सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 04 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 4 अगस्त 2022

सीहोर (मध्य प्रदेश) की खबर 04 अगस्त

बुधनी में निर्मित लकड़ी के खिलौने रानी कमलापति, होशंगाबाद, इटारसी स्टेशन पर बिकेंगे

  • सीहोर जिले में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में:- मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • 73 हेक्टयर क्षेत्र में नई औद्योगिक इकाइयाँ शुरू

sehore-news
सीहोर जिले के ग्राम लाचोर में हाल ही में औद्योगिक क्षेत्र के लिए 53 हेक्टयर भूमि चयनित की गई है।गत मार्च माह से फूड प्रोसेसिंग इकाई द्वारा ग्राम जर्रापुर और बासपुरा में कार्य प्रारंभ करने के पश्चात फूड प्रोसेसिंग जोन की स्थापना प्रगति पर है। प्रदेश में नवीन औद्योगिक क्षेत्रों के विकास के लिए राज्य शासन द्वारा आवश्यक सुविधाएं देते हुए युवाओं को रोजगार दिलवाने का कार्य निरंतर चल रहा है। इसके लिए 20.8 हेक्टयर भूमि आवंटित कर औद्योगिक संस्थान को आधिपत्य प्रदान किया गया है। बुधनी में लकड़ी के निर्मात कलात्मक खिलौनों की ख्याति दूर-दूर तक है। इन खिलौनों की बिक्री के लिए होशंगाबाद रेलवे स्टेशन पर स्टॉल प्रारंभ होगा। इटारसी और भोपाल के स्टेशन रानी कमलापति पर भी ऐसे स्टॉल खुलेंगे। क्षेत्र में टॉय कलस्टर के लिए हस्तशिल्प विकास निगम द्वारा खिलौना निर्माताओं और काष्ठ शिल्पियों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। यह जानकारी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में गत दिवस हुई बैठक में दी गई। बैठक में सीहोर जिले में संचालित विकास कार्यों की समीक्षा की गई। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस सहित विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव तथा जिला कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर, आदि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि युवाओं को रोजगार सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है। कृषि को उद्योग से जोड़ने के प्रयास बढ़ाए जा रहे हैं। कृषकों को प्राकृतिक कृषि का प्रशिक्षण भी दिया गया है। प्रदेश के कुछ जिलों से प्रारंभ प्रयास अन्य जिलों तक पहुंचेंगे। भोपाल से लगे जिलों में सीहोर, रायसेन,और होशंगाबाद में नई औद्योगिक इकाईयों की शुरूआत से एक सम्पूर्ण क्षेत्र इंडस्ट्रियल जोन के रूप में विकसित हो रहा है। महिलाओं को भी रोजगार में प्राथमिकता दी जा रही है। सड़क, बिजली, पेयजल, संचार के क्षेत्र में विकास कार्यों से एक सशक्त अधोसंरचना निर्मित हो रही है। बैठक में सीहोर कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर द्वारा आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से संचालित कुपोषण मुक्ति के अभियान, बांस कल्ट्ंर विकास, टपकेश्वर, बरखेड़ा और दिगंबर , सारू मारू गुफाओं के नजदीक ईको-टूरिज्म के विकास, अमरगढ़ जल प्रपात के निकट पर्यटकों की सुविधा के लिए पैगोडा निर्माण, एफपीओ के गठन, मृदा परीक्षण प्रयोगशालाओं को क्रियाशील बनाने पैक हाऊस के निर्माण, ड्रिप और मिनी स्प्रिकलर से सिंचाई को प्रोत्साहन, पांच मिल्क रूट कार्यशील स्थिति में पहुंचाने विभिन्न स्थानों पर खेल स्टेडियम के निर्माण, छात्रावास निर्माण, महाविद्यालयों में फर्नीचर और अन्य उपकरण उपलब्ध कराने, अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के समन्वय से बुधनी और नसरूल्लागंज में शिक्षण केंद्र स्थापना, सलकनपुर स्थित माँ विजयासन देवी मंदिर परिसर में विकास कार्य, रमईया आयुर्मेघा बैंगलोर द्वारा योग नेचर पार्क के लिए सहयोग,  आयुष औषाधालयों को हेल्थ एंड वेल्नेंस सेंटर में परिवर्तित करने, स्वास्थ्य केंद्रो के भवन निर्माण, नगरीय विकाय, स्वच्छ भारत मिशन के लिए सामुदायिक डस्टबिन वितरण, नीलकंठ जलप्रदाय योजना आदि से संबंधित जानकारी दी गई।   


हर व्यक्ति उत्साह से उत्सव की तरह मनाये हर घर तिरंगा अभियान


आजादी के अमृत महोत्सव में हर नागरिक अपने घर और व्यवसायिक प्रतिष्ठान पर ध्वजारोहण के अन्य व्यक्तियों को भी प्रेरित करें हर घर तिरंगा अभियान के लिए हम सब जन-जागरूकता के प्रयास करें। "हर घर तिरंगा" अभियान का उद्देश्य सभी को एक साथ जोड़ना और राष्ट्रभक्ति की भावना से अपने अमर शहीदों को स्मरण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करना है। "हर घर तिरंगा" अभियान की नगर और गाँव में हर वर्ग तथा हर परिवार तक पहुँचकर हम यह संदेश दें कि 13 से 15 अगस्त तक हर घर तिरंगा फहराना है। जिले में हर व्यक्ति उत्साह से उत्सव की तरह "हर घर तिरंगा" अभियान मनाये।"हर घर तिरंगा" अभियान के लिए युवाओं, जन-प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिक, स्वयंसेवी संस्थाओं और शासकीय सेवकों के साथ जन-जागरूकता जाए और हर व्यक्ति राष्ट्र-ध्वज खरीदे, और अपने घरों,संस्थानों में तिरंगा फहराना है।


जिले में अब तक 786.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 7.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज


जिले में 01 जून से 04 अगस्त 2022 तक 786.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 523.1 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 04 अगस्त 2022 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 803.7 मिलीमीटर, श्यामपुर में 828.0, आष्टा में 637.2, जावर में 449.0, इछावर में 856.3, नसरूल्लागंज में 795.0, बुधनी में 822.0, रेहटी में 1102.8 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 24 बजे तक 7.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 8.1 मिलीमीटर, श्यामपुर में 16.0, आष्टा में 2.0, जावर में 0.0, इछावर में 28.0, नसरुल्लागंज में 0.0, बुधनी में 5.0 एवं रेहटी में 0.0 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


आम नागरिकों से स्वास्थ्य विभाग द्वारा मच्छर जनित बीमारियों से बचने की सलाह


स्वास्थ्य विभाग द्वारा आम नागरिकों को मच्छर जनित बीमारियों से बचने की सलाह दी गई है। वर्षा के मौसम में बीमारियां फैलने का खतरा अधिक रहता है। इस मौसम में होने वाली बीमारियां खतरनाक साबित हो सकती है। सावधानी बरतने की आवश्यकता है, लापरवाही जानलेवा हो सकती है। वर्षा के मौसम में होने वाली बीमरियां जैसे सर्दी, जुखाम, बुखार, मलेरिया,चिकनगुनिया, हैजा एवं टाइफाइड हो सकते है सर्दी, जुखाम, बुखार से बचने के लिए बारिश में ज्यादा देर तक न भीगे, भीगने से बचे, भीगने पर शरीर को साफ-कपड़े से पोछे तुरंत कपड़े बदले। मलेरिया से बचने के लिये अपने घर के आसपास गड्डा न होने दें, अगर गड्डा हो तो, उसमें पानी इकठा न होने दें। हैजा से बचने के लिए घर के आसपास सफाई रखें, गंदा पानी उपयोग में न लायें, पानी को छानकर या उबालकर उपयोग करें। टाइफाइड खतरनाक बीमारी में से एक है। यह संक्रमित जल व दूषित भोजन से होता है, इस बीमारी में तेज बुखार आता है एंव कई दिनों तक रहता है। इस बीमारी का संक्रमण रोगी के पित्ताशय में रहता है, टाइफाइड होने वाले रोगी से दूर रहना चाहिए और चिकित्सक से दवा लेनी चाहिए। नागरिकों से अपील की गई है कि वर्षा के मौसम में होने वाली बीमारियों से बचाव जरूरी है। अगर बचाव न किया जाये तो यह खतरनाक हो सकती है। इसलिए कोई भी बीमारी होने पर चिकित्सक को अवश्य दिखायें, जिससे रोग की पहचान की जा सके तथा त्वरित उपचार हो सके।


मलेरिया, डेंगू एवं चिकुनगुनिया बीमारियों से सावधानियां बरतें की सलाह


मलेरिया, डेंगू, चिकुनगुनिया आदि की रोकथाम के लिये ऐहतियाती उपायों को अमल में लाने के लिये पहल करें। बीमारी को फैलने के पहले रोकथाम के उपाय किये जाने से बीमारी पर कारगर नियंत्रण पाया जा सकता है।स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि डेंगू मच्छर का लार्वा पानी में पनपता है। वर्षा काल में घरों के आस-पास जहाँ पानी जमा हो जाता है, वहाँ डेंगू मच्छर पैदा होते हैं और डेंगू फैलता है। घरों के आस-पास और अन्य स्थानों में पानी जमा नहीं होने दें। साफ-सफाई वाले स्थानों पर डेंगू मच्छर के पैदा होने की संभावना नहीं होगी और डेंगू पर कारगर नियंत्रण प्राप्त किया जा सकता है। आम नागरिकों को डेंगू की रोकथाम के उपाय अपनाने के लिये कहा जाये। पानी एकत्र करने के बर्तनों को खुला नहीं रखें। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि मलेरिया, चिकुनगुनिया आदि की रोकथाम के लिये किये जाने वाले ऐहतियाती उपायों को अपनाने के लिये नागरिकों से आग्रह किया हैं। इसके लिए जन-जागरूकता आवश्यक हैं और प्रचार-प्रसार तथा प्रचार सामग्री संबंधित विभागों के अधिकारियों तक पहुँचाए, जिसे वे अधीनस्थ अधिकारी-कर्मचारियों के माध्यम से क्षेत्र में आम नागरिकों तक पहुँचा सकेंगे। आगे कहा कि पंचायत, ग्रामीण विकास, महिला-बाल विकास, वन, शिक्षा आदि विभागों का अमला नागरिकों से सीधे सम्पर्क में रहता है। इन विभागों के मैदानी अधिकारी-कर्मचारियों की बीमारियों की रोकथाम के लिये जन-जागरूकता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका है।


सभी पात्र नागरिकों को निःशुल्क प्रिकॉशन डोज अवश्य लगवाएं

  • दस्तक अभियान 5 सितंबर 2022 तक विशेष कैंप आयोजित कर वैक्सीनेशन करायें-कलेक्टर श्री ठाकुर

अमृत महोत्सव के अंतर्गत 30 सितंबर 2022 तक जन अभियान' के रूप में 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के पात्र नागरिको को कोचिङ-19 टीके का प्रिकॉशन डोज निःशुल्क कराये जाएगें। वर्तमान में बाल्यकालीन बीमारियों की पहचान, त्वरित प्रबंधन एवं मृत्यु दर घटाये जाने के लिए जिले में दस्तक अभियान चलाया जा रहा है। दस्तक एवं कोविड-19 प्रिकॉशन डोज दोनों अभियानों को संयुक्त रूप से सुव्यवस्थित ढंग से संचालित किये जाने के निर्देश दिये गये है। इस संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, सिविल सर्जन, टीकाकरण अधिकारी, विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए है कि सप्ताह के निश्चित दिवसों में दस्तक अभियान अंतर्गत भ्रमण पर जाने वाली टीम को संबंधित क्षेत्र, गांव की कोविन पोर्टल आधारित प्रिकॉशन डोज को इयूलिस्ट एवं वैक्सीन उपलब्ध कराकर एएनएम द्वारा ड्यूलिस्ट अनुसार पात्र हितग्राहियों का वैक्सीनेशन कराये जाने के निर्देश दिए गये है। दस्तक अभियान के दौरान एएनएम द्वारा आगंनवाडी केन्द्र पर व्हीएचएनडी दिवस (मंगलवार एवं शुक्रवार) में नियमित टीकाकरण के साथ-साथ कोचिड- 19 वैक्सीनेशन सत्र भी आयोजित किये जाये तथा आशा, आगनवाडी कार्यकर्ता द्वारा ड्यूलिस्ट अनुसार प्रिकॉशन डोज के लिए पात्र हितग्राहियों को मोबिलाईज कर टीकाकरण कराये। कोवित-19 वैक्सीनेशन महाअभियान अब 17 अगस्त, 31 अगस्त, 14 सितंबर एवं 28 सितंबर 2022 में दस्तक अभियन को स्थागित रखा जाये। महाअभियान वैक्सीनेशन कार्ययोजना अनुसार सत्र स्थलों का निर्माण करें तथा आशा, आगंनवाडी कार्यकर्ता द्वारा अधिक से अधिक संख्या में पात्र नागरिकों को मोबिलाईज कर टीकाकरण करायें। वैक्सीनेशन महाअभियान दिवस संस्थागत सत्रों स्थलों के साथ-साथ कार्ययोजना अनुसार पहुंचविहीन क्षेत्रों मजरे टोले,घुमक्कड आबादी, सघन वनग्राम,ईट भटटे, क्रेसर,बाढ़ पीडित क्षेत्र में मोबाईज टीम के माध्यम से सभी पात्र नागरिकों का टीकारण करायें। वैक्सीनेशन अमृत महोत्सव के दौरान नागरिको को प्रिकॉशन डोज दिए जाने हेतु विशेष केम्पों (बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, स्कूल/कॉलेज धार्मिक यात्राओं के मार्ग औद्योगिक केन्द्र, कार्यालय अन्य विशेष स्थान का आयोजन किया जाए। कोविड वैक्सीन अमृत महोत्सव के अंतर्गत वैक्सीनेशन महाअभियान दिवसों में मोबाईल टीम के गठन हेतु आरबीएसके वाहन का उपयोग किया जाये। और"कोविड वैक्सीन अमृत महोत्सव के आयोजन को दृष्टिगत रखते हुये दस्तक अभियान को 5 सितंबर 2022 तक  बढ़ाया जाता है।


कक्षा 10वीं और 12वीं की पूरक परीक्षा का परिणाम घोषित


माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने कक्षा 10वीं, 12वीं और 12वीं व्यावसायिक (द्वितीय अवसर) का पूरक परीक्षा 2022 का परिणाम घोषित कर दिया है। कक्षा 10वीं का उत्तीर्ण प्रतिशत 68.06, कक्षा 12वीं का 73.61 और कक्षा 12वीं व्यवसायिक का 86.11 प्रतिशत रहा है। परीक्षार्थी अपना परीक्षा परिणाम मण्डल की वेबसाइट www.mpbse.nic.in और www.mpbse.mponline.gov.in पर देख सकते हैं।कक्षा 10वीं की पूरक परीक्षा में कुल 85 हजार 321 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, जिसमें प्रथम श्रेणी में 6138 परीक्षार्थी, द्वितीय श्रेणी में 47 हजार 199 परीक्षार्थी एवं तृतीय श्रेणी 4513 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। इस प्रकार कुल 84 हजार 998 परीक्षार्थियों का परीक्षाफल घोषित किया गया है। हाईस्कूल पूरक परीक्षा में कुल 57850 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए। कक्षा 12वीं की पूरक परीक्षा में कुल 90 हजार 151 परीक्षार्थी शामिल हुए, जिसमें प्रथम श्रेणी में 17 हजार 811 परीक्षार्थी, द्वितीय श्रेणी में 45 हजार 144 परीक्षार्थी एवं तृतीय श्रेणी में 3272 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। इस प्रकार कुल 89 हजार 961 परीक्षार्थियों का परीक्षाफल घोषित किया गया है। परीक्षा में कुल 66 हजार 227 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए।कक्षा 12वीं व्यावसायिक (द्वितीय अवसर) पूरक परीक्षा में कुल 422 परीक्षार्थी शामिल हुए, जिसमें प्रथम श्रेणी में 177 परीक्षार्थी और द्वितीय श्रेणी में 96 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए। इस प्रकार कुल 317 परीक्षार्थियों का परीक्षाफल घोषित किया गया है। हायर सेकण्डरी व्यावसायिक पूरक परीक्षा में कुल 273 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए।


डी.एल.एड. प्रथम एवं द्वितीय वर्ष मुख्य परीक्षा कार्यक्रम जारी


माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित डी.एल.एड. प्रथम और द्वितीय वर्ष (द्विवर्षीय पाठ्यक्रम) मुख्य परीक्षा वर्ष 2022 का परीक्षा कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। परीक्षा 7 सितंबर से शुरू होकर 28 सितंबर को समाप्त होगी। परीक्षा सुबह 8 बजे से 11 बजे के मध्य संचालित होगी। परीक्षा में लगभग 61 हजार 27 छात्र और छात्राएँ शामिल हो रहे हैं। परीक्षा संचालन के लिए प्रदेश में 174 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं। परीक्षा कार्यक्रम मण्डल की वेबसाइट www.mpbse.nic.in पर देखे जा सकते हैं।


आँगनवाड़ी केन्द्रों में 5 वर्ष तक के बच्चे का आधार पंजीयन जारी


5 वर्ष तक की आयु के सभी बच्चों के आधार पंजीयन को सुनिश्चित करने के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा आधार पंजीयन के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग को रजिस्ट्रार बनाया गया है। संचालक महिला बाल विकास डॉ. रामराव भोसले ने बताया कि आँगनवाड़ी केन्द्रों में 5 वर्ष तक के बच्चों का आधार पंजीयन नि:शुल्क किया जा रहा है। सभी एकीकृत बाल विकास परियोजनाओं को स्थाई आधार पंजीयन केन्द्र के रूप में अधिसूचित किया गया है। उन्होंने कहा कि 5 वर्ष तक की आयु वाले सभी बच्चों के आधार पंजीयन को सुनिश्चित करने के लिए विभाग द्वारा इंडिया पोस्ट एवं पेमेंटस बैंक को भी सहयोग किया जा रहा है। पोस्टमेन एवं ग्रामीण डाक सेवकों के माध्यम से दूरस्थ अंचलों में अभियान चलाकर बच्चों का आधार पंजीयन नि:शुल्क किया जा रहा है। संचालक डॉ. भोसले ने बताया कि तकनीकी कार्य के लिए प्रत्येक परियोजना को डेस्कटॉप, लेपटॉप एवं टेबलेट उपलब्ध कराये गये है। कार्य में गति और गुणवत्ता के लिए विभाग द्वारा सीएससीएसपीव्ही संस्था के साथ अनुबंध किया गया है। इसमें संस्था द्वारा 8 जिलों के 46 केन्द्रों में आधार पंजीयन कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। शीघ्र ही सभी 52 जिलों में 453 आधार पंजीयन केन्द्रों में पंजीयन का कार्य प्रारंभ हो जायेगा। उन्होंने बताया कि संचालित आधार पंजीयन केन्द्रों में गर्भवती महिलाओं, धात्री माताओं सहित अन्य नागरिक भी आधार पंजीयन एवं अपग्रेडेशन का लाभ ले सकते हैं। आधार संख्या प्राधिकरण द्वारा निर्धारित सत्यापन प्रक्रिया को पूरा करने के बाद यू.आई.डी.ए.आई. द्वारा भारत के सभी निवासियों को जारी की जाने वाली 12 अंकों की एक रेंडम संख्या है। किसी भी आयु का कोई भी व्यक्ति जो भारत का निवासी है, बिना किसी लिंग भेद के आधार संख्या प्राप्ति के लिए स्वेच्छा से नामांकन करवा सकता है। इच्छुक व्यक्ति को नामांकन प्रक्रिया के दौरान, जो पूरी तरह से लागत रहित है, न्यूनतम जन-सांख्यिकीय और बायोमेट्रिक सूचना उपलब्ध करवानी होती है। किसी भी व्यक्ति को आधार के लिए नामांकन केवल एक बार करना होता है और डी-डुप्लिकेशन प्रणाली के जरिए विशिष्टता प्राप्त की जाती है। डी-डुप्लिकेशन के बाद केवल एक आधार ही सृजित किया जाता है।


विभिन्न पुरस्कारों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 16 अगस्त


खेल और युवा कल्याण विभाग भोपाल के एकलव्य, विक्रम, विश्वामित्र, प्रभाष जोशी एवं लाईफ टाईम एचीवमेंट पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 16 अगस्त 2022 है। पुरस्कार 05 वर्षो 01 अप्रेल 2017 से 31 मार्च 2022 में अर्जित खेल उपलब्धियों के आधार पर प्रदान किये जाएंगें। साहसिक खेल समुद्र, जमीन एवं वायु आधारित के लिए भी विक्रम एवं एकलव्य पुरस्कार हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किये जा रहे हैं। पुरस्कार के लिए पात्रता, पुरस्कार राशि एवं अन्य शर्ते विभागीय वेबसाइट www.dsyw.mp.gov.in पर उपलब्ध है। आवेदक विभागीय वेबसाइट दी गई लिंक से सीधे http://anudandsww.mp.gov.in तथा प्ले स्टोर से खेल और युवा कल्याण के Anudan App Download करके भी ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं।आवेदक को ऑनलाइन करने के उपरांत आवेदन की प्रति जिस पर पंजीयन क्रमांक अंकित हो के साथ खेल प्रमाण पत्र एवं अन्य अभिलेख की छायाप्रति कार्यालय जिला खेल और युवा कल्याण विभाग तथा संचालनालय खेल और युवा कल्याण, टी.टी. नगर स्टेडियम भोपाल में 16 अगस्त 2022 तक जमा करना अनिवार्य होगा। निर्धारित तिथी के उपरांत प्राप्त आवेदन पत्र पुरस्कार के लिए मान्य नहीं किये जाएंगे।


ढाई आखर पत्र लेखन अभियान - आवेदन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर


भारतीय डाक विभाग द्वारा अखिल भारतीय ढाई आखर पत्र लेखन अभियान" वर्ष 2022-23 के तहत पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन 31 अक्टूबर 2022 तक किया जाएगा। इस वर्ष प्रतियोगिता का विषय "Vision for India 2047" निर्धारित किया गया है। प्रतियोगिता सभी आयु वर्ग के लिए रखी गई है, जिसमें अठारह वर्ष तक तथा अठारह वर्ष के अधिक की दो श्रेणियाँ रखी गई है। इन दो श्रेणियों में अंतर्देशीय पत्र अधिकतम 500 शब्दों में एवं लिफाफा अधिकतम 1000 शब्दों में की दो उप श्रेणियाँ रखी गई है। हस्त लिखित पत्र हिन्दी, अंग्रेजी में संबंधित प्रवर अधीक्षक, अधीक्षक डाकघर के कार्यालय के पते पर रजिस्टर्ड डाक, स्पीड पोस्ट, साधारण डाक के माध्यम से भेजा जा सकता है। प्रवर अधीक्षक, अधीक्षक डाकघर का पता अपने निकटतम डाकघर से प्राप्त किया जा सकता है। पत्र में प्रतिभागी को उम्र के संबंध में स्व-हस्ताक्षरित प्रमाण पत्र देना होगा कि 01 जनवरी 2022 को मेरी आयु 18 वर्ष से कम/अधिक है। मध्यप्रदेश परिमंडल से प्रत्येक उप श्रेणी के सर्वश्रेष्ठ, तीन प्रविष्टियों को क्रमश: 25 हजार, 10 हजार एवं 5 हजार से पुरस्कृत किया जाएगा एवं चयनित प्रविष्टियों को अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु महानिदेशालय, नई दिल्ली भेजा जाएगा। महानिदेशालय नई दिल्ली द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर प्रत्येक उप श्रेणी में चयनित सर्वश्रेष्ठ तीन प्रविष्टियो को क्रमश: 50 हजार, 25 हजार एवं 10 हजार से सम्मानित किया जाएगा। पत्र लेटर बॉक्स में पोस्ट करने की अंतिम तारीख 31 अक्टूबर 2022 रखी गयी है। इसके बाद पोस्ट किए गए पत्रों पर विचार नहीं किया जाएगा। परिमंडल स्तर पर चयनित प्रतिभागियों का परिणाम 31 अक्टूबर को एवं अखिल भारतीय स्तर पर चयनित प्रतिभागियों का परिणाम 25 दिसंबर को घोषित किया जायेगा। मुख्य पोस्टमास्टर जनरल, मध्यप्रदेश परिमंडल, भोपाल ने मध्यप्रदेश के सभी नागरिकों से "अखिल भारतीय ढाई आखर पत्र लेखन अभियान" से जुड़ने की अपील की है।


गैर घरेलू विद्युत कनेक्शन के लिए स्वैच्छिक आवेदन करें


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि ऐसे उपभोक्ता जो अपने आवासीय परिसर में रेस्ट हाउस, गेस्ट हाउस, पेइंग गेस्ट, कोचिंग क्लासेस, ब्यूटी पार्लर आदि चलाते हैं, वे अपने प्रयोजन को घरेलू से गैर घरेलू (व्यवसायिक) श्रेणी में परिवर्तित करवा लें। विद्युत वितरण कंपनी के संबंधित कार्यालय में जाकर अथवा कंपनी पोर्टल portal.mpcz.in अथवा UPAY App अथवा Urjas portal से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। कंपनी ने उपभोक्ताओं से यह भी अपील की है कि उपभोक्ता ने जिस प्रयोजन के लिए कनेक्शन लिया है, उसी के अनुसार विद्युत का उपभोग करें। उदाहरण के लिए यदि किसी उपभोक्ता ने घरेलू (लाइट और फैन) का कनेक्शन लिया है तो वे केवल उस परिसर को निवास के रूप में उपयोग करें। कंपनी ने कहा है कि सघन चैकिंग अभियान के दौरान किसी भी प्रकार की व्यवसायिक गतिविधि आवासीय परिसर में संचालित की जा रही है तो ऐसी गतिविधियों को गैर घरेलू प्रयोजन में माना जाएगा और संबंधित दोषी उपभोक्ता से जुर्माना वसूल किया जाएगा।


देश में पहली बार नगरीय एवं पंचायत चुनाव एक साथ हुए


देश में पहली बार मध्यप्रदेश में नगरीय एवं त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव एक साथ करवाये गये। पंचायत चुनाव के बीच में ही नगरीय निकाय चुनाव करवाये गये। अधिकारी एवं कर्मचारियों की कर्मठता से ही कम समय में दोनों चुनाव संभव हुए हैं। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री बसंत प्रताप सिंह ने यह बात कुशाभाऊ ठाकरे अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन हॉल में "स्थानीय निर्वाचन-मूल्यांकन एवं भविष्य की चुनौतियाँ'' विषय पर हुई कार्यशाला में कही। राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि नियम इस तरह से हों कि चुनाव में स्व-विवेक का उपयोग कम से कम हो। उन्होंने कहा कि जो त्रुटियाँ हों, उन्हें बेझिझक स्वीकार कर सुधारने का प्रयास करें। सभी मिल कर प्रयास करें कि आगामी चुनावों में त्रुटियों की पुनरावृत्ति न हो। सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री राकेश सिंह ने कहा कि इंस्टीट्यूशनल मेमोरी जरूरी है। इन चुनावों के अनुभवों से एक अनौपचारिक दस्तावेज बनायें, जो अगले चुनावों में काम आये। शिकायतों से संबंधित एक पोर्टल होना चाहिये। इसमें शिकायतों के निराकरण की स्थिति भी प्रदर्शित हो। ओएसडी श्री दुर्ग विजय सिंह ने कहा कि राज्य निर्वाचन आयुक्त के कुशल नेतृत्व में विषम परिस्थितियों के बावजूद पंचायत और नगरीय निकाय निर्वाचन में टीम भावना से बेहतर कार्य किया गया। उन्होंने कहा कि आई.टी. टीम द्वारा ऐसे प्रयास हों कि रिपोर्टिंग समय पर हो सके। 


नेशनल लोक अदालत में शासन का पक्ष रखने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त


आगामी नेशनल लोक अदालत में शासन का पक्ष रखने के लिए न्यायालय में लगने वाले प्रकरणों में संबंधित अधिकारी से संपर्क एवं समन्वय स्थापित कर न्यायालयीन कार्यवाही प्रक्रिया में शासन का पक्ष रखने के लिए जिला स्तर से नायब तहसीलदार श्री अमित सिंह को नोडल अधिकारी नियुक्ति किया गया है।


अंत्यावसायी द्वारा संचालित संत रविदास स्वरोजगार योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ,


जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति द्वारा संचालित संत रविदास स्वरोजगार योजना अंतर्गत नवीन उद्योग की स्थापना के लिए देय होगा, इस योजना में केवल अनुसूचित जाति वर्ग के आवेदकों को निर्धारित अर्हता एवं वित्तीय सहायता का प्रावधान नियत किया गया है। जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के कार्यपालन अधिकारी ने बताया कि उद्योग (विनिर्माण Manufacturing) इकाई के लिए राशि 1.00 लाख से 50.00 लाख तक की परियोजाएं। सेवा (सर्विस) इकाई एवं खुदरा व्यवसाय (रिटेल ट्रेड) के लिए राशि 1.00 लाख से 25.00 लाख तक। आवेदक अनुसूचित जाति वर्ग का सदस्य हो, तथा जिले का मूल निवासी हो एवं 18 से 40 वर्ष की आयु का हो। शैक्षणिक योग्यता न्यूनतम 12 वी कक्षा उत्तीर्ण, परिवार की वार्षिक आय रूपये 12.00 लाख से अधिक न हो। परिवार से आशय आवेदक के अविवाहित होने पर स्वंय एवं उसके माता पिता से है, जिन पर वह आश्रित है, अथवा आवेदक के विवाहित होने पर पति/पत्नि एवं आश्रित बच्चों से है। आवेदक स्वयं किसी बैंक अथवा किसी वित्तीय संस्था से डिफाल्टर न हो। आवेदक वर्तमान में राज्य अथवा केन्द्र शासन की किसी अन्य स्वरोजगार योजना का हितग्राही न हो। ऋण 7 वर्षो तक नियमित रूप से भुगतान की शर्त पर दिया जावेगा। योजनांतर्गत प्रशिक्षण के इच्छुक हितग्राही 12 दिवसीय उद्यमिता विकास प्रशिक्षण ऑनलाईन ट्रेनिंग मॉड्यूल के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगें। सेवा एवं व्यवसाय क्षेत्र की समस्त परियोजना जो सीजीटीएमएसई अंतर्गत बैंक ऋण गारंटी के लिए पात्र हैं। शासकीय योजनाओं के लिए क्रियान्वयन निर्माणाधीन (www.samast.mp.gov.in) Portal के माध्यम आवेदन किया जावेगा। योजना से संबंधित अधिक जानकारी के लिए कार्यपालन अधिकारी जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति मर्या. कलेक्ट्रेट कार्यालय कमरा नं. 121 एंव 122 में कार्यालयीन समय में सम्पर्क किया जा सकता है। उपरोक्त सभी योजनाएं अनुसूचित जाति वर्ग के आवेदकों के लिए है।


हर घर तिरंगा अभियान के तहत जिला स्तरीय पेंटिंग प्रतियोगिता आज


आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 11 से 17 अगस्त तक जिलेभर में हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। अभियान को सफल बनाने एवं स्वतंत्रता सप्ताह में हर घर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से जिलेभर में अनेक जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे है। इसी क्रम में शासकीय आवासीय खेलकूद संस्थान सीहोर में विभिन्न चरणों में जिला एवं नगर स्तर पर प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। हर घर तिरंगा अभियान के तहत शासकीय आवासीय खेलकूद संस्थान में 5 अगस्त को प्रात: 11 बजे से जिला स्तरीय पेंटिग प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। जिसमें जिले के समस्त विद्यालय प्रतिभागिता करेंगे। इसी प्रकार सायकल रैली 6 अगस्त को प्रात: 9 बजे से, जिला स्तर पर सायकल रैली 10 अगस्त प्रात: 9 बजे से, जिला स्तरीय क्विज प्रतियोगिता 12 अगस्त को प्रात: 11 बजे से आयोजित की जाएगी। क्विज प्रतियोगिता में जिले के समस्त विद्यालय से तीन विद्यार्थियों को एक दल सहभागिता करेगा।


जिला पंचायत के नव निर्वाचित सदस्यो का प्रथम सम्मिलन 8 अगस्त को


प्रदेश शासन के निर्देशानुसार जिला पंचायत सीहोर के नव निर्वाचित सदस्यों का प्रथम सम्मिलन 8 अगस्त 2022 को प्रात: 11 बजे जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित किया गया है। सम्मिलन में सभी निर्वाचित सदस्यों को संकल्प दिलाया जाएगा।


अनुसूचित जाति वर्ग की छात्राओं के लिए पॉलिटेक्निक में पूर्णतः निःशुल्क प्रवेश की प्रक्रिया आज से प्रारम्भ


शासकीय महिला पॉलिटेक्निक महाविद्यालय सीहोर में अनुसूचित जाति वर्ग की छात्राओं के पूर्णतः निःशुल्क प्रवेश की प्रक्रिया 5 अगस्त 2022 से प्रारम्भ हो रही है। कक्षा 10वीं उत्तीर्ण छात्राएं कम्प्यूटर साइंस एण्ड इंजीनियरिंग ब्रांच एवं कक्षा 12वीं उत्तीर्ण छात्राएं मॉर्डन ऑफिस मैनेजमेंट ब्रांच में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकती है। छात्राओं को सर्वप्रथम 5 से 16 अगस्त 2022 तक डॉ० बाबा साहब अम्बेडकर योजनां अंतर्गत डिप्लोमा पाठ्यक्रम में अपना पंजीयन कराना होगा एवं ऑनलाईन ही कॉलेज के लिए 8 से 20 अगस्त तक च्वाईस फिलिंग कराकर प्रवेश हेतु संस्था में समस्त मूल दस्तावेजो सहित 26 से 31 अगस्त 2022 के बीच उपस्थित होना होगा। प्रवेश की सम्पूर्ण प्रक्रिया वेबसाईट dte mponline.gov.in पर उपलब्ध है।महावद्यिालय प्राचार्य डॉ० पंकज जैन ने बताया कि संस्था में प्रवेश पूर्णतः निःशुल्क होने के साथ ही छात्राओं को निःशुल्क छात्रावास एवं भोजन भी उपलब्ध रहेगा। संस्था से ही सभी छात्राओं को पाठ्यपुस्तक स्टेशनरी प्रदाय की जाएंगी तथा छात्राओं को प्रतिमाह एक हजार रूपये छात्रवृत्ति भी प्रदाय की जाएगी। इच्छुक छात्राऐं कार्यालयीन समय में संस्था में उपस्थित होकर भी प्रवेश प्रक्रिया के संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकती है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को करेंगे संबोधित


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 05 अगस्त 2022 दोपहर 12 बजे पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों (ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत, जिला पंचायत) को वीडियो कॉन्फ्रेस के माध्यम से "हर घर तिरंगा" अभियान के तहत संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान के संबोधन कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाने के निर्देश दिए गए है। वीसी में ग्राम पंचायत स्तर पर पंच, उप सरपंच, सरपंच तथा स्थानीय स्तर के शासकीय कर्मचारी तथा जनपद पंचायत एवं जिला पंचायत स्तर पर सदस्य, उपाध्यक्ष, अध्यक्ष एवं संबंधित अधिकारी कर्मचारियों की भागीदारी भी सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए गए है। वीडियो कॉन्फ्रेंस में जुड़ने के लिए https: webcast.gov.in mp emevents है।


सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण कार्य का किया भूमिपूजन


आष्टा के ग्राम पंचायत हर्नियागाँव में स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण कार्य का विधायक श्री रघुनाथ सिंह मालवीय एवं ज़िला पंचायत अध्यक्ष श्री गोपाल सिंह इंजीनियर ने भूमि पूजन किया।


खेल विभाग ने खिलाड़ियों को हर घर तिरंगा फहराने के लिए प्रेरित किया


जिला खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा खिलाड़ियों को "हर घर तिरंगा"  अभियान के तहत स्वतंत्रता सप्ताह में 13 से 15 अगस्त तक घरो पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित किया गया।


एडॉप्ट एन आंगनबाड़ी से बदली आंगनबाड़ियों दिशा-दशा


प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही एडॉप्ट एन आंगनबाड़ी योजना से जिलों की आंगनबाड़ियों की दिशा-दशा बदल रही है। अब यहां बच्चों को प्ले स्कूल जैसा माहौल मिल रहा है। अब अभिभावक भी बच्चों को बिना झिझक आंगनबाड़ी भेज रहे हैं। बच्चे भी खुशी - खुशी आंगनबाड़ी केंद्र पहुंच रहे हैं और पढ़ाई के साथ-साथ खेल कूद भी कर रहे हैं। यह विचार है वार्ड क्रमांक-33 के शाहनवाज खान के। शाहनवाज बताते है कि हमारे घर के पास आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक-58 है। आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चों को बैठने के लिए कुर्सियों सहित खेलने के लिए खिलौने भी उपलब्ध है। शहनवाज कहते है कि एडोप्ट एन आंगनबाड़ी से आंगनबाड़ी केन्द्रों में बदलाव आया है। एडॉप्ट एन आंगनबाड़ी योजना के लिए शहनवाज मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को धन्यवाद करते है।


लाडली लक्ष्मी योजना से निलोफर को मिलेगी बेटी की बेहतर शिक्षा में मदद


sehore-news
माता-पिता बच्चों के भरण-पोषण, अच्छी शिक्षा और उनके भविष्य के लिए बेहतर करने का प्रयास करते हैं। एक गरीब परिवार में बेटी के जन्म के साथ ही उसके विवाह की चिंता भी शुरु हो जाती है। माता-पिता अपनी बेटी का विवाह धूमधाम से करना चाहते हैं। लेकिन धन के अभाव में यह संभव नही हो पाता। प्रदेश शासन द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना के माध्यम से बेटियों के लिए आर्थिक मदद की जा रही है। सीहोर शहर के सिपाही पुरा कस्बा निवासी श्रीमती निलोफर खान बताती है कि मैंने अपनी बेटी महर खान का पंजीयन लाडली लक्ष्मी योजना में कराया है। निलोफर बताती है कि लाडली लक्ष्मी योजना से मेरी बेटी के बेहतर शिक्षा और शादी के लिए मुझे धनराशि प्रदान की जाएगी। लाडली बालिकाओं के बेहतर भविष्य के लिए लाडली लक्ष्मी योजना चलाने के लिए निलोफर ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को धन्यवाद दिया है।


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना  के तहत रिमोर्ट सेंसिंग ग्राउण्ड ट्रुथिंग प्रशिक्षण आयोजित


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान कल्याण तथा कृषि विकास कार्यालय के सभाकक्ष में रिमोर्ट सेंसिंग ग्राउण्ड ट्रुथिंग प्रशिक्षण आयोजित किया गया। रिमोर्ट सेंसिंग ग्राउण्ड टुथिंग प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर्स ने फसलों की चार प्रकार की अवस्था के संबंध में एमपी किसान एग्री जीआईएस ऐप द्वारा फसल स्थिति की रिर्पोटिंग ऑनलाईन करने के संबंध में समस्त वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, रिलायंस जनरल इन्श्योरेंस कंपनी के अधिकृत प्रतिनिधियों को जानकारी दी। प्रशिक्षण कार्यक्रम में कृषि विभाग के उप संचालक श्री के.के. पाण्डेय ने सभी से अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने तथा किये गये वृक्षारोपण के फोटोग्रॉफ अंकुर ऐप पर अपलोड करने के लिए कहा। साथ ही 75वां आजादी का अमृत महोत्सव पर "हर घर तिरंगा" अभियान को उत्साहपूर्वक मनाये जाने के संबंध में जानकारी दी। प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर्स श्री अनिल कुमार जाट, श्री मुकेश राठौर, श्री अमन व्यास एवं श्री विशाल पाटिल द्वारा दिया गया।


बाल अधिकारों और पॉक्सो अधिनियम पर चाइल्ड लाइन का प्रशिक्षण कार्यक्रम संपन्न


sehore-news
बाल अधिकारों की समाज में जागरूकता तथा बाल अधिकारों के प्रचार-प्रसार के लिए चाइल्ड लाइन द्वारा बिलकिसगंज में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रशिक्षण में बाल अधिकारों, यौन अपराधारों, पॉक्सो अधिनियम और बाल तस्करी विषय पर विस्तार से जानकारी दी। प्रशिक्षण में आंगनवाड़ी कार्यकताओं, महिलाओं और वरिष्ठजनों ने भाग लिया। प्रशिक्षण उपरांत सभी प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। समन्वयक श्री राजेन्द्र सिंह गहलोत ने बताया कि बालक बालिकाओं के साथ ही उनके लिए काम करने वाले सभी हितधारकों को भी जागरूक और मुखर होना आवश्यक है। कार्यक्रम में महिलाओं और वरिष्ठजनों को चाइल्ड लाइन से जुड़ने और बालकों के लिए सुरक्षित समाज बनाने में सहयोग करने के लिए धन्यवाद भी किया गया। चाइल्ड लाइन 0 से 18 वर्ष के बच्चों के लिए कार्य करने वाली टोल फ्री फोन सेवा 1098 का संचालन करती है। प्रशिक्षण में परामर्शदात्री प्रियंका शर्मा, सदस्य योगेश गौर, सुमित गौर और दीपक रूहेला उपस्थित थे।


अंकुर अभियान के तहत किया गया पौधारोपण


मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद एवं समर्थन संस्था द्वारा अंकुर अभियान के तहत बड़ली माता मंदिर पर सहित ग्राम रायपुरा मे पौधारोपण किया गया। इस अवसर पर ग्राम रायपुरा में फल एवं छायादार 500 पौधों का रोपण किया। पौधारोपण कार्यक्रम में कृषि विभाग के उपसंचालक श्री केके पाण्डेय, अंकुर कार्यक्रम के नोडल श्री राजकुमार सगर सहित अनेक अधिकारी एवं ग्रामीण उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि शासन द्वारा हमारी धरती की हरियाली और सौंदर्य में वृद्धि के साथ-साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता हेतु 'अंकुर कार्यक्रम' चलाया गया है, जिसमे अधिक से अधिक पौधारोपण किया जाना है। 'अंकुर कार्यक्रम' के माध्यम से हम सब अपने प्रदेश की धरती को अधिक हरा-भरा और समृद्ध बना सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: