मधुबनी : कांग्रेस के स्थापना दिवस पर कई कार्यक्रम, बुजुर्ग का सम्मान - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 28 दिसंबर 2022

मधुबनी : कांग्रेस के स्थापना दिवस पर कई कार्यक्रम, बुजुर्ग का सम्मान

Madhubani-congress-celebrate-staiblishment-day
मधुबनी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 138 वां ऐतिहासिक स्थापना दिवस के अवसर पर विविध कार्यक्रम के तहत जिला कांग्रेस कमिटी मधुबनी के द्वारा जिला कार्यालय में सर्वप्रथम जिलाध्यक्ष प्रो शीतलाम्बर झा ने झंडोत्तोलन किया फिर जिलाध्यक्ष प्रो झा के नेतृत्व में काफी संख्याओं में काँग्रेसजनों ने शहर के विभिन्न मार्गों पर जनजागरण एवं पदयात्रा कर कांग्रेस पार्टी के स्थापना के उद्देश्यों से सम्बंधित जोरदार नारेबाजी करते हुए आमजनों को जागृत करते हुए फिर से जिला कार्यालय में संगोष्ठी एवं पांच बरिष्ट कांग्रेसजनों को मिथिला के परम्परा अनुसार पाग चादर एवं माला पहनाकर कर अभिनन्दन किया जिसमे महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सह पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमिटी के सदस्य बुद्धिनाथ झा ,बहादुर झा, मो नुरुल होदा, गुंजन राम एवं महिला नेत्री श्रीमती मीनू पाठक हैं । कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष प्रो झा ने कांग्रेस पार्टी के स्थापना दिवस पर बड़े ही विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा आजादी आंदोलन के तत्कालीन हमारे नायकों ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ एक जनसंगठन की जरूरत महसूस किया और आज ही के दिन 28 दिसम्बर 1885 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना मुंबई की और कांग्रेस के नेतृत्व में सैकड़ों वर्षों के गुलामी की जंजीरों को हमरे नेताओं राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ,पंडित जवाहरलाल नेहरू, लालबहादुर शास्त्री,मौलाना अबुल कलाम आजाद,नेताजी सुभाषचंद्र बोस, डॉ भीमराव अंबेडकर सरदार वल्लभ भाई पटेल,डॉ राजेन्द्र प्रसाद सहित सैकड़ों महानायकों ने गुलामी की जंजीरों को तोड़कर 1947 को देश को आजाद किया 


Madhubani-congress-celebrate-staiblishment-day
प्रो झा ने कहा आजादी के बाद देश का नेतृत्व कांग्रेस पार्टी ने पंडित जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व दिया और उन्होंने देश के चौमुखी विकास के लिए दिनरात एक करदिया जहां देश मे एक सुई की कारखाना नही थी, लोग भूख से मर रहे थे ,पीने का पानी तक भी नही था तो विकास का रूपरेखा तैयार कर सभी क्षेत्रों में जोरदार काम किया गया और आधुनिक भारत का नींव पड़ा तब जाकर आज देश मे आईआईएम, आईआईटी एवं भाभा परमाणु ऊर्जा केंद्र जैसा संस्थाओं का निर्माण किया गया, ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल , किसानों मजदूरों के लिए क्रन्तिकारी कदम, छात्रों नौजवानों के लिए योजनाओं बनी आज देश मे उद्योगों का जाल, रेलबे, सड़क, सेना को अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया गया आज देश मंगल ग्रह पर पहुंची है वह कांग्रेस के नीतियों का ही प्रतिफल है जो हम एक परमाणु सम्पन्न राष्ट्र है आज हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश है ,कांग्रेस के ही नेतृत्व में पाकिस्तान को दो टुकड़ों में विभाजित किया गया । आज देश मे भारतीय जनता पार्टी नफरत की बीज वो रही है देश की गंगा यमुनी संस्कृति को समाप्त कर दी है देश आरजकता को ओर जा रही है सभी संवैधानिक संस्थाओं को पंगु किया जा रहा है  महंगाई बेरोजगारी रेकॉर्ड तोड़ रही है, आज फिर से कांग्रेस पार्टी अपने नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में नफरत खिलाफ देश जोड़ने के लिए कन्याकुमारी से काश्मीर तक पदयात्रा कर रहें है। कार्यक्रम को ज्योति रमन झा, अमानुल्लाह खान, मनोज मिश्रा, सुल्तान अहमद शम्सी, विजय कुमार राउत, नबेन्द्र झा, कृष्ण कुमार झा, मो शाहिद, विजयकृष्ण झा, मो अकील अंजुम, उपेंद्र यादव, रणधीर सेन,मो अब्दुल दैयाम हासिम, मो शकील, सुनील कुमार झा,सुनील कुमार झा,अविनाश झा, बिनोद कुमार झा, सुरेंद्र कुमार महतो, आनंद कुमार झा, वीरेंद्र कुमार झा, अनिल कुमार अनील, मो शकील अख्तर, नबल किशोर झा,मो सबीर, मिथिलेश कुमार झा, मुकेश कुमार झा पपू, पवन कुमार यादव,कौशल किशोर चौधरी,विवेकानंद झा,कालिशचंद्र झा, नित्यानंद झा,जय कुमार झा,सुरेंद्र मिश्रा,प्रफुल्ल चन्द्र झा, विदेश चौधरी आलोक कुमार झा,राजू झा, राजीव शेखर झा,सतेंद्र पासवान, सीतेश पासवान, ऋषिदेव सिंह, प्रो इश्तियाक अहमद, उदय कांत झा लालन, कपिलदेव साह,आदि सैकड़ों की संख्याओं में कार्यकर्ता थे।

कोई टिप्पणी नहीं: