बिहार : उतार-चढ़ाव से भरा है पत्रकारिता जीवन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 30 दिसंबर 2022

बिहार : उतार-चढ़ाव से भरा है पत्रकारिता जीवन

Patna-university-mjmc-result
पटना : पटना विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग (दरभंगा हाउस) के सेमिनार हॉल में शुक्रवार को एमजेएमसी पाठ्यक्रम के सत्र 2022-24 का दीक्षारंभ कार्यक्रम आयोजित किया गया । इस कार्यक्रम की अध्यक्षता हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष तथा पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के निदेशक प्रो. तरुण कुमार ने किया तथा मुख्य अतिथि के रूप में बीबीसी के प्रख्यात पत्रकार एवं प्रखर वक्ता मणिकांत ठाकुर उपस्थित रहे। मुख्य अतिथि मणिकांत ठाकुर ने पत्रकारिता के महत्व पर प्रकाश डाला और और अपने निजी जीवन में पत्रकारिता के वजह से आने वाले सभी उतार-चढ़ाव का अनुभव नवीन छात्रों के समक्ष साझा किया । उन्होंने बताया कि पत्रकारिता के प्रारंभिक जीवन काल में अखबारों के दबाव की वजह से बहुत सारी अखबारों से वह त्यागपत्र तक दे चुके हैं । बाद में उनकी पहचान बीबीसी के एक प्रखर पत्रकार के रूप में बनी । उन्होंने छात्रों को बताया कि फील्ड में पत्रकारिता करने जाएंगे तो अनेक बाधाएं हमारे सामने आ सकती हैं उन बाधाओं से निपटने की उत्तम कला हम में कैसे विकसित हो इस बात पर हमें ध्यान देना चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे एमजेएमसी के निदेशक प्रो. तरुण कुमार ने कहा अभी पत्रकारिता का मतलब बहुआयामी हो गया है। उन्होंने जन गण मन को परिभाषित करते हुए बताया एक पत्रकार का धर्म जन-जन की बात, जो मुखर होकर अपनी समस्याओं को नहीं रख पाते उनको प्रकाशित करने से लेकर समाज में सद्भावना बनी रहे इसकी भी जिम्मेवारी होती है। इस मौके पर हिंदी विभाग के वरिष्ठ प्राध्यापक सह एमजेएमसी के समन्वयक डॉ. दिलीप राम ने बताया कि रिपोर्ट लिखते समय शब्दों का हेरफेर का कैसे ध्यान रखा जाना चाहिए, जिससे खबर आकर्षक हो। उन्होंने छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की शुभकामना दी। पत्रकारिता के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. गौतम कुमार ने छात्रों को सीबीसीएस तथा उनके पूरे 4 सेमेस्टर में आने वाले विषयों की विस्तृत चर्चा की। छात्रों को आगे के भविष्य के लिए शुभकामनाएं दिया और साथ ही धन्यवाद ज्ञापन भी किया । कार्यक्रम का संचालन रचना सिंह ने किया। इस कार्यक्रम में हिंदी विभाग के प्राध्यापक तथा नए बैच के छात्र प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: