विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 14 सितंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 14 सितंबर 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 14 सितंबर

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न, सड़क दुर्घटना रोकने हेतु हर स्तर पर प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश


vidisha-news
कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक बुधवार को सम्पन्न हुई। कलेक्टर चैम्बर में आयोजित इस बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, सीएसपी श्री विकास पाण्डे, जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरिजेश वर्मा के अलावा यातायात प्रभारी, स्वास्थ्य, नगर पालिका, राष्ट्रीय राजमार्ग, लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के अलावा समिति के अन्य सदस्यगण मौजूद रहे। कलेक्टर श्री भार्गव ने विदिशा जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए हर स्तर पर प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जन जागरूकता कार्यक्रम सतत आयोजित किए जाएं। उन्होंने निर्धारित स्थलों पर संकेतक बोर्ड अनिवार्य रूप से परिदृष्य स्थलों पर लगाए जाएं ताकि वाहन चालकों को सुगमता से सड़क के संबंध में जानकारियां प्राप्त होती  रहें और वे सावधानी पूर्व वाहन का संचालन करते हुए अपने गंतव्य स्थल तक सुरक्षित पहुंचे। कलेक्टर श्री भार्गव ने विदिशा जिले में विगत दिनों हुई सड़क दुर्घटनाओं पर अप्रसन्नता जाहिर करते हुए सड़क निर्माण एजेन्सी विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट सचेत करते हुए निर्देश दिए हैं कि भविष्य में उन्हीं स्थलों पर पुनः दुर्घटना ना हो का विशेष ध्यान रखते हुए दुर्घटना होने के संभावित कारणों का निदान करें। उन्होंने सड़कों पर पुल-पुलियों पर रेडियम लगाने की व्यवस्था क्रियान्वित की जाए। कलेक्टर श्री भार्गव ने आगामी त्यौहारों को ध्यानगत रखते हुए विदिशा शहर के मुख्य बाजार के मार्गों को वन-वे के रूप में संचालित करने के संबंध में भी यातायात प्रभारी निर्देश देते हुए नियत स्थलों पर पार्किंग की व्यवस्था क्रियान्वित करने के निर्देश नगर पालिका अधिकारी को दिए हैं। पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला ने यातायात व्यवस्था सुव्यवस्थित रूप से संचालन हेतु किए जाने वाले प्रबंधों के साथ साथ उन्होंने पार्किंग, सड़क सुरक्षा के नियमों की जानकारी आमजनों को देने आवश्यक मार्गदर्शन दिया है। आज सम्पन्न हुई बैठक में जिन बिन्दुओं पर विचार विमर्श कर निर्णय लिए गए हैं उनमें सड़क दुर्घटनाएं रोकने हेतु चिन्हित किये गये ब्लैक स्पोटों के सुधार हेतु चर्चा। रोड निर्माण एजेंसी जिले में सभी प्रकार की सड़कों का सर्वे कर यह सुनिश्चित करें सभी सड़कों पर संकेतक, पुल एवं पुलिया क्षतिग्रस्त ना हो। सभी बस संचालकों को वर्षा ऋतु को दृष्टिगत रखते हुए निर्देशित करना कि ओव्हरलोडिंग एवं बिना फिटनेस के वाहनों का संचालन न करें एवं पुलों पर पानी होने की अवस्था में वाहन को निकालने का प्रयास न करें। जिले में नेक व्यक्तियों (गुड सेमेरटन) को प्रेरित करने हेतु कार्य नीतियां बनाना। हाइवे पर गोल्डन आवर में पीड़ितों को अस्पताल पहुंचाने हेतु एम्बुलेंस एवं क्रेन की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करना। बाढ़ के कारण खराब हुई सड़कों आदि शामिल हैं। इसके अलावा विदिशा शहर के अन्दर व हाईवे के किनारे सड़कों पर अनावश्यक रूप से वाहन खड़े ना रहें। इसके लिए जागरूकता के माध्यम से संदेश वाहन चालकों तक पहुंचाने पर बल दिया गया है। इससे पहले बैठक पूर्व बैठक में लिए गए निर्णयों के पालन प्रतिवेदन पर की गई कार्यवाही का वाचन समिति के सचिव व जिला परिवहन अधिकारी गिरिजेश वर्मा के द्वारा किया गया। जिसमें बताया गया कि हनुमान मंदिर रंगई घाट पर स्पीड ब्रेकर बनाए जाने का कार्य नगर पालिका द्वारा किया गया है। इसी प्रकार कुंआखेड़ी गुलाबगंज रोड पर दुर्घटनाएं होने के कारण अथवा उन स्थानों पर ब्लैक स्पॉट के संबंध में निर्णय लिया गया है। साथ ही मोड़ पर लगने वाले सब्जी के ठेलों को हटाकर पुराने पुल पर भेजने की कार्यवाही क्रियान्वित की जाए। इसके अलावा मोड़ पर हाई मास्ट लाईट लगाने के कार्य सम्पादित किए गए हैं। कागपुर पुलिया, बागरोद तथा अटारी खेजड़ा रोड पर एनएचआई के द्वारा सांकेतिक एवं रेडियम लगाए जाने का कार्य शीघ्र सम्पादित करने के संबंध में ताकीद किया गया है। एनएच के एसडीओ बीएल अहिरवार ने आश्वस्त कराया कि कागपुर पुलिया पर रेडियम युक्त पत्थर पुल के किनारे-किनारे लगाने का कार्य शीघ्र-अतिशीघ्र पूरा किया जाएगा। यातायात प्रभारी श्री आशीष राय ने बताया कि गुड सेमेरटन को प्रेरित करते हेतु निर्धारित प्रारूप के पम्पलेट के माध्यम से तथा होर्डिंग के द्वारा लोगों को जनजागरूक करने के प्रयास किये जा रहे हैं। हाईवे पर दुर्घटना की स्थिति में पीड़ित को समय पर अस्पताल पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था व 108 वाहन की सुविधा प्रबंध के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।


प्रत्येक पंचायत में 17 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक लगेंगे शिविरः कलेक्टर


कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि विदिशा जिले में मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के क्रियान्वयन की मिसाल कायम हो उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री के जन्मदिवस 17 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक जनकल्याण के रूप में मनाने के संबंध में पूर्व में ही आवश्यक दिशा निर्देश प्रसारित किए जा चुके हैं। सभी विभागों के जिला एवं खण्ड स्तरीय अधिकारियों की अभियान के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका होगी। हर कार्य समय अवधि में पूरा कराना अति आवश्यक है इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही ना करें अन्यथा कठोर कार्रवाई की भागीदारी स्वयं होंगे। कलेक्टर श्री भार्गव ने कहा कि प्रत्येक अनुविभागीय अधिकारियों द्वारा शिविर आयोजन की तिथि जारी की गई है। अतः संबंधित विभाग अपने-अपने विभाग की योजनाओं से लाभान्वित करने के लिये  प्रत्येक पंचायत में कैम्प में उपस्थित होकर अभियान के उद्देश्यों की प्राप्ति करें। यह भी सुनिश्चित किया गया है कि कैम्प उसी गांव में दो बार लगेगा। प्रथम कैम्प में अधिकारी घर-घर पहुंचकर सम्पर्क करेंगे और अपने विभाग की योजनाओं के बारे में लोगों को बतायेंगे और उनसे आवेदन लेंगे। दूसरे कैम्प में उन आवेदनों का निराकरण कर उन्हें लाभान्वित किया जाना है। जब कैम्प में प्रदेश स्तर से नियुक्त दो केबिनेट मंत्री पहुंचे, तो वह पंचायत या गांव समस्या विहीन हो साथ ही उनके पहुंचने से   पहले पात्र लोगों को योजना का लाभ मिल जाये। कलेक्टर ने कहा कि निर्धारित फॉर्मेट में तमाम जानकारियां तैयार कर दर्ज की जाए  जिसमें प्रदेश सरकार की विभागवार महत्वाकांक्षी जनकल्याणकारी योजनाओं के नाम, पात्र हितग्राही को लगाने योग्य दस्तावेज की जानकारी आदि फॉर्मेट तैयार रहे। उन्होंने कहा कि हर विभाग की जिम्मेदारी होगी कि वह इस कार्य को प्राथमिकता के साथ करेंगे, अधीनस्थों पर न छोड़े।


ग्रामीण विकास कार्यों की जिला स्तरीय समीक्षा बैठक सम्पन्न


vidisha-news
जिला पंचायत सीईओ डॉ योगेश भरसट की अध्यक्षता में आज बुधवार को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ श्री दयाशंकर सिंह, परियोजना अधिकारियों के साथ-साथ समस्त जनपदों के सीईओ, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विदिशा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत (समस्त), सहायक यंत्री (समस्त), अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी, मनरेगा, उपयंत्री एवं ब्लाक समन्यवक (आवास एवं एसबीएम) उपस्थित रहे। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने समीक्षा बैठक में जिन बिन्दुओं पर गहन समीक्षा की है उनमें अमृत सरोवर योजनांतर्गत जल संरचनाओं की समीक्षा। मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान सर्वे दल घर-घर जाकर हितग्राही मूलक योजनाओं के पात्र हितग्राहियों से आवेदन प्राप्त कर निराकरण हेतु संबंधित अधिकारी को सौंपे। बाढ़ से क्षतिग्रस्त संरचनाओं में स्वीकृति एवं प्रारंभ की समीक्षा की गई।सीएम हेल्प लाईन की लंबित शिकायतों को समाधान पूर्वक निराकरण कर बंद करने हेतु निर्देश दिये गये। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत 45 लंबित किश्तों, आवास पूर्णता की समीक्षा। स्वच्छ भारत मिशन अंतर्गत प्रगति की समीक्षा की गई। वित्त नलजल योजना एवं टैक्स वसूली की समीक्षा की गई। आंगनवाड़ी भवनों की स्वीकृति के प्रस्ताव 208 आंगनवाड़ियों के मरम्मत कार्यों के प्रस्ताव की समीक्षा। मनरेगा अंतर्गत सामुदायिक कार्यों में मस्टर जारी करना हेतु निर्देश दिए गए। दिनांक 17 सितंबर 2022 को किए जाने वाले वृक्षारोपण की समीक्षा की गई। स्वच्छता सेवा अभियान 15 सितम्बर 2022 से 02 अक्टूबर 2022 तक चलाया जाना है जिसके लिए मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत द्वारा सभी को निर्देश दिए गए कि इस अभियान को सफलता पूर्वक पूर्ण करना है। पुष्कर धरोहर योजनांतर्गत जल संरचनाओं के जीणोद्धार की पूर्णता की समीक्षा की गई। सामूदायिक पोषण वाटिका देवारण्य एवं सामाजिक वानिकी की कार्यों की स्वीकृति की समीक्षा। अमृत सरोवर योजनांतर्गत प्रत्येक संरचना में 3 वृक्षारोपण चिन्हांकन एवं स्वीकृति इत्यादि शामिल हैं। जिला पंचायत सीईओ डॉ भरसट ने समस्त जनपदों के सीईओ को निर्देश दिए हैं कि 17 सितंबर से 31 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के तहत क्रियान्वित बिन्दुओं पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने बताया कि अभियान अवधि के दौरान चिन्हांकित 14 विभागों की 33 योजनाओं के तहत ग्राम का कोई भी पात्र व्यक्ति हितग्राही मूलक योजना के लाभ से वंचित ना रहे। ग्रामीण क्षेत्रों में उपरोक्त अभियान के क्रियान्व्यन हेतु जनपदों के सीईओ को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा कि इस अभियान के माध्यम से हम उन गरीबों को शासन की किसी ना किसी योजना का लाभ दिला सकते हैं जो अब तक वंचित थे। उन्होंने मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के तहत आयोजित होने वाले शिविरों के संबंध में भी गहन प्रकाश डाला।


मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना तहत जगन्नाथपुरी दर्शन हेतु आवेदन 16 तक आमंत्रित


मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत जिले के वरिष्ठ नागरिक जो 60 वर्ष या अधिक आयु के पुरूष जबकि महिलाओं के मामले में दो वर्ष की छूट दी गई है। चयनित तीर्थ यात्री आयकर दाता नहीं होना चाहिए। चयनित तीर्थ यात्रियों के साथ अनुरक्षक भी रवाना होंगे। इच्छुक आवेदक निकटतम तहसील कार्यालय, नगरीय निकाय कार्यालय, जनपद कार्यालय में कार्यालयीन दिवसों अवधि में जमा कर सकते हैं। विदिशा जिले के चयनित तीर्थ यात्री निर्धारित तिथियों में जगन्नाथ पुरी और अयोध्या वाराणसी के तीर्थ दर्शन हेतु रवाना होंगे। धार्मिक न्यास और धर्मस्य विभाग की उप सचिव द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार विदिशा जिले के तीर्थ यात्री 26 सितंबर को जगन्नाथ पुरी के तीर्थ दर्शन के लिए 250 तीर्थ यात्री रवाना होंगे। तीर्थ दर्शन कर 01 अक्टूबर को वापिस विदिशा आएंगे। जगन्नाथ पुरी दर्शन हेतु तीर्थ यात्रियों से आवेदन 16 सितंबर तक आमंत्रित किए गए हैं। धार्मिक न्यास और धर्मस्य विभाग के द्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों में उल्लेख है कि यदि किसी तीर्थ दर्शन यात्रा के लिए संबंधित जिले को लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होते हैं तो तीर्थ यात्रियों का चयन कम्प्यूटराईज्ड लॉटरी से करते हुए निर्धारित कोटे से दस प्रतिशत अतिरिक्त तीर्थ यात्रियों की प्रथक से सूची तैयार की जाएगी। आईआरसीटीसी के द्वारा तीर्थ यात्रियों को  तुलसी माला एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किए जाएंगे। तथा तीर्थ यात्रियों के लिए भजन मण्डली की व्यवस्था तथा भजन संध्या का भी आयोजन किया जाएगा। तीर्थ यात्रियों को यात्रा के दौरान भोजन, नाश्ता, चाय आदि भी उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही यात्रियों की रूकने की व्यवस्था उन्हें तीर्थ दर्शन स्थलों तक बसों द्वारा लाने ले जाने वापिस ट्रेन में लाने एवं गाईड की भी व्यवस्था आईआरसीटीसी के द्वारा क्रियान्वित की जाएगी। तीर्थ दर्शन हेतु चयनित होने वाले तीर्थ यात्रियों से अपेक्षा की गई है कि मौसम के अनुरूप वस्त्र, उनी वस्त्र व्यक्तिगत उपयोग की सामग्री जैसे कम्बल, चादर, तौलिया, साबुन, कंघा, दवाईयां, दाड़ी बनाने का सामान आदि साथ में रखें। इसके अलावा तीर्थ यात्री अपने साथ ऑरिजिनल आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड एवं कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की छायाप्रति अनिवार्य रूप से साथ में रखें।


कन्या महाविद्यालय में हिन्दी दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ


शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय विदिशा में हिंदी दिवस उत्साहपूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ मंजू जैन ने बताया कि 14 सितंबर पूरे भारत में हिंदी दिवस के रूप में जाना जाता है। संविधान सभा के द्वारा इसी दिन 1949 को इसे राष्ट्रभाषा के रूप में स्वीकार किया गया था। इस उपलक्ष्य में प्रत्येक साल हिंदी दिवस हिंदी के प्रचार-प्रसार को ध्यान में रखकर मनाया जाता है। कार्यक्रम में संगीत विभाग की प्राध्यापिका कल्याणी राय ने सूर्यकांत त्रिपाठी निराला रचित गीत की संगीतमय प्रस्तुति दी। हिंदी विभाग की छात्रा काजल शर्मा, अंजली कुशवाहा एवं त्रिषला अहिरवार ने इस अवसर पर कविता के माध्यम से अपने विचार रखे। डॉ विनयमणी त्रिपाठी ने स्वरचित कविता से सभी को संवेदित करने का काम किया। हिंदी विभाग के प्राध्यापक अस्मुरारी नंदन मिश्र ने श्हिंदीरू अतीत, वर्तमान और भविष्यश् विषय पर व्याख्यान दिया। इसमें उन्होंने हिंदी के दीर्घ विकास की रूपरेखा प्रस्तुत की। डॉ ज्योति मिश्रा, डॉ सविता सोनी ने भी हिंदी को लेकर अपने विचार रखे। कार्यक्रम का समापन डॉ वसुंधरा गवांदे द्वारा धन्यवाद ज्ञापन से हुआ। इस कार्यक्रम का आयोजन हिंदी विभाग द्वारा हुआ तथा संचालन अर्शिता ने किया। कार्यक्रम में डॉ सी.विजय खेस, डॉ विनिता प्रजापति, डॉ संध्या जैन, डॉ प्रेमकुमारी कटियार के साथ महाविद्यालय के अन्य प्राध्यापक एवं छात्राओं ने सक्रिय सहयोग किया।


सफलता की कहानी : उप सरपंच के सराहनीय प्रयासों की चहूंओर प्रशंसा


vidisha-news
बासौदा जनपद पंचायत अन्तर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मुरादपुर के नव निर्वाचित उप सरपंच श्री शैलेन्द्र व्यास ने ग्राम के हरेक नागरिक के बेहतर जीवन के लिए उनकी ओर से सराहनीय प्रयास करते हुए नवाचार किया जा रहा है। ग्राम के नागरिकों को मदद मुहैया कराने हेतु उप सरपंच ने संकल्प लिया है कि वह अपने पंचवर्षीय कार्यकाल में पीएम आवास योजना के हितग्राहियों को निशुल्क शटरिंग, कन्या विवाह हेतु 11 हजार रूपये और कृषक जोत के लिए निशुल्क ट्रेक्टर उपलब्ध कराएंगे। 31 वर्षीय युवा उप सरपंच श्री शैलेंद्र व्यास के द्वारा गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को निशुल्क शटरिंग उपलब्ध कराने का सराहनीय कार्य किया जा रहा है। वर्तमान में इनके द्वारा 1200 स्क्वायर फीट शटरिंग 6 हितग्राहियों को उपलब्ध कराई गई है। श्री व्यास ने संकल्प लिया है कि उनके पंचवर्षीय कार्यकाल में ग्राम पंचायत के सभी गरीब परिवारों को उनकी ओर से इसी तरह निशुल्क शटरिंग उपलब्ध कराई जाएगी। इसके साथ ही वह ग्राम में कन्या विवाह में कन्यादान हेतु 11000 रूपये की राशि भेंट करेंगे तथा अपने पांच वर्ष के कार्यकाल में कृषक बंधुओं के सहयोग हेतु कृषि जोत के लिए ट्रैक्टर निशुल्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था क्रियान्वित करेंगे। युवा उप सरपंच श्री व्यास के द्वारा किए जा रहे इस कार्य की चहूंओर प्रशंसा हो रही है। बासौदा जनपद पंचायत के सीईओ श्री अरविन्द शर्मा ने ग्राम पंचायत मुरादपुर में पहुंचकर नवागत उप सरपंच के द्वारा किए गए नवाचारों को देखा ही नहीं बल्कि भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए उनका हौसला अफजाई किया है। साथ ही अन्य सरपंच, उप सरपंचों को प्रेरणा देने के लिए उन्हें आगे आने हेतु अभिप्रेरित किया है।


आयुष्मान कार्ड से एक वर्ष में पांच लाख रूपये तक का ईलाज मुफ्त


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि आयुष्मान कार्ड बनने से व्यक्ति को एक वर्ष में पांच लाख रूपये तक का ईलाज शासकीय एवं चिन्हित निजी नर्सिंग होमों में करने की निरू शुल्क सुविधा प्रदान की गई है। डॉ. एके उपाध्याय ने बताया कि भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान कार्ड उन जरूरतमंद लोगों के लिये वरदान साबित हो रही है, जो लोग पैसे के अभाव में अपना ईलाज पूर्णः रूप से नहीं करा पाते हैं। सीएमएचओ डॉ उपाध्याय ने बताया कि विदिशा जिले में आयुष्मान भारत निरामय योजना के तहत जिले में कुल 9 लाख 41 हजार 510 कार्ड जारी किए जाने हैं जिसमें से अब तक 5 लाख 38 हजार 427 नागरिकों को आयुष्मान कार्ड जारी किए जा चुके हैं।


आधार कार्ड ने दी जन-जन को नई पहचान


आधार कार्ड ने देश के हर नागरिक को उसकी पहचान दी है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यू.आई.डी.ए.आई.) द्वारा आधार उपयोग को सरल बनाया गया है। आधार ने ऐसे व्यक्तियों को भी पहचान दी जिनके पास अपनी पहचान का कोई आधार नहीं था। (यूआईडीएआई) ’’आधार’’ अविश्वसनीय रूप से मजबूत हुआ है। आधार पारिस्थितिकी तंत्र में जोड़ी गई नवीनतम प्रमाणीकरण सुविधाओं, आधार के अभिनव उपयोग के मामले और मध्यप्रदेश में लागू सर्वोत्तम प्रथाओं, डेटा गोपनीयता और सूचना सुरक्षा, प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण और आधार सक्षम भुगतान प्रणाली इसके साथ ही एम-आधार ऐप, आधार ऑनलाइन सेवाओं, आधार नामांकन और अद्यतन सेवाओं को सुगम बनाया गया है। आधार भारत के डिजिटल सार्वजनिक बुनियादी ढांचे का मूल बन गया है। इससे डिजिटल विभाजन को पाट दिया है, ई-के.वाई.सी सेवाओं को सक्षम किया है, मोबाइल के माध्यम से दरवाजे पर बैंकिंग सेवा प्रदान की है और सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के जरूरतमंद और योग्य लाभार्थियों के बैंक खातों में सीधे नकद हस्तांतरण की सुविधा दी है। ऑथेंटिकेशन, ऑफलाइन वेरिफिकेशन और यूआईडीएआई द्वारा ली गई।


प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना


प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का लाभ लेने के लिये किसी मेडीकल जांच की आवश्यकता नहीं होती। इस योजना में शामिल होने के लिये हितग्राही का बैंक खाता होना आवश्यक है। कि जानकारी देते हुए लीड बैंक ऑफिसर श्री चंद्रशेखर ने बताया कि योजना में भाग लेने के लिये न्यूनतम उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच होनी चाहिये, बीमा कवर की अवधि के दौरान यदि सदस्य की मृत्यु हो जाती है तो दो लाख रूपये की राशि उसके परिजन को प्राप्त होगी। इस योजना का वार्षिक प्रीमियम 436 रूपये हर साल रिन्यू कराना पड़ता है।


अटल पेंशन योजना


अटल पेंशन योजना के लिए आवेदक को भारत देश का निवासी होना अनिवार्य है। आवेदक की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिये। पेंशन पाने के लिये कम से कम 20 साल का निवेश अनिवार्य है। जिला अग्रणी बैंक अधिकारी श्री चंद्रशेखर ने बताया कि अटल पेंशन योजना में आवेदन सिर्फ वही व्यक्ति कर सकता है, जो इनकम टेक्स स्लैब से बाहर हो, इस योजना के तहत सब्स्क्राइबर को उसके योगदान के आधार पर 60 साल की उम्र होने के बाद हर माह एक हजार से पांच हजार रूपये तक की पेंशन का लाभ उठा सकते है। सब्स्क्राइबर की मृत्यु होने पर योजना का लाभ उसके नॉमिनी को मिलेगा।


किसान क्रेडिट कार्ड योजना


जिन किसानों के पास कृषि योग्य भूमि है, वे किसान क्रेडिट कार्ड अपनी नजदीकी बैंक शाखा में बनवा सकते है। की जानकारी देते हुए लीड बैंक ऑफिसर श्री चंद शेखर ने बताया कि अब किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर पशुपालकों और मछुआरों को भी क्रेडिट कार्ड बैंकों के माध्यम से जारी किए जा रहे हैं। क्रेडिट कार्ड मे किसानों को 7 प्रतिशत ब्याज दर पर फसल ऋण दिया जाता है, यदि किसान ऋण का भुगतान एक वर्ष में करता है, तो 3 प्रतिशत की अनुदान राशि केन्द्र सरकार द्वारा प्रदान की जाती है।  


जिले में 1440.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई


विदिशा जिले में इस वर्ष अब तक 1440.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज हो चुकी है की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख राजेश राम ने बताया कि बुधवार को जिले में 26.6 मिमी औषत वर्षा दर्ज हुई है। बुधवार को तहसीलवार दर्ज वर्षा की जानकारी इस प्रकार से है। विदिशा में 12 मिमी, बासौदा में 18 मिमी, कुरवाई 09 मिमी, सिरोंज में 44 मिमी, लटेरी में 60 मिमी, ग्यारसपुर में 35 मिमी, गुलाबगंज में 02 मिमी, नटेरन में 25 मिमी, शमशाबाद में 01 मिमी तथा पठारी तहसील में 60 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। जिले की सामान्य औसत वर्षा 1075 मिमी से अधिक जिले की सभी तहसीलों में अब तक दर्ज हो चुकी है। तहसीलवार दर्ज वर्षा की जानकारी तदानुसार, विदिशा में 1757 मिमी, बासौदा में 1383.6 मिमी, कुरवाई में 1302 मिमी, सिरोंज में 1280 मिमी, लटेरी में 1437 मिमी, ग्यासरपुर में 1459 मिमी, गुलाबगंज में 1211 मिमी, नटेरन में 1609 मिमी, शमशाबाद में 1478 तथा पठारी तहसील में 1489 मिमी वर्षा अब तक दर्ज हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: