मधुबनी: डीएम ने कहा निरीक्षण के परिणाम नजर आने चाहिए। - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 9 दिसंबर 2022

मधुबनी: डीएम ने कहा निरीक्षण के परिणाम नजर आने चाहिए।

  • पंचायतों के निरीक्षण को लेकर जिलाधिकारी ने पदाधिकारियो को दिए निर्देश।
  • योजनाओं की जाँच के क्रम में ग्रामीणों से मिलकर सरकार की चल रही सभी कल्याणकारी योजनाओं का फीड बैक जरूर ले।

Madhubani-dm-order-inspaction
मधुबनी, जिलाधिकारी अरविन्द कुमार वर्मा ने  पंचायतों के निरीक्षण को पूरी गंभीरता से करने का निर्देश देते हुए कहा है कि निरीक्षण के परिणाम हर हाल में दिखाई पड़नी चाहिये। उन्होंने  कहा की जब आप लोग सुदूर गाँव मे चल रही योजनाओं की जाँच करने जाते है तो ग्रामीणों से मिलकर सरकार की चल रही सभी कल्याणकारी योजनाओं का फीड बैक जरूर ले। उन्होंने कहा  कि चूंकि विभिन्न प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचल अधिकारियों को भी पंचायतों के निरीक्षण की जिम्मेवारी दी गई है, ऐसे में जिले के वरीय पदाधिकारियों के साथ भी प्रखंड विकास पदाधिकारी अथवा अंचल अधिकारी के अतिरिक्त उनके सहयोगी अधिकारी उपस्थित होकर जांच के दौरान सहयोग प्रदान करेंगे। जिलाधिकारी ने स्पष्ट दिशानिर्देश दिया है कि किसी सरकारी कार्यालय, योजनाओं, आंगनवाड़ी केंद्रों अथवा जन वितरण प्रणाली केंद्रों पर निरीक्षण के दौरान जबाबदेह व्यक्ति से संबंधित मामलों की पड़ताल के साथ साथ आस पास की बसावट में रहने वाले लोगों तक अधिकारी अपनी पंहुच बनाएं और उनकी शिकायतों को जानें। उन्होंने कहा कि अक्सर संबंधित कर्मी अथवा अधिकारी के समक्ष पीड़ित अपनी शिकायतें नहीं कह पाते। ऐसे में उन्हें अपनी बात कहने का पर्याप्त अवसर दिया जाना चाहिए। इससे क्षेत्र भ्रमण के वास्तविक लक्ष्य को सही अर्थों में हासिल किया जा सकेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि जब हम गाँवो में जाकर लोगो से मिलकर उनकी समस्याओं को सुनते है और उसका निष्पादन को लेकर गंभीरता पूर्वक प्रयास करते है तो उसका सकररामक परिणाम नजर आने लगता है,साथ ही जिला स्तर पर आने वाली शिकायते काफी कम हो जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं: