समस्या का स्थायी समाधा नहीं होने पर विगत 13 अगस्त को एक जागरूक अभिभावक निर्मलकुमार संघवी द्वारा उक्ताशय की शिकायत सीएम हेल्पलाईन-181 पर की गई। जिसके 10 दिन बीत जाने के बाद भी समस्या का पूर्णतः निराकरण नहीं हो सका है।


एसडीएम साहब का बेतुका जवाब

विद्य़ालयीन छात्र-छात्राओं की इस गंभीर समस्या को लेकर 22 अगस्त, सोमवार को दोपहर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के मप्र अध्यक्ष मोहनलाल पाटीदार, प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष अषोक बलसोरा, तहसील अध्यक्ष गौपाल चौयल के साथ विद्यार्थियों के अभिभावकों में वरिष्ठ अशोक बामनिया, पुरूषोत्तम पाटीदार, बोलासा, युवा प्रवीण चौयल आदि जिला मुख्यालय पहुंचे और कलेक्टोरेट में कलेक्टर श्री मिश्रा से मिलकर इस संबंध में पुनः ज्ञापन सौंपकर समस्या का स्थायी समाधान किए जाने की मांग रखी। जिस पर कलेक्टर द्वारा मौके पर ही मौजूद एसडएम थांदला श्री गेेमावत को निर्देशित करने पर उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड़ दिया कि पहले हमने जवाहर नवोदय विद्यालय थांदला के पास से ट्रेचिंग ग्राउंड का स्थान परिवर्तन कर तलावली में किया था, लेकिन वहां के लोगों द्वारा कचरा फैंकने नहीं देने तथा विवाद करने और गाड़ियों के कांच फोड़ देने से मजबूरन अन्य स्थान नहीं होने से यहां कचरा फिकवाना पड़ रहा है। एक जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारी का बजाय समस्या के स्थायी समाधान निकाले जाने की ओर पहल करने के, इस तरह का बेतुका जवाब चित-परिचत अंदाज में जिलाधीश के समक्ष मौजूदा सामाजिक कार्यकर्ता तथा अभिभावकों को दिया जाना समझ से परे नजर आता है। इसके बाद सभी ने मिलकर उक्त ज्ञापन क्षेत्रीय सांसद गुमानिसंह डामोर के सचिव सागरसिंह रावत को भी सौंपकर इस मामले में सांसद श्री डामोर से निराकरण किए जाने की मांग की।


जवाहर नवोदय विद्यालय समिति के कलेक्टर अध्यक्ष एवं संासद है सदस्य

यहां हम आपको बता देना चाहते है कि जिस जवाहर नवोदय वि़द्यालय थांदला की बात हो रहीं है, वहां समिति के अध्यक्ष स्वयं कलेक्टर है एवं सदस्य क्षेत्रीय सांसद है, तो क्या आपकी जिम्मेदारी वि़द्यालय के समस्त स्टॉफ, अभिभावकों, थांदला नगर के जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों समाजसेवियों और गणमान्यजनों की बैठक लेकर उक्त समस्या का स्थायी समाधान निकालने की नहीं होती है। दूसरी ओर चर्चाओं में यह भी है कि थांदला के विधायक और नगर परिषद् अध्यक्ष भी मिलकर इस मामले में स्थायी समाधान निकालने की ओर आवश्यक पहल क्यो नहंी कर रहे है ... ?


अंतिम चरण में अनिष्चितकालीन मौन धरना-प्रदर्शन की चेतावनी ... !

राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रदेश अध्यक्ष मोहनलाल पाटीदार एवं विद्यालय के समस्त अभिभावकों की ओर से भी चेतावनी स्वरूप कहा गया है कि यदि आगामी एक सप्ताह के अंदर विद्यार्थियों की इस ज्वलंतशील समस्या का स्थायी समाधान, अर्थात विद्यालय परिसर से ट्रेचिंग ग्राउंड का स्थान परिवर्तित नहीं किया गया तो, विद्य़ालय प्रबंधन के साथ समस्त स्टॉफ, विद्य़ार्थी और उनके अभिभावक तथा उक्त सामाजिक कार्यकर्ता स्कूल के बाहर मौन धरना-प्रदर्शन करने को भी बाध्य होंगे, जिसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की रहेगी।


भाजपा की चुनावी समीक्षा के लिए  मध्यप्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष जितेन्द्र लिटोरिया झाबुआ में 


झाबुआ । हाल ही में सम्पन्न चुनाव की समीक्षा के लिए मध्यप्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष एवं प्रभारी जितेन्द्र लिटोरिया एवं  सहप्रभारी श्याम बंसल दि, 25ध्08ध्2022 को झाबुआ में रहेगे उक्त जानकारी देते हुए जिला भाजपा मिडिया प्रभारी नवकार संयोजक योगेन्द्र नाहर ने बताया कि उक्त बेठक में भाजपा के सभी जिला पंचायत सदस्य, समस्त जिला पदाधिकारि, सभी मण्डल के अध्यक्ष, नगर पंचायत अध्यक्ष, जनपद अध्यक्ष, पूर्व विधायक,  पूर्व जिला अध्यक्ष, प्रदेश कार्य समिति अध्यक्ष, समस्त मोर्चों के जिला अध्यक्ष समस्त प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष से    रुबरु होकर चुनावी समीक्षा सम्पन्न करेगे तथा आगामी कार्यक्रमों की रुप रेखा तय करेगे।


मप्र शासकीय शिक्षक संगठन ने मप्र के मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन,

  • प्राचार्य के प्रभार बदलने एवं सातवें वेतनमान की किश्त का भुगतान करने तथा राज्य शिक्षा सेवा में नियुक्त हुए संवर्ग की समस्याओं के निराकरण की मांग रखी

jhabua-news
झाबुआ। मप्र शासकीय शिक्षक संगठन के प्रांताध्यक्ष राकेश दुबे के निर्देश पर जिला इकाई द्वारा जिलाध्यक्ष संजय सिकरवार के नेतृत्व में 23 अगस्त, मंगलवार शाम को प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम एवं जिला स्तरीय समस्या को लेकर कलेक्टर सोमेश मिश्रा को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें प्राचार्य के प्रभार बदलने एवं सातवे वेतनमान की तृतीय किश्त का भुगतान संबंधी मांग के साथ राज्य षिक्षा सेवा मंें नियुक्त हुए संवर्ग की समस्याओं के निराकरण की भी माग  प्रमुख रूप से रखी गई। कलेक्टर के नाम सौंपे गए ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि जिले में प्राचार्य एवं संकुल प्राचार्य का प्रभार शासन के निर्देषानुसार वरिष्ठता क्रम में दिए जाने के आदेश है, परन्तु वर्तमान में वरिष्ठ के होते हुए भी कनिष्ठ को प्रभार अर्थात अंतरवेलिया, झायड़ा, कुंदनपुर में दिया गया है, जो न्यायौचित नहंी है। ज्ञापन में वरिष्ठ को प्रभार दिए जाने की मांग रखी गई। साथ ही सातवे वेतनमान की तृतीय किश्त एवं शेष पूर्व की ऑफलाईन किश्त इंक्रीमेंट स्वत्वों का अविलंब भुगतान करने हेतु भी अनुरोध किया गया।


राज्य स्तरीय 6 सूत्रीय मांगे रखी

इसी प्रकार प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम दिए ज्ञापन में 6 सूत्रीय मांग में प्रमुख रूप से अध्यापक संवर्ग एवं राज्य शिक्षा सेवा में नियुक्त प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की सेवा अवधि की गणना सभी स्वत्वों हेतु प्रथम नियुक्ति दिनांक से की जाने, वर्ष 2006 और उसके बाद संविदा शाला शिक्षक के रूप में नियुक्त ऐसे कर्मचारी, जो 12 वर्ष पूर्ण कर चुके है, उनकी प्रथम क्रमोन्नित एवं वर्ष 1998 में नियुक्त अध्यापक संवर्ग के कर्मचारियों की द्वितीय क्रमोन्नित शीघ्र दी जाने, अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरण बिना शर्त 30 दिन में निराकृत होने के प्रावधन बनाए जाने, मप्र में पुरानी पेंशन योजना पुनः बहाल कर अध्यापक संवर्ग को भी उसका लाभ दिया जाने, ग्रेजुयेटी की सुविधा का भी पूर्ण लाभ प्रदान किया जाने, एरियर्स सहित अन्य लाभोें को भी तत्काल प्रदाय किया जाने आदि मांगे रखी गई।


यह रहे मौजूद

ज्ञापन सौंपते समय मप्र शासकीय शिक्षक संगठन से जुड़े पदाधिकारियों में गोपाल राठौर, माधव सिंह, संजय डामोर, महेन्द्र कछावा, अशोक बुधवन्त, कलसिंह मेड़ा, नटवरसिंह डामोर, भूपेश व्यास, अशोक यादव, बाबुलाल मचार, भगतसिंह डामोर आदि उपस्थित थे।


शासकीय आदर्श महाविद्यालय झाबुआ में प्रवेश का छठवां चरण हुआ प्रारभ, कॉलेज में पर्याप्त सुविधाएं है उपलब्ध


jhabua-news
झाबुआ। उच्च शिक्षा विभाग भोपाल के निर्देशानुसार शासकीय आदर्श महाविद्यालय झाबुआ में प्रवेश का एक ओर छठवां चरण सीएलसी राउंड 23 से 25 अगस्त तक प्रवेश हेतु चलेगा। जिसमें विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। महाविद्यालय में 23 से 25 अगस्त तक वे छात्र भी आवेदन कर सकेंगे, जिन्होंने पूर्व में रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया है या जिन छात्रों को अभी तक कॉलेज अलॉट नहीं हुआ है, ऐसे सभी छात्र-छात्राएं सीएलसी छठवां चरण में भाग लेकर प्रवेश ले सकते है। यह जानकारी संस्था प्राचार्य डॉ एससी जैन के निर्देशानुसार एडमिशन प्रभारी प्रो. संजय खांडेकर ने देते हुए बताया कि महाविद्यालय में बीए, बीकॉम, बीएससी में पर्याप्त रिक्त सीटे है, जो भी छात्र-छात्रा प्रवेश लेना चाहता है, सभी को प्रवेश दिया जाएगा तथा महाविद्यालय में पर्याप्त मात्रा में नियमित स्टॉफ, स्मार्ट लेब, ई-लाइब्रेरी, कंप्यूटर लैब आदि सुविधाएं भी उपलब्ध है।


पर्यूषण महापर्व के दौरान शहर में पधु वध एवं मांस विक्रय केंद्र बंद करवाए जाने की मांग को लेकर श्वेतांबर जैन श्री संघ ने कलेक्टर के नाम एसडीएम श्री गर्ग को सौपा ज्ञापन

  • भारत सरकार एवं मप्र सरकार के निर्देशों का शहर में हो कड़ाई से पालन

झाबुआ। जैन समाज का पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व आरंभ हो गया है। भगवान महावीर स्वामीजी के संदेष अनुसार यह पर्व अहिंसा के साथ विशेषकर मूक जीवों की हिंसा नहीं करने का संदेश देता है। पर्यूषण महापर्व 24 अगस्त से आरंभ होकर आगामी 31 अगस्त तक चलेंगे। भारत सरकार एवं मप्र सरकार के सख्त निर्देश है कि जैन समाज के इस बड़े त्यौहार के दौरान मांस-विक्रय केंद्र बंद रखने के साथ पशु वध भी ना हो। इसी तारतम्य में श्वेतांबर जैन श्री संघ झाबुआ की ओर से कलेक्टर के नाम एसडीएम श्री गर्ग को ज्ञापन सौंपकर जैन समाज के पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व 24 अगस्त, बुधवार से 31 अगस्त, बुधवार तक शहर में सभी मांस विक्रय बंद की दुकाने बंद करवाए जाने की मांगक रखी गई। इस दौरान किसी भी प्रकार की जीव हिंसा ना हो। जैन समाजजनों की ओर से उक्ताषय का ज्ञापन देने के बाद भी प्रथम दिन बुधवार को शहर में कई ऐसे क्षेत्रों में मांस का विक्रय धडल्ले से होता नजर आया और पशु वध के रूप में इन क्षेत्रों मंे बकरीयों, मुर्गों की खरीदी-बिक्री भी होती नजर आई। जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को पर्यूषण के आठ दिवसीय महापर्व के दौरान भारत सरकार एवं मप्र सरकार के नियमांे का कड़ाई से सभी से पालन करवाना अत्यंत आवश्यक है।


वोटर आईडी के लिए दफ्तरों के चक्कर बंद, अब स्पीड पोस्ट से मिलेगा कार्ड


झाबुआ। अब वोटर कार्ड के लिये आवेदन करने के बाद कलेक्ट्रेट और तहसील दफ्तरों के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि अब एक अप्रैल से घर बैठे स्पीड पोस्ट के जरिये कार्ड पहुंचाया जायेगा। पहले वोटर आईडी कार्ड पहुंचाने की जिम्मेदारी बीएलओ की हुआ करती थी, लेकिन इस बार चुनाव आयोग ने डाक विभाग को यह जिम्मेदारी दी है। प्रदेश के सभी जिलों में एक अप्रैल के बाद स्पीड पोस्ट के जरिये कार्ड पहुंचाये जायेंगे। इसके लिये वोटर्स को कोई फीस नहीं देना होगा। भारत निर्वाचन आयोग इसका खर्च उठायेगा। सिर्फ अब ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन वोटर आईडी बनवाने के लिये आवेदन करना होगा। ईपिक नंबर जनरेट होने के बाद घर कार्ड पहुंचा दिया जायेगा, लेकिन फॉर्म में सारी डिटेल्स सही भरना होगा। वोटर जो भी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर फॉर्म में दर्ज करेंगेए उस पर स्पीड पोस्ट का मैसेज आयेगा। इससे कार्ड की ट्रेकिंग में आसानी होगी।


जिला मलेरिया कार्यालय के द्वारा लार्वाभक्षी मछली गम्बूसिया का संचय

  • जिले में पूर्व से निर्मित तालाबो एवं अमृत सरोवर तालाबों में मत्स्य बीज डाले गए, मत्स्य उत्पादन से स्वरोजगार की ओर कदम

झाबुआ,। हाथीपॉवा पहाड़ी पर निर्मित सिमेन्टेड पानी की टंकियों में मच्छरों की उत्तपत्ति को रोकने के लिये जिला मलेरिया कार्यालय के द्वारा लार्वाभक्षी मछली गम्बूसिया का संचय दिनांक 23 अगस्त को किया गया। मत्स्य विभाग झाबुआ के द्वारा मछलियाँ उपलब्ध करवाई गई। इसके अतिरिक्त जिले में मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए पूर्व से निर्मित तालाबों एवं जल सरचनाओ में मत्स्य बीज डाले गए है। जिले के अमृत सरोवर तालाबो में भी मत्स्य बीज डाले गए है। जिससे मछलियो का उत्पादन बढाया जा सके। इसके अतिरिक्त स्थानीय लोगो को रोजगार भी प्राप्त होगा।


एम राशन मित्र एप से पात्रता की जानकारी

  

झाबुआ। खाद्य सुरक्षा योजना में लाभान्वित परिवारों का सत्यापन किया जा रहा है। तैनात कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर एम-राशन मित्र एप के माध्यम से सत्यापन किया जा रहा है। उपभोक्ता भी गूगल प्ले स्टोर से इस एप को स्टाल कर सकते हैं इसके माध्यम से उपभोक्ता अपनी पात्रता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। एप में परिवार की समग्र आईडी से लागिन करने पर खाद्यान्न की पात्रता, पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार के सदस्यों की जानकारी तथा परिवार प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा भी आसपास की उचित मूल्य दुकान पीओएस मशीन की स्थिति, दुकान को खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण की भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण के संबंध में दी जाने वाली सूचनाओं और सुविधाओं के लिए भी एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी है।


भूमि स्वामी एवं बटाईदारों के संरक्षण के लिए उपयोगी है अधिनियम


झाबुआ,। सामान्य तौर से कृषकों और भू-स्वामियों द्वारा अपनी भूमि अन्य व्यक्तियों को धन या फसल का अंश भूमि स्वामी को देकर खेती के लिए भूमि दे दी जाती है जिसे सामान्य तौर पर बटाई, सिकमी, अन्य स्थानीय नामों से जाना जाता है। तत्संबंध में मध्यप्रदेश भूमि स्वामी एवं बटाईदारो के हित संरक्षण अधिनियम 2016 के अनुरूप भूमि बटाई पर दिए जाने की मान्यता प्रदान की गई है। अधिनियम भूमि स्वामी बटाईदार दोनों के हितों का संरक्षण करता है। अब कोई भी भूमि स्वामी अपनी भूमि बटाई पर देने या किसी व्यक्ति द्वारा बटाई पर लेने की वैधानिकता तभी मानी जाएगी जब दोनों पक्षों के द्वारा मध्यप्रदेश भूमि स्वामी बटाईदारों के हित संरक्षण अधिनियम 2016 के नियम चार के तहत अनुबंध निष्पादित किया हो और एक प्रति संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार को उपलब्ध कराई हो। कोई भी बटाईदार, भूमि बटाई पर लेकर यदि वह फसल क्षति की देय राहत राशि, बीमा राशि और कृषि उपज का उपार्जन के लिए शासन द्वारा तभी स्वीकार माना जाएगा जब भूमि स्वामी और बटाईदार के मध्य उपरोक्त अधिनियम के अंतर्गत अनुबंध निष्पादित हुआ हो। विधिवत अनुबंध के अभाव में उपरोक्त हित लाभ दिया जाना संभव नही होगा।


जल्दी ही एसएमएस से मिलेगी जीपीएफ संबंधी जानकारी


झाबुआ,। महालेखाकार ग्वालियर द्वारा एसएमएस सुविधा शुरू की जा रही है। इस व्यवस्था में अधिकारी- कर्मचारियों को महालेखाकार की ओर से आवश्यक जानकारी यथा जीपीएफ में जमा, निकासी की जानकारी एसएमएस के माध्यम से दी जायेगी। प्रधान महालेखाकार ने बताया कि राज्य शासन के ऐसे समस्त अधिकारी - कर्मचारी, जो सामान्य भविष्य निधि की पात्रता रखते हैं, उनसे मोबाइल नम्बर, ई-मेल आई.डी. और सामान्य भविष्य निधि खाते की जानकारी चाही है। उन्होंने बताया कि जानकारी उपलब्ध हो जाने पर महालेखाकार कार्यालय द्वारा एसएमएस सुविधा का लाभ अधिकारी-कर्मचारियों को मिलने लगेगा।


ई - खसरा परियोजना लागू


झाबुआ। राष्ट्रीय भू-अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम के अन्तर्गत आयुक्त भू-अभिलेख एवं बन्दोबस्त म.प्र. ग्वालियर ने ई-खसरा परियोजना को लागू किया है। किसानों से आग्रह किया गया है कि वे ई खसरा खतोनी ही लें। इस परियोजना के अन्तर्गत अनुबंधित फर्म द्वारा सभी तहसीलों में आई.टी. सेन्टर स्थापित किये गये है। जिनसे कृषकों को उनकी मांग अनुरुप प्रमाणित खसरा बी-1, नक्शा की प्रतिलिपियाँ नियत शुल्क प्रति पृष्ठ 30 रुपये लेकर उपलब्ध कराई जा रही है। कृषक अपने खाते की नकल, खेत का अक्श विभागीय बेवसाईट ूूूण्उचइीनसमाीण्हवअण्पद पर निःशुल्क देख सकता है।


दिनांक 27 अगस्त को आजीविका भवन झाबुआ में स्वरोजगार/प्रदेश व्यापी रोजगार दिवस सम्मेलन     कार्यक्रम आयोजित


झाबुआ । कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के आदेश दिनंाक 23 अगस्त में (मध्यप्रदेश सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के आदेशानुसार) जिले के बेरोजगार युवाओं को निजी क्षेत्र की कम्पनियों में रोजगार प्राप्ति के अवसर मुहैया कराने के लिये दिनांक 27 अगस्त 2022 को आजीविका भवन झाबुआ में स्वरोजगार/प्रदेश व्यापी रोजगार दिवस कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसके सफल क्रियान्वयन हेतु विभिन्न विभागों के अधिकारियों को दायित्व सौंपे गये हैं। यह कार्यक्रम प्रातः 10ः00 बजे से होगा इस रोजगार दिवस सम्मेलन कार्यक्रम में माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह जी चौहान इंदौर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रातः 10ः30 बजे जुडेगे। इस कार्यक्रम में योजनाओं में लाभान्वित हुए हितग्राहियो को आमंत्रित कर स्वीकृति/वितरण पत्र जनप्रतिनिधियों के माध्यम से दिलवाए जाएगे। जिले के शिक्षित बेरोजगार आवेदक जिनकी उम्र 18-35 वर्ष तथा शैक्षणिक योग्यता 5 वीं से 12वीं, स्नातक उत्तीर्ण हैं वे इस रोजगार सम्मेलन के माध्यम से रोजगार प्राप्त करने हेतु साक्षात्कार में सम्मिलित हो सकते हैं। इसके अतिरिक्त रोजगार मूलक संचालन विभाग प्रगति एवं स्वीकृति पत्र/डेमो चैक/ऋण पत्र वितरण हेतु सूची दिनंाक 25 अगस्त को अनिवार्य रूप से महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र झाबुआ को प्रेषित करेगे। इस आयोजन के लिए नोडल अधिकारी महाप्रबंधक जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र झाबुआ समूचित व्यवस्था समय पर पूर्ण करवाना सुनिश्चित करेंगे।


झाबुआ जिले में प्रभारी मंत्रीजी का दौरा कार्यक्रम, दिनंाक 25 अगस्त रात्रि से 27 अगस्त तक जिले के भ्रमण पर 


झाबुआ। माननीय राज्य मंत्री, मध्यप्रदेश शासन, स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), सामान्य प्रशासन विभाग एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री इंदर सिंह परमार जी का भ्रमण कार्यक्रम जिसमे दिनंाक 25 अगस्त 2022 गुरूवार रात्रि 08 बजे झाबुआ आगमन एवं रात्रि विश्राम सर्किट हाउस, दिनंाक 26 अगस्त 2022 शुक्रवार प्रातः 10 बजे से प्रातः 11 बजे तक झाबुआ जिले की समस्त विकास अधिकारियों के साथ विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक। (विभाग-1 नल जल योजना (लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग) -2 खाद्य विभाग, -3 महिला एवं बाल विकास विभाग, -4 जनजातीय कार्यविभाग, -5 लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ) प्रातः 11 बजे से दोपहर 12 बजे तक जिला खनिज फण्ड (डीएमएफ) मण्डल की बैठक, दोपहर 12 बजे से 01 बजे तक आरक्षित (सर्किट हाउस) दोपहर 1.30 बजे से 1.50 बजे तक ग्राम देवझीरी तहसील झाबुआ मे नवीन सडक का उद्घाटन, दोपहर 1.50 बजे से दोपहर 02 बजे तक नव निर्मित तहसील भवन रामा का लोकापर्ण, दोपहर 2.30 बजे से दोपहर 2.40 बजे तक सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामा में डिजीटल एक्सरे मशीन का उद्घाटन, सायं 3.20 बजे से 3.30 बजे नवीन थाना भवन कल्याणपुरा का लोकापर्ण, सायं 3.50 बजे से 4 बजे तक अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला कार्यालय हेतु भूमि पूजन/शिलान्यास एवं जनपद शॉपिंग काम्पलेक्स का भूमि पूजन, सायं 4.30 बजे से 4.45 बजे तक कन्या शिक्षा परिसर का लोकापर्ण ग्राम मोरझिरी तहसील थांदला, सायं 5.10 बजे से 5.25 बजे तक अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पेटलावद कार्यालय हेतु भूमि पूजन/शिलान्यास एवं टप्पा तहसील झकनावदा में नवीन तहसील भवन का लोकापर्ण, सायं 5.30 बजे से 5.40 बजे तक सर्किट हाउस पेटलावद (चाय), सायं 06 बजे से सर्किट हाउस झाबुआ हेतु प्रस्थान, सायं 07 बजे झाबुआ आगमन एवं रात्रि विश्राम। दिनांक 27 अगस्त 2022 शनिवार प्रातः 9.30 बजे झाबुआ सर्किट हाउस से थांदला हेतु प्रस्थान, प्रातः 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक स्थानीय पार्टी पदाधिकारियो/कार्यकर्ताओ से भेट थांदला, दोपहर 12.05 बजे पेटलावद हेतु प्रस्थान, दोपहर 12.30 बजे से 2.00 बजे तक स्थानीय पार्टी पदाधिकारियो/कार्यकर्ताओ से भेट पेटलावद, दोपहर 2.30 बजे लन्च (कार्यकर्ता के यहा), दोपहर 2.35 बजे राणापुर हेतु प्रस्थान, दोपहर 3.30 बजे से सायं 05 बजे तक स्थानीय पार्टी पदाधिकारियो/कार्यकर्ताओ से भेट राणापुर, सायं 05.05 बजे सर्किट हाउस झाबुआ हेतु प्रस्थान, सायं 05.20 बजे सर्किट हाउस झाबुआ, सायं 5.30 बजे जिला अधिकारियों से चर्चा-सर्किट हाउस झाबुआ, सायं 06 बजे शुजालपुर, जिला शाजापुर के लिए प्रस्थान (व्हाया पेटलावद, बदनावर, उज्जैन, मक्सी, शाजापुर)।


मेघनगर में पुलिस प्रशासन का संयुक्त चेकिंग अभियान


झाबुआ। आज मेघनगर में स्कूली वाहनों में बिना परमिट वाहनों पर एस.डी.एम.श्री तरुण जैन के नेतृत्व में कार्यवाही की गई। कार्यवाही के दौरान अर्नोल्ड स्कूल मेघनगर के स्कूल वाहन चेक किए गए। जिसमें 05 वाहन बिना वैध दस्तावेज पाए जाने पर जप्त कर 15000 की चलानी कार्यवाही की गई वही 01 तूफान टैक्सी पास न होने पर जप्त कर थाना मेघनगर में खड़ी करवाई गई। इस दौरान कई वाहन संचालकों में हड़कंप मच गया और वो दूसरे मार्गो से निकल गए। चेकिंग के दौरान आर.टी.ओ. कृतिका मोहटा , मेघनगर थाना प्रभारी एवम अन्य पुलिस बल उपस्थित रहा। चेकिंग के दौरान पाया गया कि अधिकतर वाहन अभिभावकों द्वारा स्वयं लगाए गए है इस संबंध में स्कूल संचालक एवम अभिभावकों को हिदायत दी गई कि वे बच्चो की सुरक्षा को सर्वोपरि रखते हुए वाहन के दस्तावेज नियमानुसार पूर्ण रखे, स्कूल वाहनों के सभी मापदंड पूरे पाए जाने पर ही अपने बच्चो को वाहनों द्वारा स्कूल में भेजे।

कोई टिप्पणी नहीं: