मधुबनी : जिले को वीयर सिंचाई योजना की सौगात - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 30 अगस्त 2022

मधुबनी : जिले को वीयर सिंचाई योजना की सौगात

  • राज्य मंत्रिमंडल ने लौकही प्रखंड के लक्ष्मीपुर ग्राम के पास बिहूल नदी पर पुनरीक्षित वीयर सिंचाई योजना को दी मंजूरी 
  • मधुबनी जिले के लौकही, फुलपरास और खुटौना प्रखंड अंतर्गत करीब 2,187 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी 

मधुबनी।  जिले के लौकही प्रखंड में लक्ष्मीपुर ग्राम के पास बिहूल नदी पर निर्माणाधीन वीयर सिंचाई योजना अन्‍तर्गत नहर प्रणाली का निर्माण कराते हुए इसे शीघ्र पूर्ण करने के उद्देश्य से इसके पुनरीक्षित प्रस्ताव को मंगलवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी मिल गई है। इस महत्वपूर्ण योजना पर अब करीब 68 करोड़ 64 लाख रुपये खर्च होंगे। इससे लौकही, फुलपरास और खुटौना प्रखंड के करीब 2,187 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी। साथ ही क्षेत्र में बाढ़ के प्रभाव को कम करने में मदद मिलेगी।  पुनरीक्षित योजना को मंत्रिमंडल की मंजूरी मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए जल संसाधन सह सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री श्री संजय कुमार झा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के निश्चय के अनुरूप बिहार के हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने के लिए जल संसाधन विभाग द्वारा तत्परता से कार्य किये जा रहे हैं। इसके लिए मधुबनी जिले में दशकों से लंबित महत्वाकांक्षी पश्चिमी कोसी नहर परियोजना का कार्य तेजी से पूरा कराया जा रहा है, वहीं नये क्षेत्रों में सिंचाई सुविधा पहुंचाने के लिए नई योजनाओं का सूत्रण किया जा रहा है। श्री संजय कुमार झा ने कहा कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचने से कृषि का कायाकल्प होगा और किसानों की आय में वृद्धि होगी। उल्लेखनीय है कि लौकही प्रखंड अंतर्गत लक्ष्मीपुर ग्राम के पास  बिहुल नदी पर वीयर सिंचाई योजना निर्माणाधीन है। जल संसाधन मंत्री श्री संजय कुमार झा ने 12 मई 2022 को इस योजना का स्थल निरीक्षण किया था और विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी प्रगति की समीक्षा की थी। योजना के अंतर्गत वीयर का निर्माण कार्य पूरा करा लिया गया है। इसमें गेटों के अधिष्ठापन जैसे यांत्रिक कार्य को भी पूर्ण कर लिया गया है। इसके अपस्ट्रीम तथा डाउनस्ट्रीम में एफलक्स/ गाइड बांध का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। नहर प्रणाली का निर्माण कार्य शेष है, जिसके अंतर्गत बायीं तरफ 6.33 किमी, जबकि दायीं तरफ 3.35 किमी लंबाई में नहर के निर्माण का प्रस्ताव किया गया है। योजना के अंतर्गत नहर का निर्माण कर इसे पूर्ण करने हेतु अब 87.12 एकड़ भू-अर्जन की आवश्यकता है। पूर्व की योजना में सिर्फ 42.87 एकड़ भू-अर्जन की आवश्यकता थी। इससे योजना की पुनरीक्षित लागत राशि 68.6463 करोड़ रुपये हो गयी है। इस महत्वपूर्ण सिंचाई योजना से मधुबनी जिले के लौकही, फुलपरास और खुटौना प्रखंड अंतर्गत लक्ष्मीपुर, बलुआ, टेंगरार, महथौर, हनुमान नगर, कुड़िबन मांगनपट्टी, चिकनी सोहपुर, नरहिया गोट एवं आसपास के गांवों के किसान परिवार लाभान्वित होंगे। योजना को वित्तीय वर्ष 2023-24 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है।

कोई टिप्पणी नहीं: