बिहार : भाकपा-माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य 2 मार्च को बिहार दौरे पर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 1 मार्च 2019

बिहार : भाकपा-माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य 2 मार्च को बिहार दौरे पर

सिवान में इंसाफ मंच के राज्य सम्मेलन का करेंगे उद्घाटनपटना में सहजानंद सरस्वती पर शोध करने वाले प्रो. वाल्टर हाउजर की कृति का करेंगे लोकार्पण
dipankar-tour-bihar
पटना 1 मार्च 2019 भाकपा-माले महासचिव काॅ. दीपंकर भट्टाचार्य 2 मार्च को बिहार दौरे पर रहेंगे. इस दौरान वे सिवान में दलितों-अकलियतों व न्यायपसंद नागरिकों के न्याय की लड़ाई लड़ने वाले संगठन इंसाफ मंच के राज्य सम्मेलन को संबोधित करेंगे. उनके अलावा इस सम्मेलन में भाकपा-माले के राज्य सचिव कुणाल, काॅ. सलीम, काॅ. धीरेन्द्र झा सहित पार्टी के वरिष्ठ नेतागण भाग लेंगे. इंसाफ मंच का यह सम्मेलन ऐसे वक्त में हो रहा है जब देश में पूरी तरह से युद्धोन्माद की स्थिति है और देश के नागरिकों पर भी हमले किए जा रहे हैं. भाजपा ने पुलवामा की आतंकी घटना व सर्जिकल स्ट्राइक का चुनावी हितों के लिए जनता की भावना का शोषण करने और उन जवानों के बलिदान का इस्तेमाल करने की एक संगठित मुहिम छेड़ दी है. देश के विभिन्न हिस्सों में कश्मीरी छात्रों, व्यापारियों और पेशाकर्मियों को प्रणालीगत ढंग से निशाना बनाया जा रहा है, जो इंदिरा गांधी की हत्या के ठीक बाद सिख जनसंहार की कड़वी याद दिला रहा है. यहां तक कि स्कूली बच्चों को भी पाकिस्तान से बदला लेने और उसे विनष्ट कर डालने की मांग उठाने के लिए गोलबंद किया जा रहा है. पाकिस्तान के खिलाफ इस अंधराष्ट्रवादी चीख को कश्मीर और कश्मीरियों के खिलाफ, आम तौर पर मुस्लिम समुदाय के खिलाफ, जेएनयू व एएमयू जैसे विश्वविद्यालयों के छात्रों व शिक्षकों और वाम-उदारवादी धारा के खिलाफ मोड़ दिया जा रहा है; संक्षेप में, जो कोई भी नफरत और युद्ध की भाषा नहीं बोले और इसके बजाय शांति, सद्भाव और न्याय की वकालत करे, उसे पाकिस्तान का समर्थक और आतंकवाद का हिमायती करार दिया जा रहा है. इंसाफ मंच के राज्य सम्मेलन के उद्घाटन के उपरांत शाम 5 बजे वे पटना में चिंताहरण साशल डेवलपमेंट ट्रस्ट के तत्वावधान में बिहार में किसान आंदोलन के नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती पर शोध करने वाले प्रो. वाल्टर हाउजर की चर्चित कृति ‘बिहार प्रोविंिशंयल किसान सभा, 1919-1942’ के लोकार्पण के आयोजन में शामिल होंगे.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...