विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 11 सितंबर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 11 सितंबर 2022

विदिशा (मध्य प्रदेश) की खबर 11 सितंबर

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना तहत आवेदन आमंत्रित

  • चयनित तीर्थयात्री जगन्नाथ पुरी 26 सितंबर को तथा अयोध्या वाराणसी तीर्थ दर्शन हेतु 06 अक्टूबर को रवाना होंगे

vidisha-map
मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत जिले के वरिष्ठ नागरिक जो 60 वर्ष या अधिक आयु के पुरूष जबकि महिलाओं के मामले में दो वर्ष की छूट दी गई है। चयनित तीर्थ यात्री आयकर दाता नहीं होना चाहिए। चयनित तीर्थ यात्रियों के साथ अनुरक्षक भी रवाना होंगे। इच्छुक आवेदक निकटतम तहसील कार्यालय, नगरीय निकाय कार्यालय, जनपद कार्यालय में कार्यालयीन दिवसों अवधि में जमा कर सकते हैं। विदिशा जिले के चयनित तीर्थ यात्री निर्धारित तिथियों में जगन्नाथ पुरी और अयोध्या वाराणसी के तीर्थ दर्शन हेतु रवाना होंगे। धार्मिक न्यास और धर्मस्य विभाग की उप सचिव द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार विदिशा जिले के तीर्थ यात्री 26 सितंबर को जगन्नाथ पुरी के तीर्थ दर्शन के लिए 250 तीर्थ यात्री रवाना होंगे। तीर्थ दर्शन कर 01 सितंबर को वापिस विदिशा आएंगे। जगन्नाथ पुरी दर्शन हेतु तीर्थ यात्रियों से आवेदन 16 सितंबर तक आमंत्रित किए गए हैं। अयोध्या वाराणसी (काशी) तीर्थ दर्शन के लिए 06 अक्टूबर को विदिशा जिले के 325 तीर्थ यात्री स्पेशन ट्रेन से रवाना होंगे। तीर्थ दर्शन कर 11 अक्टूबर को वापिस विदिशा आएंगे। इच्छुक तीर्थ यात्री अपने आवेदन पूर्व उल्लेखित स्थलों पर अंतिम तिथि 26 सितंबर तक जमा कर सकते हैं। धार्मिक न्यास और धर्मस्य विभाग के द्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों में उल्लेख है कि यदि किसी तीर्थ दर्शन यात्रा के लिए संबंधित जिले को लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होते हैं तो तीर्थ यात्रियों का चयन कम्प्यूटराईज्ड लॉटरी से करते हुए निर्धारित कोटे से दस प्रतिशत अतिरिक्त तीर्थ यात्रियों की प्रथक से सूची तैयार की जाएगी। आईआरसीटीसी के द्वारा तीर्थ यात्रियों को  तुलसी माला एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किए जाएंगे। तथा तीर्थ यात्रियों के लिए भजन मण्डली की व्यवस्था तथा भजन संध्या का भी आयोजन किया जाएगा। तीर्थ यात्रियों को यात्रा के दौरान भोजन, नाश्ता, चाय आदि भी उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही यात्रियों की रूकने की व्यवस्था उन्हें तीर्थ दर्शन स्थलों तक बसों द्वारा लाने ले जाने वापिस ट्रेन में लाने एवं गाईड की भी व्यवस्था आईआरसीटीसी के द्वारा क्रियान्वित की जाएगी। तीर्थ दर्शन हेतु चयनित होने वाले तीर्थ यात्रियों से अपेक्षा की गई है कि मौसम के अनुरूप वस्त्र, उनी वस्त्र व्यक्तिगत उपयोग की सामग्री जैसे कम्बल, चादर, तौलिया, साबुन, कंघा, दवाईयां, दाड़ी बनाने का सामान आदि साथ में रखें। इसके अलावा तीर्थ यात्री अपने साथ ऑरिजिनल आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड एवं कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की छायाप्रति अनिवार्य रूप से साथ में रखें।


प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम हेतु आवेदन पत्र आंमत्रित


प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत वर्ष 2022-23 के लिये विदिशा जिले को प्राप्त भौतिक लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए कार्यक्रम के अन्तर्गत इच्छुक आवेदकों से उद्योग और सेवा क्षेत्र में स्व-रोजगार के लिये बैंको के माध्यम से वित्तीय सहायता प्राप्त करने हेतु आवेदन आमंत्रित किये गए हैं। कार्यक्रम के अन्तर्गत विनिर्माण क्षेत्र के लिये 50 लाख, सेवा क्षेत्र के लिये अधिकतम राशि 20 लाख रूपये तक परियोजना को प्रावधान है।  मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के प्रबंधक ने बताया कि योजना के अन्तर्गत आवेदक की आयु 18 वर्ष से अधिक, सक्षम अधिकारी द्वारा मूल निवासी प्रमाणपत्र, पेनकार्ड, प्रस्तावित इकाई स्थल का जनसंख्या प्रमाणपत्र, मार्कशीट, आधार कार्ड, फोटो, गतिविधि संबंधी प्रोजेक्ट फाइल के साथ www.kviconline.gov.in/pmegpeportal पर आवेदन सबमिट कर सकते है। अधिक जानकारी के लिये जिला पंचायत के खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के संचालित प्रकोष्ठ में संपर्क कर प्राप्त की जा सकती है।


शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बनाये जा रहे आयुष्मान भारत योजना के कार्ड


आयुष्मान भारत योजना के पात्र हितग्राहियों के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में आयुष्मान कार्ड बनाये जा रहे हैं। साथ ही पात्र ग्राम पंचायत एवं कियोस्क सेटर और लोकसेवा केन्द्रों, कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर आयुष्मान कार्ड बनवायें। भर्ती मरीजों के आयुष्मान कार्ड जिला अस्पताल में भी बनाये जा रहे हैं।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एके उपाध्याय ने बताया कि आयुष्मान कार्डधारी योजना के अन्तर्गत उपचार की सुविधा शासन द्वारा अनुबंधित शासकीय एवं चिन्हित प्रायवेट अस्पतालों में भर्ती होकर ईलाज किया जाता है। इस योजना में प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष लाख रूपये का उपचार दिया जाता है। योजना में सामाजिक, आर्थिक, जातिगत जनगणना-2011 में पात्र परिवार, संबल योजना कार्ड धारक परिवार एवं खाद्यान्न पर्ची ई-राशन कार्ड धारक बनवाने के लिये पात्र होंगे। इसके अलावा पात्र हितग्राहियों को आयुष्मान कार्ड बनाने के लिये परिवार की समग्र आई-डी, राशन कार्ड, फोटो आई-डी जैसे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट एवं सरकार द्वारा मान्य पहचान पत्र आदि दस्तावेज मान्य होंगे।


कृमि मुक्ति दिवस पर 13 को कार्यक्रम


राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस का आयोजन 13 सितम्बर 22 को किया जाएगा। इस दिवस को 01 से 19 आयु वर्ग के सभी बच्चों एवं किशोर-किशोरियों को पेट की कृमि से मुक्ति के लिए एल्बेडाजॉल की मीठी गोली खिलाई जाएगी तथा 16 सितम्बर, 2022 को कृमि मुक्ति के लिए मीठी गोली एल्बेडाजॉल के सेवन से छूटे हुए बच्चों को दवा पिलाई जाएगी। शासन की मंशानुसार कोई भी 1 से 19 वर्ष आयु वर्ग का बच्चा दवा पीने से नहीं छूटे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एके उपाध्याय ने बताया कि एक से 19 आयु वर्ग के बच्चों के पेट में कृमि ज्यादा होने से उनका मानसिक एवं शारीरिक विकास ठीक प्रकार से नहीं हो पाता है। बच्चे बीमार एवं कमजोर रहते हैं। खून की कमी भी हो जाती है। बच्चा थका हुआ रहता है। उसका पढ़ाई एवं अन्य दिनचर्या के कार्या में मन नहीं लगता है। बच्चों के पेट में कृमि होने पर कृमि बच्चे का पौष्टिक भोजन एवं रक्त चूस लेते है। जिससे बच्चे पर्याप्त भोजन लेने के बाद भी कमजोर होकर कुपोषित हो जाते है। रक्त की कमी के भी शिकार हो जाते है। उनका शारीरिक एवं मानसिक विकास रूक जाता है। बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास की कमी को दूर करने के लिए एल्बेडाजॉल की मीठी गोली खिलाई जाती है। एल्बेडाजॉल की मीठी गोली प्रायवेट, सरकारी, आंगनबाड़ी, बाल सुधार गृह, आश्रम एवं छात्रावासों में बच्चों को प्रशिक्षित कर्मचारियों द्वारा खिलाई जाएगी। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस का उद्देश्य बच्चों, किशोर-किशोरियों का कृमिनाशन कर मिट्टी जनित कृमि संक्रमण की रोकथाम, स्वास्थ्य एवं पोषण स्तर वृद्धि करना है। इसके अंतर्गत शासकीय अनुदान प्राप्त शालाओं, आदिवासी आश्रम शालाओं, प्रायवेट अनुदान प्राप्त शालाओं, केन्द्र शासित शालाओं, मदरसों, स्थानीय निकाय की शालाओं, आंगनवाड़ी केन्द्रों तथा किशोर न्याय अधिनियम 2015 अंतर्गत संचालित चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट में 1 से 19 वर्षीय समस्त बच्चों का कृमिनाशन किया जाएगा। इस हेतु किशोर न्याय अधिनियम 2015 अंतर्गत संचालित चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट यथा शिशु गृह, बालक गृह, बालिका गृह, बाल संप्रेक्षण गृह इत्यादि में मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा भ्रमण कर अपनी निगरानी में ऐसे समस्त बच्चों को एल्बेडाजॉल गोलियों का उम्र अनुसार सेवन कराया जाना लक्षित किया गया है।


जवाहर नवोदय विद्यालय शमशाबाद में कक्षा 9वीं में लेटेरल इन्ट्री से प्रवेश हेतु ऑनलाईन  आवेदन आमंत्रित


विदिशा जिले के शमशाबाद में स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में सत्र 2023-24 के लिए कक्षा 9वीं में रिक्त सीटों में प्रवेश हेतु लेटेरल इन्ट्री के माध्यम से प्रवेश हेतु आवेदन करने की ऑनलाईन प्रक्रिया जारी है, कि जानकारी देते हुए विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री एके राजे ने बताया कि आनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर 22 नियत की गई है। विदिशा जिले के मान्यता प्राप्त शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों में सत्र 2022-23 में कक्षा 8वीं में अध्ययनरत् छात्र-छात्रायें आवेदन करने के लिए पात्र होगें। प्रवेश लेने के इच्छुक अभ्यर्थी का जन्म एक मई 2008 से 30 अप्रैल 2010 दोनों दिनांकों के सम्मिलित मध्य होना चाहिए। विद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री एके राजे ने बताया कि विदिशा जिले के पात्र छात्र-छात्रायें ऑनलाईन आवेदन नवोदय विद्यालय समिति की वेबसाईट https://navodaya.gov.in पर अथवा https://nvsadmissionclassnine.in पर जाकर आवेदन भर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: