विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 02 अगस्त - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 2 अगस्त 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 02 अगस्त

नगरपालिका परिषद विदिशा में विधायक प्रतिनिधि नियुक्त


विदिशा। विधायक शशांक श्रीकृष्ण भार्गव ने नगरपालिका विदिशा में श्री विजयकांत रैकवार पुत्र श्री सूरतलाल रैकवार, निवासी बालाजी मंदिर के पास किले अन्दर विदिशा को विधायक प्रतिनिधि के रूप में मनोनीत किया है। विधायक जी के अनुसार श्री विजयकांत रैकवार नगरपालिका परिषद विदिशा में उनके प्रतिनिधि के रूप में नगरपालिका से संबंधित जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए आमजन की समस्याओं का निराकरण करायेगें। विजयकांत ने अपनी नियुक्ति पर कांग्रेस पार्टी जिलाध्यक्ष एवं माननीय विधायक का आभार माना है। प्रतिनिधि नियुक्त होने पर उन्हें बधाई दी गई है। बधाई देने वालों में ऋषिकांत नारले, दिनेश महाराज, रूपेश शिल्पकार, अनिल साहू, नरेन्द्र शर्मा, राजा पठान, बंटी पठान, रवि नामदेव, सलमान खान, फजल शेख, विनोद मालवीय, राजेश रैकवार, राकेश रैकवार, भगवानदास, राजकुमार डिडोत, हरिओम किरार आदि हैं।


जनसुनवाई कार्यक्रम में 60 आवेदन प्राप्त हुए


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर के मार्गदर्शन में प्रत्येक मंगलवार को आयोजित होने वाली जनसुनवाई कार्यक्रम में इस मंगलवार को 60 आवेदकों के द्वारा आवेदन प्रस्तुत कर अपनी व्यक्तिगत और सार्वजनिक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया है। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई जनसुनवाई कार्यक्रम अवधि के दौरान एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह, समेत विभिन्न विभागो के जिलाधिकारियों के द्वारा पंक्तिवद्व रो में बैठकर आवेदको से आवेदन प्राप्ति के उपरांत निराकरण की पहल की गई है। एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने बताया कि आज सम्पन्न हुई जनसुनवाई कार्यक्रम में मौके पर 33 आवेदनों का निराकरण किया गया है शेष लंबित आवेदनों पर समय सीमा में कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश पूर्वानुसार प्रसारित किए गए है।


जिला पंचायत का प्रथम सम्मिलन आठ को


जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट ने बताया कि जिला पंचायत के प्रथम सम्मिलन सोमवार आठ अगस्त की दोपहर तीन बजे से रविन्द्रनाथ ऑडिटोरियम मैदा मिल परिसर विदिशा में आयोजित किया गया है गौरतलब हो कि इस कार्यक्रम के आयोजन स्थल में परिवर्तन किया गया है पूर्व में यह कार्यक्रम एसएटीआई के कैलाश सत्यार्थी सभागृह में आयोजित होना था के स्थान पर अब रविन्द्रनाथ ऑडिटोरियम मैदा मिल परिसर विदिशा में आयोजित किया गया है। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने बताया कि जिला पंचायत का प्रथम सम्मिलन आयोजन की तिथि व संशोधित आयोजन स्थल की सूचना जिला पंचायत के सभी नवनिर्वाचित सदस्यों को प्रेषित कर जानकारी दी जा चुकी है। 


नगरीय निकायो के प्रथम सम्मिलन की तिथियां जारी


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने विदिशा जिले के समस्त नगरीय निकायो के प्रथम सम्मिलन आयोजन एवं अध्यक्ष, उपाध्यक्ष का निर्वाचन सम्पन्न हो इसके लिए आयोजन की तिथियां व स्थल एवं समय के अलावा पीठासीन अधिकारी एवं सहायक अधिकारी नियुक्त करने का आदेश जारी कर दिया है। विदिशा नगरपालिका का सम्मिलन के लिए कलेक्टर स्वंय पीठासीन अधिकारी होंगे जबकि अनुविभागीय अधिकारी विदिशा श्री गोपाल सिंह वर्मा एवं विदिशा ग्रामीण तहसीलदार श्री सुधीर कुशवाह सहायक पीठासीन अधिकारी नियुक्त किए गए हैं उक्त सम्मिलन आठ अगस्त को कैलाश सत्यार्थी सभागृह में आयोजित किया गया है। नगरपालिका गंजबासौदा का भी प्रथम सम्मिलन भी आठ अगस्त को नगरपालिका परिषद बासौदा के सभाकक्ष में आयोजित किया गया है। उक्त सम्मिलन के लिए पीठासीन अधिकारी बासौदा एसडीएम तथा सहायक पीठासीन अधिकारी तहसीलदार श्री कमल मंडेलिया व मुख्य नगरपालिका अधिकारी गंजबासौदा श्री निशांत सिंह को नियुक्त किया गया है। नगर परिषद लटेरी का प्रथम सम्मिलन रविवार सात अगस्त  को अनुविभागीय अधिकारी लटेरी कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित किया गया है इसके लिए पीठासीन अधिकारी लटेरी एसडीएम तथा तहसीलदार श्री अजय शर्मा एव ंनायब तहसीलदार श्री सुनील शर्मा को सहायक पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया गया है। बुधवार दस अगस्त को नगरपालिका सिरोंज के अलावा नगर परिषद कुरवाई एवं शमशाबाद का प्रथम सम्मिलन आयोजित किया गया है। सिरोंज नगरपालिका का सम्मिलन नगरपालिका परिषद सिरोंज के सभाकक्ष में संबंधित एसडीएम को पीठासीन अधिकारी तथा सिरोंज तहसीलदार श्रीमती अलका सिंह, अपर तहसीलदार श्री हर्ष विक्रम सिंह को सहायक पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया गया है इसी प्रकार नगर परिषद कुरवाई का प्रथम सम्मिलन दस अगस्त को जनपद पंचायत कुरवाई के सभागार कक्ष में आयोजित किया गया है उक्त सम्मिलन के लिए कुरवाई एसडीएम को पीठासीन अधिकारी तथा कुरवाई तहसीलदार श्री यशवर्धन सिंह, नायब तहसीलदार श्रीमती पारूल चौधरी को सहायक पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया गया है। नगर परिषद शमशाबाद का भी प्रथम सम्मिलन बुधवार 10 अगस्त को शासकीय कन्या शाला उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शमशाबाद में आयोजित किया गया है। उक्त सम्मिलन के लिए शमशाबाद एसडीएम को पीठासीन अधिकारी तथा तहसीलदार सुश्री अनीता पटेल एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी शमशाबाद श्री सलीम खॉन को सहायक रिटर्निंग आफीसर नियुक्त किया गया है। 


विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम जारी


भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 2023 कार्यक्रम  25 जुलाई 2022 को जारी किया गया है. । इस कार्यक्रम के अनुसार  4 अगस्त 2022 से 24 अक्टूबर 2022 तक पुनरीक्षण पूर्व की कार्यवाही अर्थात तैयारी की जाएगी।  9 नवम्बर 22 को वोटर लिस्ट का प्रारंभिक प्रकाशन किया जाएगा। इसी दिनांक से दिनांक 08 दिसंबर 2022 तक नाम जोड़ने तथा आपत्तियों के आवेदन प्रस्तुत किये जा सकेंगे इसी अवधि में विशेष कैम्प दो शनिवार एवं दो रविवार को आयोजित किया जाएगा। इस दिन बी.एल.ओ. दिन भर मतदान केन्द्र में बैठकर आवेदन पत्र प्राप्त करेंगें। 26 दिसंबर 2022 तक आवेदन पत्रों का निराकरण होगा तथा  05 जनवरी 2023 को वोटर लिस्ट का अंतिम प्रकाशन होगा यह विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण 1 जनवरी 2023 की अर्हता तिथि को ध्यान में रखते हुए किया जाएगा। पुनरीक्षण एवं पुनरीक्षण पूर्व कार्यवाही राष्ट्रीय मतदाता दिवस 25 जनवरी के पूर्व समस्त कार्यवाहियाँ पूर्ण कर ली जावेंगी ताकि राष्ट्रीय मतदाता दिवस के दिन समारोह पूर्वक नवीन युवा मतदाताओं को परिचय पत्र का वितरण किया जा सके। पुनरीक्षण पूर्व कार्यवाहियों में मतदान केन्द्रों का 1500 से अधिक मतदाता होने पर पुनरीक्षण मतदाताओं की संख्या अनुसार, डेमोग्राफिक सिमिलर एंट्री (डी. एस.ई.) समाप्त करना, फोटो सिमिलर एंट्री (पी. एस. ई.) समाप्त करना, एपिक कार्ड की दोहरी एंट्री समाप्त करना, अस्पष्ट फोटो बदलना, मतदाता सूची में सेक्शन का पुनरीक्षण करना, ध्यान रखा जाना चाहिए जिससे कि परिवार के सदस्य एक स्थान पर रहें, मतदान केन्द्रों का सत्यापन कर अंतिम रूप देना, फार्मों की छपाई करना, पूरक सूचियों का एकीकरण करना, प्रारूप मतदाता सूची की तैयारी करना आदि शामिल हैं। मतदाता सूची के पुनरीक्षण के दौरान इस कार्य के पर्यवेक्षण की व्यवस्था भी की गयी है। इसमें संभागीय आयुक्त मतदाता सूची प्रेक्षक हैं, उनके द्वारा उनके संभाग के जिलों की मतदाता सूची की जांच करेंगे तथा सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी, निर्वाचन पदाधिकारी भी कार्य का पर्यवेक्षण करेंगे। 


निर्वाचन विधि में संशोधन


भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन विधि (संशोधन) अधिनियम 2021 के आधीन लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951. निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण नियम 1960, निर्वाचन संचालन नियम 1961 में परिवर्तन किये गये हैं। आयोग के निर्देशानुसार उक्त संशोधन एक  अगस्त 2022 से लागू हो गये हैं, यह प्रक्रिया प्रदेश में एक  अगस्त से प्रारंभ की जा रही है। नवीन संशोधन अनुसार निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी समस्त मतदाता जो पूर्व से जुड़े हैं उनसे फार्म 6 (ख) में आधार संग्रहण किया जाएगा तथा वे मतदाता जो पहली बार नाम जुड़वा रहे हैं, उन्हें फार्म 6 में आधार की जानकारी देनी होगी। यदि निर्वाचक के पास आधार कार्ड नहीं है तो अन्य 11 दस्तावेजों  में मनरेगा जॉब कार्ड, बैंक ध् पोस्ट ऑफिस की पासबुक, श्रम मंत्रालय द्वारा जारी स्वास्थ बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लायसेन्स, पेन कार्ड,  आर. जी.आई. द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड,भारतीय पासपोर्ट,पेंशन दस्तावेज, परिचय पत्र शासकीय ध् अर्द्धशासकीय सार्वजनिक क्षेत्र द्वारा जारी ,एम. पी. एम.एल.ए., एम.एल.सी. का परिचय पत्र,परिचय पत्र, सामजिक न्याय भारत सरकार द्वारा जारी में से कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत किये जा सकेंगे। इस कार्य के प्रचार-प्रसार के लिए एक अगस्त 2022 को मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक  जिला स्तर पर आयोजित की गयी एवं बी.एल.ओ. अधिकारी एवं कर्मचारी द्वारा स्वयं के आधार नम्बर दर्ज किये गये आज से आवेदन पत्र बी. एल.ओ. या ई.आर.ओ. को भौतिक रूप से तथा ऑनलाइन वोटर हेल्पलाइन एप्प. एनवीएसपी एवं वोटर पोर्टल के माध्यम से भर सकते हैं। निर्वाचक नामावली में नाम जोड़ने की अर्हता तिथि पूर्व में एक जनवरी रखी गयी थी परंतु अब वर्ष में चार दिनांकों में अर्हता तिथि रखी गयी है जो उस वर्ष की एक जनवरी, एक अप्रैल, एक जुलाई एवं एक अक्टूबर होगी। इन तिथियों में उन निर्वाचकों को जो इन तिथियों में 18 वर्ष की आयु प्राप्त कर लेते हैं, उन्हें अपना नाम निर्वाचक नामावली (वोटर लिस्ट) में जुड़वाने की पात्रता होगी। 17़ की आयु के आवेदक अब पूर्व से अपना आवेदन जमा कर सकते हैं जो बाद में 18 वर्ष पूर्ण करेंगे। इस प्रकार अग्रीम आवेदन जमा करने की सुविधा प्राप्त होगी। निर्वाचकों के नाम जोड़ने, नाम हटाने, नाम में संशोधन करने एवं एक स्थान से दूसरे स्थान पर नाम का स्थानांतरण करने में जिन फार्मों की आवश्यकता पड़ती थी, उनमें भी संशोधन किया गया है तथा उन्हें सरल एवं सुविधा जनक बनाया गया है। नवीन मतदाता के लिये प्रारूप - 6, आधार संग्रहण हेतु प्रारूप - 6 (ख) किसी निर्वाचक के नाम हटाने अथवा जोड़ने के विरूद्ध प्रारूप 7 एवं एपिक कार्ड बदलने, दिव्यांग जन चिन्हांकित करने निवास स्थानांतरण तथा एक से अन्य विधानसभा में नाम स्थानांतरण हेतु प्रारूप-8 निर्धारित किया गया है। संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान ऐसे क्षेत्र जिनमें जनसंख्या के अनुपात अनुसार नाम कम जुड़े हैं तथा महिलाओं का प्रतिशत कम है, उन क्षेत्रों में स्वीप की गतिविधियाँ चलाई जाकर लोगों को जागरूक किया जाएगा। 


हर घर तिरंगा अभियान को व्यापक बनाने की अपील, अभियान से जुडने धर्मगुरूओं, जनप्रतिनिधियों, समाज सेवियों से सहयोग प्रद का आह्वान

 

कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में हर घर तिरंगा अभियान को व्यापक बनाने तथा प्रत्येक नागरिक को अभियान से जोडने के लिए धर्मगुरूओं, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों सहित अन्य से अपील की कि आजादी के अमृत महोत्सव पर हर घर तिरंगा अभियान हमारी राष्ट्रभक्ति की भावना को दृढ़ बनाने का प्रकल्प है। यह हर विदिशावासी का अभियान है। अभियान के लिए आवश्यक वातावरण निर्माण हेतु सभी मिलकर सहयोग करें तथा प्रत्येक नागरिक को तिरंगा अभियान से जोडने का कार्य करें। नवीन कलेक्टेट  के बेतवा सभागार में आयोजित बैठक मे कलेक्टर श्री भार्गव ने वीसी के माध्यम से खंड स्तरीय अधिकारियों को भी संबोधित किया है। उन्होंने कहा की देशव्यापी इस अभियान में हम किसी प्रकार से पिछड़ ना पाये यह हम सब का नैतिक दायित्व है। उन्होंने कहा कि विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि सहित सभी का हर स्तर पर सहयोग प्राप्ति की पहल अनुविभाग अन्तर्गत भी की जाए। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने बताया कि 13 से 15 अगस्त का आयोजित होने वाले हर घर तिरंगा अभियान की जानकारी सभी को सुगमता से उपलब्ध हो इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार पर भी उन्होंने बल दिया है। सभी अपने घरों पर ध्वज फहरायेगे। उन्होने कहा कि पूरे जिले को तिरंगामय बनाने के लिए प्रशासन स्तर पर सभी संभव प्रयास किये जा रहे है। गांव-गांव में झण्डो की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।


संशोधित झण्डा संहिता में दिये गए निर्देश

जिले में केंद्र एवं स्व सहायता समूह तथा जैन के माध्यम से क्रय किए जाने वाले छोटे साइज के तिरंगा झंडा नागरिक सिर्फ अपने घरों पर रात्रि के समय भी झण्डा लगा सकते है। उन्होने कहा कि सभी धर्मगुरू, जनप्रतिनिधि तथा एनजीओ के प्रतिनिधि अपने-अपने संपर्क में आने वाले लोगो को अभियान के बारे में जानकारी दे तथा राष्ट्रभक्ति से जुड़े इस गौरवशाली अभियान के सहभागी बनें। कलेक्टर श्री भार्गव ने जिला मुख्यालय के साथ साथ सभी अनुविभाग स्तरों पर तिरंगा में वातावरण बनाने के लिए तिरंगा रैली का आयोजन भी शीघ्र किया जायेगा। उन्होने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान के तहत सोशल मीडिया के माध्यम से भी लोगो को जागरूक किया जायें। ध्वजारोहण के फोटो फेसबुक अपलोड कलेक्टर श्री भार्गव ने जिले के सभी नागरिकों से अपील की है कि अपने-अपने सोशल मीडिया खातों में तिरंगे झंडे के साथ सेल्फी को लेकर अपलोड जरूर करें साथ ही व्हाट्सएप की डीपी पर तिरंगे को स्थापित कर तिरंगे की प्रोफाईल फोटो बना सकते है। इस दौरान उन्होंने झण्डो की उपलब्धता,विक्रय केन्द्र के बारे में भी जानकारी प्रदान की ।


मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में आंशिक संशोधन


मध्यप्रदेश सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग मंत्रालय, भोपाल के द्वारा जारी आदेश अनुसार मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में के क्रियान्वित में आंशिक संशोधन किया गया है। अब आवेदक की आयु सीमा 18 से 40 वर्ष के स्थान पर 18 से 45 वर्ष तथा शैक्षणिक योग्यता कक्षा 12 वीं उत्तीर्ण के स्थान पर कक्षा 8 वीं मान्य की गई है।   जिला उद्योग एवं व्यापार केंद्र के महाप्रबंधक श्री पीडी वंशकार ने बताया  कि मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना के अन्तर्गत कक्षा 8 वी उत्तीर्ण 18 से 45 आयु वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवक युवतियां सेवा, व्यवसाय हेतु अधिकतम 25 लाख तक एवं उद्योग हेतु 50 लाख तक की परियोजना लागत हेतु समस्त पोर्टल के द्वारा एमपी ऑनलाईन कियोस्क से ऑनलाइन ऋण आवेदन स्वरोजगार इकाई स्थापनार्थ जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र, विदिशा में प्रस्तुत कर सकते हैं। 


डीएलसीसी की बैठक संपन्न, हितग्राही मूलक योजनाओं में हितग्राहियों को समय सीमा में वित्त पोषण की कार्यवाही सुनिश्चित करें-कलेक्टर


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने आज मंगलवार को डीएलसीसी की बैठक में बैंकवार लक्ष्यों की समीक्षा की है। डीएलसीसी की बैठक में लीड बैंक ऑफिसर समेत समस्त बैंकर्स के अलावा शासन की हितग्राही मूलक योजनाओं से संबंधित संबंधित विभागों के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे। कलेक्टर श्री भार्गव ने डीएलसीसी की बैठक में समस्त बैंक मैनेजरों को निर्देश दिए हैं कि शासन द्वारा संचालित हितग्राही मूलक योजनाओं में आवेदन करने वाले हितग्राहियों को समय सीमा में वित्त पोषण की कार्यवाही कराना सुनिश्चित करें, ताकि वह शीघ्र अपना रोजगार स्थापित कर सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने स्व सहायता समूह को दिए जाने वाले ऋण, मुद्रा लोन, मुख्यमंत्री उधम क्रांति योजना, पीएम निधि योजना, डेयरी केसीसी प्रकरणों के अलावा पीएमईजीपी योजना के कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ अन्य स्वरोजगार संबंधित योजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए बैंकरों को निर्देश दिए हैं कि इन योजनाओं में अप्लाई करने वाले आवेदकों को जल्द से जल्द वित्त पोषण की कार्यवाही कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री भार्गव ने मुद्रा लोन के कार्यों की समीक्षा करते हुए बैंकरों को सख्त निर्देश दिए हैं कि विदिशा जिला आकांक्षी जिला है जिसमें मुद्रा लोन योजना भी सम्मिलित है इसलिए इस योजना के कार्यों में प्रगति लाएं। कलेक्टर श्री भार्गव ने पीएम स्वनिधि योजना के संबंध में बैंकर्सों को निर्देश दिए हैं कि जिन आवेदकों ने पीएम स्वनिधि योजना अंतर्गत दस हजार रुपये का ऋण लिया है अथवा उन्होंने यह ऋण चुका देने के उपरांत बीस हजार रुपये के ऋण के लिए आवेदन किया है तो उन्हें शीघ्र ही ऋण मुहैया कराएं। डीएलसीसी की बैठक में जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं समस्त बैंकर्स मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं: