विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 17 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 18 अगस्त 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 17 अगस्त

क्षतिग्रस्त स्कूल भवनों की जानकारी उपलब्ध कराएं


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में हुई अतिवृष्टि एवं बाढ़ के कारण शासकीय एवं अशासकीय स्कूल भवनों की क्षति होने संबंधी जानकारी शीघ्र ही सर्वे कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश प्रसारित किए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए अपर कलेक्टर श्री वृन्दावनसिंह ने बताया कि जिला शिक्षा अधिकारी, जिला समन्वय परियोजना के अलावा समस्त एसडीएम व समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को पत्र प्रेषित कर कार्य क्षेत्रों के शासकीय, अशासकीय शालाओं की दीवारें व छतों क्षति संबंधी निरीक्षण व पर्यवेक्षण कार्य शीघ्र संपादित कराएं ताकि क्षतिग्रस्त भवन शिक्षक, विद्यार्थियों के लिए जोखिमपूर्ण ना बनें।


बाढ़ प्रभावितों के इलाज हेतु बेहतर प्रबंध हों


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सहित समस्त एसडीएम व खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को आदेशित किया है कि जिले में विगत दिनों हुई अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावित नागरिकों के स्वास्थ्य का परीक्षण कराने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं ताकि वे किसी भी प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त ना रहें। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी पत्र में उल्लेख है कि बाढ़ का पानी घरों व बस्तियों में भर जाने के कारण अनेक प्रकार की संक्रमिक बीमारियां बढ़ जाने की संभावना होती है। अतः चिकित्सीय अधिकारी दल संबंधित बस्तियों व ग्रामों में विशेष स्वास्थ्य शिविर उपचार केम्पों का आयोजन कर स्वास्थ्य परीक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। उपरोक्त कार्यों की क्रॉस मॉनिटरिंग का दायित्व संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को सौंपा गया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने स्वास्थ्य उपचार कैम्प के शिविर आयोजन के पूर्व संबंधित क्षेत्र में आयोजन की तिथि व समय का व्यापक प्रचार-प्रसार स्थानीय संसाधनों के माध्यम से कराया जाना सुनिश्चित हो के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।


जल स्त्रोतों का परीक्षण


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री एवं समस्त निकायों के अधिकारियों के साथ साथ जनपदों के सीईओ को निर्देश जारी किए हैं कि अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावित जल स्त्रोतों का परीक्षण शीघ्र कराया जाना सुनिश्चित करें, ताकि स्थानीय आमजनों को स्वच्छ जल की प्राप्ति में किसी भी प्रकार की बाधाएं उत्पन्न ना हों। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जारी आदेश में स्पष्ट उल्लेख है कि अतिवृष्टि एवं बाढ़ के कारण जल स्त्रोतों के खुल जाने पर दूषित होने की संभावना बढ़ जाती है अतः इनकी जांच कर शीघ्र ट्रीटमेंट कराया जाए ताकि स्थानीय रहवासियों को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति में किसी भी प्रकार की बाधाओं का सामना ना करना पड़े।


क्षतिग्रस्त पुल-पुलिया एवं मार्गों को शुरू कराने के निर्देश


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने विगत दिनों अतिवृष्टि एवं बाढ़ से क्षतिग्रस्त पुल-पुलिया एवं मार्गों को बाढ़ उपरांत शुरू कराने के निर्देश प्रसारित किए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं कि जिले में हुई अतिवृष्टि एवं विभिन्न बांधों से छोड़े गये जल प्रवाह के कारण बेतवा नदी खतरे के निशान से उपर प्रवाहित रहने, जिले की अन्य नदियों-नालों में अत्यंत जल भराव एवं जल प्रवाहित होने से पुल-पुलियों एवं मार्ग जलमग्न रहे हैं। वर्षा रूकने एवं विभिन्न बांधों से जल प्रवाह बंद हो जाने पर पुल-पुलियों और मार्गों के खुल जाने पर आवागमन तेजी से होने लगता है। पुल-पुलियों और मार्गों के जलमग्न रहने से इनमें क्षति होना स्वाभाविक है और ये आवागमन के लिए जोखिमपूर्ण भी हो सकते हैं। आवागमन चालू करने के पूर्व पुल-पुलियों और मार्गों का निरीक्षण कर चालू करना आवश्यक है। कलेक्टर श्री भार्गव ने निर्देश दिए हैं कि पुल-पुलियों एवं मार्गों के खुल जाने पर संबंधित विभागों के इंजीनियर तथा एसडीएम एवं थाना प्रभारी संयुक्त भ्रमण कर पुल-पुलियों की सृदृढ़ता की जांच उपरांत वाहनों का आवागमन प्रारंभ करायें। यदि इनकी मरम्मत आवश्यक है तब मरम्मत के उपरांत ही आवागमन चालू कराया जाये।


विद्युत संचालन संबंधी निर्देश जारी


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने विगत दिनों अतिवृष्टि एवं बाढ़ उपरांत विद्युत संचालन संबंधी दिशा-निर्देश प्रसारित किए गए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने विद्युत विभाग के अधिकारियों एव समस्त अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि अतिवृष्टि एवं बाढ़ के कारण विद्युत लाईनों एवं खंबे प्रभावित एवं क्षतिग्रस्त होना स्वाभाविक है। बाढ़ उपरांत बिना परीक्षण एवं निरीक्षण किए विद्युत संचालन करने से विद्युत दुर्घटनाएं हो जाती हैं। विद्युत लाईनों एवं खम्बों का परीक्षण एवं निरीक्षण कराने के उपरांत ही विद्युत संचालन कराया जाना सुनिश्चित करें।


चार प्रकरणों में जिला बदर व तीन में थाने में हाजिरी दर्ज कराने का आदेश जारी


कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला के पालन प्रतिवेदन पर चार प्रकरणों में जिला बदर का तथा तीन प्रकरणों में संबंधित अपराधी को उल्लेखित थाने में प्रत्येक माह हाजिरी दर्ज कराने का आदेश जारी किया है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जिन प्रकरणों में जिला बदर के आदेश जारी किए गए हैं उनमें अनावेदक विट्टी बघेल उर्फ बृजेश पुल लालसिंह बघेल निवासी राजेन्द्र नगर बासौदा, अनावेदक लखपतसिंह पुत्र हीरालाल दांगी उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम करैया थाना कुरवाई, अनावेदक बलवीर मैना पिता रामगोपाल मैना उम्र 35 वर्ष निवासी ग्राम देहलबाड़ा थाना त्यौंदा एवं अनावेदक रसीद खां पुत्र शरीफ खां उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम कस्बा बागरोद सहित पूर्व उल्लेखित अनावेदकों को विदिशा एवं सीमावर्ती जिले रायसेन, भोपाल, गुना, अशोकनगर, सागर, राजगढ़ की राजस्व सीमाओं से एक वर्ष की काल अवधि हेतु निष्कासित किया गया है। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा जिन आवेदकों को आगामी एक वर्ष तक संबंधित थाने में उपस्थित होकर मासिक हाजिरी के लिए पाबंद किया गया है उनमें अनावेदक पहलवानसिंह पुत्र कालूराम अहिरवार उम्र 30 वर्ष निवासी कर्राखेड़ी को थाना सिरोंज में, अनावेदक खेमचंद उर्फ गुड्डू अहिरवार पिता परमलाल उर्फ परमा अहिरवार उम्र 45 वर्ष निवासी पीतलमिल को थाना सिविल लाइन विदिशा में तथा अनावेदक जमनालाल जाटव पुत्र लक्ष्मणसिंह जाटव उम्र 28 वर्ष निवासी भोजपुर को थाना सिरोंज जिला विदिशा में आगामी एक वर्ष के लिए मासिक हाजिरी हेतु पाबंद करने का आदेश जारी किया गया है।


जिला जल एवं स्वच्छता मिशन तदर्थ समिति  की बैठक 23 को


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव  की अध्यक्षता में ष्जिला जल एवं स्वच्छता मिशन तदर्थ समिति (DWSM) की बैठक अब 23 अगस्त को आयोजित की गई है। समिति के सचिव एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री संतोष कुमार साल्वे ने बताया कि पूर्व मैया बैठक 17 अगस्त को आयोजित होनी थी किंतु जिले में अति वर्षा से बाढ़ जैसी स्थिति निर्मित होने के कारण बैठक आयोजन की तिथि में परिवर्तन किया गया है नवीन जारी तिथि अनुसार अब यह बैठक  मंगलवार 23 अगस्त की दोपहर 12 बजे से नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभा कक्ष में आयोजित की गई है। उक्त बैठक का ऐजन्डा निम्नानुसार है पूर्व से स्थापित नलजल प्रदाय योजनाओं के रेट्रोफिटिंग कार्य, नवीन कार्य एवं पुनरीक्षण कार्य का अनुमोदन तथा कियाशील घरेलू कनेक्शन एवं रोड रेस्टोरेशन। हर घर जल ग्राम अन्य विषय अध्यक्ष महोदय की अनुमति से समिति के सचिव ने बताया कि उक्त बैठक की नवीन तिथि की सूचना सभी सदस्यों को संप्रेषित की जा चुकी है।और उन सभी को निर्धारित तिथि, स्थान एवं समय पर उपस्थित होने का आग्रह किया गया है।


डीपीटी, टीडी टीकाकरण अभियान की शुरूआत आज से


डीपीटी, टीडी के टीकाकरण अभियान गुरूवार 18 अगस्त से प्रारंभ होने जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि टिटनेस और डिप्थीरिया जैसी गंभीर बीमारियों से  बचाव हेतु ये महाअभियान चलाया जा रहा है जो कि 18 अगस्त से 31 अगस्त तक चलेगा। सीएमएचओ डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि आज गुरूवार 18 अगस्त की प्रातः साढ़े 10 बजे से ओलम्पस हाई स्कूल, सागर रोड धतूरिया विदिशा में डीपीटी, टीडी अभियान के शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित किया गया है। डीपीटी,टीडी  टीकाकरण अभियान के तहत 5 वर्ष, 10 वर्ष एवं 16 वर्ष के किशोर बालक-बालिकाओं को डीपीटी एवं डीटी टीकाकरण का एक डोज दिया जाना है।


बाढ़ क्षति का सर्वे शीघ्र करने के निर्देश, पीड़ितों को बुनियादी सुविधाओं की आपूर्ति शीघ्र कराएं- कलेक्टर


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बाढ़ राहत कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान बताया कि आगामी दो दिवसों के भीतर मुख्यमंत्री जी स्वयं बाढ़ क्षति का आंकलन व जायजा लेने हेतु आएंगे। उन्होंने सभी विभागों से समुचित तैयारियां कराने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बुधवार को जिले में अतिवर्षा एवं बाढ़ से हुई क्षति का सर्वे कार्य जैसे ही पानी उतरता है अबिलंब करने के निर्देश समीक्षा बैठक में दिए हैं। उनके द्वारा आयोजित व्हीसी समीक्षा में खण्ड स्तरीय अधिकारियों ने भी स्थानीय स्तर की समस्याओं से अवगत कराया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने समस्त अधिकारियों से कहा कि बाढ़ बचाव एवं राहत कार्य युद्ध गति से क्रियान्वित किए जाएं। उन्होंने कहा कि ऐसे पुल-पुलिया व निर्माणाधीन ब्रिज जो बाढ़ अथवा अतिवृष्टि से क्षतिग्रस्त हुए हैं। उन सभी की मरम्मत कार्य पूर्ण होने के उपरांत संबंधित विभाग के अधिकारी से इस आशय का प्रमाण पत्र प्राप्त किया जाए कि पुल-पुलिया आवागमन के लिए अब पूर्ण सुरक्षित हैं इसके पश्चात ही ऐसी पुल-पुलियों पर यातायात शुरू किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के तमाम प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि सभी जल स्त्रोतों का पूर्ण रूप से शुद्धिकरण कार्य कराया जाए। खासकर ऐसे हैण्डपंप जो वर्षारूपी जल में डूब गए थे अथवा आधी-अधूरी पाइन लाइन जिनसे जल आपूर्ति की व्यवस्था क्रियान्वित की जानी थी इत्यादि का बेहतर मरम्मत के उपरांत ही नल से जल की सप्लाई व्यवस्था संचालित की जाए। उन्होंने ततसंबंध में लोग स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, नगरीय निकाय के अधिकारियों के अलावा जनपदों के सीईओ को आवश्यक निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु संबंधित ग्रामों में विशेष उपचार कैम्पों का आयोजन संबंधित बीएमओ के द्वारा क्रियान्वित किया जाए। शिविरों की सूचना स्थानीय स्तर तक सुगमता से पहुंचे के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने बाढ़ क्षति के कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान समस्त एसडीएमों से कहा कि राहत शिविरों में रहने वाले पीड़ितों को समय पर बुनियादी सुविधाओं के साथ-साथ भोजन आपूर्ति की व्यवस्था क्रियान्वित की जाए। उन्होंने आरबीसी 6 (4) के प्रावधानों के तहत राहत शिविर पर व्यय राशि की स्वीकृति के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कलेक्टर श्री भार्गव ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में विद्युत की सतत आपूर्ति, शैक्षणिक संस्था भवनों में यदि कहीं क्षति हुई है तो उनकी मरम्मत होना, स्कूल परिसरों की दीवारों, हैण्डपंप, बिजली आपूर्ति इत्यादि जर्जर स्थिति में ना हों के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। इसी प्रकार ऐसी सड़कें जो जीर्ण-शीर्ण होकर क्षति हो गई हैं उन सड़कों के निर्माण कार्य करने वाले विभागों से ही मरम्मत कार्य शीघ्र कराया जाए। उन्होंने सड़कों के निमार्ण कार्य के दौरान वैकल्पिक मार्ग के संबंध में भी आवश्यक निर्देश दिए हैं। इसी प्रकार आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन, सर्वे कार्य कराने, केन्द्रीय दल हेतु रिपोर्ट तैयार कराने, शेष रही मानसून अवधि के लिए व्यापक प्रबंध सुनिश्चित कराने इत्यादि के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया है। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि पानी उतरते ही सर्वे कार्य पूर्ण कराया जाए, उन्होंने नटेरन, लटेरी, सिरोंज, कुरवाई, बासौदा एवं विदिशा के एसडीएम सहित अन्य खण्ड स्तरीय अधिकारियों से वन टू वन चर्चा कर बाढ़ क्षति के संबंध में जानकारी ही नहीं प्राप्त की बल्कि आवश्यक निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने शमशाबाद एसडीएम को निर्देश दिए हैं कि एनडीआरएफ की एक टीम 23 अगस्त तक शमशाबाद में ही रूकेगी। उनके लिए तमाम बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान बताया किया गया बासौदा, सिरोंज व कुरवाई के लिए एक-एक मोटर वोट सहित तैराक दल तैनात किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिले के सभी बांध जल से लबालब हो गए हैं अतः अब जैसे ही वर्षा होगी बांधों के गेट खोलने का कार्य करना पड़ेगा। अतः निचली बस्तियों में जल भराव की स्थिति निर्मित ना हो इसके लिए अभी से माइक्रोप्लान तैयार किया जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने मौसम विभाग द्वारा दी गई चेतावनी का जिक्र करते हुए बताया कि 19 से 23 अगस्त के मध्यम पुनः बारिश होने की संभावनाएं मौसम विभाग द्वारा बताई गई हैं अतः सभी एसडीएम अपने-अपने स्तर पर बाढ़ से बचाव संबंधी तैयारियों की पुनः समीक्षा कर त्रुटियों को दूर करते हुए माइक्रोप्लान तैयार रखेंगे ताकि आवश्यकता पड़ने पर बाढ़ पीड़ितों को अबिलम्ब मदद मिल सके। जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से सम्पादित किए जाने वाले कार्यों के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन व दिशा-निर्देश जनपदों के सीईओ को दिए हैं उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से जो विकास कार्य सम्पन्न कराए गए हैं वे अतिवर्षा या बाढ़ से क्षति हुए हैं उनका सर्वे कार्य शीघ्र ही पूर्ण कराया जाए और मरम्मत अबिलम्ब शुरू की जाए। अपर कलेक्टर श्री वृन्दावनसिंह ने राजस्व कार्यों, बाढ़ से बचाव के लिए माईक्रोप्लान, संचार व्यवस्था, राहत कैम्पों का चिन्हांकन, एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ के व्यय की पूर्ति के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया है।


जिले के दस लाख मतदाताओं के आधार नंबर इपिक से लिंक होंगे


निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का हवाला देते हुए कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने समस्त एसडीएम सहित अन्य विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिले के सभी मतदाताओं के फोटो परिचय पत्र आधार कार्ड से लिंक कराए जाने हैं यह कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता से 20 अगस्त तक पूरा किया जाना है। उन्होंने समस्त शासकीय विभागों के जिलाधिकारियों को अधिनस्थों सहित परिवारजनों के मतदाता कार्ड में आधार कार्ड नंबर लिंक कराने के निर्देश दिए हैं यदि इस कार्य में किसी के द्वारा कोताही बरती जाती है तो उनका वेतन आहरण नहीं करने के निर्देश जिला कोषालय को दिए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने आधार से लिंक कार्यों में 54 बीएलओ के द्वारा लापरवाही बरते जाने पर उनका वेतन रोकने के निर्देश समीक्षा बैठक में दिए हैं। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अमृता गर्ग ने बताया कि जिले में 182 बीएलओ नियुक्त हैं। उन्होंने मतदाता परिचय पत्र में आधार से लिंक करने की प्रक्रिया पर गहन प्रकाश डाला।

कोई टिप्पणी नहीं: