बिहार : जमुई में फोटो प्रदर्शनी सह जागरूकता कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

बुधवार, 7 दिसंबर 2022

बिहार : जमुई में फोटो प्रदर्शनी सह जागरूकता कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

  • जमुई विधायक श्रेयसी सिंह  ने किया उद्घाटन

Photo-festival-inaugrate-shreyasi-singh
जमुई, 7 दिसंबर, देश की आजादी के महान स्वतंत्रता सेनानियों एवं गुमनाम नायकों को याद करने और नई पीढ़ी को उनके बारे में बताने तथा केंद्र सरकार की उपलब्धियों को बताने के उद्देश्य से सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के केंद्रीय संचार ब्यूरो, पटना द्वारा आज आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 8 साल सेवा, सुशासन एवं गरीब कल्याण विषय पर आज 7 दिसंबर 2022 से तीन दिनों तक चलने वाले फोटो प्रदर्शनी सह जागरूकता कार्यक्रम का शुभारंभ आज किया गया। मुख्य कार्यक्रम का उद्घाटन जमुई विधायक श्रेयसी सिंह द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए विधायक श्रेयसी सिंह ने कहा कि देश को आजादी स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग तथा बलिदान से प्राप्त हुई है। देश के सपूतों ने अपनी शक्ति जोड़कर हमें स्वतंत्र भारत का वरदान दिया है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले 8 वर्षों में देश ने अनेक उपलब्धियां हासिल की हैं। केंद्र सरकार की प्रमुख योजनाओं को गिनाते हुए उन्होंने डिजिटल इंडिया की सफलताओं का जिक्र किया। आजादी का अमृत महोत्सव की चर्चा करते हुए विधायक ने कहा कि देश को आजादी दिलाने वाले सपूतों की जीवनी, चित्र एवं कृतित्व से युवा पीढ़ी को अवगत कराने के लिए चित्र प्रदर्शनी लगाई गई है। युवा पीढ़ी से उन्होंने अधिक से अधिक संख्या में इसे देखने तथा शिक्षा ग्रहण करने का आह्वान किया। उनके द्वारा प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया गया। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा विशेष रूप से निर्मित आजादी क्वेस्ट आनलाइन क्विज गेम का शुभारंभ भी स्थानीय विधायक द्वारा किया गया। उन्होंने कहा कि फोटो प्रदर्शनी के माध्यम से आमजनों को  देश के आजादी के घटनाक्रमों के बारे में जानकारी देने का प्रयास किया जा रहा है, जो बेहद महत्त्वपूर्ण है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सूचना प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के अपर महानिदेशक एसके मालवीय ने कहा कि यहां आयोजित की गई तीन दिवसीय फोटो प्रदर्शनी तीन खंडों में विभाजित है। पहले खंड में स्वतंत्रता संग्राम की तमाम घटनाओं का सचित्र वर्णन किया गया है। दूसरे खंड में बिहार के स्वतंत्रता सेनानियों एवं गुमनाम नायकों को दर्शाया गया है तथा तीसरे खंड में केंद्र सरकार की योजनाओं, नीतियों एवं कार्यक्रमों के बारे में बताया गया है। उन्होंने कहा कि फोटो प्रदर्शनी में कई ऐसी तस्वीरें लगाई गई हैं, जिन्हें इतिहास के पन्नों में या तो दर्ज नहीं किया गया है या जिनके बारे में लोगों की जानकारी बेहद कम है। कार्यक्रम में उपस्थित आम जनता के बीच आजादी क्वेस्ट ऐप पर आयोजित ऑनलाइन क्विज प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं से संबंधित जागरूकता रैली को विधायक ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया साथ ही बीएसएफ तथा सीआरपीएफ के बीच वॉलीबॉल मैच का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर अतिथि वक्ता के रूप में बोलते हुए सीआरपीएफ के कमांडेंट जोगिंदर सिंह मौर्य ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव स्वतंत्रता दिलाने वाले सपूतों को याद करने का अवसर है। वरिष्ठ पत्रकार विनय कुमार ने कहा कि आजादी दिलाने में बिहार का बहुत योगदान रहा है। स्थानीय स्वतंत्रता सेनानी कुमार कालिका प्रसाद सिंह को याद करते हुए उनके योगदान की चर्चा की। खैरा के वरिष्ठ समाजसेवी शंभू शरण ने कहा कि स्वतंत्रता के बाद देश ने बहुत प्रगति की है और आज हम सब आपस में मिल जुलकर अमृत महोत्सव मना रहे हैं यह सबके लिए गर्व की बात है। इस अवसर पर कल सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा खैरा के प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय में आयोजित चित्रांकन प्रतियोगिता के सफल प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया, जिसमें मोनिका कुमारी को प्रथम, बसंती सोरेन को द्वितीय तथा सुप्रिया भारती को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। कार्यक्रम के दौरान मंत्रालय के पंजीकृत सांस्कृतिक दल के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यह फोटो प्रदर्शनी 9 दिसंबर तक रहेगा। इस प्रदर्शनी में सभी के लिए प्रवेश निशुल्क है। कार्यक्रम में पीआईबी के निदेशक आशीष लकड़ा, सूचना अधिकारी इफ्तेखार आलम, केंद्रीय संचार ब्यूरो, पटना के कार्यक्रम प्रमुख सह क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी पवन कुमार सिन्हा, क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी अभिषेक कुमार, सीबीसी पटना के कार्यालय प्रमुख मनीष कुमार, सहायक क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी नवल किशोर झा, अमरेंद्र मोहन, राजा आलम तथा सुदर्शन झा भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: